पहला सेक्स अनुभव बंगलोर की रंडी के साथ

pahla-sex-anubhaw-randi-ke-sathदोस्तों मेरा नाम वरुण हे और मैं अपनी हॉट कहानी ले के आप लोगों के सामने आया हूँ. मैं पहले से ही आप लोगो को बहुत बहुत शुक्रिया कहता हूँ इस कहानी को पढने के लिए. मैं 23 साल का हूँ और चेन्नई में रहता हूँ. मेरी हाईट 6 फिट की हे और मेरे लंड की लम्बाई पुरे 6 इंच हे.

दोस्तों ये सेक्स अनुभव कुछ सालों पहले का है, फ्लेशबेक सा जिसे मैं आप लोगो के लिए पेश कर रहा हूँ. उन दिनों मैं 20 साल का था और सेक्स के लिए बेहद उतावला. वैसे हर वर्जिन लौंडे को अपने पहले सेक्स की तलाश और बेताबी तो रहती ही हे. मैं कोलेज के सेकंड इयर में था और जल्दी से किसी के साथ लेटने के लिए मरा जा रहा था.

तभी मैंने अपने कुछ दोस्तों के साथ बंगलौर जाने का प्लान बनाया. तब मैंने सोचा नहीं था की मेरे लंड का सिल बंगलौर में खुलना हे. हम लोग तो सिर्फ घुमने के लिए वहां गए थे. एक दोस्त की फुफेरी बहन की शादी थी. हम लोगों को पीना शीना था इसलिए हम उन्के घर की जगह एक मोटेल में रुके रगे. हम चार लोग थे और हमने दो रूम ले रखे थे. पहली नाईट को ही हमने ब्रांडी लगाईं.

वैसे मैं शराब कम ही पीता हूँ. मेरे दोस्तों ने सब ने खूब पी ली और वो लोग टूल से हो चुके थे. मैं हलके से नशे में था. सिगरेट पिने के लिए बहार निकला तो देखा की वहां बालकनी में एक 20 साल की लड़की और लड़का खड़े थे. वो लड़की बार बार मुझे देख रही थी. मैं भी उसे देख रहा था. उसने मेकप किया था और लिपस्टिक भी लगा रखी थी. वो लड़के ने मुझे देखा और स्माइल देने लगा. उसने लड़की को इशारा किया तो वो कमरे में चली गई.

यह कहानी भी पड़े  किराये का घर मे सेक्स कहानी

लड़का फिर मेरे पास आया और बोला, कैसी लगी?

मैने कहा, एक्सक्यूस मी, क्या?

उसने कहा, अरे वही जो तू देख रहा था, वैसे 1200 लेती हे वो लेकिन मैं 900 में करवा दूंगा!

बाप रे वो तो एक रंडी ही निकली! मैंने सोचा की साला आज सही मौका हाथ लगा के अपने लंड को चोदने का अनुभव देने का. लेकिन तभी मैंने सोचा की कही पुलिस का चक्कर पड़ गया तो और वैसे इन धंधेवालियों को तो बीमारी भी हो सकती हे. मैंने अपने डाउट उस लड़के को बताये.

तो वो बोला, पुलिस का आप टेंशन मत लो, बाद में पैसे देना. और लड़कियां सब की सब नयी ही हे मेरे पास. और कंडोम लगा लेना चोदने के समय फिर कैसी टेंशन बिमारी की.

मैंने कहा, चलो ठीक हे. वो बोला, आप अंदर रूम में चले जाओ मैं यही वेट करता हूँ आप की काम खत्म करने की.

मैं अंदर गया तो वो जवान रंडी टीवी के ऊपर भड़कीले सोंग लगा के लेटी हुई थी. वो उलटी लेटी पड़ी थी और उसकी बड़ी गांड मेरे सामने थी. मेरा पहला अनुभव था रंडी का इसलिए मेरा दिल जोर जोर से धडक रहा था. उसने मुझे ऊपर से निचे देखा और बोली, फर्स्ट टाइम?

Pages: 1 2

error: Content is protected !!