साहिब जिगलो वित कोमल आंड सुमन

हाय फ्रेंड्स, जैसे की मैने पिछली स्टोरी मे बताया था की कैसे मैने देल्ही की अनसॅटिस्फाइड कोमल भाभी को सॅटिस्फाइ किया, तो इस स्टोरी मे मैं आपको बताउन्गा की कैसे मैने उसकी फ्रेंड को भी खुश किया अपनी सेक्स पॉवेर के साथ, कोमल मुझे अपनी फ्रेंड सुमन के घर ले गयी, सुमन हमे घर पर अकेला छोड़ कर बाहर चली गयी और जब वापिस आई तो कोमल से मेरी बाते करने लगी और हमारे किससे सुन सुन कर खुश हो रही थी, मुझे सॉफ पता चल रहा था की अब ये भी चुदवाने का मन बना चुकी है क्योकि उसकी आँखों मे वो प्यास सॉफ नज़र आ रही थी, कोमल से बाते करने के बाद वो किचन मे चले गये और शायद डिन्नर की तैयारी करने लगे, उन्होने मुझसे पूछा की क्या खाना पसंद करोगे, तो मैने बता दिया की मैं रशियन सलाद खाउन्गा क्योंकि ये सेक्स के लिए आछा होता है, डिन्नर करने के बाद मैं कोई पुराना क्रिकेट मॅच देखने लग गया, तभी कोमल मेरे पास आई और कहा केडी सुमन तुमसे करवाना चाहती है तूमे कोई एतराज़ तो नही है?, वो बोली सुमन तूमे पे भी करदेंगी पर अवर के अकॉरडिंग, मैने हल्की सी स्माइल की और वो समझ गयी की मैं तैयार हूँ, उसने मुझे सुमन के बेडरूम मे जाने को कहा.

जब मैं वाहा पहुँचा तो सुमन बेड पर बैठी थी, उसने मुझे भी बैठने को कहा, वो बोली की मुझे भी बिल्कुल वैसी ही सॅटिस्फॅक्षन चाहिए जैसी कोमल को मिली है, मैने उसे यकीन दिलाया, वो स्वीट सी स्माइल करते-करते मेरी तरफ बड़ी, मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अपने उपर ले कर लेट गयी और आँखे बंद कर ली, मैने उसे गाल पे किस किया और फिर धीरे-धीरे कभी उसके गाल पे किस करता तो कभी उसे मदमस्त करने के लिए कान चबाता प्यार से, उसकी साँसे तेज़ होने लगी, मैने मौका देखते ही अपने होंठ उसके होंठो पर रख दिए और स्मूच करने लगा, वो भी रेस्पॉन्स देने लगी और हमारे लिप्स लॉक हो गये, अब हमारी ज़ुबान अंदर ही अंदर एक दूसरे के साथ खेलने लगी, कुछ देर बाद मैने उसे उपर किया और उसकी नाइटी उतार दी, उसके चिकने गोरे बदन पर अब सिर्फ़ ब्लॅक ब्रा और पैंटी रह गये थी, सुमन की उमर शायद कुछ 40 के आस-पास होगी, वो कोमल से थोड़ी ज़्यादा हेल्ती थी, उसका फिगर शायद 37,30,34 का होगा, इसके बावजूद वो बहोत सेक्सी लग रही थी अपने चिकने बदन के चलते, मैने भी अपनी टी-शर्ट उतार दी और बॉक्सर भी, अब मैं उसके बदन को चूमने लगा कभी उसके गले पर कभी नेवेल पर तो कभी उसके थाइस पर.

यह कहानी भी पड़े  भाभी की मस्त चुदाई जाईपुर मे

मैने तो जैसे उस पर चुम्मियों की बारिश कर दी, जब उसके थाइस को कर रहा था तो उसने अपनी ब्रा उतार दी, उसके बूब्स देख कर मुझसे रहा नही गया, गोरी चुचियो पर ब्लॅकिश ब्राउन निप्पल तो कैसे आग लगा रहे थे, मैने उसके बूब्स चूसने शुरू किए, वो सिसकारियाँ भरने लग गई आअहह उउउम्म्म्ममम ऊऊऊऊओह ग्ग्गूऊद्ददड प्ययाररसे, ये सब सुन कर मैं और जोश मे आ गया और बारी-बारी उसके दोनो बूब्स अपने हातो से मसलने और चूसने लगा, फिर मैं नीचे गया और उसकी पैंटी उतार के फेंक दी, उसकी चुत बुरी तरह गीली हो चुकी थी, उसने शायद शेव नही की थी, उसकी चुत पर छोटे-छोटे बाल थे, मैने उसकी जाँघो पर हाथ से रब करने लगा, वो तो जैसे पागल सी हो गयी और ज़ोर-ज़ोर से आवाज़े करने लगी, आआहह ह्म्म्म्ममम चाटो इसे प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ इसे और गीली करदो, मैने ये सुनते ही उसकी चुत पर अपनी ज़ुबान टीका दी, वो अब अपने कंट्रोल से बाहर हो रही थी, मैं उसकी चुत को अपनी ज़ुबान और दांतो के साथ मसलने लगा, वो पागल हो रही थी, मैं और ज़ोर से अपना मूह चलाने लगा और 20 मिनट के बाद वो झड़ गयी और पूरी तरह अकड़ गयी और बड़ी-बड़ी लांबी-लांबी साँसे लेने लगी.

अब वो मेरे लॅंड के तलाश मे थी, मैने उसका राइट हॅंड अपने बॉक्सर्स पर अपने लॅंड के उपर रख दिया, उसने हाथ अंदर डाल दिया, जैसे ही उसने अपने हाथ मे मेरा लॅंड लिया तो मेरी तरफ देख के सर्प्राइज़ जैसे स्माइल करने लगी, शायद उसे भी मेरे लॅंड का साइज़ पसंद आया, अब उसने मुझे नीचे किया और खुद मेरे उपर आ गयी, फिर मुझे किस करती-करती मेरे लॅंड तक पहुँच गयी, उसने मेरे बॉक्सर्स उतारे और फटाक से मेरा लॅंड अपने मूह मे ले लिया. मेरा लॅंड ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी, वो कोमल से भी बेहतर ब्लोवजोब कर रही थी, कभी मेरा लॅंड तो कभी टेस्टिकल्स चूसने लगी, मेरे लॅंड का साइज़ अपनी चरम सीमा पर पहुँच चुका था, लॅंड चूसने मे तो जैसे वो एक्सपर्ट थी, फिर वो बोली अब मुझे चोदो मेरी चुत तरस रही है, इसकी प्यास बुझाओ मुझे जन्नत ले के जाओ, मैने उसे बेड पे लेटाया, उसने अपने पिल्लो के पास से कॉंडम उठाया और मेरे लॅंड पर चढ़ाया और फिर एक किस कर दी मेरे लॅंड पे और स्माइल करने लगी, शायद कोमल ने बताया होगा उसको ये, मैने उसकी टाँगो को खोला और अपना लॅंड उसकी चुत पर रखा, मैं उसकी चुत पर अपना लॅंड रगड़ने लगा, वो बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो रही थी और कह रही थी की अब मुझे और मत तड़पाव.

यह कहानी भी पड़े  राजकोट मे मिली एक हसीन भाभी की चुदाई

Pages: 1 2

error: Content is protected !!