पॉर्न कहानी अजीब इंतकाम

porn kahani ajeeb intakam ये मेरे कॉलेज लाइफ की कहानी है जब मे 1स्ट एअर मे था हमारी क्लास मे ऐक लड़की थी जिस का नाम उज़मा था बड़े टाइट थे उस के मम्मे बड़े गोल और सुडोल थे और खास कर कि उस की बॅक का हिसा यानी उस की गंद देखने से तालूक़ रखती थी ऐक तो जींस इतना टाइट उपेर से कपड़े ऐसी पहन कर आती थी की सारे कॉलेज की नज़रे उस पर होती थी जब वो कॉलेज आती थी तो उस की गांद देख कर सब लड़को की लंड खड़े हो जाते थे और उस मे से बेचारे कितने बाथरूम मे जा कर मूठ मारते थे यू तो यह चालू लड़की थी मगर यह हर ऐक से नही चुदवाति थी यह बड़ी बड़ी असामी घेरती थी कोई ना कोई नया बंदा इस को रोज गाड़ी मे छोड़ने आता था

मुझे भी मालूम था की यह मॉडर्न रंडी है मेरी भी उस पर नज़र थी मगर अपना ऐक उसूल है की किसी से ज़बरदस्ती नही करते अगर राज़ी खुशी से बात बन जाइ तो बहतेर होता है ऐक दिन मेरी मेरे दोस्त से शर्त लगी कि तू इस को चोद नही सकता मे ने कहा ऐसी बात नही है उस ने कहा ट्राइ कर के देख ले मुझे भी पता था की यह हम जेसे कन्ग्लो को घास नही डाले गी मगर मैं ने सोचा की ऑफर करने मे क्या हर्ज है दो दिन बाद वॉलनटाइन डे था मे भी गुलाब और कार्ड ले कर उस की पास चला गया वो उस वक़्त कॉलेज की बँच पर अकेली बैठी थी मे ने उस को गुलाब दिया कार्ड दिया और हॅपी वॉलनटाइन बोला उस का चेहरा तो गुस्से से लाल हो गया था कि मेरी केसे मज़ाल कि मे उस को गुलाब दू खेर मे ने भी तीर चलाया दोनो चीज़ देने के बाद मे ने उस को हॅपी वेलनटाइन कहा और साथ मे अपने लंड को सहलाते हुए उस से कहा हमे भी तो कभी मौका दो हमे भी

अपनी पियास बुझानी है वो एक दम से गुस्से मे आ गई और बोली मेरे साथ सोना तुम जेसे ना मर्द का काम नही पहले मर्द बनो और तुम जैसे कन्ग्लो के मे मुँह नही लगती मे ने कहा ऐक दफ़ा चुदवा कर ट्राइ कर्लो पता चल जाइ गा की मर्द किसे कहते है वो और गुस्से मे आ गई ओर मेरे फूल और कार्ड को ज़मीन पर फेक दिया और पाव से मसल दिया मैं वाहा से चला आया मगर दिल मे सोच लिया कि इस उज़मा को तो मे मज़ा चखाउगा यह किसी तरह मेरे जाल मे फस जाइ फिर देखो इस की फुददी केसे फाड़ता हू टाइम निकलता गया जब साल सेशन ख़तम होने लगा तो कोल्लेज वालो ने पिक्निक का प्रोग्राम बनाया फार्म पर जाने का पहले तो पूरी क्लास तय्यार हो गई लेकिन बाद मे आधे से ज़यादा स्टूडेंट ने ना कह दी फार्म तो बुक हो चुका था तो कॉलेज मे यह डिसाइड हुआ की इस पिक्निक पर आप अपने साथ किसी गेस्ट को ला सकते हो मे ने भी

अपने ऐक दोस्त को साथ लिया मुझे पता था कि उज़मा भी इस पिक्निक पर है उस ने अपने ऐक बाय्फ्रेंड को साथ लिया इस बंदे से मेरी सलाम दुआ था क्यूंकी वह अक्सर उज़मा के चक्कर मे कोल्लेज आता था खेर नाइट आउट का प्रोग्राम था वेडनेसडे को जाना था हम 4 पी.एम. को निकलने वाले थे मगर 7 तो यही बज गये खैर जैसे तैसे कर के बस चली उज़मा का बॉय फ्रेंड अज़ीम मेरी साथ वाली सीट पर आकर बैठा क्योंकि उस की किसी से दोस्ती नही थी मेरी भी थोड़ी बहुत थी बड़ा ही स्मार्ट लड़का था 18 साल की उमर होगी बहुत ही हाड्सॅम था अपनी ज़ुबान मे बोले तो बहुत ही चिकना था वो मेरे साथ बैठा था मगर कंफर्टबल नही था बार बार अपने लंड को अडजेस्ट कर रह था खैर हम फार्म पर पहुँचे काफ़ी बड़ा फार्म हाउस था और सारा फार्म हाउस हम को दे दियाः था बहुत से कमरे थे सब ने अपना समान रखा मे ने जान कर उज़मा के बराबर वाला कमरा लिया

सब ने खाना खाया और बाहर लॉन मे आकर बैठ गयी कुछ डियर बाद उज़मा उठ कर अंदर चली गई मैं उस पर नज़र रखे हुए था खैर कुछ देर बाद मे भी उठ कर अपनी कमरे मे आया मुझे सलवार कमीज़ पहनना था ताकी कंफर्ट हो जाउ कमरे मे जाते हुए सोचने लगा कि क्या करू इस उज़मा को केसे फासू मे इस का इंतेज़ाम कर के आया था और प्लाननिग भी बना ली थी खैर मे अपने कमरे मे गया और सोचा चलो ज़रा बदन पर पानी डाल कर कपड़े चेंज कर लेता हू मे ने बाथरूम का बल्ब जलाया तो वो फ्यूज था मे ऐसे ही बाथरूम मे चला गया अंदर गया तो मुझे बराबर वाले रूम से बातो की आवाज़ आने लगी यह कमरे इस तरह से बने हुए थे कि ऐक कमरे की बाथ रूम की जाली दोसरे कमरे मे थी

मे ने देखा तो बाथ रूम की जाली थोरी टूटी हुई थी मे ने इधर उधर देखा कि कोई चीज़ हो जिस पर चढ़ कर मैं जाली मे देख सकू कमरे के बाहर पेप्सी की लॅटर बोत्तेल की खाली प्लास्टिक की क्रेट थी मे ने वो उठा या और उस पर चढ़ गया अब मुझे टूटी जाली से दोसरा कमरा नज़र आ रहा था उस मे उँज़मा बेड पर बैठी थी ओर अज़ीम खड़ा था मे ने जल्दी सी अपने हॅंडी केमरा ले कर एयाया दिल मे कहा की आज अपना काम बन गया अज़ीम उज़मा से कह रहा था कि चालू नाइटी उतारो मुझे तुम को चोदना है मगर उज़मा मना कर रही थी कि कोई आ जाए गा मगर अज़ीम जोस मे था बोला आज तो तेरी फुददी फाड़ कर रहू गा अब मुझ सी बर्दास्त नही होता उस ने सिर्फ़ स्वीमिंग कोस्टूम पहना हुआ था उस ने उस को

उतारा तो उस का लंड साँप की तरह बाहर आ गया साइज़ तो ज़ियादा बड़ा नही था मगर मोटा ज़रूर था मे ने सोचा कि आज तू उज़मा कि यह एम/सी बी/सी कर दे गा मेरा तो दिल इस बंदे पर आ गया क्या गोरा चितता बदन था यह मोटी गंद और जिस्म पर ऐक भी बॉल नही मे ने सोचा की उज़मा की चूत तो आज नही मिले गी पिक्निक का मज़ा इस की गंद मार कर ही डबल होगा उज़मा ने तना हुआ लंड देखा तो उस की सीटी गुम हो गई उस ने अज़ीम से पहुँच यह क्या है तो उस ने कहा कि मे दो कॅप्सुल विगिरा की खा कर आया था मे ने सोचा अब इस रंडी की खैर नही उज़मा मानने को तय्यार नही थी तो अज़ीम ने कहा देख सराफत से मान जा वरना मे ज़बरदस्ती करूँगा और तेरे चेहरे वगेरा पर निशान आ गया तो बहेर नही निकल सके गी खैर उस को मानना पड़ा उस ने मेक्सी की तरह की नाइटी पहन रखी थी

जैसे ही उसने नाइटी उतारी उजमा का गोरा रंग चमक उठा उसने नीचे कुछ भी नही पहना हुआ था अज़ीम बोला किस का इंतिज़ार कर रही थी बोला पैसे हम खरच करे और मज़े कोई ओर उठाए अज़ीम ने उस को घसीटा टांगे उठाई और अपना लंड ऐक झटके ही उस की चूत मे डाल दिया उज़मा की चूत खुली होनी के बावजूद उस की चीख निकल गई फिर उस ने उजमा को कुतिया की तरह चोदना शुरू कर दीया उस दिन अज़ीम जुनून मे था ओर कुछ विगिरा का असर था वो बड़ी बेदर्दी से उज़मा को चोद रहा था बहुत जोश मे था लगता था आज अपनी बरसो की प्यास आज ही बुझा लेगा उस ने उज़मा को हर स्टाइल सी चोदा कभी टाँगे उठा कर कभी डोगी स्टाइल से कभी खड़ा कर के कभी अपने लोड्‍े पर बिठा कर कभी ऐक टांग उँची कर के उस को देख कर मे भी गरम हो रहा था ओर मेरा लंड भी साँप की तरह खड़ा हुआ था

यह कहानी भी पड़े  जवानी बड़ी जालिम है

खैर मे ने सोचा अभी फारिग हो जाए गा वो तक़रीबन 25 मिनूट बाद फारिग हुआ मगर उस ने उज़मा की ऐसी की तैसी कर दी फारिग हो कर वो उज़मा पर लेट गया मे समझा चलो काम पूरा होगया थोड़ी देर मे वो उठा ओर अपना लंड बाहर निकाला तो वो बिल्कुल लाल सुर्ख हो रहा था ओर वैसे ही तना हुआ था जैसी बॅमबू उस ने उज़मा से कहा की मे ठंडा नही हुआ मेरा लॉरा अभी भी खड़ा है उज़मा ने कहा चोद तो लिया अब मे क्या करू उस ने कहा मे अब तुम्हारे माउथ (मुँह) मे चोदू गा उज़मा ने मना किया मगर अज़ीम पर तो जुनून सवार था उस ने उज़मा के बाल पकड़े ओर अपना लंड उस के मूह मे घुसा दिया और मूह को चोदने लगा जैसे ही लॉरा पूरा मुँह मे जाता उज़मा की हालत खराब हो जाती कुछ देर तो यह तमासा चलता रहा फिर शायद अज़ीम को लगा कि उजमा को कुछ हो गया तो मुसीबत हो जाए गी उस ने उस की मुँह से लोडा निकाला

ओर उस को कहा कि अपने दोनो बॉब्स आपस मे मिलाए उज़मा ने ऐसा किया ओर उस ने अपना लंड उस मे घुसा दिया और झटके मारने लगा बड़ी मुस्किल से फारिग हुआ अब मे भी खड़े खड़े थक गया था मे ने सोचा चलो बच्चा ठंडा हो गया मे उतरने वाला था की अज़ीम की आवाज़ आयी की अब मे तेरी गंद मारु गा उज़मा कहनी लगी नही इस से मेरा शेप खराब हो जाइ गा तो अज़ीम बोला तुझे शॉपिंग करवा के मेरा बॅंक बॅलेन्स खराब हो गया ओर तू कहती है मेरा शेप खराब हो जाइ गा दूसरो से गंद मरवाती है मेरी बारी आयी तो नखरे चोदने लगी चल अच्छे बच्चो की तरह गंद दे दे वरना………….

खैर उस ने ज़बरदस्ती उस को डोगी बनाया ओर अपना लंड उज़मा की गंद मे डाल दिया इतना जोश मे था कि तेल या थूक या कॉंडम लगाने की ज़रूरत भी महसूस नही की वो चीखती रही अज़ीम उस के मुँह पर हाथ रख कर गंद मारता रहा मे तो थक गया था ओर मेरा काम भी होगया था मुझे जो फिल्म लेनी थी वो ले ली थी मे नीचे उतरा कपड़े चेंज किए और बाहर आ गया कुछ आधे घंटे बाद किसी काम से दोबारा रूम मे गया तो मे ने सोचा की देखू तो दोनो के क्या हाल हैं क्रमशः…………………

मे नेउपर चढ़ कर जाली मे से देखा तो अज़ीम अभी भी उस की गंद मार रहा था वो कह रही थी तुम तो फारिग ही नही हो रहे यहा मेरी मा चुद…. गई है अज़ीम ने कहा मेरे लॅंड की हालत भी खराब है मगर मे किया करू मे छूट ही नही रहा लगता था गोलियाः अपना असर दिखा रही थी मे उन को उनके हाल पर छोड़ कर बाहर आ गया और दोस्तो के साथ बैठ गया वहाँ अंताक्षरी खेली जा रही थी कुछ आधी घंटे बाद अज़ीम भी वहाँ आ गया शक्ल से परेशान लग रहा था मे ने उससे पूछा क्या बात है कुछ तकलीफ़ है उस ने कहा नही बैठा और ऐक्दम से खड़ा हो गया मे ने फिर उस से आराम से पूछा की अज़ीम क्या बात है कुछ परेशान हो तब्यत तो ठीक है मुझे तो अंदाज़ा था कि क्या हुआ है खैर मे ने उस से कहा

कि चल कमरे मे चल कर बात करते है मे अपने चान्स के चक्कर मे था मे उस को ले कर कमरे मे आया उस को बिठाया और उस से कहा की अब बता किया बात है उस ने कहा कि मे एक बंदी को चोद कर आ रहा हू मे ने कहा अछा इस मे क्या बड़ी बात है मगर तेरी हालत को खराब है उस ने मुझे सारी दास्तान सुनाई और आखीर मे कहा कि जब मे ने उस की गंद मारी तो काफ़ी देर बाद तक़रीबन 50 मिनूट बाद मे फारिग हुआ लंड अंडर बाहर होने की वजह से मेरा लंड रगर खा कर छिल गया है उस की चमरी उतर गई है और मुझे बहुत जलन हो रही है मेने कहा इतना जोश कहा से आया

उस ने कहा गोलिया खाई थी मे ने उस को बिठाया बॅग मे से कोल्ड क्रीम निकाली और उस से कहा की चल कोस्टूम उतार वो सर्माने लगा मे ने कहा इस मे सर्माने की क्या बात है चल्ल जल्दी कर उस ने दोसरि तरफ मुँह कर के चढ्ढि उतारी उस की गंद मेरी तरफ थी मोटी और गोरी उस को देखा तो मेरा लंड रोड की तरह खड़ा हो गया क्या चिकनी गंद थी लंड और झटके मारने लगा जैसे बच्चे ज़िद करते है उस तरह मेरा लंड ज़िद करने लगा की यह गंद मुझे चाहिए बड़ी मुस्किल से अपने लंड को समझा या की बे फिकर रह यह गंद तेरी है तुझे मिले गी उस को सीधा किया तो उस का लंड अब भी खड़ा हुआ था

और लाल हो रहा था और पूरा छिल गया था मे ने उस पर आराम से क्रीम लगाई तो उस को ज़रा सकून मिला फिर मे ने और क्रीम लगाई उस को बहुत अछा लग रहा था ओर मे उस के जिसम को देख रहा था क्या पप्पू बच्चा था जब ज़रा सकून हुआ तो उस ने मुझ से कहा की इस का क्या इलाज है मे ने कहा किस का तो वो बोला यह मेरा लंड केसे बैठे गा अब तो मुझे दर्द होने लगा है किसी भी तरह इस को बैठाओ मुझे पता था की अब गोली का असर कम होना सुरू होगा और ऐक दो दफ़ा मूठ लगाने से यह बैठ जाए गा मे ने हवा मे तीर चलाया मे ने उस से कहा कि इस का हाल यह है की कोई तुम्हारी गंद मारे, गंद मरवाने से यह बैठ जाएगा उस ने कहा अछा ऐसी बात है तो तुम मेरी गंद मार लो मे यहा किस के पास जाउ गा मे ने कहा की भाई मेरा लंड 9 इंच का है

किसी छोटे लंड वाले से मरवालो उस ने कहा कि आप ने मेरे लिए इतना किया है मे क्या आप का 9 इंच का लंड नही ले सकता मे ने कहा सोच लो फिर ना कहना की भाई आप ने मेरी गंद फार दी वह बोला ऐसी बात नही है मे ने कहा ठीक है मेने अपना लंड निकाला उस ने कहा की मे भी इस की पॅपी लूँगा जब पप्पी लेने लगा तो मे ने कहा की सिर्फ़ पप्पी तो बोला आप कहो तो चूस भी लेता हू मे ने लंड उस के मूह मे डाल दिया वो काफ़ी देर तक चूस्ता रहा अब मेरा लंड बिल्कुल टाइट हो चुका था मे ने कहा अज़ीम अब तय्यार हो जा मे ने उस को डोगी बनाया और उस की गंद पर अपना टोपा रखा और उस से कहा की तारपिडो आ रहा है और

यह कहानी भी पड़े  भाई की साली को चोदा

उसकी गंद मे टोपी डाल दी वो थोड़ा चीखा मे रुक गया वो बोला रुक क्यो गये मे ने कहा की तुझे दर्द हो रहा है वोकहने लगा आप चालू रखो मे दोबारा चालू हो गया अब मेरा लंड पूरा अज़ीम की गंद मे था और लंड अंदर बहेर होने से कई सुन्दर सी आवाज़ पेदा हो रही थी चपॅक चपॅक कुछ देर मे ने अपनी सारी मलाई अज़ीम की गोरी गंद मी डाल दी ओर साथ ही उस का ध्यान हटने से उस का लंड बैठ गया उसे कुछ सकून मिला मे बॅग मे विसकी की छोटी बोतेल साथ लाया था की पिक्निक पर थोरी मस्ती रहे गी उस मे से दो घूँट उस को पिलाई थोरी देर मे वो सो गया और मे उस के सफेद बदन से खेल रहा था की इतने मे दरवाज़े पर दस्तक हुई मे ने उस पर चादर डाली अपनी शॉर्ट पहनी और दरवाज़ा खोला सामने मेरा क्लास फेलो अपनी गर्ल फ्रेंड की साथ खड़ा था वो भी इसी रूम मे थे दोनो अंदर आए

कुछ देर बाद मेरा दोस्त मेरे पास आया ओर कहने लगा की यार मे अपनी ग्रिल फ्रेंड को चोदना चाहता हू मे ने कहा शोक़् से चोदो उस ने कहा यार तुम दोनो कमरे मे हो तो ज़रा बाहर चले जाओ मे ने कहा की ये जो सोया है यह अब उठ नही सकता ओर जिस हालत मे सोया हुआ है मे इस को बहेर नही ले जा सकता ऐक काम हो सकता है यह जो चारपाई (बेड) पड़ी है इस की हम दीवार बना लेते है तुम उस तरफ कुछ भी करो हमे क्या उस ने कहा की ठीक है मे ने और उस ने दीवार बनाली मे ने उस से कहा की यार तेरी गर्ल फ्रेंड तो बड़ी टाइट है उस ने कहा मे फारिग हो जाउ तो तू भी ट्राइ मार लेना ओर वो चारपाई की पीछे जा कर लड़की को चोदने ल्गा मुझी सिर्फ़ आवाज़ आ रही थी शियीयीयीयियी डालो अंदर नही गया यार तुम्हारा है भी तो इतना छोटा ओर थोरी देर मे वो फारिग हो गया उठा सॉर्ट पहनी और मुझ से कहा नीता सोई हुई है मे दोस्तो मे जा रहा हू बोटेल का प्रोग्राम है मे भी अपने चिकने साथी अज़ीम के साथ नग्गा सो

गया वो तो बेखुद सो रहा था ऐक तो थक गया था उपेर से विसकी ने भी काम देखाया मे उस के जिसम से खेल्ल रहा था कब मेरी आँख लगी …… आँख उस वक़्त खुली जब मे ने ऐक चीख सुनी मे घबरा कर उठा ओर देखा जो बंदी कमरी मे थी मेरे दोस्त की ग्रिल फिरेंड वो चीख रही थी अब जल्दी मे मुझी यह भी याद. नही रहा के मे ने कुछ नही पहना बिल्कुल नग्गा हू मे दौड़ कर उस तरफ गया ओर मे ने पूछा क्या है उस ने सामने इशारा किया वहाँ छिपकली थी वो छिपकली इतने मे भाग कर उस की तरफ आई वो ऐक दम से मुझ सी लिपट गई उस ने सिरफ़ नाइट गाउन पहना था जो सामने से खुल गया था जब वो मुझ से लिपटी और मेरा लंड उस की चूत के साथ टकराया तो मुझे एहसास हुआ के मे नग्गा हू मे झेंप गया हू वो भी पीछे हटी मे ने कहा अछा मौका ही बंदी पट जाइ गी मे ऐसी ही खड़ा रहा उस को

सॉरी कहा की तुम्हारी चीख से मे ऐक्दम से खड़ा हो गया…..उधर जब उस के जिस्म की गर्मी और उस की टाइट चुचिया देखी तो मेरा लंड खरा हो गया जैसी उस को सलामी दे रहा हो वो बड़ी ललचाई हुई नज़र से मेरे लंड को देख रही थी मे ने पूछा क्या देख रही हो तो बोली इतना बड़ा लंड मे ने कहा कि समीर के पास नही है तो बोली है पर इतना बड़ा और खूबसूरत नही है मे ने कहा हाथ लगा कर देखो वो क़रीब आई ओर मेरा लंड अपने हाथो मे पकड़ा लंड और खड़ा हो गया और ज़्यादा टाइट और लंबा हो गया उस ने कहा कितना खूबसूरत है ओर उस को किस किया मे ने कहा सिर्फ़ किस करो गी मुँह मे नही लो गी उस ने झट से मेरा लॉरा अपनी मूह मे ले लिया ओर चूसने लगी मे ने दिल्मे कहा बच्चे तेरा काम होगया अब इस की फुदी मारने सी तुझे कोई नही रोक सकता फिर मे नीचे लेटा उस ने मेरा लंड मुँह मे लिया और उस की गुलाबी चूत मेरे मुँह की तरफ की मे ने अपनी ज़बान से उस को चाटना शुरू किया वो तो पागल हो गई अब उस से

बर्दास्त नही हो रहा था कहने लगी अब जल्दी मुझे चोदो मुझ से बर्दास्त नही हो रहा मेरी फुददी फाडो जानी जल्दी करो मे ने कहा बच्ची गरम हो गई है मे ने अपना 8.5 इंच का लॉरा उस की चूत मे डाल दिया दो तीन झटको मे मेरा पूरा लंड उसकी गोलाबी चूत मे गायब हो गया और फिर मे ने अंदर बाहर करना शुरू किया ऐक तो अभी अज़ीम की गंद मारी थी ओर फारिग हुआ था ओर दो घूँट विस्की के भी ले लिए थे इस लिए जल्दी फारिग होने का सवाल ही पेदा नही होता था मे ने जम कर उस की चुदाई की हा एंजल सी उठा कर बिठा कर लिटा कर जीतने स्टाइल याद थे सब आज़मा लिए मज़ा आ गया बहुत देर तक चुदाई चलती रही मे भी थक गया था पर बहन चोद मेरा लंड

छूट ही नही रहा था आखीर मे पूरी क़ुवत से चोदना शुरू किया और आख़िर फारिग हो गया ओर काफ़ी देर उस पर लेटा रहा फिर उठा बंदी को भी मज़ा आ गया कहने लगी तुम ने तो मुझे वाक़ई मे चोद के रख दिया मुझे बहुत सो ने चोदा है मगर आज तुम से चुदवाने मे जो मज़ा आया उस का तो जवाब नही तुम्हारे सामने तो समीर का बच्चा लगता है मे ने उस से कहा की समीर को यह बात नही कहना मे ने उस को अपना नंबर दिया की जब भी तुम्हे मेरे लंड की तलब हो एसएमएस करना डंडा हाज़िर हो जाए गा इतना बड़ा लंड तुम जैसी हसिनाओ के काम नही आए गा तो किस की काम आए गा अगर तुम्हारी कोई फ्रेंड कज़िन या कोई और भी मेरे लंड से इस्तिफ़ादा करना चाहे तो बंदा हाज़िर है फिर मैं अपनी तरफ आया और सो गया

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!