राज शर्मा की पड़ोसन की वासना

फ़रीदा अब 2-2 लंड से चुदवाती थी पर उसकी पहली पसंद राज शर्मा का लंड ही था. वो डर रही थी कि कही सुनील राज शर्मा को उनके बारे मे सब ना बता दे इसलिए वो सुनील से भी चुदवाति थी. वो दो दोस्त भी उसे अलग-अलग टाइम बुला कर चोदते थे जिससे फ़रीदा को लगे कि राज शर्मा को उसके और सुनील के बारे मे कुछ भी पता ना हो. 1-2 बार जब फ़रीदा ने सुनील से मिलने से इनकार किया तो सुनील ने उसे बहुत गालियाँ दी और सब बाते राज शर्मा को बताने की धमकी दी. इस बात से डर के फ़रीदा कुछ ना कर सकी और सुनील से चुदवाने गई. एक बार जब वो सुनील से चुदवाके कपड़े पहने तभी राज शर्मा आया. फ़रीदा इतनी डर गई थी कि राज शर्मा से कुछ बोल नही पाई. राज शर्मा ने उसे फिर चोदा पर फ़रीदा का दिल बिल्कुल नही था उस चुदाई मे.

रियल मे उसे अच्छा लगता था 2 मर्दो से चुदवाना पर वो इस बात का इज़हार नही कर सकती थी. इस बात से डर के उसने कुछ दिनो के लिए दोनो से ना मिलने का फ़ैसला किया. पर फ़रीदा बिना चुदाई के नही रह सकती थी इसलिए वो राज शर्मा को अपने घर बुलाती जब उसके मा-बाप घर मे नही होते और राज शर्मा जी भरके उसे चोदता. इन दिनो मे वो सोच रही थी कि इस मुसीबत से कैसे रास्ता निकले. फ़ैसला करने के बाद वो अब सुनील से दूर रहने लगी. इस जुदाई से उसका हाल बहुत खराब हुआ क्योकि अब फ़रीदा को दोनो के लंड अच्छे लग रहे थे चोदते पर उसे मालूम था कि इस बात का सल्यूशन नही निकला तो वो एक दिन बहुत बुरी तरह फसेगि.

इधर दोनो दोस्त फ़रीदा के बारे मे बाते करते चोदते. सुनील खुश था कि राज शर्मा ने उसकी फ़रीदा को उसके नीचे सुलाया और राज शर्मा खुश था कि वो अब जब चाहे नीता को चोद सकता था. बातो-बातो मे एक बार उनमे ऐसा फिक्स हुआ कि अब वो दोनो मिलके फ़रीदा को चोदेन्गे जैसे उन्होने मिलके नीता को एक बार चोदा था. एक बार जब नीता दोनो से चुदी थी तब पहले वो बड़ी नाराज़ हुई पर 2 लंड से एक साथ चुदवाने का चस्का लगने के बाद वो अब बेशर्म होके उनसे चुदवाती. ऐसे ही फ़रीदा को एक साथ चोद्ने का प्लान बनाया. उन दोनो की ये बात भी फिक्स हुई कि राज शर्मा फ़रीदा को ये नही जताएगा कि उसे सुनील और फ़रीदा के बारे मे कुछ बात पता है. फ़रीदा को सुनील के फ्लॅट पे बुला कर चोद ने का फिक्स करते राज शर्मा ने उसे एक सुबह फोन किया.

जैसे फ़रीदा ने फोन उठाके हेलो बोला,राज शर्मा उसकी आवाज़ सुनते बोला,”जान, मे राज शर्मा,कैसी हो तुम मेरी जान?” घर मे मा बाप होने से फ़रीदा ने डर के फोन रख दिया. राज शर्मा ने दुबारा फोन किया और ज़रा गुस्से से बोला,”क्या हुआ रांड़?फोन क्यों काट दिया?गांद मे मस्ती आई है क्या तेरे?” अब घबराते फ़रीदा बोली,”नही,ऐसा कुछ नही राज शर्मा,डॅड घर पे है इसलिए मे बात नही कर सकती हूँ तुमसे. ” राज शर्मा बोला,”बात करनी होगी तुझे मुझसे फ़रीदा समझी?तू आज कल मुझे अवाय्ड क्यों करती है रांड़?सुनील के फ्लॅट पे नही आती पहले जैसे चुदवाने सिर्फ़ जब तेरे मा-बाप घर पे ना हो तो मुझे बुलाती है. कोई दूसरा मर्द मिला है क्या तुझे जो मुझसे नही मिलने आती?” सुनील से चुदवाने के बाद फ़रीदा 2 दिन तक ठीक से चल नही पाई थी. सुनील ने उसकी बिगड़ी हालत के बारे मे कुछ सोचते फ़रीदा बोली,”ष्ही, कैसे बात करते हो?देखो राज शर्मा हम बाद मे बात करंगे. ” इतना कहते फ़रीदा फोन रखते अपने रूम मे चली गई. जब राज शर्मा ने फिर फोन किया तब फ़रीदा का बाप ने फोन उठाया इसलिए अब राज शर्मा ने फोन डिसकनेक्ट करते फ़रीदा के सेल पे फोन किया.

फ़रीदा सेल पे राज शर्मा का नंबर देखते अपने बेडरूम का डोर लॉक करके फोन उठती है. राज शर्मा की गुस्से से भरी आवाज़ उसे सुनाई देती है. “रांड़ तुझे क्या हुआ है?मुझसे क्यों नाराज़ हो?मिलना नही क्या मुझसे सुनील के फ्लॅट पे मेरी जान?” फ़रीदा इस्पे बोली,”नही मुझे नही मिलना है तुमसे सुनील के फ्लॅट पे राज शर्मा. हम अब मिलांगे तो मेरे घर या किसी दूसरी जगह. ” और गुस्सा होके राज शर्मा बोला,”क्यो छीनाल?मेरा लंड याद नही आता तुझे पहले जैसे?सुनील के फ्लॅट पे क्यों नही आना तुझे?तेरी चूत को मेरे लंड का पानी नही चाहिए बेहन्चोद?या कोई दूसरा मर्द मिला है तुझे जो तेरी चूत गान्ड और मुँह चोद रहा है मदेर्चोद?” इतनी गालियाँ सुनके फ़रीदा बोली,”प्लीज़ राज शर्मा,मुझे कुछ प्राब्लम है,मे नही मिल सकती तुमसे सुनील के घर. मे तुमको बाद मे कभी मिलके बताउन्गि मेरी प्रॉब्लम्स, पर अब नही मिलूंगी. ” इस बात पे और गुस्सा होके राज शर्मा बोला,”तुझे मिलना होगा समझी?मदरचोड़ आज तू मुझसे नही मिली तो आके तेरे बाप के सामने तुझे चोदुन्गा रांड़. हरामी साली कितने दिनो से तू फ़ुर्सत मे नही मिली,यहाँ मेरा लंड तेरी चूत की याद मे खड़ा है उसे कौन चुसेगा मदेर्चोद? तेरी मा आने वाली है मेरा लंड चूसने?” मा की बात सुनके फ़रीदा शर्माके बोली,”देखो गली मत दो राज शर्मा. मेने बोला मे नही आउन्गि तो नही आउन्गि और बस करो तुम्हारी गालियाँ. मेरी मा के बारे मे कुछ मत कहना. ”

फ़रीदा का बात सुनके राज शर्मा बोला,”हरामी, तू बताईएगी मे मे कब गालियाँ दूं?इतनी औकात बढ़ गई तेरी छीनाल?अब बहुत नाटक हो गये तेरे साली,बेहन्चोद आगर तू नही आई तो देख मे अभी तेरे घर आके तारे बाप को सब बता दूँगा की उसकी कमसिन बेटी असल मे मेरी रांड़ है बोल आउ? साली तेरी मा की चूत,अगर मे आया तो तेरी मा को भी चोदुन्गा हरामी. वैसे भी तेरी मा मस्त माल है,उसे जब और जितना चाहू गालियाँ दूँगा मदेर्चोद. अब बोल आ रही है ना मुझसे चुदवाने?” फ़रीदा को राज शर्मा की धमकी से बड़ा डर लगने लगा और उसकी गलियो से उसकी चूत मे कुछ होने लगा. अपना एक हाथ चूत पे रखते फ़रीदा नर्मी से बोली,”देखो अभी नही राज शर्मा,हम बाद मे मिलन्गे. अब तुम मुझसे मिलने की ज़िद मत करो और गालियाँ भी मत दो,प्लीज़,इतनी तो बात मानो मेरे राजा.

फ़रीदा के सुर मे आई नर्मी राज शर्मा के ध्यान से छुपी नही और वो और ही अटॅकिंग बनते बोला, “मदरचोड़ गाली नही तो क्या तेरी पूजा करू हरामी?बोल कितने बजे आती है तू?बाद मे नही रांड़, अगर तू आधे घंटे मे सुनील के घर नही आई तो मे तेरे घर आके तेरे बाप से सब बोल दूँगा समझी?” सुनील की बात सुनके फ़रीदा डर गई उसे हरपल लगता कि सुनील ने राज शर्मा को सब बता दिया होगा. अपनी मा के नाम पे इतनी गंदी गालियाँ सुनके उसे कैसा तो लगा और वो बोली,”देख राज शर्मा मुझे मेरी मा ने ही मना किया है बहेर जाने के लिए उसे शक है शायद कि तेरा मेरा कोई चक्केर है उसने 1-2 बार मुझे तेरे साथ देखा भी,वो तुमको जानती है कि तुम हिंदू हो. मुझे मा पूछ रही थी कि मे तुम्हारे साथ क्या कर रही थी?मे कुछ अच्छा जवाब नही दे सकी तो तब से मा ने मुझे तुमसे मिलने और तबसे मुझे बाहर जाने से मना किया. मे इसलिए बोल रही हूँ की कुछ दिन हम नही मिलेंगे. ”

फ़रीदा की बात सुनके राज शर्मा बोला,”मदरचोड़ अब लगता है तेरी मा को भी चोदना पड़ेगा,उसकी बेटी जैसे उसको भी मेरी छीनाल बनाना पड़ेगा है ना?साली तुझे मुझसे मिलने नही देती वो हरामी?अब तेरा क्या इरादा है बता फ़रीदा?” राज शर्मा अब ज़रा आवाज़ मे नर्मी लाते आगे बोला,”क्या तुझे सच्ची मे मुझसे मिलना नही है फ़रीदा रानी?तूने क्या कहा कि तू मुझसे क्यों मिलती है?और तू तेरी मा की बात पे ध्यान मत दे,सब बड़े लोग ऐसे ही हम बच्चो को किसी से भी मिलने से मना करते है समझी?” इतनी बात पे भी जब फ़रीदा मिलने से कतराती है तो राज शर्मा उसे बड़े प्यार से बोला,”क्यों जान?क्या तुझे मेरे लंड की याद नही आती?क्या तुझे मेरा हिंदू लंड तेरी मुस्लिम गान्ड,चूत मुँह या मम्मो को चोदता नही चाहिए?आरे रानी तू मेरी बेगम है ऐसा मत कर. देख अभी के अभी तू मुझसे मिलने आ सुनील के घर,हम आज अपनी शादी की बात करंगे. ”

फ़रीदा राज शर्मा की बातो से गर्म हुई उसकी चूत गीली होने लगी और निपल टाइट होने लगे. वो फ़ैसला करती है कि अब वो राज शर्मा को सुनील के बारे मे ज़रा हिंट दे. फ़रीदा बोली,”राज शर्मा मे भी तुमसे अब मिलना चाहती हूँ पर सुनील के घर नही. तेरा वो दोस्त सुनील बड़ा खराब है. सुनील मुझे बड़ी ही गंदी नज़र से देखता है और बेवजह मेरा बदन टच करता है. ” फ़रीदा को लाइन पे आते देख खुश होते राज शर्मा बोला,”वैसे तुझे मालूम मे अभी नंगा होके तेरी याद मे मेरा लंड सहला रहा हूँ फ़रीदा जान?तेरी चूत के याद मे एकदम तान्के खड़ा है मेरा लंड तेरे मुँह से चुस्वा ने के लिए और तेरी चूत चोद्ने के लिए. फ़रीदा क्या मे इस खड़े लंड को मूठ मारके झाड़ू?तू नही आईएगी इधर ताकि मे तेरी मुस्लिम चूत चोद्के मेरा पानी तेरी चूत मे डालु?फ़रीदा जान,आरे सुनील सिर्फ़ देखता है तो क्या हुआ जान?सुनील के घर क्यों नही आईएगी?साली आजतक उसके घर मे ही आके चुदवाती थी ना तू हरामी?अरे हम लड़के तेरे जैसे किसी भी कमसिन लड़की को ऐसे ही नज़र से देखते है और मौका मिले तो उसे टच करते है,इसका इतना क्यो इश्यू बनाती है तू जान?वैसे भी तुझे तो आदत है मर्द के टच की,है ना?”

राज शर्मा की बातो से फ़रीदा को उसके खड़े लंड की याद आती है उसे अब अपनी चुदाई का मज़ा याद आतेही चूत मे खुजली होने लगती है उसे याद आता है वो सीन आता है जब राज शर्मा ने आपने लंड का गर्म-गर्म पानी उसकी चूत मे पहले बार भर दिया था. वो बात यार करते वो अपनी चूत पॅंटी के ऊपर से रगड़ते फिर भी ज़िद करते बोली,”देखो राज शर्मा ज़िद मत करो ना,प्लीज़ आज नही ना. मे 1-2 दिन बाद तुमसे ज़रूर मिलूंगी और तुमको जो करना है करने दूँगी. प्लीज़ मेरी बात मानो. ” अब राज शर्मा फिर ज़रा गुस्से से बोला,”फ़रीदा जान,अगर तू अभी सुनील के घर नही आईए तो मे अभी तेरे बाप को बताउन्गा कि उसकी बेटी को मेने कैसे चोदा है और फिर तेरी मा को तेरी आँखो के सामने चोदुन्गा समझी?मे उस मामले मे बड़ा हरामी हूँ ये याद रख. बोल कितने बजे आ रही हो सुनील के घर मुझसे चुदवाने रंडी?”

अब चुदवा के लेने की तमन्ना फ़रीदा की चूत मे भी जाग गई पर वो सुनील के घर नही जाना चाहती थी इसलिए बोली,”नही राज शर्मा,तुम ऐसा मत करना,और मेरी मा के बारे मे इतना गंदा मत बोलो. राज शर्मा हम कही और मिलन्गे,कही और बुला पर सुनील के घर नही आउन्गि मे. ” राज शर्मा ने जवाब मे कहा,”साली तो तुझे क्या तेरे घर आके चोदु मे रांड़?मदरचोड़ तारे घर मे तेरे मा बाप है तो क्या उनके सामने चुदवायेगि मुझसे तू रंडी?” अपनी चूत को रगड़ते फ़रीदा बोली,”राज शर्मा, ऐसा करो तुम दोपहर को 2 बजे आओ मेरे घर. डॅडी तो अब जाएँगे और मा दोपहर को एक किटी पार्टी मे जा रही है और वही से शाम को डॅडी के साथ एक फंक्षन मे जाएगी. तुम आज दोपहर को मेरे घर आ जाओ. मेरे घर मे कोई नही रहेगा. ”

फ़रीदा की बात सुनके राज शर्मा खुश हुआ. इसका मतलब था कि आज वो सुनील के साथ फ़रीदा को उसके ही घर मे चोद्ने वाला था. फ़रीदा भी कितनी चूतिया थी जो उसने राज शर्मा को सब बात ओपन्ली बता दी थी. खुशी से राज शर्मा बोला,”वाह ये हुई ना कोई बात,मतलब आज तुझे उसी बिस्तर पे चोदुन्गा जहाँ तेरे बाप ने तेरी मा को चोद्के तुझे पैदा किया था और उसे बिस्तर पे एकदिन तेरी मा को भी मे चोदुन्गा,है ना मेरी फ़रीदा रांड़?मज़ा आएगा तुझे उसी बिस्तर पे चोद्ने मे मेरी छीनाल. ” राज शर्मा के मुँह से उसे चोद्ने की बात सुनके फ़रीदा खुश तो हुई पर फिरसे राज शर्मा के मुँह से उसकी मा को चोद्ने की बात सुनके वो ज़रा गुस्से से बोली,”शट अप राज शर्मा तुम बहुत गंदे हो. क्यों तुम बार-बार मेरी मा के बारे मे इतना गंदा बोलते हो?मेरी मा वैसी नही है समझे क्या?अब फोन रखो और तुम बराबर 2 बजे आ जाना. ” हस्ते राज शर्मा बोला,”ठीक है जान,ये बता रंडी जब मे तेरे घर आउन्गा तब तू मेरे लंड के साथ क्या क्या करेगी?तू अपने यार को कैसे गर्म करेगी?”

राज शर्मा के मुँह से खुद को रंडी,छीनाल और मा को चोद्ने की बाते सुनके फ़रीदा को अच्छा लगता है. उसे इस बात की खुशी थी कि उसने इतनी कम उमर मे लंड का मज़ा लिया था जबकि उसकी बाकी सहेली यो को इस मीठे दर्द का मज़ा नही मालूम था. अपनी मा के बारे मे सुनके उसे बुरा लगता था पर वो जानती थी कि राज शर्मा जो चाहे वो बोल सकता है उसकी मा के बारे मे और फ़रीदा को वो सब सुनना ही पड़ेगा. फ़रीदा ज़रा नटखट बनते बोली,”उफफो कितनी गालियाँ देते हो राजा?क्यों बार-बार तू मुझे रंडी छीनाल बुलाता है. और राज शर्मा मे तेरा लंड चुसुन्गि और उसको किस करूँगी,बहुत ही प्यार करूँगी तुम्हारे लंड से. ” फ़रीदा को झूठा गुस्सा दिखा और ताव मे आते राज शर्मा बोला,”तेरी मा की चूत,मदेर्चोद तू रांड़ है इसलिए तुझे रांड़ बोलता हूँ ना मे?तेरा ये मुस्लिम बदन मेरे हिंदू लंड का गुलाम है समझी?छीनाल हरामी सिर्फ़ चुस्के किस करेगी और कुछ नही करेगी मदेर्चोद छीनाल?क्या मेरा लंड चुस्के खड़ा करेगी तो तेरी मा आके चुदवाने वाली है?”

पॅंटी मे हाथ डाल के अपनी नंगी गीली चूत रगड़ते फ़रीदा बोली,”हां हां राज शर्मा,मे तेरे लंड को किस करके चुसुन्गि,उसको अपनी चूत के अंदर लेके चुदवा लूँगी और मेरी गान्ड भी मर्वआउन्गि राजा. तेरा लंड आज भी मुझे ही चोदेगा,मेरी मा को नही. अब बस करो ना राज शर्मा तुम्हारी गालियाँ और अब तुम दोपहर को आओ,प्लीज़ टाइम पे आओ लेट मत करना. ” राज शर्मा समझा कि माल गर्म हुआ है और फ़रीदा को और बहाल करने को वो बोला,”तेरा मुँह कौन चोदेगा मदेर्चोद रखैल?तेरी मा की चूत चोदु हरामी,क्यों साली गरम हुई क्या तू जो मुझे जल्दी आने बोल रही है?बड़ी बेसब्री से चुदवाना है क्या मुझसे?” राज शर्मा की बाते सुनके फ़रीदा भी चूत मे उंगली करते बोली,”राज शर्मा प्लीज़ अब मुझे गाली मत दो ना और तुम जल्दी आओ. तू सच कह रहा है,अब मुझसे ज़्यादा इंतज़ार नही हो रहा राजा. मे तड़प रही हूँ तेरे लिए. राज शर्मा तेरी ये फ़रीदा रांड़ तुझसे चुदवाने के लिए बड़ी बेकरार बन गई है. आज मुझे जी भरके गालियाँ देके खूब चोदो राजा. ”

यह कहानी भी पड़े  कामुकता मेरी मम्मी का यार

राज शर्मा को यकीन हुआ कि फ़रीदा सच मे गर्म हुई है और आज खूब चुदेगि. फ़रीदा को 2 बजे आने का वादा करते राज शर्मा ने फोन रखा. सुनील पास मे ही बैठा था. उन दोनो मे प्लान ऐसा होता है कि वो दोनो एक साथ फ़रीदा के घर जाएँगे और फिर राज शर्मा तो उसे सुनील के सामने खेलने लगेगा और जब राज शर्मा कही जाएगा तब सुनील उसे मसलेगा. उन दोनो को पता था कि 2 मर्दो से मसल्ने के बाद फ़रीदा इतनी गर्म होगी कि वो दोनो से एक साथ चुदवाने को भी तैयार होगी. यहा फ़रीदा ने नहा लिया और अपने जिस्म पे स्प्रे मार कर डेनिम की ब्लॅक मिनी स्कर्ट और सिल्क का पिंक टॉप पहना. नीचे रेड पॅंटी और ब्रा पहना था उसने. अपने बाल को बुन मे बाँधके वो राज शर्मा का इंतज़ार करने लगी. बारबार 2 बजे डोरबेल बजी. फ़रीदा ने के होल से देखा तो राज शर्मा था. खुश होते उसने डोर खोला. डोर खोल ते ही राज शर्मा के पीछे खड़े सुनील को देखके वो डर गई पर तब तक राज शर्मा ने उसे बाहो मे लेके घर मे घुसते सुनील को डोर बंद करने बोला. अब फ़रीदा उन दो मर्दो के साथ अकेली थी और सुनील को देखके डर से उसके मुँह से निकला,”राज शर्मा तुम तो अकेले ही… ”

राज शर्मा और सुनील फ़रीदा के अधूरे सेंटेन्स का अर्थ समझे और फिर भी सुनील के सामने ही फ़रीदा को बाहो मे लेके चूमते राज शर्मा बोला,”आरे जान सुनील बोला तुझसे मिलके जाउ,वो अभी 10 मिनिट मे जाएगा मेरी रांड़,तू इतना क्यों घबराई सुनील को मेरे साथ देखके?वैसे भी सुनील को पता है कि मे तुझे चोदता हूँ तो उसके सामने कैसा घबराना?” सुनील से चुदवाने के बाद पहली बार उसके सामने राज शर्मा से ऐसे गालियाँ खाने के बाद शरमाते फ़रीदा खुद को छुड़ाने की कोशिश करते बोली,” चोदो मुझे राज शर्मा,ये क्या आते-आते शुरू किया?और देखो मुझे गालियाँ मत दो प्लीज़. ” फ़रीदा की बात बिना सुने राज शर्मा उसके सीने पे हाथ घूमाते बोला,”क्यों रांड़ क्या हुआ सुनील को देखके शर्मा रही है?उसके ही घर आके चुदवाती थी ना मुझसे तू छीनाल?और रंडी ये क्या नाटक है कि गालियाँ नही दूं?तूने ही तो बोला कि घर आके जितनी चाहे उतनी गालियाँ देके तुझे चोदु?उफफफ्फ़ साली क्या माल लग रही है तू रांड़. आज मज़ा आएगा तुझे चोद्ने मे. ” सुनील फ़रीदा को देखके स्माइल करते खड़ा था. फ़रीदा के फेस पे घबराहट उसे मज़ा दे रही थी. फ़रीदा सीने से राज शर्मा का हाथ हटाने लगी पर उसके मम्मे मसल्ते राज शर्मा बोला,”वैसे जान तेरा बाथरूम कहाँ है?मे ज़रा फ्रेश होता हूँ तब तक तू सुनील के साथ बात कर. ” फ़रीदा को ज़रा रिलीफ आया क्योकि राज शर्मा फ्रेश होने जाएगा तब वो सुनील को समझा कर यहाँ से जाने बोल सकती थी. जिस तरफ फ़रीदा ने इशारा किया उस तरफ फ़रीदा कि कमर मे हाथ डाल के राज शर्मा ले गया. फ़रीदा ने बाथरूम का डोर खोलके हल्के से राज शर्मा से कहा,”राज शर्मा तू प्लीज़ सुनील को जाने बोल ना उसके सामने मुझे शर्म आती है. ” बाथरूम के दरवाज़े मे ही सुनील के सामने फ़रीदा के होंठ चूमते बाथरूम मे घुसते राज शर्मा बोला,”हां बोलूँगा जान पहले फ्रेश तो होने दे मुझे,बाद मे हमे चाइ पिला और फिर सुनील जाएगा. ”

राज शर्मा दरवाज़ा बंद करता है और अब फ़रीदा सुनील के सामने अकेली खड़ी थी. सुनील के सामने राज शर्मा के मसल्ने से फ़रीदा शर्माके खड़ी थी. 1-2 मिनिट कोई कुछ नही बोला. फिर सुनील ने आके फ़रीदा को बाहो मे लेके किस करते मम्मे सहलाते बोला,”कैसी है मेरी जान तू?मेरे लंड की याद आती है तुझे मेरी कमसिन रांड़?साली उस्दिन इतनी मस्ती से चुदवाने के बाद भी मुझसे कई बार चुदाई और आज क्या मस्त नाटक कर रही है रंडी तू राज शर्मा के सामने. ” एक तो राज शर्मा से मसल्ने के बाद अब सुनील से उसके मस्त लंड की याद दिलवाने और सुनील से अब मसल्ने से फ़रीदा सिहर उठते बोली,”उम्म नही सुनील,मुझे छोड़ो, देखो राज शर्मा देख लेगा. प्लीज़ आज कुछ भी नही करो मेरे साथ. मे बाद मे तुमसे अकेली मिलने आउन्गि पर आज प्लीज़ कुछ मत करो ना. ” सुनील बिना रुके अब स्कर्ट के नीचे हाथ डाल के फ़रीदा की चूत पॅंटी के ऊपर से सहलाते बोला,”आरे फ़रीदा,राज शर्मा अंदर है तब तक तो तेरी जवानी से खेलने दे मुझे रांड़,उफफफफ्फ़ क्या मस्त चूत है तेरी रांड़,कितनी गीली और गर्म है. देख पूरी पॅंटी गीली है तेरी फ़रीदा. बहुत याद आ रही थी क्या मेरे लंड की तुझे छीनाल जो तेरी पॅंटी इतनी गीली हुई. ”

क्रमशः………………………..

गतान्क से आगे……………..

फ़रीदा का जिस्म अब पूरी ज्वाला मे था. सुनील के मसल्ने से वो बहाल हो रही थी. पहले ही राज शर्मा से चुदवाने की तमन्ना से वो गर्म हुई थी और अब सुनील के मसालने से वो और भी गर्म हो गई. राज शर्मा के डर से वो सुनील को धीरे-धीरे मना करके सुनील को उसका जिस्म छोड़ने को बोल रही थी पर उस मनाई मे ज़रा भी जोश नही था. ये बात समझते सुनील ने फ़रीदा का हाथ अपने पॅंट मे छुपे खड़े लंड पे रखते कहा,”हां छोड़ दूँगा जान,वैसे मेरा लंड कैसा था मेरी मुस्लिम रखैल?मुझे तो तेरी चूत की बहुत याद आती है. अभी तुझे मसलके देख मेरा लंड कैसे खड़ा हुआ है. ” फ़रीदा सुनील का लंड सहलाते बिंडास्ट बोली,”मेरी हालत खराब कर दी थी तेरे लंड ने सुनील. तुझे पता है ना कि पहली बार करने के बाद मे 2 दिन ठीक से चल नही सकी थी. अब मुझे याद मत दिलाओ अपने लंड की. मे अब तेरे साथ कुछ नही करना चाहती क्योकि तेरा लंड बहुत बड़ा है और मुझे बहुत तक़लीफ़ होती है उसे अंदर लेने मे. ”

फ़रीदा के जवाब से खुश होते सुनीलने ज़िप खोलके लंड निकालके फ़रीदा के हाथ मे देते बोला,”आरे एक बार मुझसे चुदवाने के बाद कैसे कुछ नही हो सकता ये तू बोलती है रंडी?अब तो एक दिन राज शर्मा से और दूसरे दिन मुझसे चुदवाना होगा तुझे नही तो मे राज शर्मा को बताउन्गा कि तूने मुझसे चुड़वाया है समझी?बहनचोड़ ये नाटक मुझसे मत कर,लंड बड़ा है,तुझे दर्द होता है ये पता है पर क्या मेरे बड़े लंड से चुदवाने मे तुझे मज़ा नही आता हरामी?” फ़रीदा सुनील का लंड मसल्ने लगी तो उसे ऐसा लगा जैसे आज सुनील का लंड और ही बढ़ा हुआ हो. फ़रीदा के नरम मुलायम हाथो मे वो लंड फ़रीदा की चूत गर्म करने लगा. सुनील फ़रीदा का सीना मसल रहा था और फ़रीदा सुनील का लंड मसल्ते बोली,”ष्ह्ह ये क्या कर रहे हो सुनील?राज शर्मा अभी आएगा. प्लीज़ धीरे बोलो वो सुन लेगा तो बड़ा नाराज़ होगा. सुनील तेरा ये लंड इतना मोटा और बड़ा है कि अगर तुम पहली बार मे और ज़्यादा चोदते मुझे तो मे मर ही जाती. सुनील मुझे तेरा लंड पसंद है पर बहुत दर्द देता है तेरा लंड मुझे. ”

सुनील समझा कि फ़रीदा उसे फिर से चुदवाना चाहती है इसलिए उसने हल्की आवाज़ मे बात करने को बोला जिससे राज शर्मा को उनकी बाते ना सुनाई दे पर फ़रीदा रुकी नही उसका लंड मसल्ने से. अब फ़रीदा की टॉप मे हाथ डालके उसके मम्मे ज़ोर्से दबाते सुनील बोला,”आरे मदेर्चोद रांड़ की छीनाल औलाद,तू तो सही मे मस्त लौंडिया है. अंदर तेरा पहला यार खड़ा है और इधर उसके दोस्त का लंड मसलके हल्की आवाज़ मे बात करके बोल रही है. कोई बात नही फ़रीदा,ये बता मेरा लंड मुँह मे लेगी ना अभी तू?साली उस दिन जैसा आज भी मेरा लंड चूस मदेर्चोद,तेरा गर्म मुँह चोद कर मुझे अच्छा लगता है मेरी रंडी जान. ” फ़रीदा के शोल्डर्स दबाते उसे नीचे बिठाते सुनील लंड उसके मुँह पे रखता है. फ़रीदा लंड सहलाते बोली,”नही सुनील ऐसा मत करो,राज शर्मा अभी आएगा और हमे देखेगा. प्लीज़ अभी लंड चुस्वा लेने की ज़िद मत करो,मे बाद मे चुसुन्गि तेरा लंड सुनील. सुनील देखो राज शर्मा देख लेगा तो मेरी हालत खराब करेगा प्लीज़ आज नही. आज मे सिर्फ़ राज शर्मा से चुदवाने वाली हूँ. ” पर अपना लंड अब फ़रीदा के होंठो पे घूमाते सुनील बोला,”नही आएगा राज शर्मा इतना जल्दी फ़रीदा,अब चल तू जल्दी-जल्दी मेरा लंड चुस्के बोल कैसा है मेरा लंड साली हरामी मुस्लिम रांड़. ” जब फिर से फ़रीदा ने लंड चूसने से इनकार किया तो गुस्से से उसके बाल खिचते सिर पीछे झुकाते होंठो पे लंड दबाते सुनील बोला,”तेरी मा की चूत,मदेर्चोद तेरी मा को चोदु हरामी अब जो तूने मेरा लंड नही चूसा तो मे तुझे अभी नंगी करके यही चोद डालूँगा समझी?मदरचोड़ रांड़ तू चुसेगी क्या नही बोल नही तो अभी राज शर्मा को सब बताउन्गा हरामी चूत. बहनचोड़ उस्दिन मुझसे चुदवाते अच्छा लग रहा था ना जब मे गालियाँ दे रहा था अब तो आज राज शर्मा है तो नाटक क्यों?चल चुपचाप लंड चूसना शुरू कर. ”

सुनील की ज़बरदस्ती के सामने हार के फ़रीदा ने मुँह खोला और सुनील का लंड मुँह मे लिया. बाथरूम से अभी पानी की आवाज़ आ रही थी इसके लिए वो निश्चिंत थी कि राज शर्मा को आने मे टाइम है. सुनील की कमर मसल्ते फ़रीदा लंड को चूसने लगी. धीरे से करके मुँह खोलते फ़रीदा अब सुनील से डर और लंड को चाट ने से पहले मुँह थोड़ा खोलके लंड चूसने लगी. फिर पूरा लंड मुँह मे लेक चुस्के और बाहर निकालके उसे प्यार से सहलाके फिर मुँह मे लेके चूसने लगी. अब सुनील आँखे बंद करके लंड चुस्वाते बोला,”अहह सााअलल्ल्ल्लीइीईईईई और ले मुँह मे,उूउउफफफफफ्फ़ साली बड़ा मस्त चुस्ती है तू छीनाल. कैसा है मेरा लंड बता मदेर्चोद?और जीब घुमा कर चूस मेरा लंड रंडी चूत. ” फ़रीदा भी जोश मे आके पूरा लंड चूस्ते बोली,”उम्म्म्ममममममम यअहह अच्छा है पर बहुत मोटा है. सुनील पर अब कभी तेरा ये लंड मेरी चूत मे डाल के मेरी चुदाई मत करना,ठीक है?” लंड फ़रीदा के मुँह से निकालते अब लंड से फ़रीदा के गाल पे मारते सुनील बोला,”मदरचोड़ मुँह चूत जैसे छोटा क्यो खोला तूने, मेरा लंड कितना बड़ा है मालूम है ना तुझे?चल मेरा लंड पकड़के सहलाते उसे चूस नही तो तेरी मा का मुँह चोदुन्गा मेरे लंड से समझी रांड़?और मदेर्चोद आगर मेरा लंड तेरी चूत मे नही डालु तो क्या तेरी मा की चूत मे डालु?वैसे मुझे कोई इतराज़ नही आगर तेरी मा मुझसे चुदवाये तो. चूस मेरा लंड मदेर्चोद,तेरी मा का भोसड़ा. बोल क्या तेरी मा मेरा बिस्तर गर्म करेगी फ़रीदा रांड़?”

सुनील की गंदी बाते सुनके फ़रीदा की चूत अब और गीली होती है और वो अपना मुँह भी पूरा खोलके मस्ती से सुनील का लंड चूसने लगी. पूरे जोश मे 2-3 मिनिट लंड चुस्के वो हान्फ्ते बोली,”सुनील तू और राज शर्मा मा के पीछे क्यों पड़े हो?इधर उसकी बेटी जब जी जान से तुम दोनो का लंड चुस्के अपनी चूत और गान्ड चुदवाती है तो क्यों मेरी मा के पीछे पड़े हो?या अब तुम दोनो का दिल भर गया है मुझसे?” मम्मे मसल्ते लंड फिर फ़रीदा के मुँह डालते सुनील बोला,”साली मा का नाम लिया तो पूरा लंड लिया मुँह मे जैसे कि तेरी वो मस्त मा आके बाकी लंड लेनेवाली थी उसके मुँह मे क्यों?चूस अच्छे से,राज शर्मा आने के पहले मेरा पूरा लंड गीला कर चुस्के रंडी. कैसा है मेरा लंड रांड़? पसंद आया ना तुझे?मदरचोड़ सिर्फ़ चूस मत मेरे लंड की तारीफ भी करती रह समझी?फ़रीदा अभी तेरे जिस्म से दिल भरा नही हमारा पर इतना याद रख,तेरी मा को चोद्ने की भी तमन्ना रखते है हम क्योकि मेने राज शर्मा से सुना है तेरी तेरी मा भी मस्त माल है,है ना?” सुनील की गालियाँ और मा के बारे मे ख़याल सुनके फ़रीदा गर्म होके अब और भी अच्छे से सुनील का लंड चूसने लगी थी. सुनील का इतना मोटा लंड आपने हाथो से पकड़के मसलके मुँह मे डाल के चूसने से उसके हाथ और मुँह दर्द करने लगे पर फिर भी राज शर्मा की फिकर किए बिना वो सुनील का लंड चूस्ते बोली,”अहह सुनील,चूस रही हूँ ना लंड. प्लीज़ ज़रा आराम से कर ना,मुझे दर्द होता है. सुनील मेरी मा के बारे मे तुझे बोलना है वो बोल,पर वो ये सब करेगी या नही मुझे नही पता. आह सुनील मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज़ धीरे से मम्मे,निपल मसलके मुँह चोदो ना मेरा. ”

सुनील फिर भी बेदर्दी से निपल खिचते अपनी गोतिया चाट के बोला,”आरे अभी जब राज शर्मा तुझे चोदेगा तब क्या वो आरामसे दबानेवाला है क्या तेरा बदन रांड़?वो भी तो तेरा जिस्म बेदर्दी से मसल्ते बेरहमी से चूत छोड़ेगा ना मदेर्चोद रंडी?इतना क्यों दर्द का नाटक करती है. ” फ़रीदा अब कुछ बोलने ही वाली थी कि बाथरूम से पानी की आवाज़ बंद होती है और दोनो को राज शर्मा का गाना सुनाई पड़ता है. ये राज शर्मा का सुनील को सिग्नल था इसलिए अपना लंड फ़रीदा के मुँह से निकालते सुनील बोला, “पानी की आवाज़ नही आ रही,मतलब राज शर्मा अब बाहर आएगा. सुन बेहन्चोदि अब राज शर्मा आएगा इसलिए अब तुझे छोड़ रहा हूँ लेकिन पहले बता मुझसे कब चुद्ने वाली है तू?तेरी ये मुस्लिम चूत मे मेरा हिंदू लंड कब जाएगा रंडी?” फ़रीदा को मज़ा भी आ रहा था और राज शर्मा के आने का डर भी लग रहा था. और अब सुनील की बात सुनके उसने सुनील का लंड बिना बोले उसकी अंडरवेर मे डाला और ज़िप लगाते बोली,”सुनील तू तो जानता है कि आज राज शर्मा मुझे कितना चोद्ने वाला है ऐसा करते है कि हम 2 दिन के बाद मिलते है तेरे फ्लॅट पे. तब तू मुझे जितना चाहे उतना चोदना. ” फ़रीदा उठाके अपना हुलिया ठीक करते सोची कि राज शर्मा से आज दिन भर चुदवाने के बाद उसे 2 दिन तो आराम चाहिए था,इसलिए उसने सुनील को परसो मिलने का वादा किया. सुनील भी फ़रीदा की बात मानते एक बार उसके मम्मे मसलके जाके दूरवाली सीट पे जाबैठा.

बाथरूम का डोर खुलने की आवाज़ आती है और राज शर्मा सिर्फ़ एक टवल लपेटे बाहर आता है. जब सुनील ने उसे आँख मारी तो राज शर्मा समझा कि फ़रीदा को बहुत मसला है सुनील ने. वो खुश होके हॉल मे सुनील से दूर खड़ी फ़रीदा को सीधे आके बाहो मे लेके किस करते बोला,”सॉरी जान ज़रा टाइम लगा पर तुझे चोदना है इसलिए अच्छे से नहा लिया. फ़रीदा जान कुछ चाइ या ठंडा पिलाया क्या मेरे यार को?आरे उसकी मेहरबानी से तो मे तुझे चोद सकता हूँ इतमीनान से,है ना?” फ़रीदा फिर सुनील के सामने शरमाने का नाटक करते झुटे गुस्से से हल्के से बोली,”ष्ह्ह ये क्या बोल रहे हो?वो सुन लेगा ना राज शर्मा. देखो उसको जाने को बोलो पहले प्लीज़ राज शर्मा,वो क्या सोचेगा मेरे बारे मे. उसके जाने के बाद जैसा तुम कहोगे वैसा करूँगी मे. ” इस बात पे बिंडास्ट फ़रीदा के मम्मे मसालते राज शर्मा बोला,”आरे सुनने दे ना,क्या उसे मालूम नही कि उसके फ्लॅट पे मे तुझे चोदता हूँ उससे क्या शरमाना रांड़?उसे मालूम है तू मुझसे कैसे चुदवाती है क्यों सुनील?चल अब तू नाटक बंद कर और उसे चाइ पीला और फिर चला जाएगा वो. ” सुनील भी हस्ते बोला,”हां राज शर्मा,चलने दे तेरा काम. तू और तेरी फ़रीदा करो आइयशी इधर जैसे मेरे बेडरूम मे नंगे होके करते हो. फ़रीदा इतनी मासूम क्यों बनती है,मेरे फ्लॅट पे तो कितना मस्ती करती है राज शर्मा के साथ. ”

यह कहानी भी पड़े  सोनाली मामी की जवानी का दीवाना

फ़रीदा को अब ज़रा शक होता है कि कही ये राज शर्मा और सुनील की मिली भगत तो नही जो राज शर्मा इतने बिंडास्ट उसे सुनील के सामने मसलके चुदाई की बात कर रहा है और सुनील भी इतना ओपन्ली बात कर रहा है?क्या आज ये दोनो मिलके तो नही चोदना चाहते है उसे?फ़रीदा ने सोचा कि कही इन दोनो ने मिलके उसे चोदा तो उसकी क्या हालत होगी. येई सोचके वो फिर हल्के से राज शर्मा को बोली,”ओह्ह राज शर्मा कैसी बात करता है तू सुनील के सामने?मुझे शर्म आती है, राज शर्मा उसे जाने दो फिर बस हम दोनो है रात तक. ” फ़रीदा की बात मानते राज शर्मा उसकी गान्ड पे थप्पड़ मारते बोला,”ठीक है फ़रीदा रांड़,जा कुछ शर्बेत बनके ला हम दोनो के लिए मेरी जान. ” राज शर्मा के हाथ से दूर होके फ़रीदा उसे स्माइल देके शरबत बनाने किचन मे गई. इन दो दोस्तो के साथ अलग-अलग चुदाई करने उसे कोई दिक्कत नही थी पर एक के सामने दूसरे से मसलके के लेने मे उसे बहुत शर्म महसूस हो रही थी.

मुश्किल से 2-3 मिनिट ही हुए थे फ़रीदा को किचन मे जाके कि पीछे से राज शर्मा भी आया और उसने फ़रीदा के स्कर्ट के नीचे हाथ डालके उसकी गान्ड मसल्ते कहा,”उम्म्म क्या अच्छा लग रहा है तेरी गान्ड मसलना जान. लगता है अभी चोद डालु तेरी गान्ड. मेरी प्यारी रांड़ तू सिर्फ़ ब्रा और पॅंटी मे शर्बॅट ले आ ताकि तेरी जवानी देखके सुनील गरम हो और जाके उसकी रांड़ नीता को खूब चोदे. क्या तू आईएगी सिर्फ़ ब्रा पॅंटी मे?” किचन मे वो अकले छोड़ते इसलिए फ़रीदा ने उसे रोका नही अपना जिस्म मसल्ने से उसने सोचा कि अच्छा है राज शर्मा को पता नही कि सुनील ने उसे चोदा है,नही तो आज वो गुस्सा होके ना जाने क्या करेगा?अपना सिर घुमा राज शर्मा को देखते उसने कहा,”ष्हिि, कैसे बात करता है राज शर्मा?मे क्यों आउ सिर्फ़ ब्रा पॅंटी मे सुनील के सामने?क्या तू अपनी गर्ल फ्रेंड की नुमाइश करना चाहता है उसके सामने?नही,मे बिल्कुल वैसे नही आउन्गि तेरे दोस्त के सामने सिर्फ़ ब्रा पॅंटी मे. ” बात करते-करते राज शर्मा फ़रीदा की स्कर्ट का हुक खोलता है जो नीचे गिरता है. अब पॅंटी मे खड़ी फ़रीदा की गान्ड मसल्ते राज शर्मा ने कहा,”आरे उसमे क्या हुआ?देख उसके के कितने अहसान है हम पर और उसके बदले उसे तेरा थोड़ा बदन दिखाया तो क्या जाएगा तेरा हरामी रॅंड?मे थोड़ी तुझे उससे चुदवाने बोल रहा हूँ?सिर्फ़ ब्रा पॅंटी पेहन्के उसके सामने आने बोल रहा हूँ ना?”

फ़रीदा फॅट से झुकके स्कर्ट उठाके पहनते बोली,”नही-नही राज शर्मा ऐसा नही हो सकता. प्लीज़ तुम मुझसे ये सब मत करवाओ. देखो तुम्हारे सामने नंगी होना अलग बात है और उसके सामने अलग बात है. ”

राज शर्मा ने सोचा कि साली उससे चुदवाती है मस्ती से तब ये नाटक नही करती इतना पर आज मेरे सामने कितना नाटक कर रही है. मे बाथरूम गया तब भी कितना मसलके लिया खुद का जिस्म और तो और सुनील का लंड भी चूसा और अब उसने सामने ब्रा पॅंटी मे आने ना बोल रही है हरामी. ज़रा अपना प्लान चेंज करते राज शर्मा ने सोचा कि क्यों ना सुनील के सामने फ़रीदा से खेलके उसे गर्म करके उसके कपड़े धीरे-धीरे उतरे?इससे फ़रीदा की शर्म भी कम होगी और जब सुनील गेम मे शामिल होगा तब फ़रीदा इतनी गर्म हुई होगी कि वो चाहे तो भी रोक ना सकेगी उन दोनो को. फ़रीदा का हाथ राज शर्मा अपने लंड पे रखवाते बोला, “ठीक है छीनाल चल अब जल्दी आ हम रुके है हॉल मे. देख साली मेरा लंड कैसे खड़ा है तेरी चूत मे जाने के लिए. मदरचोड़,आज तुझे खूब चोदुन्गा रंडी. ” राज शर्मा के सिर से उसे ब्रा पॅंटी मे घूमने का भूत उतरता देख फ़रीदा भी खुश हुई और राज शर्मा का लंड मसल्ते बोली,”हां आती हूँ जल्दी शर्बॅट लेके राज शर्मा पर तुम प्लीज़ जल्दी भेजो ना सुनील को. आज तो हम जी भरके मस्ती करंगे. ”

फ़रीदा की चूत मे आग लगी थी. एक तो 3-4 दिन से चुदाई नही हुई थी और आज उसके दोनो चोदु उसे बारी-बारी मसल रहे थ्र. राज शर्मा और ज़िद करता तो वो ज़रूर सुनील के सामने ब्रा पॅंटी मे जाती उसकी चूत,गान्ड और मुँह को अब लंड की सख़्त ज़रूरत थी यूज़्वेल को उठाके वो राज शर्मा के नंगे लंड को मसल रही थी और राज शर्मा उसकी चूत रगड़ते मम्मे दबा रहा था. फ़रीदा का टॉप उठाके ब्रा मे बंद मम्मे मसल्ते राज शर्मा बोला,”हां मेरी रांड़ जल्दी जाएगा सुनील, क्योंकि उसका लंड भी नीता के लिए तड़प रहा है जैसे मेरा लंड तेरी इस प्यासी चूत के लिए. ” वो दोनो इस खेल मे इतने खो गए थे कि उनको पता ही नही चला कि सुनील भी किचन मे आया है. 2-3 मिनिट ये खेल देखके सुनील ने दोनो को हिलाते कहा,”अच्छा तो ये चल रहा है तुम्हारा?तभी मे कहु शर्बॅट के लिए इतना टाइम क्यों लग रहा है. राज शर्मा,बेहन्चोद साले कितना मसलेगा तू मेरी फ़रीदा भाभी को शादी के पहले?और फ़रीदा तू भी क्या कर रही है राज शर्मा के लंड से?लगता है आग बारबार लगी है दोनो तरफ?”

फ़रीदा ने झतसे राज शर्मा का लंड छोड़ा. वो भूल ही गई थी कि सुनील हॉल मे है. राज शर्मा और सुनील दोनो फ़रीदा की घबराहट और शर्म पे हस्ते हॉल मे गए. अपना हुलिया ठीक करके फ़रीदा 5 मिनिट मे शर्बॅट लेक हॉल मे गई. दोनो दोस्त सोफे पे बैठे थे. दोनो उसे निहार रहे थे. जिस गान्डि नज़र से सुनील फ़रीदा को देख रहा था उसे फ़रीदा बड़ी शरमाई उसे अब डर भी लगने लगा था इन दोनो से. उनकी नज़र मे हवस सॉफ झलक रही थी उसे अब करीब-करीब यकीन हुआ कि वो दोनो आज उसे चोद्ने वाले है. बड़े डर से वो राज शर्मा को शर्बॅट देने लगी तो राज शर्मा बोला,”जा मेरी रांड़ पहले सुनील को ग्लास दे. तेरी मा ने सिखाया नही कि पहले मेहमआनो की खातिरदारी कैसे करो?मे तो तेरा यार हूँ पर सुनील दोस्त है ना मेरा रंडी?” फ़रीदा जैसे ही सुनील को शर्बॅट देने लगी,सुनील ने उसके हाथ से ग्लास लेके फ़रीदा को खिचके दोनो के बीच बिठाते कहा,”आरे फ़रीदा भाभी,ज़रा अपने देवर और यार के बीच बैठो. आज हमेरे साथ बैठके शर्बॅट पिओ भाभी जान. ”

फ़रीदा उठने की कोशिश करते बोली,”उफ़फ्फ़ क्या कर रहे हो सुनील?छोड़ो ना मुझे,राज शर्मा तुम कुछ तो बोलो ना सुनील को. ” फिर हल्के से वो राज शर्मा को बोली,”राज शर्मा तुमसे कुछ बोला था ना मेने?सुनील को अब तो जाने को बोलो ना. देखो क्या कर रहा है मेरे साथ तेरे सामने. फ़रीदा दोनो बीच बैठी है और दोनो दोस्त उसकी घुटनो तक नंगी झांगे सहला रहे थे. शेरबात का एक घुट मारते राज शर्मा बोला,”वाह मेरी रांड़ शर्बॅट क्या मस्त बना है,क्या डाला है इसमे?कही चूत मे उंगली करके वो तो नही ना दुबाई इसमे रंडी?” दोनो ज़ोर्से हस्ने लगे और फ़रीदा और शर्मा गई. फ़रीदा का गाल चूंके राज शर्मा आगे बोला,”हां जाएगा ना वो,शर्बॅट तो पीने दे उसे. या रंडी तेरी चूत मेरा लंड लेने को इतनी बेकरार बनी है क्या कि तुझसे रहा नही जा रहा मदेर्चोद?” फ़रीदा को अब और ही शर्म आई. एक तो राज शर्मा की गालियाँ और अब दोनो मर्दो से मसलना उसे बहाल कर रहा था उसे अब पूरा यकीन हुआ कि आज उसकी चूत और गान्ड एक साथ चुद्ने वाली है. शर्बॅट पीके ग्लास साइड मे रखते सुनील बोला, “आरे राज शर्मा,आज मे किसे चोद्ने जा रहा हूँ मालूम?मेरी वो गर्ल फ्रेंड है ना नीता,जिसको तूने भी बहुत मसलके चोदा था,उसकी मा को आज छोड़ने वाला हूँ. साली क्या माल है उसकी मा. 2-3 बार खूब मसला उसे पर चोद्ने का मौका आज ही मिला है. आज नीता नही घर पे और उसकी मा ने बुलाया है मुझे. फ़रीदा तू इधर राज शर्मा से चुदवा ले और मे नीता की मा को चोद्ने जाता हूँ थोड़े टाइम के बाद. ”

सुनील की बात सुनके ज़रा खुश पर ज़्यादा शर्म महसूस करने लगी फ़रीदा. खुश इसलिए थी कि सुनील ने कहा कि वो जानेवाला है और शर्म इसलिए कि अपनी गर्ल फ्रेंड के और उसके मा के बारे मे कितना गंदा बोल रहा था वो. इतना सब सुनने के बाद फ़रीदा के जिस्म की आग और ही भड़क गई थी पर अभी शर्म ज़रा बाकी थी इसलिए उठने की कोशिश करते वो बोली,”बाप रे बाप,ये कैसे बात कर रहे हो तुम लोग?मुझे आगे नही सुनना कुछ भी,अब मुझे उठने दो. ” राज शर्मा फ़रीदा को खिचके अपनी झांग पे बिठाते बोला,”आरे रांड़ कहाँ चली,बैठ ना इधर रांड़. साली तारे वजह से हमारे लंड खड़े हो गए और तू बोलती है उठने दो. साली जाने दूँगा पहले सुनील की बात सुन. बोल सुनील क्या बोल रहा था तू. ” सुनील भी जोश मे आके आगे बोला,”यार राज शर्मा नीता की मा इतनी मस्त माल है कि क्या बताऊ. वो हरामी अपने ड्राइवर से चुदवाती है, आज मुझसे चुदेगि. मेने जब उसे परसो उसे ड्राइवर से चोदते पकड़ा तब बहुत गिड़गिडाए तब मेने साली को बहुत मसला उसे आज मुझे बुलाया है, बोला नीता नही रहेगी तो तुम आओ. साली क्या मस्त मम्मे है उसके,तेरी इस फ़रीदा से भी अच्छे,बड़े और गोल है. आज तो मेरे लंड की ऐश है राज शर्मा. ”

फ़रीदा सुनील की बात सुनके अपने कान बंद करती है जैसे कुछ भी सुनना नही चाहती हो पर सब बाते उसे सॉफ सुनाई दे रही थी. मौका देखके राज शर्मा अब झंगो से हाथ हटा फ़रीदा के मम्मे मसल्ते बोला,”क्या बोलते हो सुनील,मेरी फ़रीदा के मम्मो से भी अच्छे तेरी रांड़ की मा के मम्मे है?आरे साले मेरी फ़रीदा के मम्मे सबसे मस्त है,क्यो फ़रीदा है ना?तुझे मेरी रांड़ के देखने है सुनील?फ़रीदा जान,ज़रा दिखा तेरे मस्त मम्मे सुनील को. वो भी मानेगा कि मेरी रंडी के मम्मे सबसे मस्त है. चल उतार तेरा टॉप. ” जैसे राज शर्मा फ़रीदा का टॉप ऊपर करने लगा,फ़रीदा उठके खड़ी होते बोली,”उफफफ्फ़, राज शर्मा,नही- नही,मुझे छोड़ो ना. ये क्या कर रहे हो सुनील के सामने?मुझे नही नंगी होना सुनील के सामने और कुछ नही दिखाना सुनील को. सुनील,उसकी गर्ल फ्रेंड और उसकी मा की बात सुनील ही जाने,मुझे कुछ लेना देना नही उनसे. ” राज शर्मा भी खड़े होते फिर मम्मे मसल्ते बोला,”आरे मम्मे दिखाने को बोले तो क्या हुआ?सुनील के नीचे सोने तो नही बोला ना तुझे रंडी?सुन जान सुनील सिर्फ़ तेरे मम्मे देखेगा फिर जाके नीता की मा के मम्मे मसलेगा, यहा बैठके तेरे मम्मे नही मसलेगा क्यों सुनील सही है ना?” सुनील भी उठाके उन दोनो के पास जाते फ़रीदा की गान्ड सहलाते बोला,”नही राज शर्मा मे तो मेरी रांड़ की मा को नंगा करके मम्मे चुस्के उसकी गान्ड मारूँगा आज. साली की गान्ड बड़ी मस्त है पर तेरी फ़रीदा की गान्ड के सामने कुछ नही. तू फ़रीदा की गान्ड मार मे नीता की मा की गान्ड फाड़ता हूँ आज. ”

अब फ़रीदा दो मर्दो से चुदवाने से बचनेकी एक आखरी ट्राइ मारते बोली,”श्ीि,कितने गंदे मर्द हो तुम दोनो. कैसे गंदी बाते करते हो. राज शर्मा तुम जाओ यहाँ से आपने दोस्त को लेके. मे तुमसे बाद मे मिलूंगी. ” फ़रीदा की चूत पूरी गीली थी,लंड के लिए बेकरार थी पर वो 2 मर्दो से चुदवाना नही चाहती थी. राज शर्मा कहाँ फ़रीदा की बात मानने वाला था. फ़रीदा के स्कर्ट के नीचे हाथ डालते वो बोला,”क्यों साली,तूने ही बुलाया था ना मुझे. कहा आज घर पे कोई नही है आके मुझे चोदो. तो अब क्या हुआ तुझे हरामी?गांद क्यों फॅट गई?या कोई दूसरा मर्द आनेवाला है तुझे चोद्ने?” अब फ़रीदा ने ओपन होने का फ़ैसला किया. वैसे ही राज शर्मा या सुनील उसकी कोई इज़्ज़त नही कर रहे थे तो उसने सोचा क्यों नही जो बात है वो ओपन्ली कह डाले. फ़रीदा राज शर्मा को बिना रोके बिंडास्ट बोली, “राज शर्मा मेने तुझे बुलाया था पर तू सुनील को भी ले आया साथ मे. अब या तो सुनील जाने के बाद हम कुछ करंगे नही तो हम दोनो मेरी बेडरूम मे जाएँगे. बोल क्या कहता है तू?”

फ़रीदा का स्कर्ट कमर तक उठाके,राज शर्मा उसे टर्न करके अपना टवल खोलके अपने नंगे लंड पे उसे बिठाते मम्मे मसल्ते राज शर्मा बोला,”क्यों दूसरे रूम मे रांड़?इधर क्या तक़लीफ़ है तुझे?क्या तेरी मा आनेवाली है यहा सुनील से चुदवाने मदेर्चोद?उसके घर आती है चुदवाने तो शर्म नही लगी और आज उसके सामने मसल रहा हूँ तो नाटक करती है रंडी?फ़रीदा रांड़ रुकने दे सुनील को,नीता की मा से मिलने मे अभी 1 घंटा बाकी है,तब तक सुनील यहाँ रहेगा. ” सुनील भी आके एकदम फ़रीदा के सामने खड़ा हुआ. ऐसा करने से उसका लंड फ़रीदा के मुँह के पास था. फ़रीदा का गाल मसल्ते सुनील बोला,”आरे राज शर्मा आज फ़रीदा बड़ी गर्म हुई होगी और तेरा लंड बेसब्री से चाहिए होगा उसे पर लगता है मेरे सामने शर्मा रही है तुझसे चुदवानेमे, है ना फ़रीदा?” फ़रीदा सुनील का हाथ अपने चहेरे से हटाते राज शर्मा की गोद से उठने की कोशिश करते बोली,”नही राज शर्मा,देखो प्लीज़ ये ऐसा मत करो. मुझे बेइज़्ज़त मत करो. अपना टवल क्यों उतारा तूने. प्लीज़ मेरी बात मानो,सुनील को जाने दो फिर तुम मुझे नंगी करना. ”

क्रमशः………………………..

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!