मोटी पड़ोसन भाभी की चुदाई की स्टोरी

हेलो फ्रेंड्स कैसे हो सब मेरा नाम रोहित है और मई इंडोरे का रहने वाला हू. मई वाहा पर रूम किराए से ले के रहता हू. मेरे लंड का साइज़ नॉर्मल है 6 इंच मोटा और 2.5 इंच मोटा है. जो किसी को भी खुश करने के लिए काफ़ी है. इस स्टोरी की हेरोयिन मेरे पड़ोस मे रहने वाली भाभी है.

चलो अब तोड़ा भाभी के बारे मे बीटीये देता हू. उनका नाम हेमलता है (बदला हुआ), उनकी आगे कोई भी 24 या 25 साल रही होगी. क्यूकी उन्होने मुझे उनकी आगे नही बताई. उनका फिगर तोड़ा हेवी है 36ड्ड-38-42 लेकिन वो दिखने मे बहोट गोरी और सेक्सी है. बस थोड़ी मोटी है और मुझे थोड़ी हेल्ती लॅडीस ही ज़्यादा पसंद है.

दोस्तो ये मेरी पहली स्टोरी है इसलिए थोड़ी लंबी चली सो डॉन’त वरी इसमे बहोट मज़ा आने वाला है. सब लड़की अपनी छूट का पानी और लड़के मूठ मार के ही मानोगे.

तो चलो स्टोरी पे आता हू.

मई हेमलता भाभी को पीछे 4 साल से जनता हू. और ये किस्सा 2019 के जून का है. क्यूकी मैने आज तक किसी को छोड़ा नही था ये मेरा फर्स्ट अनुभव है. भाभी को मई तब से जानता हू जब वो स्लिम फिट और सेक्सी थी.

तो बात 2019 गर्मी की है. मई रोज शाम को अपनी च्चत पे तहेलने के लिए जाता था. उसी टाइम हेमलता भाभी भी तहेलने आती थी च्चत पे लेकिन मैने कभी ध्यान नही दिया.

भाभी हमेशा अपनी ब्रा और पनटी च्चत पे धो के सूकने के लिए डालती थी. उसको देख के मेरा लंड खड़ा हो जाता था. और पनटी के छूट वेल हिस्से पे हमेशा वाइट दाग रहते थे. जिसे देख कर मॅन करता था की उसकी पनटी की खुसबु ले कर मूठ मारु लेकिन कभी हिम्मत नही हुई.

फिर हमारा डेली ऐसे ही चलने लगा. वो हमेशा मेरे टाइम पे घूमने आती थी च्चत पे. फिर मई भी थोड़े दिन बाद नोटीस करने लग गया की वो क्या चाहती है. इसलिए मई भी उनको देखने लग गया लेकिन बात करने की हिम्मत नही हुई मेरी.

4 से 5 दीनो तक ऐसे करने के बाद मैने हिम्मत कर के बात चालू की और उनको ही बोला-

मे:- हिी भाभी.

उनका जवाब भी ही मे आया.

मे:- कैसे हो?

हेमा भाभी:- बढ़िया, आप कैसे हो??

मे:- मस्त.

मे:- भाभी आपका नाम क्या है? (मुझे उनका नाम तक नही पता था)

भाभी:- हेमलता, आप मुझे हेमा बोल सकते हो.

मे:- ओक भाभी.

फिर मैने भाभी की फॅमिली के बारे मे पूछा और ऐसे ही हमारी बात आयेज बड़ी. अचानक से मैने उनकी दुखती राग पे हाथ रख दिया.

मे :- भाभी आपकी शादी को कितना टाइम हो गया है?

भाभी:- 5 साल, वैसे आप ये क्यू पूछ रहे हो??

मे:- इसलिए क्यूकी अभी तक आपका कोई बेबी नही है तो मुझे लगा आपकी न्यू मर्रिगे होगी.

भाभी:- नही 5 साल हो गये है.

और अचनका से भाभी रोने लग गयी, मई उठ के उनके पास गया और पूछा आप रो क्यू रही हो??

भाभी:- कुछ नही ऐसे ही.

मैने ज़ोर दिया तब भाभी ने बोला की उनको बाकचा नही हो रहा है उन्होने बहोट ट्राइ किया डॉक्टर को भी बताया लेकिन कुछ नही हुआ.

मे:- भाभी आप चुप हो जाओ सब ठीक हो जाएगा.

भाभी:- कुछ ठीक नही होगा, मुझे नही लगता मे मा बन पौँगी.

मे:- अरे भाभी एसा क्यू बोलते हो सब अक्चा होगा.

भाभी:- अब कुछ नही होने वाला.. और रोने लगी.

मे:- मैने भाभी के हाथ पकड़ कर कहा – मई कुछ हेल्प कर सकता हू क्या??

भाभी रोना बंद कर के मेरी और देखने लगी, और कहने लगी की किसी को पता चल गया तो??

मई तुरंत संज गया की भाभी हमेशा मेरे टाइम पर ही क्यू घूमने आती थी च्चत पे. चाहती वो भी थी सब कुछ लेकिन उन्होने कभी बोला नही.

मे:- किसी को कुछ पता नही चलेगा, आप भी किसी को मत बताना और मई भी नही बतौँगा.

भाभी ने कुछ नही बोला. मैने उनका हाथ पकड़ा और उनके करीब चला गया. मेरा दिल तो मानो 120 की स्पीड से धड़क रहा था एसा लग रहा था. मानो मेरा हाथ फैल ना हो जाए बहोट ही ग़ज़ब की फीलिंग थी.

क्यूकी मे पहली बार किसी लड़की के इतने करीब गया था. फिर मैने उनके फेस को पकड़ा और उनके लिप्स पे लिप्स रख के क़िस्स्स करना स्टार्ट कर दिया.

मई तो मानो जन्नत मे था लेकिन भाभी मेरा पूरा साथ नही दे रही थी श्यद उनको दर लग रहा था.

फिर मैने दोबारा उसको किस करना स्टार्ट किया और धीरे धीरे उनके बूब्स दबाना स्टार्ट किया. अहह क्या मस्त बूब्स थे सॉफ्ट और बहोट बड़े मेरे हाथ मे भी नही आ रहे थे इतने बड़े थे.

मई लगातार उनको किस करता रहा और बूब्स दबाता रहा. और ये सब हम च्चत पे खुले आम कर रहे थे. हम इतना खो गये थे की हमे ध्यान ही नही रहा की हम च्चत पे है.

5 मीं तक किस करने के बाद मैने अपना एक हाथ उनके गाउन के उपर से छूट वेल हुस्से पे रहका. अहह मस्त फेल्लिंग थी मई बीटीये नही सकता.

भाभी:- आहह मत करो, रुक जाओ..

मे:- भाभी अब रुका नही जाता कब से छूट छोड़ने को बेकरार हू, आज जाके मेरा सपना पूरा होगा.

मे:- क्या मस्त छूट आपकी, वाउ ये तो बहोट गीली हो रही है.

भाभी:- हमम्म्म.. अहह प्लेआसस धीरे करो..

मई भाभी की छूट उपर से ही घिस रहा था, भाभी बहोट मोन कर रही थी.

भाभी:- अहह उम्म्म्मम प्लेआसस मत करो मे पागल हो जौंगी.

मे:- चलो भाभी सीडियो पर चलते यहा कोई देख लेगा अपने को.

भाभी:- हन चलो.

मई और भाभी सीडियो पर आ गये और मैने भाभी को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और किस करने लगा उम्म्म्मम पूकक्चह ह.. भाभी भी मेरा साथ देने लगी.

मे:- भाभी आपके बूब्स दिखाओ ना मुझे चूसना है.

भाभी:- ठीक है देख लो.

उन्होने गाउन मे से ब्रा साइड मे कर के एक बूब्स भर निकल लिया. मई तो उसको देख के पागल हो गया. क्या मस्त गोरे बूब्स थे और उसके उपर छोटे से ब्राउन निपल्स जेसे कोई पॉर्न स्तर के बूब्स हो. उनके उपर कोई दाग नही था एक दूं गोरे और बड़े बड़े.

मई उनको मूह मे भर के चूसे लग गया. भाभी मोन करने लग गयी बोलने लगी खा जाओ इनको अब से ये आपके है चूसो और ज़ोर से चूसो अहह उम्म्म्ममम.. अहह और चूसो अहह अहह..

मई एक हाथ नीचे ले जाके उनकी छूट को सहलाने लगा. भाभी की छूट पूरी गीली हो गयी थी. मुझे बहोट मज़ा आ रहा था छूट को रगड़ने मे.

थोड़ी देर ये सब करने के बाद हम अलग हुए और फिर मैने उनको लास्ट किस की जो 2 मीं तक चली. भाभी को सच मे ये सब का बहोट एक्सपीरियेन्स था लेकिन मेरे लिए सब फर्स्ट टाइम था, मुझे बहोट मज़ा आया.

भाभी:-सुनो अब बस करो की आज ही सब कुछ कर लोगे यही पर और हासणे लगी.

मे:- मॅन तो है की आपको यही पर छोड़ डू😉😉

भाभी:- अरे अभी नही, मेरे हज़्बेंड के आने का टाइम हो गया है, अब कल करेंगे.

मे:- कल कितने भजे और कहा???

भाभी:- इतनी क्या जल्दी है, कल सुबह मिलो च्चत पे फिर बतौँगी.. और हास के नीचे जाने लगी.

मैने भाभी को पकड़ के एक बार फिर किस की और फिर उनको जाने दिया.

तो इसके आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट मे बतौँगा की मेरे और भाभी के बीच मे क्या क्या हुआ. मैने भाभी को कैसे छोड़ा और उन्होने कैसे छुड़वा के मज़े लिए.

तब तक के लिए अलविदा दोस्तो, सब भाई और बेहन अपनी छूट और लंड को ठंडा कर ले अभी के लिए, नेक्स्ट स्टोरी मे और भी ज़्यादा मज़ा आने वाला है.

मेरी स्टोरी आपको कैसी लगी मुझे ज़रूर बताए ताकि मई अगला पार्ट और भी जोश के साथ लिख साकु. आप सभी मेरे मैल ईद पे रिप्लाइ ज़रूर करे धन्यवाद.

और अगर कोई आंटी भाभी या लड़की या कोई भी उमर की औरत मेरे साथ छुड़वाना चाहती हो तो मुझे ए-मैल पे रिप्लाइ या ड्म करे, मई सबको फुल मज़ा दूँगा.

आप इस्पे म्स्ग कर सकते है, मई जितना हो सके आपके मेसेज का रिप्लाइ ज़रूर दूँगा. बाकी की कहानी नेक्स्ट पार्ट मे, तब तक के लिए गुड बाइ स्वीट ड्रीम. [email protected]

यह कहानी भी पड़े  Mere Devar Ne Meri Jamake Chudai Ki

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!