मा और औंतीयों को बेटे ने साथ में चोदा

डियर रीडर्स, आप सभी को थॅंक योउ फीडबॅक देने के लिए, और स्टोरी को इतना ढेर सारा प्यार देने के लिए. अब तो मुझे काई ढेर सारे लोगों की मेल्स आने लगी है. किसी को अपने बेटे के साथ मज़े लेने है.

तो किसी को अपनी मा के साथ, भाभी, बेहन, और उनके दोस्तों के साथ मज़े लेने के लिए टिप्स चाहिए. फिर जब उनको उनके साथ मज़े मिलने लगते है, तो वो मुझे मस्सेगे भी करते है.

तो जिस किसी को भी चुदाई के मज़े लेने है. वो मुझे मैल कर सकता है. या गूगले छत पे मुझसे ईज़िली बात कर सकता है. मा, बेहन, भाभी, बुआ जिसको भी. मी एमाइल ईद: अंषुभारद्वाज681@गमाल.कॉम

तो स्टोरी कंटिन्यू करते है. मम्मी और मेरा प्लान सब सेट था. इंतेज़ार को बस पापा के घर से बाहर जाने का था 1 दिन के लिए. फिर मम्मी भी अपनी सहेलियों के साथ मिल के प्लान बनाने लगी-

मम्मी: जब अंशु के पापा घर पे नही होंगे, तो हम रात को घर पे किटी पार्टी करेंगे. बहुत दिन भी हो गये है. और तुम लोग भी अपने पतियों से कह देना की आज मेरी बर्तडे पार्टी में तुम लोगों को मेरे घर पे आना है.

अब प्लान भी सब सेट था. बस देर तो अब पापा की था. फिर कुछ दीनो के बाद पापा को अपने कोलीग के छ्होटे भाई की शादी में जाना था. डोर होने की वजह से वो बोले-

पापा: मैं रात वही रुकुंगा, क्यूंकी डोर भी है, और सब स्टाफ भी वही रहेंगे. तो मैं सुबा ही अवँगा.

मम्मी और मैं बिल्कुल खुश हो गये. हमे तो बस इसी का इंतेज़ार था. फिर मम्मी ने भी अपनी सभी सहेलियों को मेसेज करके बता दिया की पापा को शादी में जाना था, और वो रात को नही रहेंगे. तो उसी दिन पार्टी ऑर्गनाइज़ करेंगे. वो लोग भी बोली ओक.

फिर अब शादी वाले दिन पापा शाम को 3 बजे ही निकल गये क्यूंकी डोर था. और फिर मैं और मम्मी पूरा इंतेज़ां करने लगे. मैं भी मेडिकल में गया और फीमेल वियाग्रा लेके आया. फिर शाम हुई. रात के 8 बजे तक मम्मी की सारी सहेलियाँ आना शुरू हो गयी. हमने सब कुछ बिल्कुल अरेंज कर दिया था.

तभी पूनम आंटी सेजल आंटी के साथ मेरे सामने आ गयी. मेरा तो पूनम आंटी को देख के ही तुरंत टेंट खड़ा हो गया.

फिर वो मम्मी से कहने लगी: अंशु क्यूँ यहा है?

मम्मी बोली: कोई दिक्कत नही है. मैं उसे मॅनेज कर लूँगी.

वो इसलिए कह रही थी क्यूंकी वो लोग ड्रिंक करती थी, और सोच रही थी की कही मैं पापा या उनके बिटो से ना कह डू. पर मेरा ध्यान वो सब से हॅट के कही और ही था. फिर पार्टी भी शुरू हो गयी थी. सभी लोग साउंड ओं करके डॅन्स करने लगे.

ड्रिंक पीक मुझसे तो कंट्रोल ही नही हो रहा था, जब पूनम आंटी अपनी चौड़ी छूट और बड़े-बड़े हिलते चूचों के साथ नाच रही थी. फिर ऐसे ही रात के 11:30 बजे तक चला.

उसके बाद मैने मम्मी को बुलाया और एक कोल्डद्रिंक में वियाग्रा मिला के दे दी. वो पूनम आंटी के पास एक और ग्लास में कोल्डद्रिंक लेके गयी, और वियाग्रा वाली ग्लास उनको देके बोली-

मम्मी: चियर्स!

दोनो ने एक साथ ड्रिंक पी ली. मैं ये देख के खुश हो गया बिल्कुल. फिर 5-7 मिनिट बाद पूनम आंटी गरम होने लगी. मम्मी समझ गयी थी क्यूंकी वो नशे में भी थी, और उनसे चिपक के डॅन्स करने लगी.

तभी मम्मी ने सहेलियों से बोला: तुम लोग एंजाय करो, लगता है इसको चढ़ गयी है.

मैं इसे रूम में लेके जाती हू. मम्मी ने मुझे इशारा किया, और मैं तुरंत रूम में चला गया. मम्मी ने लाइट बंद कर दी थी. मैं रूम में जाते ही पूनम आंटी के उपर सो गया.

वो गरम थी, तो मुझे भी उन्होने पकड़ लिया. फिर मैं उनको बिल्कुल किसी भेड़िए की तरह किस करने लगा. उनकी गर्दन को मैं चाटने लगा. उनके होंठो को होंठो से मसालने लगा.

वो वियाग्रा की वजह से बस चूड़ने के लिए पागल थी. मम्मी वही बगल में बेड पे सोई थी. फिर मैने पूनम आंटी की सारी को उतरा, और उनके बालों को खोल दिया. फिर उनकी चूचियों को दबाते हुए उनके ब्लाउस को उतार दिया. उसके बाद उनकी सारी भी उतार दी. अब वो ब्रा और पनटी में थी.

मैं उनकी पनटी के अंदर हाथ डाल के उनकी बर में एक हाथ से उंगली करने लगा, और दूसरे हाथ से चूची दबा रहा था. आंटी की अब सिसकियाँ निकाल रही थी उंगली करने की वजह से. तभी मैने आंटी को उल्टा लिटा दिया, और उनकी पीठ को चूमने लगा, और उनकी ब्रा का हुक खोल दिया.

तब आंटी खुद ही हल्का सा उठ के उसे निकाल दी. क्या मस्त नरम-नरम बूब्स थे बड़े-बड़े. फिर मैने पनटी भी उतार दी. अब आंटी बिल्कुल नंगी थी. वो मेरा लंड पकड़ ली पंत के उपर से ही. फिर मैने भी पंत उतरी, और त-शर्ट भी उतार दी. मैं अब सिर्फ़ अंडरवेर में था.

मैं फिर आंटी से चिपक के रोमॅन्स करने लगा, उनकी चूचियों को चूस्टे हुए. मम्मी भी सब देख रही थी. पर अंधेरे की वजह से शायद उन्हे सही से दिख नही रहा था. मम्मी भी नंगी होके अपने बूब्स मसालने लगी, और दूसरे हाथ से उंगली करने लगी. फिर आंटी ने भी मेरे अंडरवेर को उतार दिया.

अब हम तीनो बिल्कुल नंगे थे. आंटी ने मेरे लंड अपने हाथो से पकड़ा, और वो हिलने लगी.

वो बोली: ये लंड है या लोहे की रोड? आज तो मज़ा ही आ जाएगा.

फिर वो मुझे ब्लोवजोब देने लगी. फिर 2 मिनिट बाद मैं भी उनकी टाँगो को फैला के उनकी मशीन को चाटने लगा जीभ से. 1-2 मिनिट बाद आंटी बोली-

आंटी: अब मुझसे नही रहा जेया रहा है. अब अपना लॉडा मेरी सुरंग में डाल दे.

फिर मैने भी अपने मोटे लोहे की रोड जैसे लंड को उनकी बर में डाल दिया. लंड और बर दोनो गीले होने की वजह से मेरा आधा लंड आसानी से पूनम आंटी के अंदर चला गया, और उनकी फुसफुसाहट निकल गयी आ. फिर मैने भी ज़ोर लगाया और अपना पूरा फौलादी लंड उनकी मशीन में डाल दिया.

इस बार आंटी की आवाज़ ज़ोर से निकल गयी उम्मह अया. मम्मी भी आंटी की चूचियों को चूस रही थी. मैं भी अब आंटी को शॉट्स मारने लगा धीरे-धीरे. फिर मम्मी आंटी के मूह पे बैठ गयी, और उन्हे अपनी मशीन चुसवाने लगी, और अपनी जीभ से आंटी के फिट और टाइट पेट को किस करने लगी. फिर अपनी जीभ शॉट्स मारते वक़्त आंटी की बर के पास लगा दी, जिसकी वजह से मेरा लंड भी हल्का-हल्का उनकी जीभ से टच हो रहा था.

तभी सेजल आंटी मम्मी और पूनम आंटी को ढूँढते-ढूँढते सीधे रूम में आ गयी. मैं दरवाज़ा लॉक करना भूल गया था जल्दी-जल्दी में. सेजल आंटी ने तुरंत लाइट ओं कर दी, और वो हम तीनो को नंगे देख के शॉक हो गयी. पूनम आंटी भी मुझे देख के शॉक हो गयी, और बोली-

पूनम आंटी: अंशु तू?

उनका सारा नशा उतार गया. सेजल आंटी हम तीनो को ऐसे देख के अपनी सारी के अंदर हाथ डाल के अपनी बर को सहलाने लगी और दूसरे हाथ से चूचियों को मसालने लगी. मैं और मम्मी तुरंत समझ गये की अब उनका भी मूड बन गया था.

फिर क्या, पूनम आंटी भी गरम तो थी ही, तो मेरी तरफ देख के बोली: अंशु बेटा, तू तो पोर्नस्तर का भी बाप निकला. आ अब फोरसम करते है.

उन्होने अपनी लिप्स को ऐसे मसल के बोला, मानो मेरे अंदर एक करेंट सा लगा. मैं और भी जोश में आ गया और आप तो मेरा लंड और भी सख़्त हो गया था. सेजल आंटी ने भी अपने पुर कपड़े उतार दिए. वो भी मस्त गोरी माल थी. बुत पूनम आंटी की तो बात ही अलग थी.

लाइट चालू होने के बाद मैने सही से नोटीस किया तो देखा की पूनम आंटी की बॉडी बिल्कुल किसी मक्खन मलाई की तरह मज़ेदार थी. बस अब तो उन्हे बेड पे पटक-पटक के छोड़ना था, और उन दोनो को भी. तभी सेजल आंटी ने बोला-

सेजल आंटी: चलो बेटा, अब हम फोरसम करते है.

बाकी आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट में. अब आयेज पढ़िएगा की कैसे हमने फोरसम किया, और तीनो मुम्मिया कैसे अपने बिटो से . है उन्हे . के. . ..

यह कहानी भी पड़े  बॉयफ्रेंड ने मेरी माँ की चुदाई


error: Content is protected !!