मेट्रो मे मिली लड़की को चोदा

ही फ्रेंड्स, मई आपको अपनी लाइफ का रियल इन्सिडेंट बताने जेया रहा हू तो कैसे हो आप सब लोग और मेरी प्यारी छूटो की रानिया कैसी हो आप सब मैं आपको अपने बारे मे बता डून.

मैं अरणाव नाम बदला हुआ मे देल्ही मे रोहिणी मे रहता हू. मेरी आगे 23 सला है और मई धिकने मे बढ़िया हू खुद को ज़्यादा हॅंडसम न्ही कहुगा पर फिर भी लड़कियो को पसंद आ जाता हू और मेरे लंड का साइज़ 7″ है और छुड़ा भी गजब है जो देख ले उसे बिना लिए चेन नही आ सकता.

मई स्टडी कर रहा हू.

अब मे स्टोरी पे आता हू. मुझे स्पासियल्ली स्कूल गर्ल्स मे इंटेरेस्ट है लीके टीनेजर गर्ल्स मे उन पर मई बहुत जल्दी फिदा हो जाता हू.

अब आप सबको बोर ना करते हुए मई सीधा अपनी स्टोरी पर आता हू.

बात 6 मंत्स पहले की है जब मई अपनी क्लासस के लिए मेट्रो से जेया रहा था. तब मैने उसे पहली बार देख वो रोहिणी वेस्ट मेट्रो पर मेट्रो का वेट कर रही थी. मई भी वही उसके बगल मई जेया कर खड़ा हो गया.

ऊ सॉरी मई स्टोरी की हेरोयिन का नाम बताना तो भूल ही गया. उसका नाम है पिहु है और उसका फिगर है 32-28-34. उसका फिगर किसी अप्सरा से कम नही लग रही थी. देख कर मई पागल सा हो गया, स्पेशली उसकी गांद. मॅन तो कर रहा था की वही पकड़ कर उसकी गांद मार लू. पर ऐसा मई कर नही सकता था.

फिर मेट्रो आते ही हम मेट्रो मई एंटर हुए सुबा के टाइम मेट्रो मई रश ज़्यादा था और हुमारे साथ साथ और भीड़ मेट्रो मई चॅड गयी. मई मोका देख कर उसके पीछे खड़ा हो गया और भीड़ बढ़ने के साथ साथ वो पीछे होते होते मुझसे चिपक गयी.

उसने मुझे सॉरी कहा मैने कहा इट्स ओक क्या कर सकते है. मई तो पागल ही हुआ जेया रहा था मेरा लंड खड़ा हो रहा था और उसे भी वो फील हो रहा था पर वो कुछ रिक्ट नही कर रही थी.

इससे मेरी हिम्मत और बढ़ रही थी और मैने अपना एक हाथ उसकी गांद पर रख दिया और धीरे से दबा दिया. वो पीछे मूडी और मुझे गुस्से से देखने लगी. मेरी तो गांद ही फट गयी पर उसने कुछ कहा नही और फिर आयेज देखने लगी. पर वो तब भी वही खड़ी रही.

अब मेरी हिमात नही हो रही थी फिर से उसे टच करने की. क्यूकी अगर वो कुछ कह देती तो चलती मेट्रो मई पीट जाता मई. फिर उसका स्टेशन आ गया वो पीटामपुरा उतार गयी.

मेरा स्टेशन एक आयेज था मई कोहाट अर्नक्लेव उतरता था और वाहा से एरिक्षा ले कर तोड़ा पीछे जाता था. वो पूरा दिन मई उसके बारे मई सोचता रहा और घर जेया कर 3 बार उसके नाम की मूठ मारी उसकी नरम गांद को सोच कर.

नेक्स्ट दे मई फिर से मेट्रो पर उसे ढूँडने लगा. और 3-4 मेट्रो मैने मिस कर दी फिर वो आई और वाइट जीन्स और ब्लू टॉप मे वो कहर ढा रही थी. उसने भी मुझे देखा मैने उसको देख कर स्माइल पास की और उसने भी मुझे स्माइल पास की. जिससे मुझे तोड़ा होसला आया और इतने मे मेट्रो भी आ गयी.

वो चॅड गयी मई दूसरे गाते से चड़ा और भीड़ को चीरता हुआ उसके पीछे जेया कर खड़ा हो गया. उसको भनक भी नही थी की मई उसके पीछे हू. मैने देखा की वो इधर उधर किसी को ढूंड रही थी. मई साँझ गया की वो मुझे ही ढूंड रही है.

इतने मई मैने अपना एक हाथ उसकी गांद पर रख कर इस बाद तोड़ा ज़ोर से दबाया. तो वो चोवोक गयी और उसने मुझे पलट कर देखा. पर इस बार उसने गुस्सा नही किया. उसकी आखों मे मुझे पायस सॉफ नज़र आ रही थी.

वो फिर आयेज फेस कर के खड़ी हो गयी और मैने अपना खड़ा लंड उसकी गांद पर सता दिया और उसकी जीन्स के उपर से ही रगड़ने लगा. वो भी भी इससे गरम होने लगी और अपनी गांद को पीछे दबाने लगी.

इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैने अपना एक हाथ आयेज ले जेया कर उसके पेट पर रख दिया क्या. बतौ दोस्तो क्या सॉफ्ट पेट था उसको इतना गरम बदन मेट्रो के एसी मई हेतर का काम कर रही थी.

वो फिर मैने अपना हाथ नीचे करते हुए जीन्स के उपर से ही उसकी छूट रगड़ने लगा. उसकी सासे तेज होने लगी इतने मई उसका स्टेशन आ गया और वो गाते की तरफ जाने लगी. इस बार मई भी उसके साथ ही उतार गया.

हम साथ चल रहे थे पर हम दोनो एक दूं शांत थे पर ये तूफान के आने से पहले की शांति थी. स्टेर की जगह मई लिफ्ट की तरफ जेया रहा था और वो भी मेरे साथ चल रही थी.

फिर लिफ्ट मई हम दोनो थे गाते बंद होते ही मैने उसको अपनी बाहो मई भर लिया और जोरदार स्मूच कर लिया. और दोनो हाथ उसकी गांद पर रख कर उसको अपनी और खीचने लगा.

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. लिफ्ट खूटे ही हम जल्दी से एक दूसरे से अलग हुए. अब तक हुमारा इंट्रो भी नही हुआ था मैने उसको अपना नाम ब्टाया अरणाव और तब मैने उसकी प्यारी आवाज़ सुनी उसने ब्टाया वो पिहु है. और यहा पास मई उसकी कोचैंग क्लासस है.

मैने उसको अपने बारे मई ब्टाया. मैने उसके बंक कर के कही घूमने के लिए पूछा. पहले तो वो म्ना करने लगी पर फिर मेरे फोर्स करने पर मान गयी.

मैने उसको कहा की मोविए देखने चलते है. पर मेरा इरादा तो कुछ और ही था. हुँने ऑटो लिया मैने राजौरी गारडर्न जाने को कहा. इतने मई मैने अपने फ्रेंड को म्स्ग कर के उसके फ्लॅट के बारे मई पूछा. उसने ब्टाया की उसका फ्लॅट खाली है.

मैने उसको कहा की वो जेया कर लॉक ओपन कर के के अंदर ही रख दे बस बाहर से कुण्डी लगा दे. मैने उसको ब्टाया की मेरा कोई दूसरा फ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड के साथ आ रहा है. उसने ज़्यादा सवाल जवाब नही किए और मेरा काम कर दिया.

फिर मई ऑटो वेल तो डाइरेक्षन लगा के दे दी. उसके फोन मई जैसे ही हम अपनी डेस्टिनेशन पर पहुचे हम उतरे मैने जल्दी से ऑटो के पैसे दिए और वो वाहा से चला गया.

इतने मई पिहु बोली हम तो मोविए जेया रहे थे. तो मैने उसको कहा की ट्डी माल 2 मीं की वॉकिंग पर ही है और यहा मेरे रिलेटिव रहते है और मुझे उनसे कुछ समान ले कर जाना था. तो मैने सोचा की यहा आया हू तो ये काम भी करता च्लू.

मैने उसको उपर आपने को कहा उसने म्ना कर दिया. तो मैने उसको फोर्स नही किया मई उपर चला गया और मैने रूम चेआक किया. वो ओपन था और खाली था. मैने सब सेट किया और 5 मीं बाद उपर से नीचे जेया कर उसको बुलाया और ब्टाया की मेरे रिलेटिव उसको मिलने के लिए बुला रहे है.

वो पहले म्ना करने लगी फिर बोली हम जल्दी आ ज्एगे. मैने उसको ओक कहा. फिर वो आयेज आयेज च्लने लगी और मई बस उसकी गांद को देखे जेया रहा था. उसने पीछे देखा तो वो साँझ गयी.

फिर रूम मई जाते ही मैने गाते लॉक किया जिससे वो शॉक हो गयी. मई पीछे से उसके पकड़ा और और उसके नेक और किस करने लगा. वो शॉक हो चुकी थी और मुझे दूर करने लगी. फिर मैने उसको घुमाया और उसके लिप्स पर किस करने लगा. वो मेरा साथ नही दे रही थी.

आयेज क्या हुआ आपको मई अपनी स्टोरी के अगले पार्ट मे बटौगा. आपको मेरी स्टोरी का 1स्ट्रीट पार्ट कैसा लगा आप प्लीज़ मुझे मैल कर के ज़रूर बताए.

कोई भी स्कोल्ग्र्ल तूतिओं या कोचैंग करने वाली लड़की देल्ही की मुझसे चूड़ना चाहती है. तो मुझे मैल करे, मेरी गारेंटी है की आपकी डीटेल सीक्रेट रहेगी और आपको जैसे चूड़ना है मुझे बता देना, रोमॅंटिक या हार्ड सेक्स. अगर आपको फोन सेक्स करना है तो भी मुझे कॉंटॅक्ट कीजिए.

थॅंक्स फॉर रीडिंग मी स्टोरी फ्रेंड्स. [email protected]

यह कहानी भी पड़े  गर्लफ्रेंड ने चूत चुदाई के लिए घर बुलाया

error: Content is protected !!