पड़ोस की नेहा आंटी की चुदाई

हेलो दोस्तो मैं सोनू शर्मा 22 साल का हू देल्ही मैने र्है था हू. मैने काफ़ी सारी स्टोरी पढ़ी है देसीकाहानी पे और मेरी यह फली स्टोरी है देसीकाहानी पे. कैसे मैने अपने पड़ोस मे रहने वेल आंटी को गरम करके छोड़ा.

चलिए शुरू करते है.

अब आंटी के बारे में बता डू आपको, उनका नाम नेहा है (नामे चेंज) आगे 32 और उनका फिगर 33 – 32 – 36 के आस पास होगा, रंग उनका पूरा गोरा है.

यह घटना जान 2022 की जब मई शुभा शुभा 6 बजे अपने च्चत पे वॉक कर रहा था. तब मेरी नज़र नेहा आंटी क बातरूम मे पड़ी.

मैने देखा की नेहा आंटी अपने कपड़े उतार रही थी और इधर मेरे लंड की हालत करब हो रही थी. उनको देख था रहा फिर वो नंगी हो कर नहाने लगी. बता नही सकता दोस्तो क्या माल लग रही नेहा आंटी.

फिर पूरा दिन मेरे दिमाग़ मे नेहा आंटी का नंगा बदन मेरे सामने आ रहा था. वही सोच कर मैने उनके नाम की मूठ मारी. लकिन अंदर की आग शांत नही हुए. फिर मैने सोच लिया था जो भी हो जाए नेहा आंटी छोड़ कर ही रहुगा.

मेरे पास उनका व्हातसपप नंबर भी था लकिन उनसे बात नही की थी कभी. उसी रात को 11 बजे मैने उनको व्हट्सप्प पे मेसेजस किया.

मे – हेलो.

नेहा आंटी (11:20 पे मेसेज आया) – हेलो.

मे – कैसी हो आंटी जी आप, खाना हो गया आपका?

नेहा आंटी – बाड़िया, हा खाना हो गया तू बता?

मे – जी मई भी ठीक हू.

बस रात मे इधर उधर की हुई फिर.

नेहा आंटी – चल ठीक है मुझे नींद आ रही है बाद मे बात करते है गुड नाइट.

मे – गुड नाइट (और साथ मे मैने हार्ट वाला एमोजी भी सेंड किया.)

फिर मे सुबा जल्दी उठा और च्चत पे वॉक करने चला गया. आंटी भी आई हुई थी वॉक करने क लिए. हम दोनो क अलावा कोई नही था च्चत पर.

वो साइड मे वॉक कर रही थी और मे दूसरी साइड पर. जब भी वो मेरे सामने आती तो मे अपना लंड मसलता और वो नेहा आंटी ने भी देख लिया था लकिन कुछ बोली नही.

उसके बाद रात मे नेहा आंटी का खुद सामने से मेसेज आया.

नेहा आंटी – हेलो.

मे – हेलो.

नेहा आंटी – क्या कर रहा है?

मे – आपको याद.

नेहा आंटी – किस खुशी मे मुझे याद किया जेया रहा है बता?

मे – क्यू याद नही कर सकते क्या किसी को?

नेहा आंटी – नही नही कर सकता है लकिन कोई रात मे बिना वजह तो याद करता है? तेरी कोई गफ़ है क्या?

मे – लकिन मे करता हू. नही इतना अक्चा नसीब कहा.

नेहा आंटी – अक्चा इसलिए सुबा मुझे देख कर बार बार अपना लंड खुज़ला रहा था तू.

मे – (यह सुन कर मे तोड़ा सा शॉक हो गया है और दर्र भी लग रहा था साला कही फस ना जाो) – वो तो बस ऐसे ही.

नेहा आंटी – अक्चा सुन मुझे कल तेरी हेल्प चाहिए थी तोड़ा सा समान इधर उधर करना है तोड़ा सा सुबा 5 बजे आना मेरे घर पर.

मे – (मॅन ही मॅन मैं काफ़ी खुश हो रहा था) – ओक आंटी.

नेहा आंटी – ओक गुड नाइट.

मे – गुड नाइट.

रात मे मुझे नींद नही आ रही थी क्यूकी लंड पूरा टाइट हो गया था. जैसे ही सुबा हुई तो मैं अंकल की बिके देखने क लिए नीचे चला गया, रात मे उनकी बिके थी. इसका मतलब यह था की अंकल मॉर्निंग ड्यूटी गये हुए है. मोका भी अक्चा था नेहा आंटी को छोड़ने का.

मैने उनका गाते नॉक किया, जैसे ही नेहा आंटी ने गाते खोला तो वो क्या लग रही थी! वो शॉर्ट्स और टाइट त – शर्ट पहने हुए थी. मे तो उनको देखता ही रह गया.

नेहा आंटी बोली – क्या देख रहा है अंदर आजा.

मे – आज आप काफ़ी आक्ची लग रही हो.

नेहा आंटी – थॅंक योउ.

मे – क्या करना आंटी जी अभी?

नेहा आंटी – हा वो टेबल और अलमारी एक साइड रखनी है.

मे – (मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था और शांत ही नही हो रहा था और जान बूझ कर मैने अंडरवेर भी नही डाली थी. इसलिए पूरा खड़ा लंड दिख रहा था जो नेहा आंटी ने भी नोटीस कर लिया था) – ओक करते है.

मैं उनकी गांद को ही देख रहा था.

फिर हुँने समान सेट किया. नेहा आंटी अप्पर से कुछ निकाल रही थी लकिन उनका हाथ न्ही पूछ रहा था. मई आंटी क पीछे गया और पीछे से उनकी गांद पर अपना लंड टच करवा रहा था.

वो कुछ नही बोली, इसका मतलब ग्रीन सिग्नल है नेहा आंटी का. समान निकाला और दिया उनको तो वो बोली टीवी चालू कर मे तब तक छाई बना के लाती हू.

लकिन अब मेरे से कंट्रोल बिल्कुल नही हो रहा था. मे भी किचन मे चला गया और उनके पास गया और हिम्मत करके नेहा आंटी को पीछे से पकड़ लिया और नेक पे किस किया और प्यार से उनके कान मे फुक मारी.

वो दर्र गयी थी और मुझे गलिया दे रही थी. फिर मैने नेहा आंटी का फेस सामने किया और लिप्स पे किस किया. 2 मीं बाद वो खुद मेरा साथ दे रही थी. हुँने 10 मीं तक ऐसे ही किचन मे किस किया उसके बाद मैं उनको हॉल मे लेकर आया.

नेहा आंटी अब पूरी गरम हो चुकी थी. मैने फिर से उनको किस करना शुरू कर कर दिया और साथ मे उनकी छूट भी मसल रहा था और बूब्स भी प्रेस कर रहा रहा. एकदम से वो बोली की दूसरे रूम का गाते लॉक कर दो (उनका 4 साल का बाकचा सो रहा था अंदर).

मई रूम लॉक करके आया तब तक आंटी ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए थे. टाइम ना वेस्ट करते हुए मैने भी अपने कपड़े जल्दी से उतारे और उसके पास गया. नेहा आंटी क बूब्स मई बहुत प्यार से सक करने लगा और बीच बीच मे काट भी रहा था.

फिर मैने नेहा आंटी की छूट देखी, पिंक कलर की टाइट एकदम मस्त खुश्बू आ रही थी. मैने उनकी छूट चाटना शुरू किया. 15 मीं छूट छाती उसमे नेहा आंटी एक बार डिसचार्ज हो गयी थी.

उसके बाद मैने अपना लंड सामने रखा और आंटी ने लोलीपोप की तरहा उसको चूसा. फिर बोली डाल दे बेबी अब सबर नही हो रहा है.

मैने लंड पे और छूट पे थोड़ी सी थूक लगाई और एक झटके से अंदर डाल दिया . नेहा आंटी चिल्ला के मुझे गाली दी बोसदीवाले आराम से कर! लकिन मैने एक नही सुनी और उनको ज़ोर ज़ोर से छोड़ा 25 मीं तक जिसमे वो 2 बार डिसचार्ज हुई.

मे – (मेरा निकालने वाला था) – तो मैने पूछा कहा निकालु भें की लोदी बोलो?!

नेहा आंटी – बोली अंदर ही निकल दे…

मे – ओक.

नेहा आंटी – मज़ा आ गया यरर मेरा पति भी ऐसा नही छोड़ता है मुझे आज जैसे तूने छोड़ा ई लोवे योउ मेरी जान.

मे – मुझे भी काफ़ी मज़ा आया आपके साथ.

मैं तक चुका था काफ़ी और वही पे हम दोनो को नींद लग गयी.

नेक्स्ट पार्ट मे बटौगा की कैसे नेहा आंटी की मैने गांद मारी.

तो दोस्तो ये ही थी मेरी साची कहानी जो की आप लोगो क साथ सज़ा की मैने. अगर देल्ही मे किसी गर्ल, आंटी, भाभी को सॅटिस्फॅक्षन चाहिए तो मुझे मैल कर सकती है, 100% प्राइवसी रहेगी.

यह कहानी भी पड़े  एक हसीन शाम भाभी के साथ

error: Content is protected !!