चूत चुदाई के लिये लंड ढूंढ रही कॉलेज गर्ल की चुदाई

चूत चुदाई के लिये लंड ढूंढ रही कॉलेज गर्ल की चुदाई

(Choot Chudai Ke Liye Lund Dhund Rahi College Girl Ki Chudai)

College-Girl-Ki-Chudaiअन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार!
मेरा परिचय तो आप जानते ही हैं, मैं रितेश शर्मा आगरा का रहने वाला हूँ।

मेरी पिछली सच्ची कहानी
ऑनलाइन के बाद पलंगतोड़ चुदाई
को बहुत पसंद किया गया जिसके बाद हजारों युवक और युवतियों के मेल और फ्रेंड रिक्वेस्ट प्राप्त हुए जिनका मैंने यथा संभव उत्तर दिया।

जिनमें से एक फेसबुक फ्रेंड रिक्वेस्ट थी प्रियंका (परिवर्तित नाम) की… 19 वर्षीया युवती प्रियंका मेरे ही शहर आगरा की रहने वाली थी।
प्रियंका से मैंने चैट प्रारंभ की और उसका परिचय जाना।
उसने बताया कि वो भी आगरा की ही रहने वाली है, आगरा के ही एक कॉलेज से बी.सी.ए. की छात्रा थी। जबकि उसकी प्रोफाइल में दिल्ली का पता दिया हुआ था।

उसने बताया कि उसके अब तक दो बॉयफ्रेंड रहे हैं, जिनके साथ उसने कई बार सेक्स भी किया। उसने दूसरे वाले बॉयफ्रेंड से बहुत प्यार किया किन्तु धोखा मिला। अब वो एक अच्छा फ्रेंड ढूंढ रही है, जिसके साथ वह सेक्स कर सके।

मैंने उससे मिलने की इच्छा जाहिर की, मैंने उसे एक पिज़्जा स्टोर में मिलने बुलाया। दो दिन बाद वह शाम को मिलने आई, उसने ब्लू शर्ट व सफ़ेद जीन्स पहन रखी थी, देखने में वो मस्त पटाखा माल लग रही थी।

मैंने उसे हेलो करके हाथ आगे बढ़ाया, उससे हाथ मिलाया। इसके बाद हम बैठ गए और मैंने जल्दी ही पिज़्ज़ा और कोल्डड्रिंक आर्डर किया।
हमने वहाँ खूब सारी बातें की और आगे का कार्यक्रम बनाने लगे।

उसने कहा- मुझे आपसे मिल कर अच्छा लगा! अगले शनिवार को मैं कॉलेज से बंक मारूँगी, उसी दिन मिल कर हम चुदाई का मजा लेंगे।

मैंने अपने दोस्त के होटल में एक ए.सी. रूम बुक किया और प्रियंका को फ़ोन किया, उसने मुझे कॉलेज से ले जाने को कहा। मैं बाइक
से उसके कॉलेज पहुँच गया।
मैंने उसे बाइक पर पर बिठाया, होटल पहुँच गये, होटल रूम में पहुँचते ही मैं प्रियंका पर टूट सा पड़ा।

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की बेटी पर दिल आ गया

सबसे पहले मैंने उसे अपनी बाहों में भरते हुए उसके होंठों पर एक जोरदार चुम्बन किया। इसके बाद अपने एक हाथ को उसके लगभग
34″ साइज के बूब्स को दबाने लगा। उसके बूब्स इतने बड़े थे कि मेरे हाथों में भी नहीं आ रहे थे।

फिर मैं एक हाथ उसके पिछवाड़े की गोलाइयों पर ले गया, उसके चूतड़ बहुत नर्म नर्म थे।
इसके बाद मैंने उसकी शर्ट को खींच कर अलग कर दिय, मैंने उसकी गर्दन पर चुम्बन करते हुए उसकी जीन्स को भी उतार दिया। उसने चाइनीज ब्रा और पेंटी पहन रखे थे जिसमें प्रियंका का बदन बहुत ही हॉट और सेक्सी लग रहा था।

जब मैंने उसकी ब्रा को खोला तो उसके बड़े बड़े मम्मे आजाद हो गए, मैं अपने दोनों हाथों को ले जाकर उसके बड़े-बड़े बोबों को हाथों से दबाने लगा, उसके बूब्स दबा कर बहुत ही मजा आ रहा था।

इसके बाद मैंने उसकी पेंटी को निकाल कर उसे पूरी नंगी कर दिया।

उसकी चूत बिल्कुल साफ थी, जिस पर बालों का नामोनिशान नहीं था, मैं उसमें एक उंगली घुसा कर अंदर बाहर करने लगा।
उसकी चूत पानी छोड़ने लगी।

मैंने अपने कपड़े भी उतार दिए और मैं भी नंगा हो गया। इसके बाद हम 69 की पोजीशन में आ गए, जिसमें मैं उसकी चूत को जीभ से चाटने लगा और वो मेरे लंड को लोलीपोप की तरह चूसने लगी।
इसके बाद मैंने उसे सीधा लिटा दिया और अपनी जेब से कंडोम निकाल कर लंड पर चढ़ा लिया। मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर लगा एक झटका दिया और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया उम्म्ह… अहह… हय… याह… और मैं प्रियंका की दमादम चुदाई करने लगा।

यह कहानी भी पड़े  प्यासी भाभी की चुदाई

पुराना बेड होने के कारण बेड भी चुर्र-चुर्र की आवाज करने लगा जैसे बेड टूट जायेगा।
चुदाई के धक्कों के साथ बेड की चुर्र-चुर्र की आवाज बहुत मधुर लग रही थी जो मजा और बढ़ा रही थी।

इसके बाद मैंने प्रियंका को अपने ऊपर बुलाया और वो अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी चूत में लेने लगी।

कुव्ह्ह देर के बाद मैंने प्रियंका को घोड़ी बनने को बोला, उसने अपने विशाल चूतड़ हवा में ऊपर उठा लिए और मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चूत में दे दिया और दबा कर पीछे से उसकी चूत मारने लगा।

मुझे उसकी चुदाई करके बहुत मजा आ रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे मैं स्वर्ग की सैर करने निकला हूँ।

घोड़ी बना कर लगभग 40-50 धक्के देने के बाद मैं झड़ गया। इसके बाद हम बारी बारी फ्रेश होने गए।

पाँच मिनट बाद मेरा लंड पुनः चुदाई के लिए तैयार हो गया… प्रियंका की चूत तो पहले से ही द्वारा लंड लेने को तैयार बैठी थी। इस बार मैंने प्रियंका की चूत में लंड डाल कर उसे अपनी गोदी में ऐसे उठा लिया जेसे कोई छोटे बच्चे को उठा कर सीने से लगा लेता है। प्रियंका भी अपने भारी चूतड़ उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी चूत में लेने लगी।

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!