लड़के ने कोलीग को अपनी रंडी बनाया

तो दोस्तों जैसे की आपने मेरी पिछली स्टोरी में मेरी हेरोयिन वंदना के बारे में पढ़ा, की कैसे हम दोनो एक-दूसरे के करीब आए. तो चलिए स्टोरी को आयेज बढ़ते है.

जैसे ही हम अपने-अपने रूम में गये, रात को मैं शवर लेके शॉर्ट्स में बैठा था, और वंदना के बारे में सोच के मेरा लंड खड़ा हो गया था. तो मैं बेड पे लेट के, अपने रूम की खिड़की खोल के, जो की बीच फेसिंग थी, अपना लंड हिला रहा था. और मेरी आँख लग गयी. उतने में वंदना की कॉल आई.

मे: ही, क्या हुआ, इतनी रात को कॉल? सब ठीक है ना?

वंडू: यार ई आम नोट एबल तो स्लीप. अकेले दर्र लग रहा है मुझे.

मे: तो क्या मैं आ जौ आपके रूम में( मेरी तो हार्ट बीट बढ़ गयी थी)?

उसने बिना कुछ कहे कॉल कट कर दी, और मैं जल्दी से शॉर्ट्स और त-शर्ट में उसके रूम में चला गया.

जैसे ही उसने दरवाज़ा खोला, उसको देख के मेरे होश ही उडद गये. रेड कलर की शॉर्ट वन पीस जैसी निघट्य पहनी थी उसने, जो की उसके थाइस तक आती थी. और उसकी खुश्बू से तो पागल ही हो गया था मैं.

फिर मैं अंदर गया तो वो खिड़की के पास खड़ी हो गयी बाहर देखते हुए. और उसने कहा-

वंडू: ई लीके युवर कंपनी.

मैं उसके पीछे ही था, और उसके बालों की खुश्बू से मदहोश हो रहा था. तभी अचानक मुझसे रहा नही गया, और मैने उसको पीछे से हग कर लिया. उसकी वो सिल्क की निघट्य और वो उसका मूलायाँ बदन. मानो मेरी बॉडी में करेंट सा दौड़ने लगा.

मेरा लंड खड़ा हो गया था, और उसको धीरे-धीरे चुबा रहा था मैं. फिर धीरे से मैने उसकी नेक पे किस की. उसके मूह से हल्की सी आहह निकली, और मैने वेट किस नेक पे स्टार्ट कर दी. वो सिर्फ़ आहह अफ कर रही थी, और मेरा लंड अपनी गांद में फील कर रही थी.

मैने उसको अपनी तरफ घुमाया, और उसकी आँखों में हवस को देखा, और उसके कान के पास जाके कहा-

मैं: बेबी ई वॉंट योउ.

इतना कह के मैने उसके लिप्स पे लिप्स रख दिए, और हम दोनो ने ज़ोर से किस्सिंग स्टार्ट कर दिया. एक-दूं वेट किस्सस कर रहे थे हम. ई लाइक्ड हेर सलाइवा टेस्ट. उम्म्म सो टेस्टी. फिर उसने मेरे मूह में काई बार थूका. क्या बतौ दोस्तों, क्या टेस्टी थी वो आहह.

हम दोनो काफ़ी गरम हो चुके थे, और मैने उसके चीक्स आंड उसकी नेक चाटना शुरू कर दिया.

वो बोली: बेबी योउ अरे डूयिंग सो वेल. ह बेबी.

फिर मैं उसके पीछे गया, और उसकी निघट्य उतार दी. उसको विंडो की तरफ खड़ा किया, और बाहर मूह करने को बोला. अब मैं पीछे से उसकी पीठ चाट रहा था. क्या बॉडी थी यार उसकी, और क्या अरोमा था उसका. मैने उसकी पूरी बॅक चाट-चाट के वेट कर दी.

फिर मैने उसकी आर्म्पाइट्स छाती. उसके पसीने की खुश्बू कातिल थी. मैं बहुत गरम हो चुका था, और उसकी साँस भी बहुत तेज़ हो रही थी. फिर मैने उसको बिताया, और उसकी लेग्स चाटनी शुरू की.

उसके बाद धीरे-धीरे करते हुए उसकी भारी हुई थाइस का एक-एक पार्ट चाट रहा था, बीते कर रहा था, और किस कर रहा था.

क्या बतौ यार, उसकी जांघें दूध सी सफेद थी. मानो खा ही जाने का मॅन कर रहा था. फिर उसकी ब्रा उतारी, और उसके निपल्स के आस-पास गोल-गोल मसाज किया.

ओहो! वो पर्फेक्ट बूब्स और पिंक निपल्स क्या उभर के कड़क हो गये थे. मैं अपने आप को रोक नही पाया, और टूट पड़ा उसके निपल्स पे. ज़ोर-ज़ोर से चूस रहा था मैं उसके निपल्स को, और काट रहा था. और मेरी वंडू के मूह से सिर्फ़ “आहह बेबी, धीरे करो ना. खा जाओगे क्या मुझे बेबी? आहह एस्स, ई लीके इट”, ऐसा शाक्य वाय्स में बोल रही थी.

मैने उसके बूब्स 10 मिनिट तक चूज़ और छाते. फिर मैं नीचे गया, और उसका वो मुलायम मखमली पेट छाता. क्या पेट और क्या नाभि थी दोस्तों. मेरा लंड गीला हो चुका था. फिर चाट-ते चाट-ते नीचे गया, और उसकी पनटी निकाल दी. अब मुझे उसकी हल्के बालों वाली पिंक छूट के दर्शन हुए.

मैं देखता ही रह गया. पर्फेक्ट झाँत थी उसकी, और वो छूट तो मदहोश कर रही थी. हल्की से खुश्बू उसकी छूट की मुझे घायल कर रही थी. मैने अपना मूह छूट के उपर दबा दिया, और उसको चाट रहा था.

क्या स्वाद था यार, उसकी छूट का. मैने अपने जीभ अंदर तक डाल के करीब 10 मिनिट तक छाता. और वो ज़ोर से मेरा सिर अपनी छूट में दबा के मेरा नाम ले रही थी.

वंडू: बेबी युवर टंग इस सो मॅजिकल. ह बेबी एससस्स, ई लोवे इट. प्लीज़ लीक मी पुसी, इम लविंग इट आहह बेबी.

उसकी आवाज़ मानो मेरे दिमाग़ पे अलग ही नशा कर रही थी. फिर उसने ज़ोर से मेरा सिर दबाया, और ज़ोर से चिल्लाई.

वंडू: आअहह बेबी ई आम कमिंग आहह. बेबी लोवे योउ. ऐसे कह के उसकी बॉडी ज़ोर से झटके खाने लगी, और उसकी छूट से पानी निकालने लगा. मैं अपनी जीभ अंदर डाल के उसका सारा टेस्टी पानी चाट गया.

श दोस्तों, क्या छूट थी उसकी, और क्या उसका पानी. उसका पानी मेरे फेस पे भी लग गया था. उसने मुझे उठाया, और ज़ोर से गले लगाया. इतना ज़ोर से की उसकी चूचियाँ ज़ोर से डब गयी, और उसने मेरा मूह छाता और ज़ोर से किस किया.

हम लोगों ने 5 मिनिट तक इसी पोज़िशन में किस किया. फिर उसने मेरी त-शर्ट उतरी, और शॉर्ट्स भी उतार दी. पहले तो उसने मेरी बॉडी छाती, मेरा गला छाता, और फिर मेरी चेस्ट. फिर उसने निपल्स छाते, और मेरे हाथ अपने हाथ से पकड़ लिए.

उसकी जीभ लगते ही मानो मेरी बॉडी में करेंट सा दौड़ता था. वो काफ़ी वेट कर रही थी मेरी चेस्ट को, और धीरे-धीरे वो नीचे जाने लगे. उसने अंडरवेर के उपर से मेरा लंड चाटना शुरू किया. फिर उसने मेरा अंडरवेर उतरा, और लंड के टोपे को ज़ोर से किस किया, और अपनी नशीली आँखों से मेरी तरफ देखा.

उसने कहा: ये सिर्फ़ मेरा है.

ऐसा कह के उसने मेरे 6.5 इंच के लंड को अपने मूह में लेके ज़ोर-ज़ोर से चाटना शुरू किया. मैं कंट्रोल नही कर पा रहा था. उसने ज़ोर-ज़ोर से लॉलिपोप की तरह मूह से इस्सह इस्सह आवाज़ निकालते हुए मेरा लंड टॉप से बॉटम छाता. फिर उसने मेरी बॉल्स छाती.

मैं सातवे आसमान पे था. कितना सेक्सी बोलवजोब था मेरी लाइफ का, जो मेरी हेरोयिन मुझे दे रही थी. लेकिन मैं झड़ना नही चाहता था. इसलिए उसको उठाया, और विंडो के पास झुक के खड़े रहने को बोला.

रात के 3 बजे थे, और बीच पे कोई नही था. तो मैने उसकी एक टाँग उठाई, और अपना लंड उसकी छूट पे सेट किया. फिर धीरे-धीरे मैने लंड उसकी छूट के आंदार डालना स्टार्ट किया.

उसको तोड़ा दर्द हुआ, लेकिन मैने उसकी टाँग कस्स के पकड़ी थी. इसलिए वो दर्द सहती रही. फिर मैने धीरे-धीरे झटके देना स्टार्ट किया, और उसके मूह से आह आह ह की आवाज़े आनी स्टार्ट हो गयी. उसके बाद मैने अपनी स्पीड बधाई, और अब उसको दर्द भी हो रहा था और मज़ा भी आ रहा था.

वो मुझे गाली दे रही थी: बहनचोड़ फक मे! छोड़ मुझे भेंचोड़! मेरी छूट का भोंसड़ा बना दे. छोड़, ज़ोर-ज़ोर से छोड़. अपने अंदर का मर्द दिखा मुझे बहनचोड़ छोड़ भोंसड़ी के.

यकीन मानो इतनी खूबसूरत लड़की के मूह से गाली भी क्या लगती है यारों. मैं काफ़ी गरम हो गया था, और उसकी बॉडी भी गरम हो गयी थी. अब मैं आउट ऑफ कंट्रोल होके गालिया देने लगा.

मैं: ये ले मेरी रंडी बीसी. क्या फिगर है तेरा. मॅन तो कर रहा था जब तुझे देखा था, तब ही रूम में लेके जाके छोड़ डू. पर तूने मौका नही दिया मुझे मेरी रंडी. बीसी क्या बदन है तेरा. बीसी क्या बूब्स है तेरे. और क्या पिंक छूट है तेरी. बीसी आज तुझे छोड़-छोड़ के निचोढ़ दूँगा बहनचोड़.

उसको भी मज़ा आ रहा था, की मैं गुस्से में छोड़ रहा था. फिर मैं उसको पोज़िशन चेंज करने को बोला. उसने मुझे बेड पे लिटाया, और खुद लंड अपनी छूट में लेके मेरे उपर लेट गयी. फिर उसने मुझे एक छाँटा मारा, और कहा-

वंडू: बीसी बहुत भूखी हू मैं. कब से तरस रही थी. छोड़ मुझे आज जी भर के छोड़. बीसी मैं तेरी रंडी हू.

उसने 2 -3 छानते लगाए, और मेरे मूह पे थूक दिया. मेरा मूह उसकी थूक से गीला हो गया, और वो ज़ोर-ज़ोर से झटके दे रही थी मेरे लंड के उपर बैठ के. फिर उसने सारा थूक चाट कर मेरे मूह में डाला.

दोस्तों क्या थूक था यार, मैं तो मज़े से चाट रहा था. फिर ज़ोर-ज़ोर से धक्के देने के बाद वो एक बार झाड़ गयी. वो भूखी शेरनी की तरह मेरे उपर उछाल रही थी. उसने मेरा हाथ लेके अपने बूब्स पे रख दिया, और मैं उसके बूब्स दबा रहा था. मैं उसके निपल्स को ज़ोर से पिंच कर रहा था. उसको बहुत मज़ा आ रहा था हार्डकोर सेक्स में.

उसके बाद मैने उसको डॉगी पोज़िशन में किया और पीछे से ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड डाल रहा था. रूम में पच-पच-पच और उसकी आहह ह ह की आवाज़े गूँज रही थी. मैने उसके बूब्स को ज़ोर से दबाते हुए उसको ज़ोर-ज़ोर से छोड़ता रहा.

मैने उसकी गोरी-गोरी गांद पे छानते मारे ज़ोर-ज़ोर से. उसकी गांद लाल हो गयी थी मेरे चांतो से, और वो मुझे ज़ोर से गालिया दे रही थी.

बीसी क्या नज़ारा था यार. उसकी छूट में मेरा लंड था. उसके बाल पकड़ के मैं उसको घोड़ी की तरह छोड़ रहा था.

वंडू: आह आ आ यॅज़ एस बहनचोड़ छोड़ मुझे, छोड़ और ज़ोर-ज़ोर से छोड़ मुझे. तेरी रंडी हू मैं.

अब हमे छोड़ते-छोड़ते आधा घंटा हो गया था. मैं अब झड़ने वाला था, तो मैने स्पीड बधाई, और ज़ोर-ज़ोर से उसको छोड़ रहा था.

मैं: रंडी है तू मेरी बीसी, आज के बाद तू सिर्फ़ मुझसे चूड़ेगी.

ऐसे बोल के मैं ज़ोर-ज़ोर के धक्के लगा रहा था. और उतने में वो झाड़ गयी. मैं फिर भी तेज़-तेज़ धक्के मार रहा था, और जैसे ही मैं झड़ने वाला था मैने उसको कहा-

मैं: कहा लेगी मेरा पानी?

तो उसने कहा: मूह में लूँगी.

तो मैने लंड बाहर निकाला, और वंदना सीधे आके मेरी लंड के नीचे बैठ गयी. फिर मैं आहह आ करने लगा, और ज़ोर से मेरे गरम-गरम पानी की पिचकारी मैने उसके फेस पे मारी और उसके मूह में. तोड़ा पानी उसने मूह में ले लिया, और तोड़ा उसके फेस पे गिरा.

उसके वो सेक्सी से फेस पे कम देख के क्या लग रहा था उसका फेस. वो मेरा पानी जो उसके मूह में था, वो पी गयी, और उसने अपना मूह खोल के दिखाया मुझे. मुझसे रहा नही गया उसका फेस देख के.


फिर मैने उसको उठाया, और मैने उसको ज़ोर से किस करनी स्टार्ट कर दी. मेरा जो पानी था, अभी भी उसके होंठो पे था. और हम दोनो पॅशनेट किस्सिंग कर रहे थे.

उसके फेस का कम मैने चाट के उसके मूह में थूक दिया, और वो पी गयी. फिर हमने 10 मिनिट बहुत ज़ोर-ज़ोर से किस किया, और एक-दूसरे के होंठो को कस्स के चूमा.

उसको छ्चोढने का मॅन ही नही कर रहा था. उसके रसीले होंठ को चूज़ ही जेया रहा था मैं. और फिर हम दोनो बेड पे लेट गये, और वो ऐसे ही नंगी मेरे फेस के पास फेस रख के लेती थी. उसके बूब्स मेरी छाती को टच हो रहे थे, और उसकी एक टाँग मेरी टाँग पे थी. ऐसे ही हम लेते हुए थे.

मैने उसको कहा: ई लोवे योउ मेरी जान. आंड योउ अरे थे मोस्ट ब्यूटिफुल गर्ल ऑफ मी लाइफ.

उसने मुझे लोवे योउ टू कहा, और कहा: ई हॅव स्पेंट थे मोस्ट मेमोरबल मोमेंट वित योउ. आंड ई लीके इट थे मोस्ट.

फिर उसने कहा: आज से में तेरी रंडी हू. जितना छोड़ना है मुझे तू छोड़. मैं तेरी हू मेरी जान. और फिर हमने किस किया, और एक-दूसरे को हग किया.

तो दोस्तों अगली स्टोरी में आपको बतौँगा, की कैसे मैने उसको काई अलग तरह से छोड़ा, और उसकी गांद भी मारी. आपने मेरी पिछली स्टोरी को इतना प्यार दिया उसके लिए शुक्रिया दोस्तों.

मुंबई में जो भी भाभियाँ, औंतिया, और गर्ल्स जो भी सीक्रेट सेक्स चाहती है, या मसाज, या फिर ओरल सेक्स सॅटिस्फॅक्षन चाहती है, कॅन कॉंटॅक्ट मे फॉर सेफ सेक्स ओं

आपकी सेफ्टी का हमेशा ख़याल रहेगा. आंड आपका मोमेंट मेमोरबल रहेगा. सो प्लीज़ कॉंटॅक्ट मे.

यह कहानी भी पड़े  एहसान के बदले में सेक्रेटरी के दोनो छेद फाडे


error: Content is protected !!