मौसी की जबरदस्त चुदाई

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम विनय है मैं ग्रेजुएशन का स्टूडेंट हू और मैं अंटियो को और लड़कियो को सेक्स मसाज प्रोवाइड करता हू तो अब मैं मा को चोदा परिवार मे चुदाई स्टोरी पर आता हू.

जैसा की आप सभी को पता है की 12थ की एग्जाम के बाद एक से दो मंथ की वकेशंस होते है उन्ही वकेशंस मे मैं अपनी नाना नानी के घर गया था तो मेरी मोसी बहुत ही सेक्सी थी..

वो हाइट मे मुझसे थोड़ी छोटी है मैं और मेरे मामा का लड़का ऐसे ही कुछ बात कर रहे थे तभी मेरे मामा के लड़के ने मुझसे कहा की भाई मुझे बुआ को चोदने को मन करता है मेरी मोसी यानी उसकी बुआ.

तो मैने भी कहा हाँ भाई मोसी को चोदने का मन तो मुझे भी करता है तो मेरे मामा के लड़के ने कहा चलो भाई आज रात को चोदते है तो हम सब सोने के लिए चले गये हम सब ज़मीन पर लेते हुए थे मेरे और मेरे मामा के लड़के के बीच मोसी लेती हुई थी जब रात को सब सो गये थे..

मेरे मामा के लड़के ने मेरी तरफ देखा और उसने अपना एक हाथ मोसी की सूट के अंदर डाल दिया मोसी ने उसकी तरफ देखा और वो उसका हाथ हटाने लगी और उसका विरोध करने लगी वो ज़्यादा आवाज़ नही कर रही थी नही तो सब जाग जाते और उन्होने मेरे भाई का हाथ अपने सूट के अंदर से हटा दिया थोड़ी देर बाद मेरा भाई सो गया.

तब मैने थोड़ी हिम्मत दिखाई और अपना हाथ मोसी की चुचि पर रख दिया मोसी मेरा भी विरोध करने लगी पर मैं लगा रहा और फिर मैं उनकी चुचि दबाने लगा थोड़ी देर बाद वो मेरे को नोचने लगी अपने नाखुनो से और मेरे मूह से थोड़ी आवाज़ निकल आई और उतने मे नानी उठ गई. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

यह कहानी भी पड़े  सेक्स की प्यासी मामी की चूत चुदाई

वो बोली क्या हुआ पर हम कुछ नही बोले और थोड़ी देर बाद सब सो गये अगली सुबह जब नाना काम पर चले गये और नानी भी अपनी बहन के घर चली गई बाहर मेरे मामा का लड़का स्कूल चला गया था तब मैं और मेरी मोसी घर पर अकेले थे मैं पहेले नहा धो कर फ्रेश हो गया.

फिर मैने सोचा आज तो मोसी को हर हाल मे चोदना है मैं मेडिकल स्टोर से जाकर कॉन्डोम ले आया दोपहर के समय जब मैं घर आया तो मोसी भी नहा चुकी थी मैं मोसी के आगे पीछे घूमने लगा जैसे कुत्ते कुतिया के पीछे घूमते है मोसी जब भी कोई समान लेने के लिए नीचे झुकती तो मैं अपना लंड मोसी की गांड मे छुआ देता ऐसे ही मैने 4 से 5 बार किया और अब मुझसे कंट्रोल नही हो रहा था.

मैने अपनी लोवर उतारी और अंडरवियर मे आ गया मोसी मुझे देख कर बोली क्या हुआ लोवर क्यू उतार दी मैं बोला मोसी गर्मी लग रही है वो बोली ठीक है तभी मैने ज़मीन पर एक चादर बिछाई और एक पिल्लो रखा और अब मुझसे कंट्रोल नही हो रहा था और मैने मोसी को पीछे से जाकर कमर से पकड़ लिया मोसी घुस्से मे बोली यह क्या कर रहे हो.

वो बोली हटो नही तो नाना को बता दूँगी मैने कहा बता दो और मोसी को उठा कर ज़मीन पर लिटा दिया और जल्दी से डोर बंद कर दिया और मोसी के गले पर किस करने लगा मोसी मेरा लगातार विरोध कर रही थी तभी मैने अपनी अंडरवियर उतारी और अपने लंड से मोसी की चूत को दबाने लगा वो मेरा और जोरो से विरोध करने लगी पर मैं नही माना..

यह कहानी भी पड़े  अनजानी दोस्ती से गांड चुदाई तक

मैने अपने हाथो से उनकी चुचि दबाने लगा और उनके मूह मे एक कपड़ा तूस दिया था जिससे की वो चिल्ला ना सके और मैं धीरे धीरे उनकी सलवार खोल दी और उनकी चूत को देख रहा था मैने उनकी पेंटी डाइरेक्ट फाड़ दी थी क्योकि वो पेंटी उतारने नही दे रही थी.

उन्होने अपने दोनो पेर आपस मे कस कर जोड़ लिए थे पर मैने भी दम लगाया और उनके पेरो को खोल दिया और अपना मूह डाइरेक्ट्ली उनकी चूत पर रख दिया और अपनी जीभ उनकी चूत के पूरा अंदर तक डाल दी वो तुरंत उछल पड़ी थोड़ी देर बाद उन्होने विरोध करना बंद कर दिया और मज़े लेने लगी मैं उनकी चूत को अच्छे से चाट रहा था.

करीब 10 मिनिट बाद वो झड़ गई उनकी चूत से वाइट वाइट लिक्विड निकलने लगा पर मेरी मोसी ने मेरा सिर को पकड़ कर मेरा मूह फिर से अपनी चूत पर लगा दिया और मैं उनका वो लिक्विड पी गया वो लिक्विड थोड़ा सॉल्टी था मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया था.

मेरे से अब कंट्रोल नही हो रहा था मैने अपने लंड पर कॉन्डोम लगाया और मोसी के पेरो को चीरा और अपना लंड एक स्ट्रोक मे मोसी की चूत मे डाल दिया मोसी दर्द से चिल्लाने लगी मैने उनके मूह पर पिल्लो रख दी जिससे की आवाज़ बाहर ना जाए मोसी दर्द से रो रही थी.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!