Savita Bhabhi Aur Bra Salesman

दोस्तो, यह कहानी व्यस्क कार्टून की दुनिया की सुपर एक्ट्रेस सविता भाभी के प्रथम एपिसोड की मूल कहानी है।

आनन्द लीजिए..

सविता भाभी एक बहुत ही हसीन और माल किस्म की जवान गुजराती औरत हैं। वे अपने पति के साथ एक बड़े शहर में रहती हैं। उनकी कोई संतान नहीं है और वे अपनी सेक्स लाइफ बड़े मजे से गुजार रही हैं।

एक दिन सविता भाभी पति के ऑफिस जाने के बाद दोपहर में घर में अकेली बैठी अन्तर्वासना की साईट पर एक चुदाई की गरम कहानी पढ़ रही थीं।

उनकी चूत चुदास से पनियाई हुई थी और वे अपनी चूत को अपनी उंगली से मजा दे रही थीं।

तभी दरवाजे पर एक बार घन्टी बजी.. तो भाभी सोचने लगीं कि इस वक्त कौन हो सकता है।

उन्होंने आवाज दी- रुकिए, आती हूँ।

सविता भाभी ने दरवाजा खोला तो बाहर एक सुन्दर गठीला नौजवान खड़ा था। वो देखने में एक भला और पढ़ा-लिखा युवा लग रहा था। उसके हाथ में एक बैग था।

सविता भाभी ने प्रश्नवाचक निगाहों से उसकी ओर देखा और पूछा- कहिये?
‘जी नमस्ते.. मैं लेडिज अंडरगारमेंट्स कम्पनी से हूँ और कम्पनी के नए प्रोडक्ट को घर घर जाकर प्रमोशन कर रहा हूँ.. यदि आप चाहें तो आपको आने वाले फैशन की डिजायनर ब्रा-पैन्टी बहुत ही कम कीमत में मिल सकती हैं।

सेल्समैन सविता भाभी की तनी हुई चूचियों को देखकर गरम हो गया था और उसके मन में सविता भाभी के लिए उत्तेजक विचार आने लगे थे। वो सोच रहा था कि किसी तरह इस मैडम की चूत चोदने को मिल जाए तो उसका सेल्समैन होने का इनाम मिल जाएगा।

यह कहानी भी पड़े  बस में मिली आंटी ने घर बुला कर दिया मस्त मजा

सविता भाभी ने अनमने मन से कहा- नहीं मुझे नहीं लेना.. धन्यवाद।

सेल्समेन की आशाओं पर तुषारापात सा होता दिखा.. पर उसने हिम्मत नहीं हारी और अपने सेल्समेन होने का हुनर आजमाते हुए सविता भाभी से कहा- कोई बात नहीं मैडम.. एक रिक्वेस्ट कर सकता हूँ?
‘बोलिए?’
‘बाहर बहुत गर्मी है, मुझे धूप में चलते-चलते प्यास लग आई है.. क्या एक गिलास पानी मिल सकता है?’

सविता भाभी ने अब उस सेल्समेन की तरफ गौर से देखा.. और कुछ पल सोचने के बाद उन्होंने कहा- ठीक है अन्दर आ जाओ और यहाँ रुको, मैं अभी पानी लेकर आती हूँ।

सेल्समेन ने मन ही मन में ठंडी आह भरी और सविता भाभी को पिछवाड़े से उनकी मटकती गांड को देखा और अपने नसीब को धन्यवाद देने लगा।

सविता भाभी कुछ ही पलों में ठंडा पानी का गिलास लेकर आईं और उन्होंने झुक कर सेल्समेन की तरफ पानी का गिलास बढ़ा दिया।

सेल्समेन की हरामी नजरें सविता भाभी की दूधघाटी पर पड़ी। चूचियों के दीदार ने उसके लौड़े को खड़े होकर सलामी देने को मजबूर कर दिया।

सेल्समेन ने चूचियों को देखते हुए पानी का गिलास लिया और भाभी के हुस्न का जाम समझ कर पिया।

फिर उस सेल्समेन ने उनके घर की तारीफ़ करते हुए शुक्रिया कहा।

अपने घर की तारीफ़ सुनकर भाभी को अच्छा लगा और उन्होंने भी धन्यवाद कहा।

सेल्समेन ने अपना जाल फेंका और अपने बैग में से एक सिल्क की लाल रंग की ब्रा निकाल कर सविता भाभी की तरफ बढ़ाते हुए कहा- मैडम आपको नहीं लेना हो तो कोई बात नहीं है.. पर आप एक इसे देख तो लीजिए.. ये एकदम स्पेशल पीस है।

यह कहानी भी पड़े  गैर मर्दों से चूत चुदाई और गैंग-बैंग की इच्छा-2

सविता भाभी को वो लाल रेशमी ब्रा बहुत ही खूबसूरत लगी।
उन्होंने उस ब्रा को खोला तो उन्हें वो बहुत छोटी लगी। सविता भाभी कहने लगीं- ये तो बहुत छोटी है, ये मुझे नहीं आएगी।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!