कोलेज के प्यून का 8 इंच का लंड लिया

peon-ka-8-inch-ka-lund-liyaहाई दोस्तों मेरा नाम करिश्मा सिंह हे और मेरी उम्र 19 साल की हे. मैं मुंबई में रहती हूँ अकेली. मैं गोरी हूँ और मेरी स्किन चमकीली हे. मेरी बॉडी मस्त टोन हे. जब मैं 17 साल की थी तभी मेरे मम्मी पापा का एक रोड एक्सिडेंट में देहांत हो गया था. और फिर मैं मुंबई शिफ्ट हो गई अपनी केटरिंग कोर्स में हायर स्टडी के लिए. मेरे पापा मम्मी के इन्स्योरन्स के पैसे से मेरी पढाई और लाइफ निकल रही हे. और मैं एक बर्गर जॉइंट में पार्ट टाइम काम भी करती हूँ.

ये सेक्स अनुभव मेरे कोलेज ज्वाइन करने के दुसरे हफ्ते में ही हुआ था. एक लेट शाम को कोलेज के खत्म होने के बाद मैं अपने क्लासरूम से निचे उतर रही थी ग्राउंड फ्लोर पर. पॉवर नहीं था इसलिए मैं सीड़ियों से उतर रही थी. अँधेरा होने की वजह से कुछ दिखा नहीं और मेरा पाँव फिसल गया. मेरे से खड़ा नहीं हुए जा रहा था इसलिए मैंने मदद के लिए आवाज लगाईं.

तभी कोई टोर्च ले के मेरी तरफ आया. मैंने टोर्च के उजाले में देखा तो वो हमारिक कोलेज का प्यून था. वैसे आप को बता दूँ प्यून प्रोटोटाइप से उसका आलांकन मत करना क्यूंकि वो जवान था और हेंडसम भी. उसके साथ सोना किसी भी जवान लड़की का सपना होता! मैंने उसे बताया की मैं गिर गई हूँ और शायद पाँव में मोच आ गई हे. वो बोला मैं आप को मेरे कमरे में ले जा के मसाज कर देता हूँ. मैं अन्दर से बड़ी फुदक रही थी उसका ऐसा कहने से. उसने मुझे टोर्च पकड़ाई और उठा लिया. पांच मिनिट में हम उसके रूम में थे. उसका रूम छोटा सा था.

यह कहानी भी पड़े  बिना सिंदूर का सुहाग

जैसे ही हम लोग कमरे में पहुंचे उसने मुझे बिस्तर पर लिटाया. मैं सच में इस मौके का फायदा उठा लेना चाहती थी. उस वक्त मैं एक मिनी स्कर्ट और लेमन कलर का शर्ट पहा हुआ था. शर्ट के अन्दर की ब्रा ट्रांसपेरेंट शर्ट की वजह से साफ़ दिख रही थी. वो तेल लेने के लिए गया मसाज के लिए. मैंने जानबूझ के अपने स्कर्ट को थोडा और ऊपर कर दिया ताकि वो वापस आये तो उसे मेरी पेंटी भी दिख सके. और मैंने अपनी टांगो को भी थोडा सा और खोल दिया.

पॉवर नहीं था इसलिए उसने मुझे कहा की टोर्च पकड़ो आप. टोर्च की बेटरी भी जवाब दे गई थी और हलकी हलकी सी रौशनी ही पड़ रही थी. उसने जैसे ही मसाज करने के लिए हाथ रखा तो घुटनों की जगह उसका हाथ मेरी पेंटी के ऊपर ही आ गया. उसने फट से हाथ हटा लिया और मेरी माफ़ी मांगी. उतने में पॉवर भी आ कमबख्त. और फिर उसने मेरे घुटने के ऊपर मसाज कर दिया. मैं चल सकती थी अब लेकिन मेरा मन बार बार कहता था की चुदवाये बिना यहाँ से जाना नहीं चाहिए!

इसलिए मैंने फट से एक प्लान सोच लिया और उसको कहा की पेट का मसल भी खिंच गया हे शायद आप प्लीज वहां पर भी आयल मसाज कर दो.

उसकी हां या ना सुने पहले ही मैंने अपना शर्ट निकाल दिया और बेड में लम्बी हो गई. वो बेड के पार में ही स्टूल के ऊपर बैठ गया. उसने मेरी नाभि के पास तेल डाला और मसाज करने लगा. मैं तो जैसे सातवें आसमान में विहार कर रही थी. उसका हाथ सेक्सी ढंग से मेरे पेट के ऊपर चल रहा था.

यह कहानी भी पड़े  बिग बूब्स वाली गर्लफ्रेंड की चुदाई

और फिर अचानक मुझे ऐसा लगा की मेरी वजाइना के पास में कुछ हे. मैं उठ खड़ी हुई और मैंने उसे कहा की मुझे बाथरूम जाना हे. उसने मुझे बाथरूम दिखाया. उसका बाथरूम एकदम छोटा था और उसके दरवाजे की लोक टूटी हुई थी. मैंने दरवाजे को ऐसे ही बंद किया और मुतने लगी.

मैंने देखा की उसने बाथरूम का दरवाजा खोला और वो अन्दर आ गया. मैं खड़ी हुई और उसे पूछा की क्या कर रहे हो? तो उसने कहा की मुझे भी जोर की पिशाब आई इसलिए मैंने सोचा की हम साथ में ही मूत लेते हे. उसने कहा पीछे तुम मुतो मैं आगे के हिस्से में मूत लेता हूँ. मैं थोडा नाटक कर रही थी. लेकिन सच तो ये था की मैं खुद आज उसका लंड किसी भी कीमत पर ले लेना चाहती थी.

वो मुतने के लिए खड़ा हुआ और मेरी नंगी गांड उसके सामने ही थी. उसने अपनी पेंट को खोली और जैसे ही चड्डी को निचे की तो मेरे मुहं से आह निकल गई. उसका लंड पूरा 8 इंच का था. हम दोनों बातें करते हुए मुतने लगे. और वो साले ने जानबूझ के थोडा मूत मेरे कपड़ो और बदन के ऊपर भी छोड़ा.

मैंने उसे कहा की तुम्हारा मूत भी तुम्हारे जैसा ही हॉट हे. ये सुन के उसने मुझे अपने पास खिंच लिया और बोला, चलो अब तुम्हे नहला भी देता हूँ, तुम्हारे ऊपर मूत गिरा हे और तुम मेरी महमान हो इसलिए तुम्हे साफ़ करना मेरा कर्तव्य हे.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!