राज शर्मा की पड़ोसन की वासना 2

गतान्क से आगे…………….राज शर्मा की पड़ोसन की वासना Part 1

फ़रीदा को और कस्के पकड़ते अपने लंड पे बिठाते उसके मम्मे मसल्ते राज शर्मा बोला,”आरे मे क्या कर रहा हूँ?अपनी जान को ही मसल रहा हूँ ना?तू भी चुदवाना चाहती है इसलिए टवल उतारा ताकि सुनील जाने के बाद नंगा होने मे ज़्यादा टाइम नही लगे” अब सुनील भी अपना लंड मसल्ते फ़रीदा के सीने पे हाथ रखते बोला,”हां फ़रीदा,राज शर्मा भी बड़ा बेताब है तुझे चोद्ने के लिए. उसके लंड की गर्मी तो तुझे महसूस हो रही होगी ना तेरी गान्ड पे?वैसे राज शर्मा, तू तेरी किसी रांड़ की मा को क्यों नही चोदता जैसे आज मे चोद्ने वाला हूँ?तेरी ये रंडी फ़रीदा की मा भी मस्त आइटम है,ट्राइ कर उसे चोद्ने की,मज़ा आएगा तुझे. ” फ़रीदा को रियल मे अंदर ही अंदर मज़ा आ रहा था राज शर्मा के लंड पे बैठके,उसके और सुनील से से मम्मे मसल्ने से और सुनील के मुँह से उसकी मा के बारे मे गंदी बात सुनने से. मन ही मन मे वो आज इन दोनो से चुदवाने तैयार हुई पर नाटक करते बोली,”राज शर्मा अब प्लीज़ सुनील को बोलो ना जाने को. देखो कैसे बात कर रहा है मा के बारे मे और मेरा सीना मसल रहा है. प्लीज़ ये क्यो राज शर्मा आज तू मेरी इज़्ज़त से ऐसे खेल रहा है?”

सुनील अब दूसरे हाथ से फ़रीदा की झांग सहलाते बोला,”क्यो फ़रीदा,मेरी बाते अछी नही लगती क्या तुझे जो मुझे जाने बोल रही है?साली मेरे घर मे राज शर्मा से उछलके चुदवाती है और अब देख कैसे नाटक करती है. ” राज शर्मा फ़रीदा का टॉप ऊपर करके रेड ब्रा एक्सपोज़ करते बोला,”यार सुनील मेरी तो एक ही रांड़ है ये फ़रीदा और अब उसकी मा को कैसे चोदु मे?फ़रीदा तेरी मा चुदेगि क्या मुझसे छीनाल?तुझे अच्छा लगेगा अगर तेरी मा मुझसे चुदी तो?” फ़रीदा ने राज शर्मा का हाथ अपना टॉप और उठाने के पहले रोकते कहा,”अफ, कितनी गंदी बात करते हो?मेरे साथ खेल रहे हो पर बार-बार उसका जिकर क्यों करते हो?क्यों आज तुम दोनो मेरी मा के पीछे पड़े हो?” फ़रीदा की स्कर्ट आगे से उठाके सुनील उसकी चूत पे हाथ रखते बोला,”आरे साली अब हम दोनो तारे पीछे नही पड़ सकते ना?तेरे पीछे तो राज शर्मा है,अपने लंड पे तेरा पिछवाड़ा लेके इसलिए मे तेरी मा के पीछे पड़ा हूँ. या ऐसा करू कि तेरी मा आने तक तुझे ही आगे से लूँ?” इतने मे राज शर्मा ने पीछे से फ़रीदा को थोडा उठाके उसकी पॅंटी नीचे खिसकाते अपना नंगा खड़ा लंड उसकी गान्ड पे फेरते और दूसरे हाथ से टॉप पूरा ऊपर करके मम्मे मसल्ते कहा,”उफ़फ्फ़ रांड़ साली जब भी तुझे देखता हूँ मेरा लंड खड़ा होता है. क्या माल है तू. चल अब कपड़े उतार और मेरे यारो को भी तेरी जवानी देखने दे जो इतनी बार नंगी होके मेरे नीचे चुदाई करवाई है. ”

यह कहानी भी पड़े  ग्राहक ''ज्योति'' की चुदाई

अपनी नंगी गान्ड पे राज शर्मा का नंगा लंड पाके फ़रीदा को अच्छा तो लगा पर राज शर्मा की डिमॅंड सुनके वो एकदम घबरा गई. वो समझी आज उसकी चूत और गान्ड की खैर नही. आज वो एक साथ आगे पीछे से चुद्ने वाली है. इन दोनो जनवरो की हाथो से आज़ाद होने की कोशिश करते फ़रीदा गुस्से से बोली, “नही ना राज शर्मा,ऐसा मत करो. प्लीज़ राज शर्मा देखो सुनील को मना करो मेरा बदन छूने से और तुम दोनो मेरे साथ ऐसा मत करो नही तो मे चिल्लाउंगी. आहह सुनील,कितने ज़ोर्से दबा रहे हो मेरा सीना तुम. आह्ह्ह्ह प्लीज़ मुझे छोड़ो. ” इस बात पे गुस्सा होके राज शर्मा पीछे से फ़रीदा की पॅंटी पूरी तरह नीचे करके अपना लंड उसकी गान्ड पे रगड़ते बोला,”एयेए मदेर्चोद रांड़ क्यों चिल्लाएगी तू?साली तू चिल्लाई तो तेरी ही बदनामी होगी समझी रांड़?और सुनील सिर्फ़ हाथ लगा रहा है लंड तो नही ना? बहनचोड़ चल तेरा टॉप उतार और उसे तेरी जवानी दिखा. ” सुनील अब फ़रीदा के मम्मे मसल्ते बोला, “हां छोड़ते है तुझे लेकिन पहले मुझे तेरी जवानी दिखा,आज तेरा नंगा जिस्म देखना है मुझे. राज शर्मा मुझे भी तेरी रांड़ की जवानी देखनी है जैसे तूने मेरी रांड़ की देखी. चल फ़रीदा अब तू नंगी हो जा हरामी. ”

फ़रीदा अब ज़्यादा रेज़िस्ट नही कर रही थी पर उसे एक साथ इन दोनो से चुद्ने का डर सता रहा था उसने अब दोनो को रोका नही पर बोली,”नही राज शर्मा देख ऐसा मत बोल,मे ऐसी लड़की नही हूँ प्लीज़ मुझे तुम सुनील के सामने नंगी होने मत दो. तूने उसकी नीता के साथ कुछ भी किया हो पर उसके लिए मुझे क्यों दाव पे लगा रहे हो?देखो मुझे कुछ नही करना तुम लोगो से,अब मुझे छोड़ो नही तो मे चिल्लाउंगी. ” फ़रीदा के हाथ राज शर्मा के हाथ थामे थे इसका फ़ायदा उठाते अब सुनील उसकी पॅंटी मे हाथ डाल के चूत सहलाने लगा. बेचारी फ़रीदा का क्या करती?एक को रोकती तो दूसरा फ़ायदा उठता और दूसरे को मना करती तो पहला वाला मस्ती करता. फ़रीदा अब पूरी भड़क गई थी और किसी को भी रोकने के मूड मे नही थी. सुनील का हाथ वो अपनी चूत पे घूमने दे रही थी. राज शर्मा ने उसका टॉप उतारते कहा,”आरे साली इतना क्यों इतराती है रांड़?मेने नीता को तो सिर्फ़ नंगी देखा नही उसे चोदा भी तो अब सुनील तुझे नंगी देखना चाहता है तो उसमे क्या?और मदेर्चोद्नि सुन,तू चिल्ला जितना चिल्लाना है उतना मुझे कोई डर नही. तू चिलाई तो तेरे मा बाप की इज़्ज़त खराब होगी हमारी नही रांड़. और रांड़ तुझे कुछ नही करना,तुझे मे नंगी करूँगा और सुनील तेरा बदन देखेगा समझी?तुझे नंगी देखके अगर सुनील को चोदना होगा तो मुझे कोई हर्ज़ नही उसमे ये भी याद रख. ”

यह कहानी भी पड़े  मैं और मेरी थ्री फ्रेंड्स की कामुकता

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!