पापा ने मेरी सासू माँ को रंडी बनाया

हैल्लो फ्रेंड्स मेरा नाम राजेश है और मेरी उम्र 23 साल है। दोस्तों आज में आपको एक ऐसी स्टोरी बताने जा रहा हूँ जो मेरे पापा और मेरी सासू माँ की चुदाई की है और यह घटना मेरी शादी के कुछ ही दिनों के बाद की है.. जब मेरे ससुर जी बीमार पड़ गये थे.. तब में और मेरे पापा उनका हाल जानने मेरे ससुराल गये हुए थे और हम रात में वहीं पर रुके थे। उस समय घर पर मेरी सास और मेरी एक साली और ससुर, में और मेरे पापा घर में मौजूद थे।

दोस्तों में सबसे पहले आपको मेरी सासू माँ के बारे में बता दूँ.. मेरी सासू माँ का नाम रामकौर है और वो बहुत ही सुंदर औरत है उनकी उम्र 49 साल की है.. लेकिन उनका शरीर बिल्कुल एकदम फिट है और उनको देखकर नहीं लगता है कि वो 49 साल की है। उनके बूब्स बहुत ही बड़े बड़े है और उनकी गांड बिल्कुल गोल गोल है.. मेरी सासू माँ अधिकतर टाईम सलवार सूट ही पहनती थी और सासू माँ की कुरती में से उनके बूब्स गजब की देखते थे और सारे मोहल्ले के लोग मेरी सासू माँ के हुस्न के दीवाने थे।

तो दोस्तों उस रात हम वहीं पर रुके हुए थे और घर में हम केवल तीन चार लोग ही थे। फिर जैसे ही में मेरे पापा और मेरी सास और ससुर जी ने हमे.. रात का खाना होने के बाद मुझे ऊपर सोने के लिए बोल दिया और मेरे पापा को भी। मेरे पापा का नाम रमेश है.. मेरे पापा मेरी सासू माँ को घूर घूरकर देख रहे थे और सासू माँ को बहुत ही पसंद करते थे.. ससुर जी को बीमार हुए बहुत दिन हो गये थे। मेरी सासू माँ ने मेरे पापा से बहुत सारी बातचीत की और सोने की तैयारी होने लगी तो में ऊपर वाले कमरे में सोने चला गया और मुझे कुछ देर नींद नहीं आई तो में वापस नीचे आया और मैंने देखा कि मेरे पापा मेरी सासू माँ के पास बैठे है और वो सासू माँ के साथ बातचीत करने में लगे हुए थे और वो सासू माँ से कहने लगे कि रोने की ज़रूरत नहीं है सब ठीक हो जाएगा.. बीमारियाँ तो आती जाती रहती है और अब उसने सासू माँ को सोफे पर बैठा दिया और सासू माँ के आँसू पोंछने लगे।

यह कहानी भी पड़े  पापा के लंड पर बैठकर मजा लिया

तभी मैंने देखा कि पापा सासू माँ के गालों को छू रहे है फिर उन्होंने मौका देखकर एक हाथ मेरी सासू माँ के बूब्स पर रख दिया। तो सासू माँ ने कहा कि आप यह क्या कर रहे हो? तो मेरे पापा कहने लगे कि बस आपको प्यार दे रहा हूँ। तो सासू माँ ने कहा कि यह क्या कह रहे हो आप? और यह बिल्कुल भी नहीं हो सकता। तो पापा बोले कि क्यों नहीं हो सकता? आख़िर तुम मेरी समधन तो हो ही और समधन के साथ तो मेरा पूरा हक है। तो वो उनकी तरफ देखने लगी और में दूसरे रूम से खड़ा होकर यह सब देख रहा था। तभी सासू माँ ने कहा कि ठीक है.. लेकिन अभी नहीं.. मेरा जवाई राजा देख लेगा। में देर रात में आउंगी। तो उन्होंने कहा कि ठीक है। फिर मेरे पापा चले गये। में भी तैयार होकर ऊपर सोने चला आया.. लेकिन में यही सोच रहा था कि आज पापा, मेरी सासू माँ को चोद देंगे। तभी थोड़ी देर बाद सासू माँ बाथरूम में नहाने चली गयी और जब सासू माँ बाहर निकली तो मैंने देखा कि सासू माँ ने सफेद कलर का सलवार सूट पहन रखा था और सासू माँ का सूट बिल्कुल पारदर्शी था..

जिसमे से उनकी लाल रंग की ब्रा दिख रही थी और उसमे सासू माँ गजब हॉट लग रही थी और मैंने देखा कि सासू माँ तैयार हो रही थी। तभी मैंने सासू माँ से पूछा कि सासू माँ आप कहीं जा रही हो क्या? तो सासू माँ ने कहा कि हाँ जवाई राजा में पार्टी में जे रही हूँ और तुम सो जाओ। तो मैंने कहा कि ठीक है और में सोने चला गया.. लेकिन मेरे दिमाग़ में पापा की बात चल रही थी कि आज वो अपनी समधन को चोद देंगे। तभी कुछ देर बाद सासू माँ बाहर निकलकर ऊपर वाले हिस्से के पिछले कमरे की तरफ चली गयी.. में थोड़ी देर तक ऐसे ही बेड पर लेटा रहा और फिर में उठा और उसी तरफ का गेट खोला और सासू माँ के पीछे पीछे चला गया। तो मैंने देखा कि सासू माँ और पापा एक कमरे में बंद हो गये और पापा ने रूम का दरवाजा बंद कर दिया। तो में वहीं पर बनी एक छोटी सी खिड़की से अंदर की तरफ देखने लगा। सासू माँ सोफे पर जाकर बैठ गयी.. पापा भी वहीं पर सासू माँ के पास में जाकर बैठ गये और सासू माँ से बातें करने लगे। फिर मैंने देखा कि पापा सासू माँ को घूरकर देख रहे थे और अब पापा सासू माँ के और पास में बैठ गये।

यह कहानी भी पड़े  पापा ने मेरी सलवार का नाडा खोल दिया

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!