सेक्सी भाभी को चोद कर प्रेग्नेंट करने की कहानी

आशा उन्हे भी आचे से चूसने लगी. बारी-बारी से उसने दोनो बॉल्स को खूब चूसा. फिर मैने पूछा.

मैं: मेरे रानी, अब मज़ा आया ना आपको?

आशा: हा राजा जी. आपने जो दिया है, मज़ा कैसे नही आएगा.

कहानी अब आयेज-

आशा: बेबी आपके ये काले जामुन बहुत टेस्टी है. इन्हे मैं बस चूस्टी रहूंगी. बहुत मज़ा आ रहा है.

आशा मेरी बॉल्स को बारी-बारी से चूसने लगी. फिर उसने मेरे लंड खुद ही मूह में ले लिया, और दबा-दबा के चूसने लगी. उससे अब चूसने में मज़ा आ रहा था. 20 मिनिट चूसने के बाद वो बोली-

आशा: मेरे रोहित बाबू. आपके लंड को छ्चोढने का मॅन हो रहा है. बहुत सख़्त है. काश इसे रोज़ ले पाती.

मैं: बेबी, हब भी मॅन हो आ जाना. हम एक ही सिटी से है.

उसने हेस्ट हुए हा कहा. फिर मैने उसे बेड पर लिटा दिया, और आशा की गोरी टाँगो के पास आ गया. मैने उसकी दोनो टाँगो को खूब छाता. उसे मेरे इस प्यार से बहुत मज़ा आ रहा था. उसके बाद मैने पनटी के उपर से उसकी छूट को किस किया. वो एक-दूं से सिसक गयी.

आशा: आह, श.

वाइट पनटी उसकी छूट के पानी से गीली थी. मैने जल्दी से पनटी निकाल दी. वो पूरी नंगी थी, और मैं भी. मैने टांगे फैला कर अपना मूह छूट पर रखा, और चाटने लगा. आशा बेड पर मचलने लगी. वो सिसकियाँ लेते हुए बोली-

आशा: आह मा, श, रोहित. कितना मज़ा आ रहा है यार. और छातो, खा जाओ प्लीज़.

आशा: तुमने मुझे पागल कर दिया है. आह मा. बहुत मज़ा देते हो तुम. मेरे पति ने कभी मेरी छूट नही छाती है.

मैं: मैं हू ना मेरी जान इस गुलाबी छूट के लिए.

आशा: हा बेबी. अब से तुम ही छूट के मलिक हो. मैं हर बार तुमसे ही सेक्स करने आया करूँगी. बस एक बार मेरा बच्चा हो जाए.

मैं: वो तो हो जाएगा.

मैं उसकी छूट के नमकीन पानी को पीने लगा. फिर छूट के दाने को चूसने और चाटने लगा. वो बार-बार पानी निकाल रही थी. मैने छूट को 20 मिनिट छाता, और उसका सारा रस्स पी गया.

छूट से बहुत ही मादक खुश्बू आ रही थी. मैने उसकी गांद को भी 10 मिनिट चाट-चाट के गीला कर दिया. उसे बहुत अछा लगा. मुझसे बोली-

आशा: तुम जैसा मुझे आज तक कोई नही मिला यार. मेरी किसी ने छूट गांद नही छाती है. रोहित, योउ अरे थे बेस्ट सेक्सी बॉय.

आशा: ऑश रोहित. अब मुझसे नही रहा जेया रहा है. प्लीज़ अपना ये लंड डाल दो ना.

मैं अब लंड उसकी छूट पर रगड़ने लगा. आशा को मज़ा आने के साथ उसका बदन लंड लेने को मचल रहा था. लंड छूट के च्छेद पर रखा, और पैरों को फैला कर लंड छूट में दबाने लगा.

एक ज़ोर का धक्का दिया छूट में, जिससे लंड 4 इंच छूट में समा गया. छूट बहुत टाइट थी. इसलिए आशा को ज़ोरदार दर्द हुआ.

आशा: आह आह ऑश उफ़फ्फ़. प्लीज़ बेबी. आराम से करो ना.

मैं: मेरी जान, इतनी टाइट छूट कैसे है आपकी?

आशा: मेरी चुदाई कहा हुई है. बस मेरे पति तो लंड डाल देते है. मुझे पता ही नही चलता कब चुदाई हुई मेरी.

मैं: अब मैं छोड़ता हू आपको आचे से.

10 मिनिट मैं लंड रोक कर रुका रहा. उसके गोरे बूब्स को चूसने लगा. आशा को भी अब अछा लगने लगा. जिससे वो मुझे चूमते हुए बोली-

आशा: ऑश बेबी, छोड़ो ना अब.

मैं अब धीरे-धीरे लंड छूट में आयेज-पीछे करने लगा. जिससे आशा की हल्की-हल्की सिसकियाँ निकालने लगी. 10 मिनिट धीरे छोड़ने के बाद एक ज़ोर का धक्का दिया. जिससे लंड पूरा छूट में समा गया. आशा की फिरसे चीख निकल गयी. काफ़ी टाइट छूट थी. जिससे खून निकालने लगा. ज़ोर से सिसकते हुए वो बोली-

आशा: आह ऑश उम्म्म. आज मेरे सील टूट गयी है राजा जी.

मैं: आज कैसा लग रहा है आपको मुझसे चूड़ने में?

आशा: बेबी, बहुत अछा लग रहा है. आज किसी मर्द से चुड रही हू. शादी के बाद ऐसा लगा की आज मेरे असली सुहग्रात हुई है. हा बेबी, छोड़ो प्लीज़. और छोड़ो आह.

मैं अब उसकी टांगे हवा में करते हुए उसको छोड़ने लगा. मेरा लंड अब छूट में अंदर बाहर होने से छूट अपना रस्स छोड़ने लगा. आशा बस गरम सिसकियाँ लेते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी.

15 मिनिट बाद मैने उसे उठाया, और उसके बगल में लेट गया. फिर उसे कमर के बाल किया, और पीछे लंड छूट में घुसा दिया. जिससे उसकी गरम सिसकी निकल गयी.

आशा: आह आह उहह रोहित.

मैने उसका एक पैर अपनी कमर के पीछे किए, और एक हाथ से बूब्स दबाते हुए नीचे से कमर हिला कर छोड़ने लगा. हर धक्के पर उसके बूब्स हिलने लगते. वो मुझे ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने को बोली.

आशा: उहह ऑश राजा जी. छोड़ो मज़ा आ रहा है.

मैं उसके लिप्स को चूसने लगा. फिर नीचे से छूट में धक्के पे धक्के देने लगा. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. अपने हाथ से छूट मसल रही थी, और गरम सिसकियाँ ले रही थी.

मैने कहा: बोल मेरी जान. कैसा मज़ा आ रहा है चूड़ने में?

आशा: पूछो मत मेरे रोहित बाबू. आज तक इस मज़े के लिए तड़प रही थी. एस एस छोड़ो बेबी, और ज़ोर से आह.

मैने इस पोज़िशन में 25 मिनिट छोड़ा. वो झड़ने वाली थी. अब मैं भी झड़ने वाला था, तो मैने स्पीड बढ़ा दी. मैने उससे कहा-

मैं: मैं झड़ने वाला हू मेरी रानी.

आशा: एस एस बेबी. फक मे हार्ड. प्लीज़ बना दो मुझे बच्चे की मा. मुझे प्रेग्नेंट कर दो मेरे रोहित बाबू.

5 मिनिट ज़ोरदार धक्के देने के बाद, मैने पूरा लंड आचे से छूट में दबा दिया. फिर एक ज़ोर की पिचकारी निकल गयी, जो छूट में अंदर तक गयी. मेरा पूरा वीर्या छूट में भर गया. आशा अपनी आँखें बंद करके सिसक रही थी.

फिर हम कुछ देर नंगे ही एक-दूसरे को चूमने लगे. मैने वापस से उसके मूह में लंड दे दिया. आशा बड़े प्यार से लंड को चूसने लगी. 10 मिनिट चूसने के बाद लंड कड़क हो गया.

मैने आशा को पकड़ कर कुटिया बनाया, और मैं बेड के नीचे खड़ा हो गया. फिर आशा की मस्त मुलायम गांद को पकड़ लिया. उसके बाद छूट में ज़ोर का धक्का दिया, जिससे लंड एक बार में पूरा छूट में घुस गया. उसकी ज़ोरदार चीख निकल गयी.

आशा: आह उहह मा. कितना बड़ा है यार.

मैं अब उसकी कमर पकड़ते हुए छूट में धक्के देने लगा. वो बस गरम सिसकियों के साथ कमर आयेज-पीछे हिला कर मेरा चुदाई में साथ दे रही थी. 10 मिनिट में उसकी छूट ने रस्स छ्चोढ़ दिया. मैने डुमदार धक्को से साथ आशा की छूट की चुदाई 30 मिनिट तक की. इससे छूट का दाना बाहर आने लगा.

अब मैं झड़ने वाला था, तो मैने लास्ट कुछ धक्के दिए. फिरसे मैने आशा की गरम छूट में ही अपना लावा निकाल दिया. मैं उसकी कमर को चूमने लगा, और लंड छूट में दबाए रखा. 10 मिनिट चूमने के बाद लंड बाहर निकाला. फिर हम एक-दूसरे से वापस लिपट गये. मेरे होंठो को चूस्टे हुए वो बोली-

आशा: रोहित यार, तुम बहुत मस्त सेक्सी बॉय हो. क्या बढ़िया प्यार और सेक्स देते हो. एक-दूं लगता नही की तुम कॉल बॉय हो.

उसके बाद मैने उसे 2 बार और छोड़ा. उसकी छूट से 2 बार खून निकला था. आशा को बड़ा मज़ा आया, क्यूंकी आज उसकी ढंग से किसी ने चुदाई की थी. मैने लगातार 3 दिन उसकी छूट ही मारी थी. वो सुबह 10 बजे आती और शाम के 4 बजे चली जाती. इस बीच हम रोज़ के 3 से 4 रौंद चुदाई करते. हर बार मैं अपना रस्स छूट में ही निकलता. जिससे 4त दे को उसने मुझे बताया.

आशा: मैने आज कीट से चेक किया तो पता चला की मैं प्रेग्नेंट हो गयी हू.

आशा के घर वाले सभी बहुत खुश थे उससे. क्यूंकी अब उसने सभी को बच्चे का सुख दिया. उसका पति भी आशा से बहुत खुश है. वो मुझसे गले लग कर मुझे बहुत ज़ोर-ज़ोर से चूमने लगी. फिर मुझे थॅंक्स बोलने लगी. 4त दे मैने उसकी छूट और गांद दोनो की चुदाई की. इस तरह हम 1वीक तक रोज़ छूट गांद की चुदाई करते.

उसने मुझे नेक्स्ट मंत वापस बुलाने का वादा किया है. उसे मेरा साथ और मेरा सेक्स बहुत अछा लगा है.

आप में से किसी लेडी, भाभी, हाउसवाइफ को बच्चे का सुख चाहिए, तो मुझे आप मैल करे. आपकी सेक्यूरिटी और प्राइवसी का पूरा ख़याल रखा जाएगा. आपकी जानकारी सेक्यूर रहेगी. आप बिना दर्रे मुझे मेसेज करे.

आपको मेरे ये सेक्सी कहानी कैसे लगी. प्लीज़ मुझे अपना फीडबॅक ज़रूर दे.

मुझे आप गम0288580@गमाल.कॉम पर मैल करे. आप मुझे गूगले छत पर भी मेसेज कर सकते हो.

थॅंक्स ड्के.

यह कहानी भी पड़े  सालों बाद भाभी को सेक्स का असली चुदाई का मज़्ज़ा


error: Content is protected !!