कसी चूत वाली नौकरानी और ड्राइवर के साथ सेक्स की कहानी

मेरा नाम आकाँशा है. मैं 25 साल की डॉक्टर हू, और अपने फ्लॅट में अकेली रहती हू. हाल ही में मैने अपने घर एक फुल टाइम मैड रखी है, जो के 18-19 साल की है, और एक ड्राइवर जो शायद 20 साल का है.

मेरी मैड सुमन मेरे साथ मेरे कमरे में सोती है. एक रात मैने उठ के देखा तो सुमन रूम में नही थी. काफ़ी देर वेट किया तो पर वो नही आई, तो मैं रूम से बाहर निकली, और किचन के पास जाके मुझे कुछ आवाज़ आई. मैने चुपके से देखा तो सुमन और मेरा ड्राइवर रॉनी एक साथ थे, और रॉनी सुमन के निपल्स सक कर रहा था.

उसने सुमन के मूह पर हाथ रखा था, ताकि वो आवाज़ ना निकाले. मैं उन दोनो को देख के बहुत गरम हो गयी, पर अपने कमरे में वापस चली गयी. अगले दिन मैने सुमन को पूछा-

मैं: तुम रात को कहा थी?

वो कहने लगी: मुझे भूख लगी थी, तो खाना खा रही थी.

मैने उसे कहा: इधर आ मेरे पास बैठ.

वो आ कर बैठी मेरे पास. फिर मैने उसके बाल सहलाते हुए कहा: देख सुमन, मैं रात को किचन में आई थी, और मैने अची तरह देखा की तू और रॉनी कों सा खाना खा रहे थे. अब बता तेरे गाओं फोन करके बतौ तेरे घर वालो को, की तू क्या करती है यहा पे? या सीधा समान बाँध के गाओं भिजवो तुझे?

वो रोने लगी, और कहने लगी: प्लीज़ मेडम, मुझे मत निकालो. आप जो कहोगी मैं करूँगी. बस किसी को बताना मत, और मुझे निकालना भी मत.

मैने सुमन को कहा: चल फिर सज़ा के लिए तैयार हो जेया. क्यूंकी तुम दोनो ने ग़लती की है.

वो कहने लगी: आपकी हर सज़ा कबूल है. पर प्लीज़ मुझे निकालना मत.

मैं सुमन के करीब गयी, और कमर पकड़ी, और किस करते हुए उसे बेड में लिटा दिया. फिर मैं उसके होंठो पर किस करते हुए उसकी नेक पे गयी, और लीक किया. वो मचल रही थी मज़े में. फिर मैं एक रस्सी लाई, और उसके हाथ और पावं बेड के साथ बाँध दिए, और कहा-

मैं: इधर ही इंतेज़ार कर.

फिर मैं बाहर गयी, और रॉनी को बुलाया किचन में, और पूछा-

मैं: रात को तुम किचन में क्या कर रहे थे?

उसने कहा: कुछ नही मेडम, पानी पीने आया था बस.

मैने उसके होंठो पर उंगली रखी और कहा: स्शह, मैने देखा था तू क्या पी रहा था. बस जैसे-जैसे सुमन के साथ किया था, वैसे मेरे साथ भी कर.

रॉनी: मेडम आप क्या कह रही है. ये ठीक नही है.

मैने अपनी शर्ट के बटन खोलने शुरू किए और कहा-

मैं: मुझे मत सीखा क्या ठीक है, और क्या नही. 2 मिनिट से पहले तुझे निकाल दूँगी, इसलिए जो कह रही हू वो कर.

ये कहते हुए मेरे सारे बटन खुल गये. मैने ब्रा नही पहनी थी, और मेरे बूब्स नज़र आ रहे थे. रॉनी ने झपट कर ज़ोर से मेरी कमर पकड़ी, मुझे करीब खींचा, और किस करने लग गया.

अफ मैं बता नही सकती, ऐसी किस मुझे आज तक किसी ने नही की. उसने अपनी ज़ुबान हल्की-हल्की मेरे होंठो के पास की, और मैं ज़ोर से उसकी पूरी ज़ुबान को डिक की तरह सक करने लग गयी. हम 10 मिनिट तक किस करते रहे, और वो मेरे बूब्स मसलता रहा. फिर वो मेरी नेक लीक करने लग गया, जैसे वो रात को सुमन की कर रहा था.

मैने उसे कहा: रुक, अभी आयेज जो करना है, वो बेडरूम में करेंगे और एक सर्प्राइज़ भी है तेरे लिए.

हम दोनो शर्ट के बिना थे, और मैने उसका हाथ पकड़ा, और रूम में ले गयी. रॉनी रूम में सुमन को नंगा और बँधा हुआ देख के चौंक गया, और कहने लगा-

रॉनी: ये क्या है?

सुमन कहने लगी: बेड पर आओगे तो पता चलेगा की ये क्या है.

मैने उसका हाथ पकड़ा, और बेड के पास ले जेया के कहा: चातेगा नही सुमन की प्यारी सी छूट?

उसने उल्टा लेट कर सुमन की गांद से लेकर पूरी छूट को ज़ुबान ले लीक करके मुस्कुरा के मेरी तरफ देखा, और फिर सुमन की छूट को ज़ोर से तेज़ी से चाटने लग गया. सुमन तो तड़प रही थी, और मैने उसके हाथ पावं भी बाँध रखे थे.

मैं जाके सुमन के मूह की तरफ बैठ गयी और कहा: चल सुमन दिखा अपना कमाल, और चाट मेरी चूत.

और सुमन चाटने लग गयी.

मैने रॉनी को कहा: बस कर अब छोड़ इसको.

जब रॉनी सीधा होके खड़ा हुआ, तो अफ मैं तो उसका लंड देख के हैरान रह गयी इतना बड़ा और मोटा. फिर उसने सुमन की गीली छूट में अपना लंड डाला, और सुमन से दर्द बर्दाश्त नही हो रहा था, क्यूंकी ये उसका फर्स्ट टाइम था, और वो और तेज़ी से मेरी चूत चाटने लग गयी.

मेरा और रॉनी का मूह एक-दूसरे की तरफ था, और हम दोनो किस कर रहे थे एक-दूसरे को. मैने सुमन के दोनो निपल अपने दोनो हाथो में पकड़े, और कभी उन्हे मसालती, और कभी ट्विस्ट करती, जिससे सुमन एक मछली की तरह तड़पने लग गयी.

ये देख के रॉनी ने मेरे निपल्स को ऐसे मसलना और ट्विस्ट करना शुरू कर दिया, और मैं उसे और ज़ोर से किस करने लग गयी. फिर रॉनी डिसचार्ज हो गया, और लेट के लंबी-लंबी साँस लेने लगा. फिर मैने सुमन को खोला और रॉनी से कहा-

मैं: आना चाहोगे सुमन की जगह? और हा, याद रखा मुझे ना सुनने की आदत नही.

वो चुप-छाप आ कर लेट गया, और सुमन और मैने उसे बाँध दिया. फिर सुमन से कहा की वो कॅंडल जला के लाए. सुमन कॅंडल लाई, और मैने कॅंडल की मेल्ट होती हुई गरम वॅक्स रॉनी के निपल्स पे गिरानी स्टार्ट की, जिससे रॉनी मचल रहा था.

फिर मैने सुमन से कहा: आयिल लगा के हल्का-हल्का रॉनी के लंड को मास्टरबेट करना स्टार्ट कर.

मैने करते-करते उसका पूरा फ्रंट वॅक्स से भर दिया. और अब उसका लंड खड़ा हुआ था.

फिर मैने सुमन को कहा: इसके मूह पे जाके बैठ.

और रॉनी से कहा: चाट इसकी छूट.

फिर मैं रॉनी के लंड पे बैठी, और अपनी छूट में आहिस्ता से जाने दिया और तेज़-तेज़ अंदर-बाहर करने लगी. उसके बाद मैं रॉनी के निपल्स चाटने लगी, जिससे उसे बहुत मज़ा आ रहा था. फिर रॉनी के डिसचार्ज होने से पहले ही मैं उसके लंड से उपर हॅट गयी, और आयिल लगा के हाथ से मास्टरबेट करने लगी.

मैने उससे कहा: तू मेरे कहने से पहले डिसचार्ज नही होना चाहिए.

फिर तेज़ी से हॅंजब देने लगी. रॉनी तड़प के पूछने लगा-

रॉनी: मेडम प्लीज़ डिसचार्ज होने दो प्लीज़.

मैं: नही रॉनी, अभी नही.

मैने 10 मिनिट तक उसे तड़पते हुए मास्टरबेट किया, और फिर कहा-

मैं: चल होज़ा डिसचार्ज.

और वो डिसचार्ज हो गया.

हम हर हफ्ते में 1 दफ़ा ये सब कर लिया करते थे.

यह कहानी भी पड़े  Hay Re Chacha Ka Mota Lund


error: Content is protected !!