पति से ना मिला शादी का सुख

मैं अमित हाज़िर हूँ अपनी नई कहानी लेकर, जैसा कि आपको मेरी पिछली कहानी
शादी से पहले सेक्स का मजा
में ही पता चल गया है कि मैं बहराइच का रहने वाला हूँ और लखनऊ में रह रहा हूँ। और एक मेल एस्कॉर्ट्स का काम करता हूं। पिछली कहानी मेरे ही शहर की रहने वाली एक लड़की की थी। इस बार की कहानी भी मेरे और मेरी एक क्लाइंट की ही है।

कहानी पिछले रविवार की है, छुट्टी का दिन था, मैं अपने कमरे में बैठा आराम से मूवी देख रहा था। तभी फोन बजा, मैंने कॉल रिसीव की तो उधर से एक प्यारी सुरीली आवाज सुनाई दी। थोड़ी सी बात हुई तो पता चला कि मैडम को आज रात सर्विस चाहिए, रात की कोई बुकिंग थी नहीं तो मैंने भी हाँ कर दी।

मैडम ने अपना नाम नीतू बताया। थोड़ी देर में घर का पता भी मैसेज पर आ गया, एड्रेस गोमती नगर के एक घर का था। मैंने भी जाने की तैयारी शुरू कर दी। बैग पैक किया, फिर खुद को जैसे की नीचे और बगल के बाल वगैरह साफ किए, और थोड़ी बहुत तैयारी और भी की।

शाम को मैं दिए हुए पते पर तय समय पर पहुंच गया। वहां पहुंच कर मैंने उसी नंबर पर वापस कॉल की, उसने फोन पर दो मिनट में आने को बोला। थोड़ी देर बाद उस मकान का दरवाजा खुला, मैं सड़क के दूसरी तरफ खड़ा था।
उसने मुझे दोबारा कॉल की, मैंने दूसरी ओर से ही हाथ उठाकर इशारा किया तो उसने मुझे उस तरफ आ कर अंदर आने का इशारा किया। मैंने रोड क्रॉस की और गेट पर पहुंच गया।

हाथों में भरी हुई लाल चूड़ियाँ, टाइट जीन्स, टॉप, गोरा रंग, एकदम भरा हुआ शरीर, 32-30-34 का फिगर… देख कर लग रहा था कि अभी कुछ दिन पहले ही शादी हुई हो, देखने में एकदम मस्त लड़की लग रही थी।
उसको देखकर कुछ देर के लिए तो मैं खो सा गया था।

यह कहानी भी पड़े  शादी के पांचवे दिन तक इंतज़ार की पति के लण्ड का

अचानक से उसने चुटकी बजाकर इशारा किया, मैं तो मानो नींद से जगा। उसने अपने पीछे आने को कहा। मेरे गेट के अंदर आते ही उसने गेट लॉक किया और गार्डन एरिया से आगे बढ़ कर मकान में अंदर चलती चली गई। मैं भी एक रोबोट की तरह उसके पीछे पीछे चल रहा था।

अंदर पहुचते ही उसने मुझे बैठने को कहा और मेरे बारे में पूछने लगी। मुझसे बातचीत करते हुए वो सभी खिड़की दरवाजे लॉक कर रही थी।

नीतू का घर बहुत ही शानदार था। हर चीज ठीक ढंग से अपनी जगह पर थी। महँगे सजावट के सामान, महंगा सोफा, हर एक चीज अपनी अपनी कीमत बता रही थी। काफी अमीर लोग थे।
उसने मुझसे चाय या ड्रिंक्स का भी पूछा लेकिन मैंने मना कर दिया।

अब वो अपना काम खत्म कर के मेरे बगल में आ कर बैठ गई। मैंने उससे उसके और उसके परिवार के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसकी शादी अभी दो हफ्तों पहले ही हुई है। उसके पति बैंक मैनेजर हैं, ससुर आर्मी से रिटायर हैं और बिज़नस करते हैं। फिलहाल बेटे की शादी की खुशी में चारों धाम की यात्रा पर गए हैं।

उसने आगे बताया कि उसकी शादी अरेंज मैरिज है। घर वालों ने अच्छा कमाता खाता परिवार देख कर शादी कर दी। मॉडर्न फैमिली से होने के कारण उसकी एजुकेशन काफी अच्छी है और शादी से पहले उसके बॉयफ्रेंड भी थे। जिनसे उसके फिजिकल रिलेशन भी रहे थे पर परिवार की वजह से उसने सब कुछ छोड़ कर अरेंज मैरिज कर ली। पर उसे अपने पति से वो शारीरिक सुख नहीं मिला जैसा वो चाहती थी। परिवार की इज़्ज़त के लिए उसने एडजस्ट करने की सोची है। वो अपने किसी भी पुराने बॉयफ्रेंड को बुलाना नहीं चाहती क्यूँकि इससे बदनामी का भी डर रहेगा और उसकी खुद की इज़्ज़त जाने का भी।

यह कहानी भी पड़े  गर्लफ्रेंड का बदला उसकी मॉं से लिया

नीतू- आओ, अब बेडरूम में चलते हैं, आगे का प्रोग्राम वहीं करते हैं.
वो मेरा हाथ पकड़कर मुझे अपने बेडरूम में ले आई।

क्या मस्त बड़ा बेडरूम था, राउंड बेड लार्ज साइज़, साइड में सोफा। ऐसा लग रहा था कि किसी फाइव स्टार होटल का रूम हो।
नीतू- अमित यार… आज मुझे वो खुशियां दे दो जिनके लिये मैं तरस रही हूँ। आरती ने काफ़ी तारीफ की है तुम्हारी, देखते है कि आप सचमुच तारीफ के काबिल हैं या नहीं।
मैं- नीतू जी, अब इसके लिए आप पहले मुझे बता दें कि आप को किस तरह का सेक्स पसंद है। आपकी फंतासी क्या है, आप सेक्स को किस नज़रिए से लेती हैं। और सबसे पहले आप अपने आप को मेरे हवाले कर दीजिए।

नीतू- अमित, मुझे वाइल्ड सेक्स पसंद है। आरती ने मुझे बताया था कि आप मसाज करते हैं लेकिन वो फिर कभी। आज आप अपने सबसे बेस्ट तरीके से मुझे सेक्स के सारे मजे दे दो, और मैं ये दिन कभी ना भूल पाऊँ। अब आप पर है आप क्या करते हो कैसे करते हो मेरे साथ।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!