घर की औरतों की हवस मिटाने की स्टोरी

मैं अभी से छुड़वा कर काफ़ी खुश थी. अभी ने मेरी काफ़ी ज़बरदस्त चुदाई की थी. रोहित भी बोला की अभी से चूड्ता देख कर उसको मज़ा आया. हमने प्लान बना लिया था की अभी, रोहित, नीता और मैं सब मिल कर चुदाई करेंगे.

अभी मुझे छोड़ कर सुबा घर चला गया. दोपहर को नीता का कॉल आया, तो मैने उसको बोल दिया की अभी ने मुझे 2 बार मस्त छोड़ा था. नीता को बताया की वो रोहित को बोल रहा था की मुझे और नीता दोनो को छोड़ना है. नीता ये सब सुन कर खुश हो गयी.

मैने उसको बोला: आज की रात तुम आ जाना. तेरे बेटे से चुदाई करवा देंगे.

तो नीता बोली: बेटा अब तो आउट ऑफ सिटी है. दो दिन बाद आएगा, उसके पापा के साथ गया है. तुम दोनो को जाय्न करने रात को आ जौंगी.

मेरा मॅन नही लगा तो मैं उपर रोहित के रूम में चली गयी. रोहित बेड पर आराम कर रहा था.

मिताली: रात को नीता आएगी. अभी तो 2 दिन के लिए बाहर गया है.

रोहित: चलो ठीक है यार. आज नीता को छोड़ने का मॅन था. तुम दोनो को नंगी करके पेलुँगा.

मिताली: सच में?

रोहित: हा यार, नीता के बूब्स भी छोड़ने है. साली बहुत हस्स-हस्स कर चुड़वति है. एक बार अभी आ जाए फिर देख बाल पकड़ कर छोड़ेंगे नीता को.

मिताली: अर्रे नीता तो छुड़वाने के लिए मारी जेया रही है.

रोहित: जब तक अभी आएगा तब तक तो मैं ही नीता की मारूँगा. तुम दोनो को रात को छोड़ना है. नीता को बोल देना की टाइम पर आ जाए. अभी मैं रेस्ट करूँगा.

मिताली: रात को 10 बजे तक आ जाएगी वो. उसने बोला की उसकी सास सो जाएगी तो ही आएगी.

मैं रोहित के पास ही सो गयी. मैने रोहित को किस किया तो उसने किस किया, और फिर उसने मेरे बूब्स दबाए और आराम करने लगा. रात को हम दोनो ने खाना खा लिया. रोहित का लंड खड़ा देख कर पता चल गया की वो आते ही नीता की छूट मारेगा.

हम दोनो रूम में टीवी देख रहे थे. रात को 10:20 पर नीता आ गयी. नीता ने ब्लू सारी पहन रखी थी. वो काफ़ी खुश दिख रही थी. उसके बूब्स की दरार भी खूब दिख रही थी.

नीता: कैसे हो तुम दोनो यार? रोहित मेरी जान टूल खड़ा कर रखा है.

रोहित: ये बस तेरे लिए ही है. चलो अब तुम दोनो मेरे रूम में चलो.

रोहित ने नीता को किस किया, और बूब्स दबा दिए.

रोहित: चल नीता आज तेरा नंबर लगेगा. तू चल मों आ जाएगी.

उसने नीता को पकड़ा और रूम से बाहर आ गये. वो दोनो आयेज-आयेज थे. रोहित अपने रूम में नीता को ले गया. मैं मैं गाते को लॉक करके रूम में आ गयी.

रोहित ने नीता को एक-दूं नंगी कर लिया था. रोहित ने अपनी शर्ट उतरी तो नीता ने अंडरवेर उतार दिया. उसका लंड एक-दूं तन्ना हुआ था. नीता नीचे बैठ गयी. रोहित ने नीता का सिर पकड़ा और मूह पर लंड फेरने लगा.

रोहित: तुम भी नंगी हो जाओ मों. दोनो मिल कर चूसो.

नीता: ऑश यार मूह में लेना होगा?

रोहित: मूह में लेकर चूसो. फिर दोनो बूब्स के बीच लेकर छुड़वाना अपने दोनो बूब्स.

मैं भी नंगी हो गयी. रूम में 38″-39″ साइज़ वाली दो नंगी हाउसवाइफ एक 18 साल के बॉय के सामने थी. हम दोनो को जवान बेटे से छुड़वाने के लिए ये सब करना पद रहा था.

नीता के गोरे-गोरे बूब्स देख कर रोहित काफ़ी खुश था. मेरे बूब्स से नीता के बूब्स थोड़े बड़े थे. रोहित नीता के बूब्स से खूब खेलता है.

नीता: ऑश यार लंड खूब तंन गया है.

वो लंड के अगले पार्ट को चूस रही थी.

नीता: मुझे तो ये लॉलिपोप बहुत पसंद है. ऑश छूट में जाता है तो बड़ा मज़ा देता है ये.

रोहित ने मुझे अपनी तरफ खींच लिया, और मुझे किस किया. नीता रोहित के आयेज बैठ कर लंड चूस रही थी. रोहित खड़ा-खड़ा मुझे किस कर रहा था.

रोहित: ऑश नीता बहुत मज़ा दे रही हो. तुम दोनो आज मेरी रखैल बन कर मज़ा दो. ऑश तेरे गोरे-गोरे बूब्स देख कर दिल खुश हो गया मेरी जान नीता.

मिताली: मज़ा आ रहा है ना? रात अभी ने बहुत मज़ा दिया था.

रोहित: तुम दोनो को हम बारी-बारी से छोड़ेंगे. तुम्हारी छूट अब हम ही मारेंगे रोज़. ऑश साली कुटिया नीता, ऑश चूस तेरे यार का लोड्‍ा.

नीता: ऑश रोहित चूसने से अब क्या दर्र? ऑश मुझे छोड़ो जी भर कर तभी मज़ा आएगा. एक साथ दोनो को पेलोगे तो मज़ा आएगा.

मिताली: आहह खूब मज़े ले रही है नीता.

नीता लंड को मूह में लेकेर चूस रही थी. रोहित लंड को आयेज-पीछे कर रहा था.

मिताली: रोहित इसके बूब्स को लंड से छोड़. बहुत बड़े हो गये है. मस्त बूब्स के मज़े ले.

रोहित ने थोड़ी देर मूह में लंड को आयेज-पीछे करने के बाद नीता को बेड पर बिता लिया. लंड अब उसके गोरे-गोरे बूब्स के बीच रख लिया.

नीता: ऑश क्या लंड है यार. बूब्स के बीच बहुत तंन गया है.

मिताली: वाउ, बूब्स के बीच मस्त लग रहा है. बूब्स को भी छोड़ो बेटे ऑश देख चूची इसकी.

अभी: आह क्या बूब्स है तेरे नीता आहह. आज तुझे खूब मज़ा आएगा.

नीता: ऑश ऊहह आराम से करते रहो. बहुत अछा लग रहा है. अभी और रोहित तुम दोनो हम दोनो मों को साथ में पेलोगे तब मज़ा आएगा.

मिताली: नीता बहुत मस्त है तेरे बूब्स ऑश. लंड बहुत तंन गया है पूरा.

नीता: आहह, अछा लग रहा है.

रोहित: ऑश लॅडीस को जहा मर्ज़ी छोड़ो. लोड्‍ा छूट में डालो, चाहे गांद मारो, चाहे मूह में, और बूब्स पर. सब जगह मज़ा देती है. हम बाय्स के तो सिर्फ़ एक लंड ही होता है.

नीता: यार रोहित बस एक लंड के लिए ही तो हम को तुम्हारे आयेज झुकना पड़ता है. ओह लंड खूब तंन गया है. लंड चूसू क्या आयेज से?

रोहित: बेहन की छूट बहुत मस्त है तू. तुझे तो खिड़की के पास खड़ी करके छोड़ूँगा.

रोहित ने नीता को पकड़ा और खिड़की के पास तोड़ा झुका ली. फिर वो नीता के पीछे खड़ा हो कर लंड पकड़ कर नीता की छूट में डालने लगा.

नीता: ऑश आअहह रोहित लंड घुस गया यार, अब शॉट मारो.

रोहित: बेहन की छूट अब छोड़ूँगा तेरी छूट ऑश क्या माल है. ऑश मुझे गड्राई हुई मों बहुत पसंद है. क्या बूब्स है तेरे.

मिताली: छोड़ साली को, बहुत देर से बूब्स हिला रही है.

रोहित ने उसको तोड़ा सा झुका लिया, और शॉट मारने लगा.

नीता: ऑश आअहह आहह वाउ, लंड खूब मज़े दे रहा है. ऑश रोहित ऑश मज़ा आ रहा है.

रोहित नीता की कमर पकड़ कर छोड़ रहा था. गोरी नीता एक-दूं मस्त हो कर मरवा रही थी.

नीता: ऑश आअहह खूब मज़े ले रहे हो यार. ऑश बहुत मज़ा देते हो. ऑश बूब्स हिल रहे है मेरे आहह.

रोहित: साली तू तो मेरे घर पर ही रुक जेया. तेरी छूट छोड़-छोड़ कर पानी निकालना है. मुझे तू बहुत पसंद है. ऑश तेरे बूब्स भी बहुत बड़े है.

नीता थोड़ी सी झुकी हुई थी, और रोहित उसको पीछे से पकड़ कर छोड़ रहा था. नीता के गोरे गोरे बूब्स हिल रहे थे. रोहित नीता की गांद के मज़े ले रहा था. रोहित की टाँग नीता की गोरी-गोरी टाँगो से लग रही थी. नीता की मोटी गांद से बार-बार रोहित शॉट मार रहा था.

रोहित का लंबा लंड छूट में घुस जाता, और रोहित की जाँघ नीता की मोटी गांद से लग कर आवाज़ कर रही थी.

रोहित: ऑश मों, आहह साली की मोटी गांद से लग कर बहुत मज़ा आता है. ऑश तभी तो साली को पीछे से छोड़ता हू. नीता को अपनी रंडी बना कर रखना चाहता हू.

नीता: ऑश रोहित, आहह बहुत आचे से पेल रहे हो आअहह. क्या लोड्‍ा है तेरा. ऑश मेरी छूट चिकनी हो गयी. अभी और तुम दोनो मिल कर मुझे छोड़ो. ऊओह आआहह कम ओं यार आअहह लंड के लिए तो मैं तड़प रही थी.

रोहित ने नीता के कंधे पर हाथ रखा और दूसरे हाथ से नीता का एक बूब पकड़ कर दबा दिया.

नीता: ऑश आहह बूब्स से खेलने वाले तुम पहले बॉय हो. ऑश बूब्स के हाथ लगते हो तो मुझे बड़ा मज़ा आता है.

रोहित: नीता मेरी रंडी तेरे बूब्स पकड़ कर छोड़ने में मुझे भी बहुत मज़ा आता है.

रोहित ने ज़ोर से शॉट मारा तो रोहित का लंड बाहर निकल गया. लंड काफ़ी तन्ना हुआ था. लंड नीता की गांद पर घूमने लगा.

रोहित: ऑश बेहन की लोदी नीता, क्या गांद है तेरी. मेरे लंड को बहुत पसंद है तेरी मोटी गांद. तेरी तो गांद मारने में भी मज़ा आएगा. ऑश ये भी बाहर निकल गया लोड्‍ा.

नीता: यार बहुत मज़ा आ रहा है, अब तो छूट ही मार लो. फिर गांद भी मार लेना.

रोहित: ऑश नीता ऑश साली तेरी छूट छोड़ कर तो लग रहा है जैसे कोई हेरोयिन छोड़ रहा हू. ऑश आअहह बहुत मज़ा आ रहा है.

नीता: ऑश आअहह आहह उउउईए माआ दोनो बूब्स पकड़ कर छोड़ो मेरी छूट ऑश यार.

रोहित ने झट से नीता के दोनो बूब्स पकड़ लिए और ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगा.

रोहित: ऑश अब आएगा मज़ा साली तेरे बूब्स पकड़ कर छोड़ने में तू डबल मज़ा देती है. ऑश आअहह बूब्स पकड़ कर छोड़ने में अलग ही मज़ा है.

नीता: ऑश मेरे घोड़े छोड़ अपनी घोड़ी को. घोड़ी चूड़ने आई है ऑश लोड्‍ा देदे घोड़ी को मोतेरचोड़. छोड़ मेरी छूट ऑश आअहह मज़ा आ रहा है यार.

रोहित ने नीता को बोला की बेड पर चली जाए. वो खड़ी हुई तो रोहित ने लंड को छूट से बाहर नही निकालने दिया. नीता बेड पर जेया कर थोड़ी झुकी, और वही पर उसको पकड़ कर पहना शुरू कर दिया.

नीता: ऑश लंड बहुत अछा लग रहा है यार.

रोहित: मुझे भी तेरी छूट मज़ा दे रही है यार. ऑश ऊहह मज़ा बहुत आ रहा है.

नीता: ऑश छोड़ ले यार चूड़ने ही आई हू. मेरी छूट को आचे से पेल दिया कर.

रोहित: बेहन की छूट चुड रही है मज़ा ले रही है लोड का.

रोहित नीता के दोनो बूब्स को दबा-दबा कर छोड़ रहा था. गोरी-गोरी टाँगो के पीछे रोहित खड़ा हो कर छोड़ रहा था. रोहित का लंड बार-बार नीता की छूट में घुस जाता, और मोटी गांद से आवाज़ आ रही थी.

रोहित गांद पर लंड रग़ाद रहा था. उसको नीता की गांद पर झटके मारने में मज़ा आता था. वो उसकी गांद पकड़ कर दबाता भी खूब था.

नीता: ऑश यार, मज़ा आने वाला है, कस्स कर छोड़ मुझे.

रोहित: रंडी चिल्ला क्यूँ रही है? बस थोड़ी देर रुक जेया, मुझे भी मज़ा आ रहा है. ऑश मों यार नीता को जी करता है यही रख कर छोड़ू. ऑश साली रंडी ऑश क्या छूट है तेरी ऑश मेरी रंडी.

नीता: ऑश मॅर गयी यार ऊहह आअहह होने वाला है मेरा. मेरी छूट ऊहह तेरा लोड्‍ा लेकेर ही मानेगी. आहह मॅर गयी.

रोहित ने ज़ोर-ज़ोर से नीता को छोड़ना शुरू कर दिया. थोड़ी देर बाद रोहित ने ज़ोर से पिचकारी छूट में मारी. नीता भी झाड़ गयी.

रोहित नीता की छूट में अभी भी शॉट मार रहा था. नीता खड़ी हुई तो उसके बूब्स लाल हो गये थे. मैने रोहित को पानी दिया और नीता बेड पर लेट गयी.

नीता: ऑश यार आज तो बहुत मज़ा आया है.

रोहित: सोच रहा हू तुझे 1 वीक मेरे घर पर ही रख लू, ताकि तुझे दिन-रात छोड़-छोड़ कर तेरी छूट के मज़े लू.

नीता: यार दिन में तो नही आ सकती. रात को टाइम निकाल लूँगी. सुबा बेटा भी आ जाएगा. तुम दोनो हम दोनो मों को एक साथ छोड़ो, फिर मज़ा आएगा यार.

मिताली: बस तेरे बेटे को आने दे. उसने मुझे भी खूब मस्त छोड़ा था. घोड़ी बन कर चूड़ेगी तो बहुत मज़ा आएगा.

रोहित: चलो तुम दोनो किचन में चलो. छाई पीने का मूड है. किचन में तुम दोनो का दूध भी पीना है. ऑश नीता साली के बूब्स बहुत बड़े हो रखे है. लंड खड़ा कर देती है मोटी गांद.

रोहित ने नीता की गांद पर ज़ोर से थप्पड़ मारा तो नीता खड़ी हो गयी. उसने हम दोनो को बाहो में पकड़ा, और बोला-

रोहित: तुम दोनो को नंगी ही किचन में चलना है.

रोहित हम दोनो की गांद को दबा रहा था. हम नीचे आ गये. नीता छुड़वा कर काफ़ी खुश थी. उसकी गांद बता रही थी की उसकी छूट काफ़ी मज़े लेकेर चूड़ी थी.

बहुत सारी मोम्स अपने बिटो से छुड़वाने के लिए मेसेज कर रही है. बहुत तो छुड़वाने भी लग गयी. आप सब को थॅंक्स. आप भी अपने घर की बात मेरे से शेर कर सकती हो. घर की छूट को घर का लंड लेने की ट्राइ ज़रूर करनी चाहिए. घर की छूट के लिए लंड हमेशा तैयार रहता है.

यह कहानी भी पड़े  बहन के साथ मस्ती ओर चुदाई


error: Content is protected !!