सेक्सी जवान चाची की हॉट चुदाई

Incest Sex Stories Parivar Sexy Jawan Chachi Ki Hot Chudai हेलो फ्रेंड्स, फर्स्ट मैं अपने बारे मे बताता हू ,माय नें ईज़ राहुल और मैं महाराष्ट्र से हू. आई’एम प्रोडक्षन इंजिनियर . मेरा लंड 6.5 इंच का है और अगर कोई भी आंटी या गर्ल मूज़से चुदवना चाहती हो या फोन सेक्स करना चाहती हो तो मुझे मेसेज कर सकते है मैं उसे सॅटिस्फाइ कर दूँगा. इन्सेस्ट सेक्स स्टोरीस प्यार भरा परिवार

ये स्टोरी 2 साल पहले की है. मेरे चाची का नेम कोमल है. उसकी एज32 के आसपास होगी. मेरी फॅमिली बोहोत बड़ी है मेरे डॅड सबसे बड़े है उनको 3 बहने और 1 भाई है.

मेरे चाची का नाम कोमल है. उसकी फिगर 34-30-34 होगी. एकदम हॉट और गोरी होने के कारण उसकी बूब्स और गॅंड लंड खड़ा कर देता है.

उसको 2 बच्चे है 1 बेटी और 1 बेटा. उसको चोदने का ख़याल मुझको पहले से आता था लेकिन मैं घबराता था की वो कही मेरी मा को कुछ बोल ना दे. मेरे चाचा ड्रिंक्स बोहोत करते थे और रात को झगड़ा बोहोत होता था. मेरी चाची मुंबई से बिलॉंग करती है इस लिए वो रोती वगेरा नही थी लेकिन परेशान रहती थी. वो मुझे हर बात बताती क्यू की मोम डॅड भी थक चुके थे उनके रोज के झगड़े से.

वो खुशमिजाज थी…

रोज हसी मज़ाक चलता था… मैं उसके बच्चे के साथ खेलता था रोज. क्यूकी उस वक्त चाची को टच करने को मिलता था.

दुपेहर को मेरे चाचा घर नही होते तब मैं ज़्यादा तर उसके पास जाता था.

एक दिन वो अपने बच्चे को दुपेहर को दूध पीला रही थी एक साइड को लेट कर… मैं उसके साथ खेलने के बहाने उसके बूब्स देख रहा था..क्या मस्त थे उसके बूब्स वाव…चाची दूध पिलाते पिलाते सो गई. मेरा लंड सातवे आसमान पर था.

उसके बगल मे सोते समय मैने उसकी गॅंड को लंड टच करनेकी कोशिस की लेकिन हिम्मत नही हो रहिति. बाद मे बच्चा रोने लगा तो उसकी नींद खुली. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

तो मैने एक प्लॅन बनाया और मेरे खड़े लंड के उपर चादर ली और सीधे लेट कर सोने का नाटक करने लगा. बच्चे को शांत करने के बाद उसने मेरी तरफ देखा और उसकी नज़र मेरे खड़े लंड पर गई जो साफ साफ चादर का उभार दिख रहा था. मैं उसे चुपकेसे देख रहा था.

मैं बच्चे को लेने के बहाने उसके बूब्स को छूता था क्या मस्त फील आता था क्या बताउ…वो गाउन पहनती थी तो जब जब झाड़ू मारती तो उसके बूब्स को मैं देखता था. उसने कई बार मुझे उसके बूब्स को देखते देखते देख लिया था.

एकक दिन रात को चाचा और चाची का ज़ोर का झगड़ा हो गया और चाची घर जाने लगी. फिर मैने समझाया उसे और मेरे साथ मोम के पास ले गया. तो मोम ने उसे कुछ दिन हमारे पास रहने को कहा.

दूसरे दिन मोम को रिलेटिव के यहा शादी मे जाना था. तो मोम ने मुझे चाची को लेकर डिस्ट्रिक्ट तहसील ऑफीस मे जाने को कहा. चाची को कोई डॉक्युमेंट निकालने थे. तो मैं उसे वाहा ले गया. उसने उसके बच्चे को ग्रॅंडमदर के पास रखा.

अड्मिशन के डे’स् होने के कारण तहसील ऑफीस मे भीड़ बोहोत थी उधर.

उस भीड़ मे चाची को छूने का मौका मैं कहा छोड़ने वाला था. मैने दोनो हातोसे चाची को कवर किया और भिडमेस निकालने लगा. मैं उसके बूब्स को छू रहा था क्या मस्त लग राहता. लाइन बोहोत बड़ी थी. तो मैं चाची के पीछे खड़ा हो गया. मेरा लंड उसकी गॅंड को टकरा रहा था तो मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया.

यह कहानी भी पड़े  पति के सामने साली की चुदाई जीजू से

पीछे से धक्का मुक्की की वज से मुझे चान्स मिल रहा था तो मैने मेरा लंड उसकी गॅंड मे घुसाना चालू किया.. आआआह्ह्ह्ह क्या फील था मस्त. हम 2 घंटे वाहा थे. लेकिन घर जाने के टाइम बारिश चालू हो गई. और हम साइड मे रुके. उसने कल रात के चाचा के साथ झगड़े की बात चालू की और उदास हो गई. मैने उसे समझाया और उस बहाने चान्स मारने लगा.

घर जाने को बोहोत देर हो गई थी तो हमने बारिश्मेहि घर जाने लगे.

हम दोनो पूरे भीग चुके थे. हम घर आते ही कपड़े चेंज करने लगे. चाची बेडरूम मे गई लेकिन उसने ठीक से दरवाजा बंद नही किया था. मैं उसे चुपकेसे देखने लगा. पूरी भीगने के कारण उसने सब कपड़े उतारे मेरे तो होश उड़े. वावव क्या नज़ारा था. वो मुझे पूरी नंगी दिख रही थी. उसकी गोरी गोरी गॅंड, और गोरी लाल चुत देख कर मेरा लंड सलामी देने लगा. मैने अपने आप पर कंट्रोल किया ओर बाहर आकर बैठ गया.

बारिश की वजःसे मोम डॅड रिलेटिव के यहा रहने वाले थे. अब तो मैं मेरे मन मे सिर्फ़ चाची को चोदने का प्लॅन बन रहा था.

रात को खाना खाने के बाद मैं सोने जा रहा था, तो चाची ने मुझे बुलाया और कहा की तुम आज हमारे साथ सो जाओ मुझे डर लगता है. मैं खुश हो गया.

रात को वो बच्चे को दूध पीला रहिति मेरी नज़र बार बार उसके बूब्स पर जा रही थी. अब जब सो गये थे. मुझे उसके बूब्स की और गॅंड की फील को याद से नींद नही आरहिति. मैं उठ के चाची के साइड मे सो गया. वो नाइट गाउन पहनती थी.

उसकी नाइट गाउन उसके घुटनो तक उपर आ गई थी. वन साइड सोने की वजसे मुझे उसकी जांघे ओर गॅंड देख कर कंट्रोल नही हुआ और मैने उसका गाउन उपर किया. वाओव क्या चुत थी उसकी. एक भी बाल नही था उसकी चुत पे. मेरा लंड ऑलरेडी खड़ा था वो अब तड़पने लगा था. तो मैने पीछेसे उसकी गॅंड को लंड लगाया. आआहह क्या मस्त लग रहा था.
मैं अपने उपर से कंट्रोल खो चुका था. थोड़ा हार्ड लंड गॅंड मे घुसाने के कारण वो जाग गई और उसने मुझे दूर धक्का दिया और बोली, ये क्या कर रहे हो, तुझे कोई अकल है भी या नही, मैं तेरी चाची हू. मैं बोला कुछ नही बोला.

चाची बोली रुक तेरे मम्मी को बोलती हू कल.

अब मेरी पूरी फट गई. मैं चाची से सॉरी बोलने लगा. मैं बोला, प्लीज़ चाची मम्मी को कुछ मत बताना प्लीज़. मैं आगे से ऐसा नही करूँगा, इन फॅक्ट आपके सामने भी नही आउन्गा. वो शांत हो गई..

उसे रियलाइज़ हो गया, अगर मैं उससे बात नही करूँगा तो उनके झगड़े मे कोई बीच मे नही पड़ेगा. वो किसीसे मन की बाते शेयर कर नही पाएगी. तो वो बोली ठीक है नही बताओन्गि लेकिन मुझसे बात किया करो.

मुझे भी तुम आचे लगते हो. लेकिन मैने कभी उस नज़र से नही देखा तुम्हे. मैं थोड़ा रिलॅक्स हो गया. और बोला, चाची आप बोहोत अछी दिखती हो तो मैं अपने आप को कंट्रोल नही कर पाया.

यह कहानी भी पड़े  वासना की तृप्ति

चाची अब कुछ नही बोली और दूसरी तरफ मु कर के सोने लगी.

मैने मौके का फ़ायदा उठाया और मेरा लंड फिरसे उसके गॅंड को लगाने लगा और एक हात उसके बड़े बूब्स पर रखा और दबाया. वाआववव उससे मिल्क निकल रहा था. वो अब मौन करने लगी थी. उसके मुह से आआआहहाः आआहहहहह सस्शसुऊउउ की आवाज़ आने लगी. मैने उसे मेरी तरफ किया और उसे किस करने लगा. उसके होट को चूसने लगा. पहले उसने साथ नही दिया लेकिन थोड़ी देर बाद गरम होने के बाद वो भी साथ देने लगी.

मेरा एक हात उसकी बूब्स पर था और एक हात उसकी चुत को लगाया था. आआहहह क्या चुत गरम थी उसकी. मैं उसके होठ ज़ोर से चूसने लगा. उसके मूह मे मैने मेरी जीभ डाली और चूसने लगा उसको.

फिर मैने उसके बूब्स को चूसना चालू किया. आआहाहहहा उसके बूब्स को चूसने का सपना मैं कब से देख रहा था. वो अब पूरा हो रहा था. उसके बूब्स इतने गोरे थे की उसकी ग्रीन नसे भी बूब्स पर दिख रही थी. मैने उसका दूध सब पिया.

फिर उसकी चुत को चाटने लगा. अब वो तड़पने लगी. मैने उसकी चुत को चाटते हुए मैने मेरी ज़ुबान डाली. वो उछालने लगी. उसके मूह से आअहह आहह आअहह स्शह राहुल मेरी चुत अभी तक किसीने नही चूसी. आआअहह खा जाओ एसए आअहह और मेरे सिर को उसकी चुत पे दबाने लगी.

वो दो बार झड़ चुकी थी. उसने मेरे लंड को पैंट से बाहर निकाला और वो दंग रह गई. वो बोलो राहुल तुम्हारा तो बोहोत बड़ा है. मैने उसे चूसने को बोला, पहले उसने मना किया लेकिन बाद मे चूसने लगी. आआहाहहः क्या मस्त लग रहा था. मैं उसके मु पे मेरा लंड मारने लगा.

वो बोली प्लीज़ राहुल अब मुझे और मत तड़पाव चोदो मुझे.

मेररा भी लंड अब उसकी चुत मे जाने को तड़प रहा था. मैने उसके पैर कंधे पर रखे और लंड सेट किया और ज़ोर का धक्का दिया. मेरा लंड आधा ही अंदर गया. वो चिल्लाने लगी.

मुझे पता चला चाचा से ये बोहोत दिन से चुदि नही है. फिर मैने और एक धक्का दिया. अब मेरा पूरा 6.5 इंच का लंड उसके चुत ने अंदर समा लिया. आआअहह क्या फील था. मैने शॉट लगाना चालू किया.

अब वो पूरे फॉर्म मे आ गई थी. उछाल उछाल के मेरे लंड को अंदर ले रही थी. उसके मूह से आआहह आआहह फक मी राहुल फक आअहह ससुसुष्ह फाड़ दे मेरी चुत को… तेरा लंड कितना बड़ा है. अब आगे से मेरी चुत इसके सिवा कही शांत नही होगी. अयाया अहहहाः कहने लगी. पूरे रूम मे हमारे शॉट की आवाज़ घूम रही थी.

मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया कहानी को ‘लाइक’ ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

हम दोनो ने 20 मीं तक चुदाई की. अब तक वो 4 बार झड़ चुकी थी. फिर ,मैने उसको घोड़ी बननेको कहा. वो मना करने लगी. लेकिन मुझे उसकी गॅंड बोहोत पसंद थी. तो मैने उसे फिर से गरम किया वो तैय्यार हो गई और घोड़ी बन गई. मैने उसकी गॅंड भी बोहोत ठोकी.

उसके बाद मैं उसे हर रोज चोदता था. लेकिन एक साल बाद चाचा के जॉब के वजह से वो दूसरे सिटी मे चली गई. अब जब जब वो आती है तब तब मैं उसे चोदता हू.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!