सेक्सी आंटी की चूत और गांद के मज़े लिए

तीस स्टोरी इस पार्ट ऑफ थे स्टूडेंट की सेक्सी मम्मी की चुदाई सीरीस.

ई’म अवैइस और आप की खिदमत मे हाजिर हूँ अपनी स्टोरी का 4त पार्ट के साथ.

अगर किसी ने पिछला पार्ट नही पढ़ा तो लिंक मई दे दाता हूँ.

स्टूडेंट की सेक्सी मम्मी की चुदाई-3

पहले तोड़ा सा इंट्रो हो जाए, मेरा नाम अवैइस है और मैं लाहोर, पाकिस्तान का रहने वाला हूँ. मैं यूनिवर्सिटी से बस्क्स कर रहा हूँ. फयसकल्ली मैं नॉर्मल हूँ और मेरा रंग फेर है. इस स्टोरी की हेरोयिन का नाम साना है और वो करीब 35 साल की और उसका फिगर 36-34-38.

नाउ कमिंग तो थे 4त पार्ट ऑफ थे स्टोरी. इस पार्ट मे मई आपको बतौँगा की बाकी के 2 दिन कैसे एंजाय किया मैने आंटी क साथ.

लास्ट पार्ट मे मैने बताया था की कैसे मैने आंटी से ब्लोवजोब लिया और उनकी छूट छोड़ी और रात को उठा कर उनकी गांद मारी.

अगर आप को मेरी स्टोरी अची लगे तो मुझे मैल ज़रोर करना.



अब करता हू स्टोरी स्टार्ट..

रात को आंटी की गांद मारना क बाद मई सो गया था. सुबा 10 भजे जब मई उठा तो आंटी अभी भी सोई हुई थी और हम दोनो अभी भी न्यूड थे. तो मैने आंटी के फोर्हेड पे किस की तो वो भी उठ गयी और मुझे कहने लगी क रात की चुदाई से मज़ा तो बोहट आया है. लेकिन तुमने गांद की सील खोली है तो मुझे बोहट दर्द हो रहा है और उठा भी नही जेया रहा है.

फिर मई उनको उठा कर वॉशरूम मे ले गया और वाहा जेया कर ज़मीन पा बता दिया और फोरप्ले करने लगा. पहले उनके लिप्स पे किस की और अची तरह उन्हे चूसा और साथ साथ उनके बूब्स भी दबा रहा था. फिर उनकी नेक पे किस की और छूट को रब करने लगा.

उसके बाद उनके बूब्स को सक करना लगा और अची तरह उन्हे चूसना लगा. आंटी से ब्लो जॉब की ज़िद करने लगा, वो मान गयी और फिर हम 69 की पोज़िशन मे आ गये. फिर उन्होने मेरा लंड चूसना स्टार्ट किया और मैने उनकी छूट चाटना.

जो भी कहो ब्लोवजोब का अपना ही मज़ा है. पहले उन्होने लंड के टोपे पे ज़ुबान फेरी और फिर पूरा लंड अपने मूह मे ले लिया और अची तरह चूसने लगी.

थोड़ी देर मे ही मारा कम निकल आया. मैने भी छूट चाट कर उनकी छूट से पानी नकल दिया. फिर हम दोनो नहा कर बाहर आ गये, उससे अभी भी नही चला जेया रहा था तो मई उसको फिर उठा कर बाहर ले आया.

मैने उनके लिए ब्रेकफास्ट प्रिपेर किया और उससे पूछा क कोई पाईं किल्लर है घर मे? तो उसने कहा की नही है, तो मई बाहर से ले आया उनके लिए. उनको पाईं किल्लर दिया और वो लेट गयी सोने के लिया. मैने उनको फिर न्यूड कर दिया और हम दोनो फुल न्यूड हो कर हग कर के सो गये.

दोफर को कोई 2 भाजा के करीब मेरी आँख खुली तो मैने आंटी को फिर किस की और उनकी छूट मे 2 उंगलियाँ डाल दी. जिससे आंटी भी दर कर उठ गयी और कहना लगी की क्या हुआ??

तो मैने कहा क सेक्स हुआ है.

वो कहना लगी क अब तबीयत ठीक है आ जाओ. तो हम दोनो पगलिओन की तरह एक दूसरे को किस करना लगे. किस करते करते मई उसके बूब्स भी प्रेस करने लगा फिर उसके बूब्स को चूसने लगा.

बूब्स को चूसने का अपना ही मज़ा है. 10 मिंट तक हम दोनो ऐसे ही करते रहे और इतने मे आंटी पूरी गरम हो गयी थी और कहना लगी छोड़ो मुझे.

तो मैने आंटी को बेड पा लिटाया और उनकी गांद के नीचे एक पिल्लो रखा और लंड उनकी छूट मे सेट किया. मेरा दिल कर रहा था उन्हइन तर्पाने का. तो मई लंड को उनकी छूट प्र रख कर रगार्ने लगा तो वो कहना लगी की. “तर्पाओ ना मुझे, इसको अंदर डालो”.

मई उसको टीज़ करता रहा. थोड़ी देर के बाद उन्होने कहा और ना तर्पाओ और डाल दो!

मैने वेट ना करते हुए एक ही झटके मे पूरा लंड उसकी छूट मे डाल दिया. उसने ज़ोर से आवाज़ निकाली “हाय्यी मॅर गायई…” मैने उसको पागलों की तरह छोड़ना स्टार्ट कर दिया.

वो भी आवाज़ैईन निकल कर पूरा साथ दे रही थी. “आह आह आह आह आह ऐसे ही छोड़ो मज़ा आ गया और ज़ोर सी”. थोड़ी देर के बाद वो भी नॉर्मल हो गयी और मज़े से छुड़वाने लगी.

फिर मैने पोज़िशन चेंज की और उसको डॉगी-स्टाइल मे ले आया और उसके पीछे चला गया. फिर लंड पे थूक लगा कर उसकी छूट पे रख दिया और स्लोली स्लोली अंदर डालने लगा.

आधा लंड छूट के अंदर डालना के बाद एक ही झकते मे बाकी का लंड भी डाल दिया. आंटी की चीक निकल आई और कहना लगी की “तुम मेरी जान ले कर रहोगे”. मैने कहा की मई जान नही तुम्हारी छूट लेता रहूँगा और तुम्हे ऐसा ही मज़ा देता रहूँगा..” और हम दोनो हासणे लग गये.

फिर मैने उसको किस किया और छूट छोड़ना स्टार्ट किया और साथ मे उसके बूब्स को प्रेस करना लगा. थोरे टाइम के बाद जब वो नॉर्मल हुई तो मैने उसके बालो को पकड़ लिया और लंबी लंबी स्ट्रोक्स लगाने लगा. एक से दो बार उसकी गांद पे थप्पड़ भी मारा.

इस चुदाई क डरॅन उसका 2 दफ़ा पानी नकल गया था और मेरा भी निकालने वाला था. तो मैने उसकी गांद पे पानी नकल दिया और तक कर बेड पे ही लेट गया.

मैने आंटी से पूछा कैसा रहा एक्सपीरियेन्स? तो कहने लगी की बोहट मज़ा आया, दिल कर रहा है एक और रौंद क लिए लेकिन छूट दर्द होने लगी है, बोहट ज़ालिम हो तुम. फिर हम दोनो किस करना लगे.

फिर वॉशरूम मे फ्रेश होने चला गये. वाहा जेया कर भी शवर के नीचे उसको किस कर रहा था और छूट मे उंगली भी कर रहा था.

उसके बाद बाहर से लंच ऑर्डर किया. लंच के बाद सोचा की रात को क्या करना है. तो हम दोनो ने एक रोमॅंटिक मोविए का प्लान किया और सोचा की नेक्स्ट किस पोसितों मे करना और कहा सेक्स करना है.

अब बाकी की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट मे.

आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी प्लीज़ मुझे ज़रूर बताना. जिस जिस ने मुझे मैल किया है उन सबका थॅंक्स. ये आप की ही वजह से ये नेक्स्ट पार्ट इतनी जल्दी लिखा है.

यह कहानी भी पड़े  मेरे चुदाई के सफ़र की शुरूवात

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!