पड़ोसन मेघा और उसकी कज़िन

हेलो फ्रेंड्स, आपने मेरी पहली दो हिन्दी सेक्स स्टोरीस बायोलॉजी टीचर की चुदाई और 7 साल बाद हुमेरा को चोदा तो पढ़ी ही होगी क्यूकी मुझे आप सब के काफ़ी मैल मिले जिनमे से एक खुद मेरी पड़ोसन का था जोकि खुद भी हुमेरा की बहुत अच्छी सहेली है.

आज आपको मैं उसी पड़ोसन की चुदाई के बारें मे बताऊंगा और साथ ही ये भी की उसने अपने चुदाई के खेल मे अपनी बुआ की लड़की को भी कैसे शामिल किया, पहले अपने बारे मे आपको दोबारा बता दू मेरा नाम देव है उमर 26 साल और मेरी पड़ोसन का नाम है मेघा.

मेघा मेरी ही उमर की लड़की है 5 फुट 3 इंच हाइट है उसकी, और 36 28 38 का उसका फिगर है मैने उसे 2 साल पहले प्रपोस भी किया था और उसने आक्सेप्ट भी किया था लेकिन किसी वजह से हमारी लड़ाई हो गयी थी और मैने उसकी चुदाई नही की थी.

उसके बाद भी मैने एक बार उसे दोबारा प्रपोस किया था लेकिन उसने कोई रिप्लाइ नही किया था, लेकिन जब मैने देसीकाहानी पर अपनी कहानिया पोस्ट की तो वो कहानिया उसने भी पढ़ी और मैं नही जनता था की वो भी देसीकाहानी की रीडर हैं.

एक दिन उसने मुझे स्माइल किया और मेरी स्टोरी की तारीफ की और मैल मे लिखा की वो भी मुज़फ़्फ़रनगर से ही है तब तक मैं ये नही जनता था की वो मेरी पड़ोसन ही है और वो भी यही कन्फर्म करना चाहती थी हम ईमेल पर ही बाते करने लगे थे एक दिन उसने मुझसे मेरा फोन नंबर माँगा..

तो मैं तुरंत उसे अपना प्राइवेट नंबर दे दिया और उसने मुझे वाट्सॅप पर मेसेज किया मैने उसे कॉल किया उसने बातो बातो मे पूछा की कहा रहते हो मैने उसे नही बताया और उससे पूछा की क्या वो चुदाई मे इंट्रेस्टेड है तो मैं बताऊंगा उसने बोला की उसकी भी चुद चुदना चाहती है.

उसने मुझसे मेरे बारे मे सब कुछ जानना चाहा और आख़िर मे बताया की वो मेरी पड़ोसन मेघा है मेरी तो खुशी का ठिकाना ही नही रहा, मैने उसे रात को टेरिस पर आने के लिया बोला वो मान गयी क्यूकी सर्दियो का वक़्त था टेरिस पर कोई नही होता था और हमारे टेरिस पर एक छोटा कमरा भी बना है सो मैने उसे रात के 2 बजे वही बुला लिया वो रात को आ गयी उसने नाइट सूट पहना था और उपर जॅकेट थी मैने उसे कमरे मे ले गया उसे ठंड लग रही थी.

यह कहानी भी पड़े  चार सहेलियों को बजाया - 1

लेकिन मैं उसकी आग भड़कना चाहता था इसलिए कुछ नही किया सो वो अपने आप ही आकर मुझसे लिपट गयी मेरा लंड तना हुआ था मैने उसकी गॅंड पर हाथ रखकर आगे की और चिपकाया उसे अपने चुत के पास मेरे लंड का अहसास हुआ.

तो वो सिसकिया लेने लगी और बोली की उसकी चुत गीली होने लगी है मैने उसको होटो पर किस करना शुरू कर दिया और उसकी जॅकेट उतार फेंकी अब वो काफ़ी गरम हो रही थी मैने उसे दीवार से सटा दिया और उसकी मोटी चुचिया दबाने लगा.

वो मेरे लंड को मसल रही थी तभी मैने अपना एक हाथ उसके पैजामे मे डाल दिया वो पूरी सिहर उठी उसकी चुत पूरी गीली थी मैने उसे गाली देना शुरू कर दिया साली कब से तुझे और बहनो को चोदना चाहता था आज हाथ लगी है उसने कहा हाथ लगी हू तो चोद दे ना उसने मेरा लोवर उतार फेंका वो मेरे लंड को मसलने लगी मुझे मज़ा आ रहा था अब हम दोनो गरम थे मैने अपना टीशर्ट उतार फेंका और उसका भी नाइट सूट उतार दिया.

वो अब ब्लॅक कलर की ब्रा पैंटी मे थी साली एक दम परी लग रही थी मैने उसकी पैंटी मे हाथ डालकर उसकी चुत मे उंगली डाल दी वो बोली की उंगली डालके तडपा मत साले लंड डाल दे.

मैने उसकी ब्रा पैंटी भी उतार दी और उसकी मोटी चुचिया चूसने लगा वो मेरा सिर अपनी चुचियो पर दबा रही थोड़ी देर उसकी चुचिया चूसने के बाद उसने मुझे हटाया और घुटनो पे बैठकर मेरा लंड चूसने लगी.

यह कहानी भी पड़े  दो कॉलेज गर्ल, तीन चोदू लड़के ग्रुप सेक्स

उसने 10 मिनिट मेरा लंड चूसा मैं डिसचार्ज होने वाला था मैने उसका सिर पकड़ा और मूठ मारके अपना सारा माल उसके मूह मे ही निकाल दिया उसके बाद मैने उसे लेटया और उसकी चुत को चाटने लगा.

थोड़ी देर बाद वो भी झड़ गयी और मेरा लंड अब दोबारा तैयार था मैने मेघा की टांगे चौड़ा दी और अपना लंड उसकी चुत पर रख दिया गीली होने की वजह से दो धक्को मे ही लंड अंदर चला गया क्यूंकी वो पहले भी एक दो बार चुद चुकी थी इसीलिए लंड जाने मे कोई ख़ास दिक्कत नही हुई पर उसकी आँखे दर्द से बंद हो गयी.

मैने 20 मिनिट तक उसकी चुदाई की इस दौरान वो एक बार झड़ भी चुकी थी मैने अलग अलग तरीक़ो से उसकी चुदाई की, मैने उसे खड़ा किया और उसकी एक टाँग उपर करके उसकी चुत मे लंड डालकर उसकी चुदाई की और इस दौरान उसे बहुत गालिया भी दी जिससे उसे बहुत मज़ा आ रहा था आख़िर मे मैने उससे बोला साली रंडी कुतिया तेरे मूह मे अपना माल निकालूँगा तो अपने आप नीचे बैठ गयी मेरे लंड की मूठ मारी और अपने मूह मे सारा माल लेकर पी गयी उसे बहुत ही ज़्यादा मज़ा आया इस सब मे.
उसके बाद मैने उससे उसकी गॅंड मारने के लिए बोला सो वो मान गयी अगले दिन मैने उसकी दबाके गॅंड मारी जिस वक़्त मैने उसकी गॅंड मारना सुरू किया वो दर्द के कारण मना करने लगी पर मैने उसकी एक नही सुनी और उसे घोड़ी बनाकर उसकी दबाके गॅंड मारी.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!