मैने और मेरे दोस्तो ने मेरी मा चोदी

हेलो सभी आंटी, भाभी और चुड़ाकड़ भेनॉ को मेरा नमस्कार. मेरा नाम मोहित है और मैं चंडीगार्ह से हू, मेरी आगे 22 साल है. ये कहानी मेरी मा के बारे में है.

मेरी मा की आगे 44 है, रंग बादामी है और फिगर 38-34-42 है. मेरी फॅमिली में मेरी मों और दाद ही है. दाद प्राइवेट कंपनी मे जॉब करते हैं. ये बात करीब 2 साल पहले की है.

मैने और मेरे 2 दोस्तों ने ऑनलाइन एस्कॉर्ट बुक करने की सोची पर हमे सब फेक लग रही थी. फिर हमने डिसाइड काइया की नेक्स्ट सनडे तक कोई ऑनलाइन देखते है क्या टा किसी को कोई जेन्यूवन एस्कॉर्ट मिल जाए. तो हमने वेसा ही करने की सोची.

नेक्स्ट दे मुझे उनमे से एक दोस्त का कॉल आया की भाई एक लेडी मिली है बहुत सेक्सी लग रही है. तो हम मिलने आ गये. फिर उसने हमे उसके फोटो दिखाए, फेस हाइड था पर फिगर दिख रहा था, एकद्ूम माल लग रही थी.

दोस्त बोला भाई ये फोरसम के लिए मान भी गयी है और पेमेंट भी कॅश बोला है तो हुँने सनडे की बुकिंग कर दी. सनडे को मैं घर बोल कर आया की मैं ग्रूप स्टडी के लए ज़ारा हू, वहीं खाना ख़ौँगा.

हुँने नज़दीक मे ही एक होटेल बुक काइया था. मेरे दोस्त वाहा पहुच गये थे, उन्होने बोला वो अभी आधे घंटे बाद आएगी. तो मैने बोला फिर मैं बाहर ही ब्रेकफास्ट कर लेता हू.

जैसे ही मैने ब्रेकफास्ट किया दोस्त का फोन आया-

दोस्त: सेयेल जल्दी आजा वो पहुँच गयी है.

मैने कुछ नही सुना बस फोन कटा और कॅब कर के 20 मीं मे होटेल के पास पहुँचा. मैने रूम का डोर नॉक काइया और दोस्त ने दरवाजा खोला. उनका पानी निकल चुका था उन्होने कॉंडम खोला और बोले भाई तू मज़े ले हम कुछ खाने को ले आते हैं. और वो कपड़े पहन कर चले गये.

मैने रूम लॉक काइया और कपड़े खोल दिए, वो उल्टी पड़ी हुई थी और मोबाइल चला रही थी. मई पीछे से जाके गांद चाटने लग गया और वो हेस्ट हुए मोन करने लगी.

मा: आह ओह आआअहह…

मैने उसको धक्का दे कर घुमाया मेरी फेस देख कर फटत गयी और उसकी भी. वो खुद के बदन को हाथों से छिपाने लगी.

मैं: मा तुम ये क्या कर रही हो तुम्हे शरम नही आती?!!

मों: बेटा क्या करू घर के इतने खर्चे तेरे पापा की सॅलरी से पूरे नही होते.

अब कमरे मे एक अजीब सी शांति पड़ी हुई थी. मा के बड़े बड़े चुचे देख कर मेरे से कंट्रोल नही हो रहा था. मैने मा के चुचे पर हाथ रखे और बोला, चलो जो करने आए हैं वो करते हैं और उनको गले पर किस करने लगा.

मा (मोन करते हुए ): आ बेटा ये ग़लत है, मत कर बेटा आ प्लीज़…

और साथ मे मोन भी कर रही थी.

थोड़ी देर ऐसे ही रिजेक्ट करती रही, उसकी आँखों से आँसू निकल रहे थे.

मा : बेटा प्लीज़ मत कर मेरे से भी अब कंट्रोल नही हो रहा.

मैने मा के मूह पर थप्पड़ मारी, साली रंडी क्यू कर रही कंट्रोल मज़े ले अब!

अब मा गुस्से मे उठी मुझे ढाका दिया, मई घबरा गया की अब क्या होगा. मा उठ कर मेरे मूह के उपर आकेर बेत गयी और बोली-

मा : अब तू मज़े ले.

मैने भी जीभ मा की छूट मे घुसा दी और चाटने लगा.

मा: आ बेटा ऊ…

फिर मैने उठा और मा को किस करने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी.

मा: बेटा अब मेरी बारी है.

मैं कॉंडम लगाने लगा.

मा: बेटा तेरी मा हू तू क्यू कॉंडम लगा रहा है, तू ऐसे ही छोड़ेगा आज अपनी मा को ताकि तुझे भी टा ल्गे अंदर कितनी गर्मी है तेरी मा की छूट मे.

फिर मा ने मेरा लंड पकड़ा और चूसने लगी. मैने भी मा के सिर को पीछे से पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से मूह छोड़ने लगा. थोड़ी देर बाद पूछ पूछ के आवाज़ आने लगी, उसकी आँखों से पानी निकले लगा. वो मुझे धक्का दे रही थी पर मैने ज़ोर से सिर पकड़ कर लंड गले तक ले गया.

वो सांस लेने के लए टड़ोने लगी फिर मैने लंड निकाला और बोला-

मे: मा मूह खोल.

मा ने मूह खोला और मैने मूह मे थूक दिया, वो थूक पी गयी और हंस के बोली-

मा: तू बहुत कुत्ता है सेयेल..

मे: मैं तो कुत्ता हू लेकिन तू तो रंडी है साली!

मा: मुझे क्या टा था इतना सेक्सी लंड घर मे है.

मैने मा को ढाया दिया और उसके डॉगी स्टाइल मे बिता दिया और लंड पीछे से छूट पर पेल दिया.

मा: अया बीत्ताअ आर्राम से छ्चोड़ तेरी ही रंडी हू आज से मैं…

मैने मा के बाल पीछे से पकड़ लए और उसकी गांद पर थप्पड़ मार कर छोड़ने लगा.

मा: आ बेटा… ज़ोर से छ्चोड़ अपनी मा को आहह प्लीज़ छोड़ और ज़ोर से…

फिर मा को सिडा लेता दिया और छूट म लंड डाल कर बूब्स दबाने लगा और लिप्स किस करने लगा. किस करते हुए मा के मूह मे ठूकता और कभी अपनी जीभ उसके मूह म डालता और उसके जीभ चूस्ता. फिर छोड़ते हुए उसके नेक और बूब्स पर भूत सारे लोवे बीते भी दिए. मेरा अब निकालने वाला था.

मे : मा कहा लेगी बेटे का रस?

मा: मेरी चुचियों और फेस पर.

मे: नही तेरे मूह के अंदर छोड़ूँगा.

मा: नही बेटा आज नही, आज मेरे फेस और चुचियों पर छ्चोड़ दे. वैसे भी मुझे टा है तू अब मुझे दिन रात छोड़ेगा ही घर मे, मूह मे आज रात को घर मे छ्चोड़ देना.

मैं जल्दी से उठा मा को बेत्ने को बोला और सारा विरया मा की चुचियों और फेस पर डाल दिया. फिर मैं बेड पर लेट गया, मा मेरे सामने मेरा वीर्या च्चत रही थी फिर उसने मेरा लंड सॉफ काइया.

मुझे पता था मेरे दोस्त आने वाले है तो मैं मा से बोला-

मे: मा चल तू घर निकल, तुझे घर आकेर चुड़ूँगा.. अब तू सिर्फ़ मेरी रंडी बनेगी.

ये सुन के मा हँसने लगी.

मा : ठीक है मेरी जान.

फिर मा कपड़े पहन कर निकल गयी. जाते टाइम मैने मा को किस काइया और जब वो बाहर जेया रही थी तो ज़ोर से गांद पर थप्पड़ मारा, मा मूड के बोली-

मा: आ आउच बदमाश, रुक तू घर मे मिल.. और चली गयी.

जब मेरे दोस्त वापिस आए मैने उनसे बहाना मार दिया की मैं वॉशरूम गया और वो साली पैसे लेकर भाग गयी.

अगली कहानी मे बतौँगा की मा को कैसे कैसे घर मे छोड़ता हू. तो दोस्तों कैसी लगी ये कहानी मुझे मैल करके ज़रूर बताए. एमाइल ईद : [email protected]

यह कहानी भी पड़े  साक्षी रंडी और उसकी मा

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!