प्यासी कोलीग की तड़पति चूत को शांत किया

ही, मेरा नाम बिल्ला है. और मैं 34 एअर का हू. अभी तक मैने शादी नही की है. मैं लुक्कणोव का रहने वाला हू. ई’म आ स्पोर्ट्स पर्सन इसलिए फिज़ीक और स्टॅमिना बहुत है. ये कहानी है जब मैं एक स्कूल में कोचैंग देता था.

वाहा एक टीचर थी जिसका नाम बुशरा था. वो 32 एअर की थी. शादी-शुदा थी वो, और बहुत हॉट थी. वो चब्बी थी, लेकिन उसकी आस सबसे खूबसूरत थी. उसके और उसके पति के बीच कोई सेक्षुयल रिलेशन्षिप नही था. क्यूंकी उसका पति अपने दोस्तों के साथ ज़्यादा बिज़ी रहता था. और वो घर में अकेले रहती थी.

अब कहानी पर आते है. कोविद के थर्ड फेज़ में मुझे ऑनलाइन क्लासस दे दी गयी कुछ गेम्स और आक्टिविटी करने को, और उस ग्रूप की होस्ट बुशरा थी. तो हमारी बात वाहा से होनी शुरू हुई.

पहले Wहत्साप्प पर छत होती थी बहुत कम. फिर एक दिन वो छुट्टी के बाद अकेले जेया रही थी, तो मैने उसे लिफ्ट के लिए पूछा. वो झट से तैयार हो गयी, और चिपक कर मेरी बिके पर बैठ गयी. उसकी चूचियाँ मेरी पीठ पर मसल रही थी. तभी मैं समझ गया की वो सेक्स की भूखी थी.

मैं धीरे से पीठ खुजने के बहाने हाथ पीछे ले गया, और उसकी चूची छूने लगा. उसने कुछ नही बोला. फिर मेरे को कॉन्फिडेन्स आया, और मैं फिर अपना हाथ पीछे ले गया, और सीधे उसकी छूट पर सहलाने लगा. वो मुझे ज़ोर के पदक ली और कहने लगी ये मत करो.

मैने हाथ हटाया और बोला: ये कहा करे?

उसने कहा: कल सनडे है, हम कल मिलते है.

फिर मैने उसे घर छ्चोढा, और रात में उससे बात हुई तो हमने ओयो बुक कर लिया. सुबा हम उसके घर गये और सीधे ओयो आ गये. वाहा जैसे ही मैं कमरे में उसको ले गया, और दरवाज़ा बंद किया, वो झट से मेरे पास आ गयी. उसने सीधे मेरा लोवर और अंडरवेर उतार दिया, और मेरा लॅंड अपने मूह में लेने लगी.

उसके मूह में भी इतनी गर्मी थी, की तुरंत मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर उसने 10 मिनिट तक मेरा लंड चूसा. वो सबसे बेस्ट ब्लोवजोब था. वो दीपत्र्ोआट कर रही थी, जैसे की मेरा लंड खा जाएगी. उसने काई बार लंड बीते भी किया.

फिर थोड़ी देर बाद मैं उसके मूह में आने वाला था. लेकिन वो समझ गयी और उसने अपना मूह हटा लिया, और मैं डिसचार्ज हो गया. मेरे डिसचार्ज होते ही वो तुरंत कपड़े उतारने लगी. मैने उसकी हेल्प की, और बिस्तर पर लिटा दिया.

फिर हमने एक-दूसरे को किस किया. फिर धीरे-धीरे मैं उसके बूब्स को चूस रहा था और अपने हाथ उसकी छूट पर जैसे ही ले गया, वो पूरी गीली थी. पानी बह रहा था उसकी छूट से. आज तक मैने इतनी गीली छूट नही देखी थी.

फिर मैने उसकी छूट में उंगली की, और बूब्स चूस रहा था. वो आहें भर रही थी, और ज़ोर-ज़ोर से चिल्ला रही थी. उसकी आहें सुन कर मेरा लंड फिरसे खड़ा हो गया. फिर मैं उसकी पूरी बॉडी को किस कर रहा था, और वो मछली की तरह तड़प रही थी.

मैं उसकी नेवेल सक करने लगा, और छूट को सहला रहा था. वो लंबी-लंबी साँसे ले रही थी, और सिसकियाँ ले रही थी. फिर मैं उसकी छूट के पास गया, और छूट के उपर किस किया. मेरे होंठ उसके पानी से भर गये थे. जब मैने टेस्ट किया तो नमकीन लगा और अचानक से मेरे मॅन में उसको चाटने की तलब जाग गयी.

जैसे ही मैने अपनी जीभ उसकी छूट पर रगड़नी शुरू की, वो डिसचार्ज हो गयी और तेज़-तेज़ आहें भरने लगी. मैं रुका नही, और मैने उसकी छूट आचे से सक करनी शुरू कर दी. वो अपने हाथो से मेरे सिर को अपनी छूट पर दबा रही थी. मानो वो चाह रही थी की मैं उसकी छूट को खा जौ.

फिर मुझे याद आया उसने मेरा लंड काटा था. तो मैने भी उसकी छूट को बीते करना शुरू किया, और वो ज़ोर से चिल्लाने लगी और सिसकियाँ भरने लगी. लगभग 10 मिनिट उसकी छूट चाट ही रहा था, की वो फिरसे डिसचार्ज हो गयी, और उसने मुझे अपनी छूट से हटा दिया.

वो कहने लगी: बस करो अब छोड़ो भी. वरना मैं ऐसे ही झड़ती रहूंगी, और मेरी लंड की प्यास नही बुझेगी.

तुरंत वो उठी और मेरे लंड को अपने मूह में लिया, और चूसने लगी. मेरा लंड जो सो गया था, अब फिरसे रेडी हो गया.

मैने उससे कहा: तुमको चूड़ना है या छुड़वाना है?

उसने कहा: दोनो.

तब मैने कहा: अब तुम मुझे छोड़ॉगी मैं नही.

वो तुरंत मेरे उपर आ गयी, और मेरे लंड को अपनी छूट पर सेट किया, और एक बार में उस पर उछाल कर बैठ गयी और ज़ोर से चिल्लाई. मैं उसकी चूची दबा रहा था. वो थोड़ी देर ऐसे ही बैठी रही, और मैं उसके बूब्स चूस रहा था.

उसके बाद उसने जब उछालना शुरू किया, वो नों-स्टॉप 5 मिनिट तक तेज़-तेज़ उछाल रही थी मेरे लंड पर. वो चिल्ला रही थी, और मुझे नोच रही थी. उसने मेरी चेस्ट पर काफ़ी निशान दिए अपने नाखूनओ के. मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था.

मैं उसकी आस तो तेज़ी से स्पॅंक कर रहा था. फिर जब वो तक गयी, तब मैने स्ट्रोक लगाने शुरू किए उसी पोज़िशन में. वो फिर तेज़ी से चिल्लाई, और झाड़ गयी. लेकिन मैं नही रुका. वो मुझसे डोर होना चाहती थी, लेकिन मैने उसको आचे से पकड़ लिया था अपनी बाहों में, और वो चिल्लाए जेया रही थी.

वो कह रही थी: रुक जाओ, बस करो. मैं झाड़ चुकी हू.

तब मैने कहा: अभी मेरा कहा निकला है.

वो तड़पने लगी, और उसने मेरी चेस्ट पर बीते किया. मुझे दर्द हो रहा था. तभी मैने अपनी स्पीड और बढ़ा दी. मेरे लंड पे उसका सारा पानी बह रहा था. छाप-छाप की आवाज़ पुर रूम में गूँज रही थी, और वो चिलाए जेया रही थी.

फिर 10 मिनिट बाद मैं तक गया. तब मैने उसको छ्चोढा. जैसे ही मैने उसको छ्चोढा, वो बिस्तर पर अधमरी हालत में लेट गयी. फिर मैं उसके उपर आया, वो माना करने लगी-

वो: नही, अब नही. अब मैं नही झेल सकती.

मैने कहा: तुमने अपना मज़ा ले लिया. मेरा क्या? अभी तो मैं झाड़ा भी नही.

फिर उसने बहुत मिन्नटे की: अब मुझे मत छोड़ो, मैं तक गयी हू, और बहुत बार झाड़ चुकी हू. मुझमे अब ताक़त नही बची है.

वो हाथ जोड़ने लगी. फिर मुझे दया आ गयी, और मैं उसे किस करने लगा और कहा-

मैं: मेरा लंड तो अभी भी झाड़ा नही है.

उसने कहा: मैं ब्लोवजोब देती हू.

मैने अपने लंड को उसकी चूचियों के बीच रख कर रगड़ना शुरू किया, और वो मेरे टोपे को अपने मूह में ले रही थी. फिर मैने उसके मूह में सीधा अपना लंड दे दिया, और वो उसको इतने आचे से चूस रही थी की मैं 5 मिनिट में उसके फेस पर डिसचार्ज कर दिया.

फिर हम साथ में बातरूम गये, और शवर लेने लगे. वाहा मैने उसको किस किया, और उसकी चूचियों के साथ खेल रहा था और चूस रहा था. वो धीरे-धीरे फिरसे गरम हो रही थी. लेकिन उसके अंदर ताक़त नही बची थी. काफ़ी एग्ज़ॉस्ट हो गयी थी वो. मेरा लंड धीरे-धीरे फॉर्म में आ रहा था.

फिर उसने शवर में कहा: आज के लिए बस. नेक्स्ट टाइम जब मिलेंगे तब और आचे से करेंगे.

फिर हम दोनो फ्रेश हो कर खाने को ऑर्डर किया. और खाना खाया और फिर मैं उसको उसके घर छ्चोढने चला गया. इसके बाद जो हुआ वो मैं सोच भी नही सकता था. उसने कैसे अपनी सास को मुझसे मिलाया. नेक्स्ट कहानी में बतौँगा कैसे उसने अपनी सास को मुझसे मिलवाया, और फिर हम तीनो कैसे एक साथ सेक्स किया.

अगर मेरी कहानी अची लगी हो तो प्लीज़ मुझे मेसेज ज़रूर करना. और जो भाभी लुक्कणोव में है और प्राइवसी के साथ चूड़ना चाहती है तो मुझे मेसेज ज़रूर करे.

यह कहानी भी पड़े  पॉर्न मूवीस के जैसी चुदाई आंटी के साथ


error: Content is protected !!