हीना की चुदाई ऑटो वाले से – १

ही फ्रेंड्स, मी नामे इस हीना, मैं यह स्टोरी हिन्दी में लिख रही हू, प्लीज़ डॉन’त माइंड अगर बीच में इंग्लीश वर्ड्स उसे हो गये तो.

मैं एक नृ लड़की हू, सुंदर, भारिपुरी, गोरी, चिकनी, मेरा फिगर भी काफ़ी सुडोल है. 34सी/28/36 आंड मेरे बारे में और बतौ तो बचपन से मुझे सेक्स की आदत लग गयी थी. बुत मैं मेरे पार्ट्नर्स खुद चुनती थी. उनके साथ मैने बहुत मस्ती की है.

एक बार की बात है में रात को लाते एक फ्रेंड्स से मिल के घर आ रही थी. मैने ऑटो ली थी, रात के 12 भजे थे मुझे ऑटो वेल भैया ने घर छोड़ा. आंड में उपर आके अपने फ्लॅट की कीस ढूंदी तभी मुझे याद आया मेरा मोबाइल ऑटो में चूत गया. बुत देर हो गयी थी वो ऑटो वाला चला गया था.

रात भर लंडलिने से ट्राइ करने के बाद जब दूसरे दिन सुबह जब मैने कॉल किया. तब किसी ने कॉल उठाया आंड मैने बोला भैया मेरा मोबाइल आपके ऑटो में रह गया है, उन्होने कहा हा है. बहेनजी आप मुझे नॅशनल पार्क के गाते के सामने मिलो में दे दूँगा.

मैं जल्दी से वाहा फौच गयी, मैने एक नी लेंग्थ तक की पिंक कलर की स्कर्ट पहनी थी आंड स्लीव्ले टॉप था. बहुत सुंदर दिख रही थी में.

मैने वाहा फौच के इंतेज़ार काइया. आंड तभी एक औूतोवला आया आंड कहा मेडम आप का ही मोबाइल था ना. मेरे जान में जान आ गयी. उसने कहा एक मीं अंदर आ जौ. मुझे डीटेल्स चेक करने होगे की आप ही हो इसकी मालकिन.

मैं ऑटो में बैठी, तो वो बोला ऑटो अंदर नॅशनल पार्क में ले जाता हू आराम से देखेंगे, मुझे तोड़ा अजीब लगा. मैने उससे तोड़ा रूड्ली कहा, की होसीयारी मत करो जल्दी दो आंड 500 की नोट निकलके उसके पास रखी. और कहा की मेरे पास और भी काम है, जल्दी करो.

वो हासणे लगा और बोला अंदर तो चलना ही होगा आपको, अगर मोबाइल चाहिए तो, मुझे गुस्सा आया मैने कहा बस्टर्ड औकात में रहो, पोलीस को बुला लूँगी जल्दी दो मोबाइल.

उसने कहा बुला लो, उनको भी यह दिखा दूँगा, आंड उसने मुझे अपने मोबाइल से मेरी न्यूड तस्वीरे दिखाई. उईई मा. मेरे पैरो तले ज़मीन खिसक गयी थी. मेरे मोबाइल में जो मेरी न्यूड पिक्स थी वो उसने निकल ली थी.

मुझे बड़ी शरम आई आंड बुरा भी लगा, एक चीप सा औूतोवला मुझे नंगी देख रहा था. मैने सोचा उससे धमकी डू. मैने कहा की तुम्हे पता नही मेरे पापा कों है? उसने पलट के मेरा मूह दबोच लिया आंड बोला “हा पता है, बड़े घर की रंडी का बाप”.

अब चुप रह, तेरी पिक्स मैने मैल कर ली है खुदके ई’द पे. अगर ज़्यादा छू-छा की तो कल इंटरनेट पे सब तुझे नंगी देखेंगे आंड साथ में तेरा बाप भी.

में दर्र गयी – भैया आपको क्या चाहिए, कितने पैसे चाहिए? मैं दूँगी. एक नयी ऑटो दिला दूँगी. प्लीज़ डेलीट कर दो आंड मोबाइल दे दो.

वो हासणे लगा और बोला – अरे मेरी महनगी रंडी, पैसे तो तुझसे कभी भी वसूल कर लूँगा, आज कुछ और वसूलने का मूड है. आंड ऑटो चालू कर दी.

मैने कहा कहा ले जा रहे हो. वो बिना सुने अंदर चला गया आंड 4-5 केयेम ऑटो अंदर ले जाने के बाद उसने पार्किंग कर दी. आंड मुझे बोला उतार के मेरे साथ चल.

मैं भी चुपचाप उतार के चलने लगी. उसने मेरे कमार में हाथ डाल दिया. मैने उससे धकेला तो बोला “साली रांड़ औकात में रह, अभी यहा सबको तेरे नंगे पिक्स के दर्शन करा दूँगा.”

वो मुझे अंदर अंदर ले जा रहा था, उसके गंदे काले हाथ मेरी कमार पे थे. उससे गंदी पसीने की बदबुऊ आ रही थी. वो अपना फेस मेरे पास लाया और मेरे कान में बोला “क्या महेक रही है तू, तुझे खाने में क्या मज़ा आएगा”

मैने फिर गुस्से में कहा “तेरी औकात भी है क्या मुझे चुने की, सला गावर, झाहील जानवर कही का”. उसने मुझे खिछा आंड अंदर जंगल की और ले गया.

वाहा कोई भी नही था. आंड वाहा ले जाके हासणे लगा ज़ोर्से. और बोलने लगा “जाहिल, जानवर, गावर, बदबूदàआर. आज यही तुझे सब जगह से खाएगा, साली बड़े घर की रंडी, चल अब एक एक करके कपड़े उतार”

मैने कहा मैं तुझे बर्बाद कर दूँगी हरामी. वो उठा और उसने मुझे ज़ोर्से एक तमाचा मारा, आहह. मैं नीचे गिर गयी. और बोला “साली रंडी अब कान खोल के सुन, जैसा बोला वैसा कर, मैने यह पिक्स अभी तक मेरे सिर्फ़ 2-3 फ्रेंड्स को भेज के रखे है. अभी नही मानी तो सच में पूरी दुनिया तुझ जैसे बड़े घर की लड़की की नंगी तसेवीरे देखेगी और मज़े लेगी. फिर चलना रोड पे अकड़ के.”

भैया भैया. रोज पैसे दूँगी. हाथ जोड़ती हू. पैर पड़ती हू. आपकी बेटी जैसी हू. प्लेआसीए प्लेआसी जाने दो, डेलीट कर दो. वो फिर से गुर्र्रराया आंड मुझे झप्पड़ पे झप्पड़ मारने लगा. मैने बोली – हन करती हू करती हू.

वो गया एक फ़तार पे बैठ गया और बोला चल नंगी हो. मैने काँपते हुए अपनी टॉप उतरी आंड स्कर्ट भी. मेरा फिगर इतना अछा था की कोई मार्द मुझे एक बार देख ले तो बिना छोड़े ना जाने दे.

मैने नेवी ब्लू कलर की ब्रा आंड पनटी पहनी थी. वो भी डिज़ाइनर आंड तीन स्ट्रॅप वाली. वो देख के उसने मुझे अपने पास बुलाया. मैं उसके पास गयी कपते हुए. मैं इतनी गोरी हू की उसपे वो नेवी ब्लू बहुत उठ के आ रहा था.

उसने मुझे बुलाया और मुझे घूर्ने लगा. उसने मेरी छूट को पनटी के उपर से सूँघा. आहह क्या मस्त है यार. आंड मेरी थाइस पे हाथ घूमने लगा.

उसके रफ हाथ थे बहुत. उसने मुझे घुमाया आंड मेरी आस देखी आंड उससे मसालने लगा. उसे धीरे धीरे थप्पड़ मारने लगा और वो हिलने लगी, उसे मज़ा आने लगा.

तोड़ फस्ीको था. बोला “क्या मस्त पनटी है. दिखती ही नही. दोनो चुतताड हटा ने पे चड्डी की लाइन दिखती है. वा रे बड़े घर की लड़किया “और अचानक उसने मेरी आस पे काट लिया”. मैं चीक पड़ी. बोला चुप रांड़. और फिर बहुत देर तक उसे चाट रहा था, काट रहा था, चूम रहा था.

फिर उसने मुझे धीरे से मेरे गांद पे लत मारी आंड कहा सब उतार. मुझे ह्युमिलियेटिंग लगा बुत क्या करती. मैने ब्रा उतरी मेरे बड़े गोल गोल चुचिया खूल गयी. आंड निपल्स उसके चुने से एरेक्ट हो गये थे. वो देख के पागल सा होने लगा. उसने पागलो की तरह कहा. “चड्डी भी निकल रांड़, मुझे दे यह मेरे पास रहेगी, इससे रोज मूह पोचूँगा, छोटी है बुत चलेगा.”

मैने पनटी निकली, उसके पास फेक दी. वो उससे सुंगने लगा. मैं जो कुछ देर पहले बड़े घर में रहने वेल, नृ लड़की जो अपने मर्ज़ी से हॉट मर्दो से सेक्स करती थी. आज एक गंदे गुटका खाने वेल ऑटो ड्राइवर के सामने पूरी नंगी खड़ी थी.

उससने मुझे बोला “अब बार डॅन्सर की तरह रंडी की तरह अपने मस्त चुचे और गांद मटका, चल डॅन्स कर”. मैने ना कहा. बोला “मदारचोड़ उस पब में क्या सिर्फ़ लंड चुस्ती है. भूल गयी वाहा से निकल के कितने बार मेरी ऑटो में बैठी है अपने यारो के साथ आंड तेरे दूध दबाते थे, सब देखा है. तबसे तेरी लेनी थी. आज उपरवाले ने मौका दिया है. रनडिीईईई नाचह.”

में धीरे धीरे मटकने लगी. उसने अपने मोबाइल पे कोई चीप भोजपुरी गाना लगा दिया. “घूम घुमके नाच, मेरी रंडी”

और मुझे सब जगह से देखने लगा. उसने अपनी पंत खोल दी. मुझे दर लगने लगा. उसने अपना लुंड निकला और हिलने लगा. नाचते नाचते मेरी नज़र उसके लुंड पे गयी. में एकदम से चौक गयी. उसके कला मोटा लुंड तक़रीबन ८-९″ इंच का होगा. एंड उसपे ऊपर स्किन नहीं थी. मैंने समाज गयी यह कोई मुस्लिम हवस भरा मर्द है.उसने मुझे अपने पास बुलाया और कहा की अपना लुंड हाथ में लेके उसको हिलाये. मैंने उससे छुआ बहुत ही शानदार था मोटा कला कट डिक. मेरा मैं एक बार की लिए मचल गया और मैं उसे सहलाने लगी. वह अपने गंदे हाथ मुझपे घुमा रहा था.

मैं गुम से हो गयी उसके लंड में. तभी उसने मेरा फेस अपनी तरफ खिछा और लिप्स मेरे लिप्स पे रख दिए. उसके मूह की बदबू और गुटके का स्मेल ने मुझे याद दिला दिया की में कोई मज़े नही ले रही, बल्कि एक चीप मुस्लिम ऑटो ड्राइवर का लंड सहला रही हू.

वो कहा रुकने वाला था वो मुझे चूमने लगा थोड़े देर बाद में भी रेस्पॉंड करने लगी. बोला “वा मेरी महनगी रांड़”. मेरी आस दबोच ली आंड पागलो की उससे दबाने लगा, नोचने लगा.

उसने मुझे चूमा फिर मुझे उपर उठाया. मेरे ताने हुए एरेक्ट निपल्स उसके सामने आ गये. “वा रे मेरी हिंदू गे. वा तेरे दूध. इश्स दूध से तो खीर बनके ख़ौँगा.” और उसने बिना रुके मेरा लेफ्ट बूब्स अपने मूह में भर दिया और चूसने लगा.

दूसरे हाथ से रिघ्त बूब्स दबाने लगा. मेरे पुर दूध दबा के चूसने मसल रहा था. आज तक किसी ने इन्हे ऐसा नही दबाया था. पूरा निपल अपने होतो में रख के चूस्ते हुए खिचने लगा.

आयेज की कहानी अगले पार्ट मे बतौँगी.

यह कहानी भी पड़े  मामी की जबर्जस्ती चुदाई

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!