घर घर खेलने में दीदी को चोदा

हेल्लो मेरा नाम निर्मल है, में इंदौर का रहने वाला हु। मेरा लंड 6 इंच का है। मै किसी भी औरत को अच्छे से संतुष्ट कर सकता हु। सीधा कहानी पर आता हु।
बात तब की है जब में क्लास 12 में था। में गर्मी की छुट्टिया मामा के यहाँ 3 महीने के लिए जाता था। मम्मी छोटे भाई को लेकर 10 दिन में ही वापस घर आ जाती थी। पर मैं वही रुक जाता था। मामा के घर पर नाना-नानी, 2 मामा और में ही रहते थे। कभी कभी मौसी की लड़की भी आ जाती थी। मेरी मौसी की लड़की का नाम प्रिया है, वो मुझे 4 साल बड़ी है। वो एक दम मस्त और हॉट लड़की है। उसका फिगर 36-28-34 है। वो बहुत गोरी, चिकनी और मस्त है। उसकी गांड और बोबे बहुत बड़े है और रसीले है। कोई भी लड़का उसे देखकर चोदना ज़रूर चाहूँगा और मुट्ठ ज़रूर मारेगा।
बात तब की है जब में 12 क्लास के बाद की गर्मी की छुट्टी के लिए मामा के यहाँ था। प्रिया दीदी भी आ गयी थी। हम दोनॊ के बीच अच्छी बनती थी। हम वह दिन भर टाइम पास करते थे। Tv देखना और गाने सुन्ना हम दोनों को ही काफी पसंद था। हम दोनों बचपन से हमेशा छुट्टियों में घर घर, डॉक्टर डॉक्टर और कई अन्य खेल खेलते थे। हम दोनों घर घर में हमेशा पति-पत्नी बनते थे। खेल खेलते समय मेरा शरीर कई बार दीदी के शरीर से छु जाता था। हम एक दुसरे के गालो पर किस भी करते थे। और साथ में ही नाहते थे। जब में 12 क्लास पास हुआ तब में जवान हो रहा था। मेरा लंड बड़ा हो गया था। सेक्सी चीजे देखकर मेरा लंड जल्दी खड़ा हो जाता था।
एक दिन में नहा रहा था। में पीछे वाले आँगन में नहा रहा था। वो खुला था। में सिर्फ अंडरवियर में था। मेरे सामने नानी कपडे धो रही थी। मेरी नानी का नाम कमला है। नानी सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में थी। नानी बहुत हॉट और जबराट है। नानी के बोबे और गांड बहुत बड़े है। वो 55 साल की है पर एक दम मस्त और सेक्सी है। हर कोई उन्हें एक बार ज़रूर चोदना चाहेगा। नानी नीचे बैठकर कपडे धो रही थी। उनके बोबे और टाँगे साफ़ दिख रही थी ,वो बहुत सेक्सी लग रही थी। मेरा लंड खड़ा था पूरा। में
धीरे धीरे नह रहा था और नानी को घूर रहा था। दीदी छुपके मुझे देख रही थी।

यह कहानी भी पड़े  सौतेले बाप के संग बिस्तर पर

मुझे नानी को चोदने का मन कर रहा था। मेने नाटक किया। में चिल्लाने लगा। नानी – क्या हुआ राजा।
में- नानी वो मुझे चड्डी के अन्दर जलन हो रही है।
नानी मेरे पास आई । और बोली कहा।
में- अन्दर चड्डी के अन्दर।
नानी नीचे बैठ गयी मेरे सामने।
नानी- मुझे बता में देखती हु क्या दिक्कत है?
में शर्माने लगा और लंड पर हाथ रख लिए।
नानी- अरे बेटा जब तू छोटा था तब नंगा ही घूमता रहता था। मेने तुझे बहुत बार नहलाया है। मुझसे क्या शर्माना।
नानी ने मेरे हाथ हटा दिए और मेरा अंडरवियर उतार दिया। मेरा 6 इंच का खड़ा लंड नानी के मुह के सामने हिलने लगा।
नानी- अरे बाप रे इतना बड़ा हो गया तेरा नुन्ने। पहले तो छोटा सा और मुलायम था। अब तो इतना बड़ा और कड़क हो गया है मेरे राजा का नुन्ने। चल मेरे राजा का नुन्ने देखते है क्या हुआ है।
नानी ने लंड पकड़ा, मेरे शरीर में कर्रेंट दौड़ गया। नानी ने लंड पकड़ा और हिलाने लगी, इधर उधर हाथ फेरकर लंड पर हाथ फेरने लगी।
नानी- कहा जलन हो रही है।
मेने लंड की तरफ इशारा किया। नानी ने लंड पर पानी डाला।
नानी- आराम मिला
में- नाही
नानी लंड पकडे हुई थी और हिल रही थी। में लंड को नानी के मुह के पास ले गया और एक बार उनके होठो से छुआ दिया। नानी मुस्कुराई। लंड हिलती रही।
नानी- अब क्या करे इसका।
फिर नानी लंड हिलती रही और उस पर किस करने लगी। मुझे मजा आने लगा।
नानी- अच्छा लगा राजा?
में- हां। नानी और करो न अच्छे से।
फिर नानी लंड को हिलती और चूमती रही। उसके बाद नानी ने लंड मुह में लिया और चूसने लगी। मुझे बहुत मजा आया। मेने नानी का सर लंड की तरफ दबाया। नानी चूसती रही। फिर मेंने नानी के शरीर पर हाथ फेरा और बोबे दबाने लगा। नानी खड़ी हुई। मेने नानी पेट और बोबे दबाये। फिर मेने नानी का ब्लाउज खोल दिया। नानी खड़ी रही। नानी के बोबे मेरे सामने थे। मेने उन्हें दबाया। और चूसा। फिर मेने नानी का पेटीकोट खोल दिया। नानी ने पेंटी नहीं पहनी थी। नानी पूरी नंगी हो गयी। अब हम दोनों नंगे हो गए। नानी लंड को पकड़कर हिलती रही। मेने नानी को रूम में चलने को कहा। हम रूम में गए। दीदी ने हमारा पीछा किया और छुपके रूम में घुस कर छुप गयी और हमे देखने लगी।

यह कहानी भी पड़े  भाभी की पेंटी का टेस्ट

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!