सेक्सी गुजराती भारती आंटी को चोदा

ये स्टोरी 2 मंत्स पहले की है, जो की मेरे साथ आमेडबॅड में हुई. ई आम आ मोस्ट जेन्यूवन सेक्स प्रवाइडर आंड सटीसफ़िएर. ये स्टोरी रियल है 100%. मैने पहले भी मेरी दूसरी ईद पे से भी बहुत स्टोरीस पोस्ट की हुई है. तो उनमे से एक स्टोरी आमेडबॅड के विप एरिया नवरणगपुरा में संगीता व्यास के साथ घाटी थी.

और उसको पढ़ने के बाद मुझे एक दूसरी लेडी ने मैल किया. उनका नामे भारती पटेल है. तो मेरी स्टोरी भारती के साथ जो हुआ उसकी है.

मेरी एक स्टोरी संगीता व्यास के साथ है, जिसमे कैसे मैने एक 45 यियर्ज़ की मॅरीड आंटी जिसको उसके हज़्बेंड से सॅटिस्फॅक्षन नही मिलता था, को छोड़ा. मैं उसके नवरणगपुरा के फ्लॅट में उसके घर उसके बुलाने पर गया, और सॅटिस्फाइ किया, और आज भी करता हू.

तो ये वाली स्टोरी भारती आंटी ने भी रेड की, और उन्होने मुझे एमाइल किया. भारती आंटी ने मुझे मैल में लिखा-

भारती आंटी: मारे तमने मालव छे ( मुझे तुम्हे मिलना है). फर्स्ट मुझे सिर्फ़ कॅष्यूयली मिलना है, और सिर्फ़ देखना है की आप इंसान कैसे हो. और फिर ठीक लगे तो ही मैं आयेज की बात करूँगी.

मैं फटत से हा कर दी.

मैने बोला: ई आम फ्रॉम गाँधीनगर.

और उन्होने मुझे बोला की उनके हज़्बेंड 2 डिसेंबर को अपने काम से सूरत जाने वाले थे, तो फिर हम दोनो ने 3 डिसेंबर को फिक्स किया मीटिंग प्लेस. ये सब बातें एमाइल से हुई.

उन्होने बोला की वो एक ब्लॅक कलर की इंनोवा कार में आएँगी. तो फिर मैं नवरणगपुरा उनकी बताई जगह पर 1 बजे दोपहर को गया, और थोड़ी देर में हमने एक-दूसरे को मैल से कॉंटॅक्ट किया. उतने में एक ब्लॅक इंनोवा आके खड़ी रही, और मैं चौक गया, क्यूंकी कार में सिर्फ़ एक लेडी थी, और वो भी ड्राइव करती हुई, वित ब्लॅक गॉगल्स.

मैने उन्हे मेरे यूनीक डिज़ाइन वाले कपड़ो की आइडेंटिटी दी हुई थी. तो उन्होने मुझे पहचान लिया, और मैने उनको और उन्होने मुझे इशारा किया की फॉलो मे. वो आयेज-आयेज इंनोवा में थी, और मैं उसको पीछे-पीछे फॉलो करता हुआ.

सीक्ड अट गोलडेन ट्राइंगल कॉंप्लेक्स नवरणगपुरा पे इंनोवा पार्किंग में लगी, और मैं भी वही पार्क करके बाहर आ गया. और उतने में इंनोवा में से जो क़यामत निकली, इन सेक्सीयेस्ट वाइट कुरती आंड टाइट ब्लॅक लेगैंग्स और फेस बिल्कुल रागिनी खन्ना के जैसा, और आगे अराउंड 40 लगती थी.

उन्होने मुझे इशारा किया और पास बुलाया और हम दोनो ने हॅंड शेक किया. फिर एक-दूसरे का इंट्रो दिया. भारती आंटी ने मुझे बोला-

आंटी: हम दोनो कॉफी शॉप में कॉर्नर वाले टेबल पर जाके साथ-साथ बैठेंगे, और ऐसे बिहेव करेंगे की किसी को शक ना हो. कॉर्नर की वजह से बातें शांति से होंगी, कोई सुनेगा भी नही.

उसकी जांघें, गांद और बूब्स देख के तो मैं पागल हो गया, और खुश हो गया. पर अभी तक मीटिंग फिक्स नही हुई थी, और मैं शुवर भी नही था, की ये बात पॉज़िटिव बनी थी या नेगेटिव बनी थी.

मैं आयेज और वो पीछे थी. फिर मैं एक सोफा पे बैठा, और वो भी मेरे पास आके चिपक के बैठ गयी. फिर उसने पूछा मेरे बारे में, मैने बताया-

मे: ई आम रोहित पटेल, कंप्लीटेड इंजिनियरिंग. मैं एक जॉब करता हू.

फिर मैने पूछा: आप?

तो भारती आंटी ने बताया: मैं अपना सेल्फ़ बिज़्नेस करती हू.

शी वाज़ थे हॉटेस्ट आंटी. फिर उन्होने बोला की वो एक मॅरीड लेडी थी, और उनकी एक डॉटर थी, जो की यूयेसे थी. और उनके हज़्बेंड भी एक कन्स्ट्रक्षन बिज़्नेस में इन्वॉल्व्ड थे, पर वो उनको सॅटिस्फाइ नही कर पाते, और वो रेग्युलर सेक्स नही करते थे.

भारती आंटी: उस डिस्सॅटिस्फॅक्षन में मैने एक बार आपकी स्टोरी पढ़ी, और आप आमेडबॅड के पास से ही मिले, और जेन्यूवन लगे, तो मैने आपको मैल किया.

फिर भारती आंटी ने मुझे पूछा: डियर आप मेरी बेटी की आगे के हो, और ये सब कैसे?

मैने बोला: आंटी वो आपको बेड पर ही पता चलेगा.

फिर आंटी ने मेरे साथ कंडीशन की, की ये बात किसी को पता नही चलनी चाहिए, और जब आंटी को ऐसा लगेगा की अब से ये सब ओवर, तब से कंप्लीट्ली क्लोज़ आंड ओवर.

मैने बोला: मंज़ूर है.

फिर वो बोली: कब?

मैने बोला: आप जब बोलो.

फिर आंटी ने बोला: आज ही.

ई वाज़ टोटली शॉक्ड. मैं रेडी हो गया, और बोला-

मैं: ओक, चलो आज. पर कहा पे?

भारती आंटी बोली: मेरे घर.

फिर हम दोनो ने कॉफी पी, और चल पड़े. वो आयेज थी, और मैं पीछे. उसकी गड्राई हुई बॉडी देख के तो मैं पागल सा हो गया था. पर मुझे कंट्रोल करना था. अब वो उसकी इंनोवा में थी, और मैं मेरी कार में.

करीबन सिर्फ़ 1 काइलामीटर के बाद, नियर कॉमर्स सिक्स रोड पर एक सोसाइटी में वो कार एंटर हुई, और पीछे मैं भी. फिर एक आलीशान से बुंगलोव के सामने खड़ी हो गयी. मैने कार पार्क की, और फटत से आंटी के साथ-साथ उनके घर में घुस गया.

सच आ ब्यूटिफुल हाउस आंड आ सेक्सी सूपर हॉट आंटी. उसकी बॉडी इतनी पर्फेक्ट थी, की क्या बोलू. ना ही मोटी ना ही पतली. उनके हज़्बेंड का फोटो देखा मैने और पूछा-

मैं: क्या ये आपके हज़्बेंड है?

तो उसने मुझे बोला: हा ये ही वो नपुंसक मेरा पति है.

और वो पानी का ग्लास लेके चली गयी, जिसमे मेरे लिए पानी लाई थी. फिर वो फिरसे मेरे पास आके बैठ गयी, और फिर उसने बोला-

भारती आंटी: रोहित ये बात कही बाहर पता नही चलनी चाहिए, और ना ही कोई ब्लॅकमेलिंग. जब तक हम दोनो को प्रॉपर एंजाय्मेंट मिलता है, तब तक ये ऐसे ही

चलना चाहिए, फिर ओवर.

मैने बोला: ओक अग्रीड, मंज़ूर.

इतना बोलते ही भारती आंटी ने मुझे अपनी बाहों में खींच लिया, और हम दोनो एक पॅशनेट किस करने लगे. फिर आंटी ने बोला-

आंटी: चलो बेडरूम में.

और हम दोनो बेडरूम बंद करके बेड पर लेट गये.

मैने पूछा: आंटी आपके हज़्बेंड कब आएँगे?

तो आंटी ने फोन निकाला, और डाइयल करा उनके हज़्बेंड को, और पूछा की कितने बजे आओगे. तो रिप्लाइ मिला की रात को 10 बजे वापस अवँगा एक मीटिंग कंप्लीट करके. मैने घड़ी देखी तो अभी 2:00 बाज रहे थे.

आंटी मुझे पॅशनेट किस करने लगी, और मैं भी साथ में फुल पॅशनेट्ली साथ देने लगा. भारती आंटी ने फिर मेरे लंड पर हाथ रखा, और पंत के उपर से ही दबाने लगी.

फिर वो बोली: पर्फेक्ट साइज़ है, ज़्यादा कम नही है.

फिर वो खुद मेरी पंत निकालने लगी, तो मैने पंत की क्लिप निकाल के पंत और अंडरवेर दोनो निकाल दिए. उसने बाद मैं आंटी की लेगैंग्स निकालने लगा. हम दोनो ने नीचे के कपड़े निकाल दिए थे. उसने उसकी लेगैंग्स निकाल दी थी, और मैने पंत और अंडरवेर.

भारती आंटी ने वाइट कलर की फ्लवर डिज़ाइन वाली पनटी पहनी हुई थी. मैने पनटी में हाथ डाला, और उनकी गांद दबाने लगा. और फिर मैने पनटी नीचे उतार दी, और एक साइड में फेंक दी.

एक बात सच बोलू, उसके बड़े-बड़े बूब्स, सेक्सी और गोरी-गोरी गांद पर्फेक्ट शेप वाली, आंड पर्फेक्ट फिगर लाजवाब था. मुझे लगा की हे भगवान क्या चान्स दिला दिया आज तो तूने. मानो की रागिनी खन्ना खुद मिल गयी हो.

उसकी गांद की पिक मोबाइल में ले लू ऐसा मॅन कर रहा था, पर क्या करता. मुझे लगा की आज जो छोड़ने में मज़ा था, वो अगले 2 साल तक रेग्युलर रहे तो लाइफ बन जाए.

मैने देखा आंटी की पुसी 2 दिन पहले ही शेव की हो वैसी लग रही थी. फिर मैने उसकी छूट पर हाथ फेरा, और फिर गांद दबाने लगा, और वो भी मेरा लंड सहलाने लगी. तभी आंटी के फोन पे कॉल आई उनकी फ्रेंड की, तो मैं शॉक हो गया सुन के.

आंटी ने बोला उनकी फ्रेंड को: हा बाधु सेट थाई गायू छे आने मज़ा चालू भी करी लिधि छे, आने ताने भी कॉंटॅक्ट कराविस ( हा सब कुछ सेट हो चुका है, और मज़ा करना चालू भी कर दिया है, और तेरा भी कॉंटॅक्ट कार्ओौनगी ).

ई वाज़ शॉक्ड. मैं चौंक गया और पूछा-

मैं: ये क्या था आंटी?

तो आंटी ने बोला: ये मेरी उस फ्रेंड की कॉल थी, जिसको मैने ये स्टोरी के बारे में बताया था. और उसने मुझे हिम्मत दी थी. वो गाँधी नगर से है. और आयेज की बात मैं बाद में बोलूँगी.

मैं समझ गया था, की ये तो 2 औंतीयाँ मिली थी एक ही मैल से. फिर आंटी ने फिरसे मेरा लंड सहलाना स्टार्ट किया, और उतने में उन्होने अपने पर्स से ड्यूर्क्स का लूबे निकाला. ऑरेंज फ्लेवर था उसका, और वो निकाल के मेरे लंड पे लगा के, मेरा लंड मूह में ले लिया.

फिर आंटी ने मुझे ब्लोवजोब दिया. पर उन्होने मेरा पानी नही निकाला, क्यूंकी उनको पानी छूट में लेना था. मैं उसकी छूट में उंगली कर रहा था, और ड्यूर्क्स लूबे छूट पे लगा के मसाज की. फिर मैने उसकी छूट छाती.

उसकी छूट ऑलमोस्ट शेव्ड थी. आंटी ने उपर की कुरती निकाल दी, और मैने शर्ट निकाल दी. मैने देखा, तो आंटी ने सेम वाइट फ्लवर डिज़ाइन वाली ब्रा पहनी हुई थी, और उसके बूब्स एक-दूं पर्फेक्ट शेप आंड साइज़ में थे.

मैने उसके बूब्स ज़ोर से दबाए, और फिर ब्रा निकाल के चूसने लगा. आंटी सिसकारी लेने लगी, और बोली-

आंटी: अब डाल भी दो.

फिर मैने आंटी से पूछा: कों सी पोज़िशन में?

तो उन्होने बोला: पहले लेट के और फिर डॉगी स्टाइल.

फिर मैने आंटी को बेड पे लिटा दिया, और उसकी सेक्सी जांघों वाली लेग्स को फैला दिया, और फिर एक बार छूट छाती. वो मोन करने लगी, और फिर मैने मेरा लंड सेट किया, और धक्का मारा, तो लंड आधा अंदर चला गया.

छूट थोड़ी टाइट थी, और ऐसा लगा की उसके पति ने उसको बहुत कम छोड़ा था. फिर मैं दाना-दान उसको छोड़ने लगा. वो इतनी एग्ज़ाइटेड थी, की वो उसका बेड पकड़ के जो एक्सप्रेशन दे रही थी, मैं क्या बतौ.

वो इतना एंजाय कर रही थी, की मुझे भी मज़ा आ गया. 10 मिनिट के बाद वो झाड़ गयी, और उसका और मेरा पानी निकल गया. मैने अपना पानी उसकी छूट में ही निकाल दिया. फिर मैने लंड निकाला, और फिर आंटी ने बोला-

आंटी: अब डॉगी में करते है.

और ये बोल कर वो तुरंत डॉगी में सेट हो गयी.

मैने आंटी को पूछा: ये सब पोज़िशन्स की नालेज आपको कैसे?

तो वो बोली: इंटरनेट से, और मोबाइल अप कामसुत्रा से.

फिर मैने मेरा लंड आंटी की छूट पे सेट किया. वो डॉगी पोज़िशन में सेट थी, और मैने धक्का मारा तो लंड छूट में आराम से गया. पर उसकी चीख निकल गयी. वो सेपरेट बंगलो था, तो कोई दर्र की बात नही थी.

फिर मैने उसको घपा-घाप छोड़ा, और रूम में से ठप-ठप की आवाज़ आ रही थी. उसकी गांद एक-दूं रागिनी खन्ना के साइज़ की थी, पर्फेक्ट साइज़. आंटी चिल्ला रही थी, और एंजाय कर रही थी, और तकिया पकड़ के मज़े ले रही थी.

ये डॉगी फक अराउंड 5 मिनिट किया, और फिर वो झाड़ गयी. फिर मैं भी 2 मिनिट बाद झाड़ गया. आंटी फिर बातरूम गयी, सब क्लीन किया, और फिर आके हम दोनो ने बेड पर आराम किया. उसके बाद दोबारा एक रौंद किया, उसको नीचे लिटा के. मैने टाइम देखा तो 4 बाज रहे थे.

फिर आंटी ने बात लिया, और मैने भी लिया, और हम दोनो ने कपड़े पहने. उसके बाद हम बात करने लगे ड्रॉयिंग रूम में आके. थोड़ी देर में उसकी फ्रेंड की कॉल आई फिरसे.

आंटी ने उसको बोला: हा मज़ा आ गया. तू कल मुझे ऑफीस में मिल.

फिर आंटी ने मुझे बोला: डियर रोहित, ये सब सीक्रेट रहना चाहिए और मैं तुझे फ्रीक्वेंट्ली मोबाइल और व्हातसपप से कॉंटॅक्ट करूँगी और बूलौगी जब मौका मिलेगा तो.

मैने उसको हा बोला.

फिर वो बोली: रूको, मैं नाश्ता लेके आती हू.

ये बोल कर वो कही ह्ल रोड से कोई पार्सल लेके आई, कोई रेड रोज़ रेस्टोरेंट से. फिर मैं नाश्ता करके निकल गया, और निकलते टाइम हम दोनो ने एक-दूसरे की पिक कॅप्चर की मोबाइल में. उसके बाद मैने उसको किस किया, और गांद दबाई. और फिर मैने आंटी को बोला-

मैं: मैं नेक्स्ट टाइम के लिए वेट करूँगा और आपकी फ्रेंड को भी मिलने के लिए वेट करूँगा.

फिर मैं मेरे घर आ गया. उसके पड़ोस में ना किसी ने देखा, और ना ही पूछा. और यहा पे स्टोरी पूरी हुई. मैने आंटी को नेक्स्ट टाइम 20त फेब 2020 को छोड़ा, और उसकी फ्रेंड को गाँधी नगर के सरगसन एरिया में कैसे छोड़ा, उसके बारे में भी बतौँगा.

ये स्टोरी पढ़ने के बाद गुजरात में रहती किसी आंटी, या लड़की को, या मों को ऐसा लगे की मैं एक प्राइवसी वाला पर्सन हू, तो मुझे कॉंटॅक्ट ज़रूर करना. मैं सेक्स भी करता हू, मैं बॉडी आयिल मसाज भी करता हू, और सॅटिस्फाइ भी करता हू.

आपको जो करना है मैं करके दूँगा. सब कुछ सीक्रेट रहेगा प्राइवसी 100% मेनटेन होगी. और आप जब रीलेशन स्टॉप करना चाहो, तब सब ओवर भी कर दूँगा. मैं किसी को डिस्टर्ब नही करता. इन शॉर्ट ई आम आ वेरी जेन्यूवन पर्सन ऑफ 27 यियर्ज़ ऑफ आगे. मेरा कॉंटॅक्ट मैल है-

यह कहानी भी पड़े  रूम पार्ट्नर और मकान मलिक ने मेरी मा को चोदा

error: Content is protected !!