मामी को डिल्डो से चुदाई करते देख मैंने मामी की चुत चुदाई की

मामी को डिल्डो से चुदाई करते देख मैंने मामी की चुत चुदाई की

(Mami Ko Dildo Se Chudai Karte Dekh Maine Mami Ki Chut Chudai Ki)

Mami Ko Dildo Se Chudai Karte Dekh Maine Mami Ki Chut Chudai Ki

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज साईट के दोस्तो, मेरा नाम विक्की है। मैं गुजरात में जूनागढ़ सिटी के एक गाँव का रहने वाला हूँ। इस वक्त मेरी उम्र 20 साल है और मैं अन्तर्वासना साईट का एक नियमित पाठक हूँ।
यह मेरी पहली सेक्स कहानी है और यह एक सच्ची घटना पर आधारित है, मेरे जीवन में ये घटना अभी छह महीने पहले ही घटी थी।

बात उन दिनों की है, जब मैं गाँव में पढ़ाई पूरी करने के बाद कॉलेज की पढ़ाई के लिए शहर आया हुआ था, वहाँ मेरे मामा-मामी रहते हैं। वहाँ मैं डिप्लोमा की पढ़ाई के लिए गया हुआ था, कॉलेज में हॉस्टल ना होने के कारण मैं अपने मामा-मामी के घर पर रहने लगा था।

मेरे मामा-मामी की शादी के दस साल हो गए थे.. पर उनकी एक भी संतान नहीं थी। मेरी मामी की उम्र करीब 30 साल होगी, वो बहुत ही पतली और जवान दिखती थीं। उनका कातिल फिगर देख कर किसी भी लड़के का लंड खड़ा हो सकता है.. उनका नाम अंजलि है।

जब मैं मामा के घर पर गया, तो उन्होंने मेरी अच्छी तरह से खातिरदारी की क्योंकि वो मुझे अपने बेटे की तरह मानते थे।

पहले तो मेरे मन में मामी को चोदने का कोई ख्याल नहीं था, पर जब एक दिन में कॉलेज के लिए घर से निकल रहा था, तब मैंने देखा कि मामी अपने कमरे में कपड़े बदल रही थीं, मैंने देखा कि मामी इस वक्त पूरी तरह से नंगी थीं।

उनका नंगा शरीर देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया। मामी नंगी अवस्था में बहुत सेक्सी लग रही थीं.. मामी की पतली कमर.. बड़े-बड़े मम्मे और उनकी उठी हुई गांड देख कर कोई भी उसका दीवाना हो सकता था। इस वक्त मामी एक जवान लड़की की तरह दिख रही थीं।

यह कहानी भी पड़े  अंजन लोगो से हॉट चुदाई की

बस इसी समय से मैंने मामी को चोदने का मन में ठान लिया।

मामा के घर का माहौल कुछ ऐसा था कि मामी को चोदने की मेरी मनोकामना जल्द ही पूरी हो सकती थी। मेरे मामा बिज़नेस मैन थे और बिज़नेस के सिलसिले में उन्हें कई दिनों बाहर जाना पड़ता था।

दो दिन बाद मामा को जरूरी काम से जाना पड़ा.. इस बार मेरे घर पर होने की वजह से वो कम से कम बीस दिनों के लिए बाहर चले गए।
मैं उस दिन बहुत ही खुश था क्योंकि अब घर में मैं और मेरी सेक्सी मामी ही थे।

उस रात हमने साथ में खाना खाया और फिर हम टीवी देखने लगे। करीब 11 बजे तक टीवी देखने के बाद हम बातें करने लगे। मामी मेरे साथ हमेशा खुल कर ही बातें करती थीं।

वो मुझसे मेरे कॉलेज के बारे में पूछने लगीं- कैसा चल रहा है तुम्हारा कॉलेज?
मैंने बताया- बहुत अच्छा..
तो बोलीं- कोई गर्लफ्रेंड बनाई कि नहीं?
मैंने कहा- अब तक तो कोई नहीं है।

इस तरह हम दोनों काफी खुल कर बातें करने लगे थे। देर तक बातें करने के बाद मैं अपने कमरे में सोने चला गया और मामी भी अपने कमरे में चली गईं।

मैं कमरे में जाकर सो गया। रात को 3 बजे जब मैं बाथरूम जाने के लिए उठा.. तो मैंने कुछ सीत्कारों की आवाज आती हुई सुनी ‘उह्ह्ह.. आह्ह्ह..’

ये आवाजें मामी के कमरे से आ रही थीं, जब मैंने उनके कमरे की तरफ जाकर देखा, तो मैं दंग ही रह गया। मैंने देखा कि मामी पूरी नंगी होकर एक हाथ से अपनी चुत में कुछ डाल कर आगे-पीछे कर रही थीं और दूसरे हाथ से अपने मम्मों को दबा रही थीं।

यह कहानी भी पड़े  जालिम लंड पापा का

जब मैंने गौर से देखा कि जो चीज वो अपनी चुत में डाल रही थीं, वो एक नकली लंड था और उस पर कंडोम लगा हुआ था।

यह देख कर मैं बहुत उत्तेजित हो गया और मैंने वहाँ खड़े खड़े ही मुठ मार ली। मैं कमरे में अन्दर जाना चाहता था, पर मैं अभी रिस्क लेना नहीं चाहता था।

फिर कुछ देर बाद मामी झड़ गईं और ऐसे ही नंगी अवस्था में सो गईं। मैं भी अपने कमरे जाकर सो गया और मामी को चोदने के सपने देखता रहा।

सवेरे में उठा तो देखा कि मामी नहाकर साड़ी को सेक्सी से अंदाज में पहन कर तैयार हो गई थीं। आज मामी कुछ ज्यादा ही सुन्दर दिख रही थीं, तो मैंने सोचा कि आज मामी को चोद कर ही रहूँगा।

मामी ने मुझे ब्रेकफास्ट के लिए बुलाया, मैं ब्रेकफास्ट लिए टेबल पर गया। मामी ने आज समोसे बनाए थे। जब मामी समोसे देने के लिए झुकीं, तो मैं उनके गोरे मम्मों को देखता ही रह गया।

उन्होंने आज ब्रा नहीं पहनी थी.. तो मम्मे साफ दिख रहे थे। जब मैं उनके मम्मे देख रहा था, तब उन्होंने भी मुझे देख लिया था और वो मुस्कुराने लगी थीं। फिर वो वहां से चली गईं।
मैं भी ब्रेकफास्ट करने के बाद अपने कमरे में पढ़ाई करने चला गया।

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!