लड़के ने बहन के बाद मा को चोदा

हेलो फ्रेंड्स, पिछली बार मैने आपको बताया की कैसे मैं और ज्योति पकड़े गये, और फिर कैसे ज्योति ने मा को हमारे रिश्ते के लिए मनाया. और फिर मा भी धीरे-धीरे मेरे साथ नॉर्मल होने लगी थी.

अब आयेज…

मा अब मेरे साथ धीरे-धीरे नॉर्मल हो गयी थी. हमारी लाइफ नॉर्मल हो गयी थी. मा अब मेरे साथ नॉर्मली बात भी करती थी. जब भी कभी ज्योति हमारे घर आती, तो मा हम दोनो को घर में अकेले छ्चोढ़ कर कुछ देर के लिए अपनी किसी सहेली के घर चली जाती थी. मा को अब हमारे रिश्ते से कोई ऐतराज़ नही था. सब ठीक हो गया था.

अब मा मुझे कभी-कभी स्माइल भी देती थी. मुझे मा की स्माइल में कुछ अजीब सा लगता था. एक दिन मा किचन में खाना बना रही थी. मैं किचन में गया, तो मा ने कहा-

मा: यहा क्यू आया है? यहा मैं खाना बना रही हू, ज्योति नही. और ये कह के स्माइल दी. मैं स्माइल करके नज़रे झुका के बाहर आ गया. अब मा ऐसे ही मुझे मज़ाक में कॉमेंट्स करती थी.

आपको अपनी मा के बारे में बता डू की मा की उमर 53 थी. पर दिखने में मा 40 की लगती थी. अब मेरी मा घर में आचे से साज के रहती थी, और थोड़े सेक्सी कपड़े भी पहनती थी. मुझे बहुत अजीब लगता था, पर कभी-कभी बहुत अछा भी लगता था, जब मुझे मा की क्लीवेज दिखती थी.

एक बार पापा को बिज़्नेस तौर से 7 दिन के लिए मुंबई जाना था. पापा सॅटर्डे को सुबा चले गये. पूरा दिन मेरा नॉर्मल था. मा जब भी मुझे देखती तो स्माइल करती, और कभी-कभी कॉमेंट्स भी करती. अगले दिन सनडे को ब्रेकफास्ट करने के बाद मा ने मुझसे कहा-

मा: मुझे मार्केट ले चल, मैने अपनी शॉपिंग करनी है. मैं मा को कार में माल ले गया. मा ने अपने लिए कुछ कपड़े पसंद किए. उन्होने मुझे ट्राइ रूम के बाहर खड़े रहने को कहा और कहा-

मा: मैं ट्राइ करूँगी, तुम बताना ठीक है या नही.

मा ने 2 कुर्ते ट्राइ किए, जिनको देख मैने मा को अछा कहा. फिर मा ने एक निघट्य पहनी, और ट्राइ रूम का दरवाज़ा खोला. वो निघट्य मा के घुटनो तक थी, और उसका नेक बड़ा था.

मा की क्लीवेज सॉफ दिख रही थी, और शोल्डर्स पे सिर्फ़ स्ट्रॅप्स थे. मा बहुत हॉट लग रही थी, और मैं उन्हे देखता ही रहा. फिर मा ने स्माइल करते हुए कहा-

मा: अब देखता ही रहेगा या बताएगा की कैसी लग रही हू?

मैने कहा: ये बेस्ट है. इसमे आप बहुत खूबसूरत लग रही हो.

और मैने स्माइल की. मा ने बिना कुछ कहे स्माइल की, और ट्राइ रूम का दरवाज़ा बंद किया. फिर वो अपना सूट पहन कर बाहर आ गयी.

मा ने वो सब कपड़े ले लिए. फिर हम वापस घर आए. मैं शाम को अपने दोस्त को मिलने चला गया. रात को करीब 8 बजे वापस आया. मैने मा से कहा खाना बनाने को. मा ने कहा-

मा: अभी नहा के बनती हू.

वो नहाने अपने रूम में चली गयी. मैं अपने रूम में जेया कर बैठ गया. फिर कुछ देर बाद मुझे आवाज़ से पता लगा की मा अपने रूम से निकल कर किचन में चली गयी थी.

10 मिनिट के बाद मैं अपने रूम से निकल कर किचन में जाने लगा देखने की खाना कब मिलेगा. जब मैं किचन में गया तो देखता ही रह गया. मा उसी निघट्य में खड़ी खाना बना रही थी जो आज ही ली थी. मेरी आँखें फॅट गयी. फिर मा ने मेरी तरफ देखा, और स्माइल करते हुए पूछा-

मा: कैसी लग रही हू?

मैने कहा: ग़ज़ब की खूबसूरत हो आप.

और मैं वही खड़ा मा को देखता रहा. मा भी मुझे देख के खुश थी. फिर मा ने कहा-

मा: खाना तैयार होने वाला है. तुम अपने कपड़े बदल लो, फिर साथ बैठ के डिन्नर करते है.

मैं अपने रूम में कपड़े बदलने आ गया. निक्कर और संडो पहन के मैं लॉबी में बैठ गया. मा हम दोनो का खाना ले आई. हमने साथ बैठ के खाना खाया.

तभी टीवी पे हॉट सॉंग आने लगा. एक सॉंग था जिसमे हेरोयिन ने हॉट कपड़े पहने थे, और सेक्सी डॅन्स कर रही थी. मा अब मेरी तरफ तिरछी नज़रो से देख रही थी. वो मेरे बिल्कुल पास बैठी थी. मैं भी कभी-कभी मा की क्लीवेज की तरफ देखता.

उसके बाद एक रोमॅंटिक सॉंग आया, जिसमे वो लोग कपल डॅन्स कर रहे थे. मेरा ध्यान बार-बार मा की क्लीवेज की तरफ जेया रहा था. तो मैने मा के आयेज अपना हाथ बढ़ाया, और मा को डॅन्स के लिए कहा. मा ने भी स्माइल की और मेरे हाथ पे अपना हाथ रख दिया. हम उठ के लॉबी में कपल डॅन्स करने लगे.

हम लोग नॉर्मल कपल डॅन्स कर रहे थे. मेरा ध्यान अब मा की क्लीवेज की तरफ ही था. सॉंग ख़तम हुआ, और मा सोफे की तरफ जाने लगी.

तभी टीवी पे एक हॉट रोमॅंटिक सॉंग शुरू हो गया. मैने मा का हाथ पकड़ा और मा को और डॅन्स करने को कहा. मा हासणे लगी और मेरी तरफ आ गयी. मा ने अपने दोनो हाथ मेरे शोल्डर्स पे रख लिए. मैने अपने दोनो हाथ मा की कमर पे रख लिए.

हमारा डॅन्स फिर शुरू हो गया. मेरा फेस अब मा के फेस के बहुत करीब था और मेरा ध्यान बस मा की क्लीवेज में. मा ने ये सब नोटीस कर लिया होगा. उन्होने मुझे स्माइल दी.

अब मैं मा के साथ तोड़ा तेज़ डॅन्स करने लगा, जिसमे मैं मा को आयेज-पीछे घूमता रहा, तो कभी बाहों में ले लेता. मा ने भी मेरा पूरा साथ दिया.

अब हम फिर से एक जगह खड़े होके डॅन्स करने लगे. अब मा की बाहे मेरे गले में थी, और मेरे हाथ मा की कमर से तोड़ा पीछे पीठ की तरफ थे. मा के बूब्स बीच-बीच में मेरी चेस्ट को भी टच हो रहे थे.

मैं धीरे-धीरे मा की कमर और पीठ पे हाथ घूमने लगा और डॅन्स करता रहा. मा ने भी कुछ नही कहा और धीरे-धीरे कभी मेरी नेक पे हाथ चलती, कभी मेरी पीठ पे, तो कभी मेरे बालों में. सॉंग्स बदलते रहे, और हम 15 मिनिट ऐसे ही डॅन्स करते रहे.

फिर मैने मा को कमर से पकड़ के धीरे से अपनी तरफ तोड़ा और खींच लिया. मा ने कुछ नही कहा. अब हमारी बॉडी पूरी चिपक गयी थी. मा ने अपना सर मेरी चेस्ट पे रख लिया और हम स्लो कपल डॅन्स करते रहे.

मैं अब मा की पीठ पे हाथ घूमने लगा. मा ने अपनी बाहे मेरे गले में टाइट कर ली. मैं अपना हाथ मा की कमर पे ले आया, और धीरे-धीरे कमर से मा की बगल की तरफ हाथ घूमता रहा. मा कुछ नही बोली.

मैं अपना हाथ मा की कमर के पीछे ले गया, और पीठ के नीचे हाथ घूमने लगा. हाथ घूमते वक़्त अब मेरे हाथ मा की हिप्स के उपर लग रहे थे. मा ने कुछ नही कहा, और बस मेरे गले में बाहे डाल कर खड़ी रही.

मैं धीरे-धीरे अपने हाथ और नीचे करता रहा. अब मेरे दोनो हाथ पूरी तरह मा के हिप्स पे थे, और मैं धीरे-धीरे डॅन्स करते हुए मा के हिप्स को सहलाता रहा. मा की गरम साँसे मेरी चेस्ट पे महसूस हो रही थी.

मैने हिम्मत करके मा की निघट्य को तोड़ा उपर उठाया, और अपने हाथ अंदर डाल के पनटी के उपर से मा के हिप्स को सहलाने लगा. मा की साँसे तेज़ हो गयी. अब मा ने अपनी आँखें बंद कर ली थी.

5 मिनिट ऐसे ही मा के चूतड़ सहलाने के बाद मैं अपना हाथ निघट्य के अंदर और उपर ले आया और पीठ को सहलाने लगा. मा की साँसे तेज़ होती रही.

फिर धीरे-धीरे निघट्य के अंदर से ही अपने हाथ आयेज की तरफ ले आया, और ब्रा के उपर से मा के बूब्स पे हाथ रख लिए. फिर धीरे-धीरे मा के माममे दबाने लगा. मा अब बहुत गरम हो चुकी थी.

मैने मा को बाहों में उठाया, और सोफे पे बैठ गया और मा को अपनी लेग्स पे बिता लिया. फिर मैने मा की दोनो लेग्स अपनी दोनो तरफ कर ली. मा का चेहरा मेरी तरफ था, और आँखें बंद थी. मैने मा के गालों पे हाथ रखे और मा का नाम लेके बोला-

मैं: भावना, अपनी आँखें खोलो.

मा ने ये सुन के एक लंबी साँस ली और धीरे से अपनी आँखें खोली और स्माइल की. मैने मा का चेहरा अपनी तरफ किया, और होंठो से होंठ लगा दिए. करीब 5 मिनिट ऐसे ही किस करते रहे. फिर वैसे ही बैठे-बैठे मैने मा की निघट्य पकड़ी, और उपर उठा के उतार दी.

अब मा मेरी टाँगो पे सिर्फ़ ब्रा और पनटी में थी. मा ने मेरी संडो को उपर उठाया, और उतार दिया. मा मेरी चेस्ट के बालों में अपनी उंगलिया घूमने लगी. मैने मैं के बड़े-बड़े माममे पकड़े, और दबाने लगा.

मैने पूछा: कैसा लग रहा है मा?

मा ने कहा: मुझे नाम से बुलाओ.

मैने हेस्ट हुए कहा: भावना तुम बहुत गंदी गश्ती हो. तुमने अपनी बेटी का प्यार लूट लिया.

मा भी हासणे लगी. भावना ने मेरा फेस पकड़ा, और अपने बूब्स में दबा दिया. मैने अपने हाथ भावना के पीछे किया और ब्रा खोल दी.

ब्रा को उतारते ही मेरा मूह खुल गया. कितने बड़े माममे थे. एक हाथ में एक पकड़ा नही जेया रहा था. मैं 10 मिनिट मा के बूब्स से खेलता रहा. फिर मैने मा को उठाया, और पनटी उतार दी. अब मा मेरे आयेज नंगी खड़ी थी.

मैने मा को घुमाया, और मा के हिप्स पे ज़ोर से छाँटा मारा. मा चीख उठी, और बोली-

मा: मदारचोड़, क्या कर रहा है?

मैं मा के मूह से ये सुन के हैरान था. फिर मा हासणे लगी.

मा ने कहा: आज तो तू मदारचोड़ बनने वाला है.

मैने कहा: मुझे तू मत कहो, ऐसे बात करो जैसे पति से करते है. आज से मैं तुम्हारा पति हू भावना.

मा ने मेरी निक्कर और अंडरवेर एक साथ पकड़ के उतार दिए, और खुद सोफे पे बैठ गयी, और मुझे अपने आयेज खड़ा करके मेरा लंड मूह में ले लिया. मा 5 मिनिट लंड चूस्टी रही.

फिर मैने सोफे पे बैठ के मा को गोद में बिता लिया, और एक झटके में अपना लंड मा की पुसी में डाल दिया. मा अब उछालने लगी, और आवाज़े निकालने लगी.

मा ऐसे 5 मिनिट तक चुड़वति रही. फिर मा तक गयी. फिर मैने मा को ज़मीन पर खड़ा किया और कुटिया बना के पीछे से मा की छूट में लंड डाल दिया. मा चीखती रही और मैं मा को छोड़ता रहा.

हमारी लॉबी में बहुत आवाज़े हो रही थी आ आ ऑश की. कुछ देर बाद हम दोनो एक साथ झाड़ गये. मैं मा के अंदर ही झाड़ दिया.

फिर मा से अलग हुआ, और सोफे पे लेट गया. मा मेरे उपर लेट गयी और हम पूरी रात नंगे ही एक दूसरे को हग करके लेते रहे.

दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी चुदाई मेरे घर में? कॉमेंट्स में बताना ज़रूर. इसके बाद क्या-क्या हुआ, वो नेक्स्ट पार्ट में बतौँगा.

अगर कोई बेहन, मा, या भाभी और डीटेल्स चाहते हो, तो मुझे मैल कर सकते हो. [email protected]

यह कहानी भी पड़े  नंगी बहन ने नंगे भाई की मूठ मारी


error: Content is protected !!