गर्लफ्रेंड और उसकी बहन की सेक्सी स्टोरी

ये सेक्सी स्टोरी मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई कहानी है. मैं उसे चोदना चाहता था पर चुदाई से पहले ही उसने मुझे अपनी बड़ी बहन से मिलवाया. गर्लफ्रेंड की दीदी ने मेरे साथ क्या किया?

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मैं राजस्थान से हूँ. मेरा बदन बहुत ही सुडौल है और मेरे लंड की साइज भी 7 इंच है, जो कि कई बार बहुत सी भाभियों की गोद भर चुका है और कई लड़कियों के साथ मज़े ले चुका है. ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी एक नयी गर्लफ्रेंड आरती की चुदाई की कहानी है. आरती का फिगर 34-30-36 का था.

हुआ यूं कि मैं एक मोबाइल की कंपनी में जॉब करता था, तो कंपनी ने मुझे सेल्स के लिए लगा रखा था. एक दिन वहां पर एक लड़की मोबाइल लेने आई, जिसको मैंने मोबाइल दिखाया.
वो मेरी सलाह पर एक मोबाइल ले गयी, लेकिन अपनी मधुर और सेक्सी छाप मेरे दिलो दिमाग पर छोड़ गई.
वो मुझे इतनी अच्छी लगी थी कि उसके जाने के बाद मैं उससे मिलने की सोचने लगा था कि कैसे उससे मिला जाए.

एक दिन वो अपनी समस्या लेकर आई कि इस मोबाइल में नेट नहीं चल रहा है. चूंकि मैं अकेली ही रहती हूँ और साथ में किसी और को लेकर आना पड़ता है, तो मुझे आने में बार बार परेशान होना पड़ता है.

मैंने उससे कहा कि आप मेरा नम्बर ले जाइए, जिससे आपको समस्या नहीं होगी.

फिर उसी दिन रात को उसका मैसेज आया- हैलो क्या कर रहे हो?
मैंने पूछा- कौन?
तो उसने बताया कि आज मैं आपके शोरूम पर आई थी, आपने ही मुझे अपना नम्बर दिया था.

मैंने उसे पहचान लिया और उसके बाद हमारी बातचीत चालू हो गयी थी. उस दिन उसकी कोई छोटी सी समस्या थी, जिसे मैंने उसे समझा दिया और उसकी परेशानी दूर हो गई.

यह कहानी भी पड़े  मेरी बहेन दीपा की हॉट चुदाई - 1

उसने मुझे धन्यवाद कहा और पूछा- क्या मैं आपको जरूरत पड़ने पर फिर से मैसेज कर सकती हूँ?
मैंने हंस कर उसे हां बोल दिया.

उससे मेरी साधारण बातें होना शुरू हो गईं. ऐसे ही कुछ दिन तक उससे मेरी साधारण बातें होती रहीं.

धीरे धीरे वो मुझसे खुलने लगी, हम दोनों में जोक्स आदि शेयर होने लगे. आगे कुछ एडल्ट जोक्स और बातें भी होने लगीं. अब वो मुझसे खुल कर बातें करने लगी थी.

फिर मैंने उसे एक दिन प्यार का इज़हार कर दिया कि मैं आपसे प्यार करता हूँ और आपको पसंद करता हूँ.
उसने भी मुझे ‘आई लव यू टू राहुल..’ बोला.

मैंने उससे दूसरे दिन मिलने के लिए एक जगह बुलाया … और वो राजी हो गई.

जब वो मुझसे मिलने आई, तो कयामत लग रही थी. हमने कुछ खाया पिया और इधर उधर की बातें करने लगे. उस दिन हमने पूरे दिन साथ में घूम कर बिताया.

अब हमारा दोनों का मिलना साथ में घूमना रोजाना का काम हो गया था. कभी वो मेरे खाने के लिए कुछ बना कर लाती और अपने हाथों से मुझे खिलाने के बहाने मेरे कमरे पर आ जाती थी.

उसने मुझे अपने घर वालों से भी मिलवाया था.

एक दिन उसका फोन आया कि आज मेरी दीदी आ रही हैं और दीदी ने आपसे मिलने के लिए बोला है.
मैंने उससे कहा- ठीक है.

फिर हम इधर उधर की बातें करने लग गए. शाम को जब मैं उसकी दीदी से मिला, तो उसकी दीदी उससे भी ज्यादा स्मार्ट और हॉट थी. जब उसकी दीदी ने मुझे हग किया और किस किया, तो मेरा दिमाग ख़राब हो गया. मेरा दिल किया कि साली को अभी ही पटक कर चोद दूं, लेकिन मैंने अपने आप पर कण्ट्रोल रखा.

यह कहानी भी पड़े  मुक्ता की चुदाई

फिर मैं उसकी दीदी से मिलने के बाद अपने घर पर आ गया. रात को मैंने फ़ोन पर उससे और उसकी दीदी से बात की और मैंने उसकी दीदी से फ़ोन पर उनकी तारीफ की, जिससे वो बहुत ज्यादा खुश हो गयी.

फिर हमने अगले दिन घूमने का प्लान बनाया, तो वो भी साथ चलने के लिए तैयार हो गयी. हम तीनों घूमने के लिए निकल गए. काफी देर तक घूमने के बाद जब हम तीनों ही थक गए, तो हमने थोड़ा आराम करने की सोची.

वो बोली- ऐसे खुले में कहां आराम हो सकेगा.

मैं समझ गया और मैंने एक होटल में एक कमरा ले लिया. जब हम कमरे में गए, तो उसकी दीदी बोली कि मैं थोड़ा हाथ मुँह धो लेती हूँ, जब तक तुम दोनों बैठो.

जैसे ही उसकी दीदी बाथरूम में गयी, तो मैंने आरती को अपनी बांहों में ले लिया.
वो बोलने लगी कि ये क्या कर रहे हो यार, अन्दर बाथरूम में दीदी है … अभी ये सब नहीं करो … हम बाद में कर लेंगे.

लेकिन मैंने उसकी बात को नजरअंदाज कर दिया और उसको किस करने लगा. हम दोनों एक दूसरे में चूमाचाटी में इतने मस्त हो गए थे कि हमें ये तक पता नहीं चला कि उसकी दीदी कब बाहर आ गयी.

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!