गाव की भाभी की चुदाई

gav ki bhabhi ki chudai हाय दोस्तों में सेंडी Kamukta मेरी उम्र 22 साल है मे मुंबई (दादर) मे रहता हूँ मेने इसकी सारी कहानियां पढ़ी है आज मे अपनी एक कहानी लिख रहा हूँ पसंद आये तो रिप्लाई ज़रूर करना यह बात आज से 3 महीने पुरानी है क्रिसमस की छुट्टी थी और मेरे दोस्त (रवि) के घरवाले उनके गावं मुझे भी ले गये थे मुझे गावं मे अच्छा लगता है तो हम रात की गाड़ी बेठे और दोपहर को उनके छोटे से गावं मे पहुँच गये हम सिर्फ़ 3 लोग ही गये थे मे रवि की माँ और पापा उनके गावं के घर मे सिर्फ़ उनका चचेरा बेटा और उसकी वाइफ ही रहती थी उनकी उम्र करीब 35-38 साल होगी और क्या गजब का फिगर था 40-39-42 उनके बूब्स तो बड़े बड़े मुझे तो ऐसा लग रहा था की अभी जाकर उनके बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाऊँ और चूस चूस के उनका सारा रस पी जाऊं भाभी काफ़ी फ्रेंकली थी.

मेरी उनसे झट से दोस्ती हो गई मे अब उनके साथ खेत मे भी काम करने जाता था एक दिन मे और भाभी अकेले ही खेत पर काम कर रहे थे तब भाभी काम मे इतनी व्यस्त थी की उनको पता नही था की उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा है और उनके बूब्स जैसे ब्लाउज फाड़कर बाहर आना चाहते है मेरा सारा ध्यान उनके बूब्स पर था कुछ देर बाद भाभी ने मेरी नज़र को समझा की में उन्हें देख रहा हूँ और उन्होने कुछ नही कहा और ऐसे ही काम कर रही थी फिर हम दोपहर को खाना खा रहे थे.

तब भाभी ने जानबुझ कर अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिराया और मुझे अपने बूब्स दिखा रही थी मेरा तो लंड अब जागने लगा था और मेरी हाफ पेन्ट में से साफ दिख रहा था और भाभी भी मेरे खड़े लंड को चोरी से देख रही थी खाना खाने के बाद भाभी ने मुझे कहा की मेरी कमर मे ज़रा दर्द हो रहा है की तुम दबा दोगे क्या?’ मेने हाँ क़ह दी और भाभी को लेटने को कहा भाभी लेट गई और मे उनके बाजू मे बेठ कर उनकी आधी नंगी पीठ और कमर पर दबाने लगा मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था अब मे सोचने लगा की कैसे भाभी को चोदू फिर भाभी बोली ज़रा ठीक से दबाओ ना अब मे उनके उपर बेठा और कमर को दबाने लगा.

यह कहानी भी पड़े  इंडियन भाभी की मस्त चुदाई

ऐसा करने से मेरा लंड उनकी गांड को टच हो रहा था और मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था और भाभी भी मज़ा ले रही थी और अपनी आँखे बंद करके अपना निचला होठ दांतों मे दबा रही थी अब मेरा लंड पूरा उनकी गांड मे रगड़ लगा रहा था और भाभी भी अब गर्म हो गई थी मेने अब धीरे धीरे अपना हाथ उनकी कमर से होते हुये पीठ पर ले गया और पीठ को दबाने लगा और नीचे उनके बूब्स मेरी उंगलियों को टच हो रहे थे अब भाभी पूरी गर्म हो गई थी और मे भी फिर मेने हिम्मत करके उनके बूब्स को ज़ोर से दबाया भाभी के मुँह से सिसकारी निकली आआआहह ज़रा आराम से दबाओ ना? अब मे समझ गया की भाभी भी चुदवाना चाहती है तब मेने उनको सीधा किया और उनके बूब्स को दबाने लगा और उनके लिप पर किस करने लगा उनको किस नही आ रहा था पर मे फिर भी किस कर रहा था.

थोड़ी देर बाद मेने उनका ब्लाउज निकाल दिया और उनके बड़े बड़े बूब्स मेरे सामने आज़ाद हो गये मे पागलो की तरह उन्हे देख रहा था और भाभी बोली सिर्फ़ देखोगे या इनका रस भी पीओगे कहते ही मेरे सर को अपने बूब्स पर दबाने लगी मे अब उनकी एक बूब्स को मुँह मे लेकर चूसने लगा और दूसरे को एक हाथ से दबाने लगा क्या मस्त स्वाद था ऐसा लग रहा था की छोड़ मत इन्हें और भाभी तडपती और कहती हाहहआ और ज़ोर से चूस राजा बड़ा मजा आ रहा है हाईईईई हाँ और मेरे सर को और ज़ोर से अपने बूब्स पर दबाने लगी करीब 10 मिनिट से में उनके बूब्स को चूस रहा था इस दोरान मेने उनकी साड़ी निकाल दी और अब वो मेरे सामने पेटीकोट मे थी और मे उनके पेटीकोट के उपर से ही उनकी चूत को चोदने लगा.

यह कहानी भी पड़े  डॉक्टर सोनल की चुदाई की कहानी

अब उनकी चूत पूरी तरह गीली हो गई थी अब मेने उनको पूरा नंगा कर दिया और उनको खड़ा कर दिया अब भाभी की चूत मेरे सामने थी मेने चूत पर किस की तो उन्होंने आहे भरी और बोली ये क्या कर रहे हो राजा अब मे उनके दाने को दातो से दबाने लगा और एक उंगली उनकी चूत मे डालने लगा उनकी चूत पानी छोड़ रही थी और भाभी हाह्ह्ह्ह मेरी जान क्या कर रहे हो पागल करेगा क्या हाईईइ बड़ा मजा आ रहा है मेरे लाल और चूसो मेरी चूत को हाआअ और जोर से मेरा पानी निकलने वाला है हाँ और हाह्ह्हआ मे आईईईईई बल्ल्लम और कहते ही झड़ गई और हाफ़ने लगी और मुझे उपर खीच के बोली हाईईईई इतना मज़ा तो मुझे पहली रात मे भी नही आया था कहा से सीखा.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!