मम्मी की चुदाई टीचर और प्रिन्सिपल से

मैं विंडो के पास प्लास्टिक की हल्की टेबल लगा कर बैठ जाता हू. सभी लाइट्स बंद होती है, और पर्दे लगे होते है. मम्मी के बेडरूम की विंडो पर आधा परदा लगा होता है. आधे में से अंदर का पूरा नज़ारा दिख रहा होता है. अंदर दो लाइट्स जल रही होती है. मैं बेडरूम के अंदर देखता हू.

अंदर मम्मी दोनो के बीच लेती हुई होती है, और मम्मी सिर की तरफ करवट लेकर सिर के होंठो को चूसने लग जाती है, और सिर के दोस्त पीछे से मम्मी के गर्दन को किस करने लगते है. 5 मिनिट बाद प्रिन्सिपल सिर मम्मी को सीधा करते है, और मम्मी के होंठो पर हमला बोल देते है. एक हाथ मम्मी के सिर के नीच डाल लेते है और दूसरे हाथ से मम्मी की सारी और पेटिकोट के अंदर से जांघें मसालने लगते है.

सिर मम्मी की सारी और पेटिकोट को उपर कर देते है. फिर मम्मी के ब्लाउस के बटन खोलने लगते है. मम्मी ने अंदर ब्लॅक कलर की ब्रा पनटी पहनी होती है, और लाइट की रोशनी में मम्मी का शरीर चमकने लगता है. सिर ब्रा के उपर से ही मम्मी का बूब्स को दबाने लगते है.

कुछ देर बाद भी मम्मी भी प्रिन्सिपल सिर का साथ देने लगती है, और उनकी जीभ को मूह में भर कर चूसने लगती है. अब दोनो सिर, बारी-बारी से मम्मी के होंठो को चूसने लगते है, तो कभी बूब्स मसालने लगते है. 15 मिनिट की चुसाई के बाद दोनो अलग होते है, और अपने कपड़े निकालते है.

मम्मी भी अपना ब्लाउस और सारी अलग कर देती है, और पेटिकोट और ब्रा में रहती है. दोनो सिर सिर्फ़ चड्डी में आ जाते है. आदि सिर मम्मी की ब्रा के हुक को खोलते है, और प्रिन्सिपल सिर मम्मी के पेटिकोट का नाडा खोल देते है. अब तीनो चड्डी में आ जाते है. मम्मी के मोटे-मोटे, गोरे-गोरे बूब्स आज़ाद हो जाते है, जिस पर दोनो टूट पड़ते है.

कभी बूब्स के निपल्स को चूस्टे है, तो कभी हाथो से मसालने लगते है. साथ ही सिर पनटी के उपर से ही मम्मी को छूट को रगड़ने लगते है. मम्मी दोनो के बीच सॅंडविच बन कर झटपटाने लगती है, और दोनो के लंड चड्डियों के उपर से मसालने लगती है.

मम्मी की सिसकारियाँ छूटने लगती है: आअहह सस्स प्लीज़ धीरे-धीरे दब्ाओ.

अब प्रिन्सिपल सिर मम्मी की चड्डी में हाथ डाल कर छूट के दाने को रगड़ने लगते है, जिससे मम्मी तो पागल हो जाती है. 5 मिनिट बाद आदि सिर अपनी अंडरवेर उतार कर मम्मी के सिर के उपर आ कर लंड मम्मी के मूह में डाल देते है, और मम्मी के मूह को छोड़ने लगते है.

प्रिन्सिपल सिर भी खड़े होते है, और कमर से मम्मी की चड्डी की इलास्टिक को पड़ते है. तो मम्मी तुरंत अपनी गांद उठा लेती है, जिससे सिर तुरंत पनटी को निकाल देते है. मम्मी की क्लीन शेव्ड छूट आज़ाद हो जाती है, जिसे देख कर प्रिन्सिपल सिर की आँखों में चमक आ जाती है, और वो मूह लगा कर मम्मी की छूट चाटने लगते है. 10 मिनिट की चुसाई के बाद मम्मी आदि सिर के लंड को मूह से बाहर निकालती हुई-

मम्मी: आदि, अब मुझसे कंट्रोल नही हो रहा. प्लीज़ जल्दी से मेरी छूट में लंड डालो.

आदि सिर मम्मी को घोड़ी बनाते है, और पीछे जेया कर मम्मी की छूट पर लंड सेट करते है, और एक ज़ोरदार झटका लगते है. इससे लंड गुपप से मम्मी की छूट में चला जाता है. सिर दोनो कुल्हों को पकड़ कर मम्मी की चुदाई शुरू कर देते है.

मम्मी की सिसकारिया निकलनी शुरू हो जाती है: आहह. सस्स्स्सिईईई ऊहह छोड़ो मज़ा आ रहा है ह्म.

आदि सिर प्रिन्सिपल सिर को आँख मारते है, तो प्रिन्सिपल सिर अपनी अंडरवेर उतार देते है. ओह तेरी की, इतना मोटा लंड. मेरी तो आँखें ही खुली रह जाती है. प्रिन्सिपल सिर का लंड लंबाई में तो ज़्यादा नही था, बुत मोटाई में बहुत ज़्यादा था. मुझे दर्र लगने लगा मम्मी इतना मोटा लंड कैसे लेगी. इससे तो मम्मी की छूट ही फटत जाएगी.

प्रिन्सिपल सिर ने आयेज आ कर लंड मम्मी के मूह के पास लाया, तो मम्मी ने मूह खोल लिया. शायद मम्मी ने लंड को ध्यान से देखा नही था. सिर ने एक झटका मारा, और लंड मूह में तूस दिया. मम्मी लंड मूह से निकालने ही वाली थी. तभी आदि सिर ने झटके तेज़ कर दिए, जिनको मम्मी सहन नही कर पाई, और घु घु घु की आवाज़ निकालने लगी.

रूम तेज़ ठप ठप ठप की आवाज़ो से गूंजने लगा. मम्मी ने दोनो हाथो से बेड शीट पकड़ ली. मैं समझ गया मम्मी की तो पहले ही रौंद में हालत खराब हो गयी.

10 मिनिट की छूट और मूह चुदाई के बाद आदि सिर पूरा माल मम्मी की छूट में छ्चोढ़ कर अलग हो गये, और वही बिस्तर पर लेट गये. प्रिन्सिपल सिर ने भी अपना पानी मम्मी के मूह में छ्चोढ़ दिया, और वही लेट गये.

मम्मी सीधी लेट गयी, और उनकी आँखों में हल्के आँसू थे. गालों और छूट से वीर्या बह रहा था. 5 मिनिट बाद मम्मी उठ कर वॉशरूम में जेया कर सॉफ करके आती है.

मम्मी: आदि आज तो तुमने जान ही निकाल दी.

आदि सिर: जान, जान तो अभी बाकी है (सिर के लंड की और इशारा करते हुए).

मम्मी: हे भगवान, इतना मोटा भी कोई लंड होता है क्या? मैं नही ले पौँगी इसे.

प्रिन्सिपल सिर: आप टेन्षन मत लो, मैं प्यार से करूँगा. आपको दर्द नही दूँगा.

आदि सिर: ठीक है, आप दोनो करो, मैं तोड़ा आराम कर लेता हू.

अब प्रिन्सिपल सिर मम्मी के उपर आ कर 69 की पोज़िशन में आ जाते है. वो मम्मी की छूट के दाने पर जीभ फिरने लगते है. मम्मी भी सिर के मोटे लंड के उपर जीभ फिरने लगती है, और गोलियों को चूसने लगती है. 7-8 मिनिट की चुसाई से सिर का लंड दोबारा अपना विकराल रूप ले लेता है. ये सब शायद टॅबलेट का कमाल था.

प्रिन्सिपल सिर: आप घोड़ी बन जाओ. इस पोज़िशन में आप बहुत हॉट लगती हो.

मम्मी: नही, प्लीज़ आप उपर आ कर ही छोड़ लो. मेरी हालत नही है की घोड़ी बन कर आपका मोटा लंड ले साकु. और हा, प्लीज़ धीरे-धीरे.

सिर मान जाते है. मम्मी सीधी लेट कर टांगे चौड़ी कर लेती है, और हाथ में थूक लेकर छूट पर मलने लगती है. सिर भी मम्मी की टाँगो के बीच आते है, और लंड के मूह पर थूक लगते है. फिर सिर मम्मी के लंड को छूट के मूह पर रख कर अंदर धकेलने की कोशिश करते है तो मम्मी दोनो हाथो से बेडशीट पकड़ लेती है, और चिल्लाने लगती है. सिर एक हल्का सा झटका मारते है, तो आधा लंड छूट में चला जाता है.

मम्मी: उउई मा, मॅर गयी. नही प्लीज़, निकाल लो. प्लीज़ बहुत दर्द हो रहा है प्लीज़.

सिर रुक जाते है और झुक कर मम्मी के निपल्स पर जीभ फिरने लगते है, ताकि गुदगुदी से मम्मी का ध्यान दर्द से अलग हो जाए. कुछ देर बाद मम्मी रिलॅक्स होती है तो सिर मम्मी के मूह पर मूह लगा कर होंठो और जीभ को चूसने लगते है. 2 मिनिट बाद अपनी कमर को उपर करते है, और एक ज़ोरदार शॉट मारते है, जिससे पूरा का पूरा लंड मम्मी की छूट में चला जाता है.

मम्मी झटपटाने लगती है, और हाथो से सिर को हटाने की एक नाकाम सी कोशिश करती है. उनकी आँखों में आँसू आ जाते है. लेकिन सिर बिना परवाह के मम्मी के होंठो की चुसाई में लगे रहते है. अगर मम्मी का मूह फ्री होता तो ज़रूर एक तेज़ की चीख निकलती.

सिर अपना लंड निकालते है, और दोबारा 1 ज़ोर का शॉट मारते है, जिससे मम्मी आँखें बंद कर लेती है, और बेड पर पैर मारने लगती है. अब सिर लंड को मम्मी की छूट में डाले रखते है, और होंठो को आज़ाद कर देते है, जैसे ही मम्मी के होंठ आज़ाद होते है मम्मी कहती है-

मम्मी: प्लीज़ निकालो इसको, बहुत जलन हो रही है. मैं चूस कर पानी निकाल दूँगी.

सिर: डॉन’त वरी जान, अब तो घुस गया. थोड़ी देर वेट करो. अब दर्द नही होगा.

और सिर मम्मी के निपल्स पर जीभ फिरने लगते है. 5 मिनिट बाद एक हल्का सा झटका लगते है तो-

मम्मी: मेरी छूट में जलन हो रही है. आप तोड़ा तेल लगा लो.

प्रिन्सिपल सिर आदित्या सिर से तेल माँगते है, जो वही ड्रेसिंग टेबल पर होता है. सिर अपना लंड निकले बिना खूब सारा तेल छूट पर लगते है, और धीरे-धीरे लंड को आयेज-पीछे करने लगते है. मम्मी दोनो हाथो से बेडशीट पकड़ के सिसकियाँ निकालने लगती है.

सिर: मेरा निकालने वाला है, प्लीज़ तोड़ा सहन कर लेना. मैं थोड़े ज़ोर के झटके लगौँगा.

मम्मी: ठीक है मेरा भी निकालने वाला है.

अब सिर अपने झटकों की रफ़्तार बढ़ा देते है, और रूम ठप ठप ठप की और मम्मी की सिसकारियों से गूंजने लगता है. सिर भी सिसकारियाँ लेते हुए मम्मी की छूट में झड़ने लगते है. मम्मी दोनो पैरों और हाथो से सिर को जाकड़ लेती है और कुल्हों को उठा-उठा कर 7-8 झटके मार्टी है. फिर वो आ आ की आवाज़ निकालती है.

शायद मम्मी का पानी निकल जाता है. फिर दोनो एक-दूसरे को कस्स कर 2 मिनिट तक लेते हुए रहते है. फिर अलग हो जाते है. इसी बीच मेरी भी अंडरवेर गीली हो जाती है. तो यहा ख़तम होता है 1 रौंद, मिलते है 2 रौंद के लिए नेक्स्ट पार्ट में. कहानी अची लगी तो मैल करना

यह कहानी भी पड़े  पायल को सारी रात बजाया


error: Content is protected !!