बीवी की माँ के साथ पहली सुहागरात

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विक्की है और में ग्वालियर का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 25 साल है। मेरा लंड 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। दोस्तों आप सभी की तरह मैंने भी पर बहुत सारी सेक्सी कहानियों के मज़े लिए है, क्योंकि मुझे सेक्स करना बहुत अच्छा लगता है। दोस्तों आज में आप सभी के सामने अपने जीवन की एक सच्ची घटना को सुनाने जा रहा हूँ जिसको पढ़कर आप सभी को बड़ा मज़ा आएगा। दोस्तों मैंने आज तक किसी के साथ सेक्स नहीं किया था और उसकी वजह यह थी कि मेरा सोचना यह था कि जो मज़ा बीवी के साथ सेक्स करने में है वो किसी और के साथ कहाँ है? और इसलिए मैंने अब तक बस मुठ मारकर ही अपना काम चलाता रहा। फिर कुछ समय बाद मेरी शादी हो गई और अब में आप सभी को मेरी पहली चुदाई की कहानी वो सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ जिसके बाद मेरा जीवन बिल्कुल ही बदल गया। दोस्तों मेरी शादी एक नेहा नाम की बहुत सुंदर लड़की के साथ हुई और मेरी पत्नी नेहा बहुत गोरी उसका व्यहवार बहुत अच्छा होने के साथ ही वो खुले विचारों की लड़की है, लेकिन वो एक ऐसे परिवार से है, जहाँ पर लड़कियों को कोई आज़ादी नहीं है और ना ही उन्हे बाहर की दुनियां का कुछ दिखाया जाता हैं और ना ही कहीं पर अकेले जाने दिया जाता है।

दोस्तों उसके घर में उसकी एक बड़ी बहन एक छोटी बहन और एक उसका छोटा भाई भी है और उसके माता पिता उसके चाचा चाची के साथ ही रहते है। दोस्तों मेरी पहली रात मतलब की सुहागरात बहुत ही खराब रही, क्योंकि में जैसे ही उसके कपड़े खोलने लगा, उसने मुझे रोक दिया, क्योंकि वो सेक्स के बारे में नहीं जानती थी। अब मुझे उसकी इस हरकत की वजह से बड़ा गुस्सा आया क्योंकि हर एक मर्द चाहता है कि उसकी पत्नी उसके साथ बड़े ही प्यार से अपनी पहली चुदाई के मज़े ले। फिर भी में वो सब सह गया मैंने मन ही मन में सोचा कि में उसको प्यार से समझा दूंगा। फिर तीन दिन के बाद हम दोनों के लिए मेरे ससुराल से बुलावा आया और में बहुत गुस्से में वहां पर चला गया और खाना खाने के करीब आधे घंटे बाद जब घर में हम दोनों अकेले ही बैठे हुए थे उस समय मेरी पत्नी अपनी पड़ोस वाली शेली के साथ बाजार किसी काम से हम दोनों को घर में अकेला छोड़कर चली गई। फिर जैसे ही मेरी सासूजी मुझसे बातें करने लगी, तब मैंने उनको हमारी पहली रात वाला वो पूरा किस्सा सुनाकर अपने मन की भड़ास को निकाल दिया। फिर वो मेरे मुहं से सभी बातें सुनकर बिल्कुल दंग रह गयी और वो अपनी बेटी की उस हरकत की वजह से बहुत ही चकित थी इसलिए उनके मुहं से एक भी शब्द बाहर नहीं निकला।

यह कहानी भी पड़े  फ़ेसबुक से मों को चोदा

दोस्तों मेरी सासूजी की उम्र करीब 40 साल है और वो अब बड़े ही प्यार से मुझसे बातें कर रही थी। फिर मैंने उनको पूरी तरह खुलकर जब यह पूरी बात बताई तब वो सुनकर पहले थोड़ी सी घबरा गई, लेकिन फिर बाद में वो हंसने लगी। दोस्तों मुझे उनके इस व्यहवार पर बहुत ही गुस्सा आने लगा था और फिर उन्होंने मुझे थोड़ा सा रुकने के लिए कहा और वो उठकर चली गई। उसके बाद वो थोड़ी देर बाद वापस आ गई, लेकिन दोस्तों अब वो नज़ारा बिल्कुल बदल चुका था। अब उन्होंने अपनी साड़ी को उतारकर एक मेक्सी को पहन लिया था और मेरी सासूजी का गोरा रंग उसमे बहुत ही खिल रहा था और उनके वो बूब्स जिनकी आकार 36-38-40 है। अब उनके वो बड़े आकार के बूब्स उभरकर साफ साफ दिखाई दे रहे थे और उनकी मेक्सी का गला ज्यादा बड़ा होने की वजह से उसमे से उनकी अंदर की काली ब्रा भी मुझे साफ नज़र आ रही थी। अब उस कमरे में सिर्फ़ में और मेरी सासूजी ही थी, उन्होंने धीरे से अपना एक हाथ मेरी तरफ बढ़ा दिया और वो मेरे पास आकर बैठ गयी। फिर उन्होंने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया और वो मुझसे बड़े ही प्यार से कहने लगी कि जाने भी दो ना बेटा, वो अभी नई कली है, अभी तक उसने किसी से अपनी चुदाई के वो मस्त मज़े नहीं लिए है ना इसलिए वो लंड का असली मज़ा क्या होता है यह बात नहीं जानती है।

अब तुम इसके बारे में बिल्कुल भी चिंता ना करो, क्योंकि में उसको सब कुछ बहुत अच्छे से समझा दूंगी। दोस्तों में उनकी इस तरह से पूरी खुली बातें सुनकर एकदम दंग रह गया और फिर उन्होंने एक बार फिर मुझसे पूछा क्या तुमने पहले कभी किसी को चोदा है? मैंने कहा कि नहीं केवल मैंने अब तक मुठ मारकर अपना काम चलाया है। अब वो पूछने लगी किसके नाम से तुमने मज़े लिए? मैंने उनको कहा कि बहुत सी लड़कियों और औरतों का नाम उनके बारे में सोचकर मैंने यह काम किया। दोस्तों मुझे लगा था कि वो अब शायद मेरे मुहं से यह बात सुनकर नाराज़ हो जाएगी, लेकिन वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर पहले से ज्यादा खुश हो गयी और अब उनकी आँखों में मुझे एक अजीब सा नशा दिखाई दे रहा था। अब उन्होंने मुझे अपने और भी पास बुलाकर मेरा एक हाथ पकड़कर अपनी जांघ पर रखा और फिर वो मुझसे पूछने लगी क्यों तुम्हारे लंड का आकार क्या है? अब तक में भी बहुत मस्ती में आ गया था इसलिए मुझे बिल्कुल भी डर या शरम नहीं थी और फिर मैंने तुरंत ही कहा कि 5 इंच। अब वो मेरे मुहं से यह जवाब सुनकर कहने लगी कि मुझे तुम्हारी इस बात पर विश्वास नहीं होता, तुम मुझसे झूठ कह रहे हो। तभी मैंने उनका हाथ अपने हाथ में लेकर सीधे अपने खड़े लंड पर रख दिया।

यह कहानी भी पड़े  नाना ने अपने मोटे लंड से चोदकर मेरे यौवन को खिला दिया

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!