जेठानी के भाई से चुदी प्यासी औरत

लास्ट पार्ट में आपने पढ़ा कैसे मेरे और मेरे भाई के बीच चुदाई हो गयी, और उसके बारे में मेरी देवरानी रूपाली को पता चल गया. और रूपाली ने भी मेरे भाई विजय से सेक्स करने की इक्चा जताई.

शीला: रूपाली तुम्हे ही विजय को अपनी और सिड्यूस करना होगा. क्यूंकी में उसको डाइरेक्ट कह नही सकती, की तुम रूपाली से सेक्स करो. क्यूंकी कल ही हमारे बीच 1स्ट्रीट टाइम हुआ है. और बहुत टाइम बाद इंडिया आया है वो. मैं सीधा अप्रोच करूँगी तो वो हम दोनो को ग़लत समझ लेगा.

रूपाली: दीदी बात तो आपकी सही है. मैने तो ये सोचा ही नही. और लास्ट नाइट आपके साथ सेक्स किया है, तो शायद अभी भी आपके बारे में ही सोच रहे होंगे.

शीला: मैं बच्चो को लेकर आज ऑफीस चली जाती हू. संजय (मेरे हज़्बेंड) का कॉल था ऑफीस में कुछ डॉक्युमेंट्स कंप्लीट करने है. तुम और विजय घर में अकेले होगे, तो तुम दोनो को प्राइवसी मिलेगी.

रूपाली: ये अछा आइडिया है. दोनो बच्चो ने ब्रेकफास्ट कर लिया है. आप रेडी होके जाओ.

फिर मैं बच्चो को लेकर ऑफीस चली गयी. आयेज स्टोरी आपको मेरी देवरानी रूपाली की ज़ुबानी बतौँगी.

ही दोस्तो मैं रूपाली. शीला दीदी की देवरानी. शीला दीदी बच्चो को लेकर ऑफीस गयी, तब मैं विजय को जगाने गेस्ट रूम में गयी. विजय बातरूम में से शवर लेकर टवल लपेट कर आए थे. मैं तो उनको देखती ही रह गयी. क्या बॉडी थी यार. उनकी चेस्ट इतनी सेक्सी दिख रही थी, बता नही सकती. उनके बाइसेप्स बहुत बड़े थे. उनके एबेस नही थे, पर पेट फ्लॅट था.

बॅक के विंग्स भी पर्फेक्ट दिख रहे थे. लाइफ में पहली बार लगा की सच में कोई मर्द ऐसे जिस्म का मलिक हो सकता है. ऐसा मर्द फिर भाई क्यूँ ना हो, औरत की इक्चा हो ही जाती है. विजय का भी सेम हाल था. जब से वो आए थे, मुझे सारी में देखा था. आज मैं उनके सामने त-शर्ट और शॉर्ट्स में थी.

शॉर्ट्स में मेरी लेग्स बहुत सेक्सी लग रही थी, और शाइन कर रहे थे. मेरे बूब्स त-शर्ट में पर्फेक्ट शेप में दिख रहे थे. और उपर से पिंक ब्रा थोड़ी दिख रही थी. मेरा 36-32-38 का फिगर पूरा एक्सपोज़ हो रहा था. हम दोनो ने एक-दूसरे को उपर से नीचे तक देखा. जब हमारी आँखें मिली, तो मैं शर्मा रही थी, और विजय भी शाइ फील कर रहे थे.

मैने उनको स्माइल पास की, और नाश्ता करने इन्वाइट किया. मैं उनकी और मेरी बड़ी गांद करके रूम से बाहर आ गयी. मैं जब चलती हू, तो मेरी गांद बाउन्स होती है. मैने विजय के लिए नाश्ता लगा दिया, और उनकी वेट करने लगी. विजय रेडी हो कर टेबल पर आए. वो आज कुछ ज़्यादा ही हॅंडसम लग रहे थे. जब किसी से छुड़वाने की इक्चा होती है, तो वो और भी हॅंडसम लगने लगता है.

विजय ने मुझे दीदी के बारे में पूछा तो मैने बता दिया की उनको अर्जेंट काम से ऑफीस जाना पड़ा. बच्चो को भी कुछ काम था, तो वो भी साथ में गये है. तभी शीला दीदी का विजय पर कॉल आया की तुम और रूपाली खाना खा लेना. वो लोग ऑफीस में लंच करने वाले थे, और सीधा ईव्निंग में घर आएँगे.

विजय शुवर हो गये थे की घर पर अब सिर्फ़ हम दोनो ही थे. मैने नोटीस किया की विजय बार-बार मुझे चोरी-चोरी देख रहे थे. वो मेरे को लीके तो कर रहे थे, ये मैं शुवर थी.

रूपाली: आज आप क्या खाना पसंद करोगे? ( मैं जब ये बोल रही थी, तब मैं अपनी क्लीवेज दिखा रही थी)

विजय: जो आपको सही लगे. मुझे तो सब कुछ चलता है.

रूपाली: क्यूँ आज कुछ स्पेशल नही खाना है? ( मेरी वाय्स थोड़ी सेडक्टिव हो गयी)

विजय: स्पेशल तो क्या है? आपको आज एक ब्रिटिश डिश खिलता हू.

विजय और मैं साथ में किचन में काम कर रहे थे. मैं उनसे चिपक के खड़ी थी, और वो भी मुझे छ्छूते रहते थे. मैं रिप्लाइ में स्माइल कर देती. मैने नोटीस किया की उनकी पंत पर से लंड में तोड़ा एरेक्ट हो रहा था. मैने जान-बूझ कर चटनी उनके त-शर्ट पर गिरा दी.

मैं उनको वो सॉफ करने बातरूम में ले गयी, और उनको त-शर्ट उतारने को बोला. मैं उनकी चेस्ट को घूर रही थी. फिर मैं अपने हाथ से उनकी बॉडी पर से चटनी सॉफ करने लगी. मैने फिर शवर चालू कर दिया, और हम दोनो पुर भीग गये. मेरे हेर पुर वेट हो गये थे. मेरी वाइट त-शर्ट ट्रॅन्स्परेंट हो गयी थी.

अब विजय को मेरी पिंक ब्रा पूरी क्लियर दिखने लगी. मैं बहुत ही ज़्यादा हॉट लग रही थी. मैने विजय को सॉरी बोला, और उनकी आँखों में देखने लगी. मेरा हाथ अभी भी उनकी चेस्ट पर था. मैने नीचे फील किया की उनका लंड पूरा टाइट हो गया था. मेरे अंदर वासना जाग गयी. मेरी आँखों में वो दिख रही थी. विजय ने उनके लिप्स मेरे करीब कर दिए. मैने अपनी आँखें बंद कर ली. मैं उनकी साँस को फील कर रही थी.

अब विजय ने उनके लिप्स मेरे लिप्स पर रख दिए. मैं भी उनको किस में रेस्पॉन्स देने लगी. बहुत सॉफ्ट्ली किस हो रहा था. मैं किसी और दुनिया में चली गयी. मुझे ये बस एक सपना लग रहा था. मुझे रीयलाइज़ हुआ तो मैने उनको मेरे से डोर किया. उनकी आँखों में मेरे लिए प्यार दिख रहा था. मैने अपनी आँखें झुका ली, और मैं बहुत शर्मा रही थी.

विजय (मेरा फेस उपर करते हुए): क्या हुआ रूपाली? रुक क्यूँ गये? आप बहुत आचे से किस कर रहे थे.

रूपाली: अर्रे कोई देख लेगा तो क्या सोचेगा?

विजय: अर्रे हम दोनो ही है घर पर. शाम तक कोई नही आने वाला.

अब विजय ने मेरी गांद पे हाथ रख लिया, और मुझे आचे से पकड़ लिया. उनकी बॉडी से मैं चिपक गयी थी. उपर से ठंडा पानी मेरे अंदर की आग को हवा दे रहा था. अब हमारे बीच फिरसे किस्सिंग होने लगी. वो मेरी बॅक से लेकर गांद तक सब जगह हाथ घुमा रहे थे. मैने अपनी त-शर्ट और शॉर्ट्स उतार दी. मैं अब उनके सामने पिंक ब्रा-पनटी में थी.

मेरे 36″ साइज़ बूब्स गीली पिंक ब्रा में बहुत ही सेडक्टिव लग रहे थे. मेरे गीले बालों से गिरती पानी की बूंदे मेरे गोरे बूब्स को चमका रही थी. विजय मुझे थोड़े टाइम ऐसे ही देखते रहे, और उनके मूह से वाउ निकल गया.

विजय: रूपाली आप बहुत सेक्सी हो. आपका ये इनोसेंट फेस और ये सेक्सी फिगर बहुत डेड्ली कंबो है. मैं तो आपका दीवाना हो गया हू.

रूपाली: मैं भी पहली बार किसी मर्द की ऐसी मस्क्युलर बॉडी देख रही हू. आपने तो मुझे मजबूर कर दिया ऐसा करने के लिए.

अब मैं खुद को रोक नही पाई, और विजय को टाइट हग कर लिया. मैं उनकी आँखों में लस्टी हो कर देख रही थी. मेरी आँखें कह रही थी मुझे एक असली मर्द मिला था. मैने विजय की बॉडी के हर एक हिस्से पे किस किया. विजय ने भी मेरी पूरी बॉडी पर किस किया. अब मैं एक पैर उपर करके उनसे चिपक गयी. वो भी एक हाथ से ब्रा के उपर से मेरे बूब्स दबा रहे थे, और एक हाथ से मुझे सपोर्ट दे रहे थे.

मेरा एक हाथ वॉल के सपोर्ट में था, और एक हाथ से उनके सर को सहला रही थी. ये मेरी लाइफ का बहुत ही रोमॅंटिक पल था. मैं ये कभी नही भूल सकती. मैने उनके लिप्स को चूसना स्टार्ट कर दिया, और फ्रेंच किस किया. वो बहुत आचे से किस कर रहे थे. अब उन्होने मेरी गर्दन पर किस किया, और धीरे-धीरे ब्रा के उपर साइड बूब्स पर किस कर रहे थे. मैं तो पूरी मदहोश हो गयी थी.

अब विजय ने अपना हाथ पीछे करके मेरी ब्रा के हुक खोल दिए. मेरी ब्रा नीचे गिर गयी. उन्होने मुझे वॉल से सता दिया, और मेरे दोनो बूब्स को चूसने लगे. मैं भी उनके सर को सहला रही थी. वो मेरे निपल्स को मूह में लेकर आचे से चूस रहे थे. मेरे मिल्की वाइट बूब्स लाल हो गये थे.

अब मैं भी जोश में आ गयी, और विजय को धक्का दे कर अपने से अलग किया. मैने विजय की पंत उतार दी, और उनको पूरा नंगा कर दिया. मैं तो उनका लंड देख कर ही हैरान हो गयी. मेरे से रहा नही गया, और सीधा लंड मूह में लिया. मैं तो रंडी की तरह चूस रही थी. बहुत ही हार्ड था. पूरी नास्से दिख रही थी.

रूपाली: आपका लंड तो बहुत मस्त है. पहली बार इतना मज़ा आया है. आप असली मर्द हो. मुझे आज रंडी समझ कर छोड़ो. मैं आपसे चूड़ने के लिए तड़प रही हू.

विजय ने ये सुनते ही मुझे खड़ा किया और मेरी पनटी निकाल दी. उन्होने मुझे एक बच्ची की तरह गोदी में उठा लिया, और बेडरूम में ले गये. बेडरूम में जाते ही मुझे बेड पर पटक दिया, और मेरी दोनो टांगे चौड़ी कर दी. मेरी गुलाबी छूट देख कर उनकी आँखों में चमक आ गयी, और उन्होने मेरी और नॉटी स्माइल पास की.

मैने भी रिटर्न में उनको आँख मारी, और स्माइल करने लगी. वो बहुत ज़्यादा खुश हो गये, और आइस क्रीम की तरह मेरी छूट चाटने लगे. मुझे ओरल सेक्स बहुत पसंद है, और विजय को वो आचे से आता था. मैं थोड़ी देर में झाड़ गयी, और विजय ने वो चाट लिया. फिर उन्होने मेरे उपर आ कर मुझे किस किया. मेरा कम उन्होने मेरे मूह में दिया, और फिरसे चाट लिया. मुझे ये बहुत यूनीक और अछा लगा.

विजय: रूपाली तुम्हारी छूट का टेस्ट बहुत मस्त है. जिग्नेश के मज़े है. ऐसी औरत हो तो लाइफ में और क्या चाहिए? तुम्हे यहा आ कर देखा, तब से सोच रहा था यार ऐसी लेडी की चुदाई करने को मिल जाए.

रूपाली ( सेक्सी आवाज़ में ): अब मिल गयी है तो छोड़ लो. क्या पता फिर मौका मिले ना मिले.

विजय ने अब अपना लंड मेरी छूट पर रखा, और तोड़ा पुश किया. मेरी आ निकल गयी, उनका लंड जिग्नेश से तोड़ा मोटा था. थोड़ी देर होल्ड किया, और पूरा लंड छूट में उतार दिया. अब मुझे वो मिशनरी पोज़िशन में छोड़ने लगे. मैने भी उनकी बॅक को टाइट पकड़ लिया, और नीचे से गांद उपर करके छुड़वाने लगी.

फिर हमने पोज़िशन चेंज की, और मैं उनकी गोदी में बैठ गयी, और हम लोटस बन गये. उनके लंड को मैं मेरी गांद हिला-हिला कर फील दे रही थी, और साथ में उनका सर पकड़ कर बूब्स चुस्वा रही थी. बहुत पॅशनेट्ली सेक्स कर रहे थे. मैं पूरा नज़ारा मिरर में देख रही थी. क्या लग रहे थे दोनो. जैसे दो जिस्म एक जान हो. विजय भी पूरा फील देकर छोड़ रहे थे.

रूपाली (विजय के कान के करीब जेया कर एअर बीते करके): जब तक आप यही हो, तब तक मुझे और शीला दीदी को छोड़ते रहना.

मेरी बात सुन कर विजय शॉक्ड हो गये. अब आयेज क्या हुआ मैं आपको नेक्स्ट पार्ट में बतौँगी.

यह कहानी भी पड़े  ब्रिटेन में गोरी अप्सराओं की मस्त चुदाई-1


error: Content is protected !!