दोस्त के भइया ने गांद मारी

सो महीनो बीट गये हम लोगों की बात नही हुई. फिर एक दिन मेरे दोस्त का कॉल आया की भाभी का एक्सटर्नल अफेर चल रहा है और भैया को बहुत परेशन कर रही है. तो बोला की मई भैया के पास आया हूँ तू भी आजा.

मैने अपना ऑफीस का काम ख़तम किया और कॅब करके उनके फ्लॅट के निकल गया. वाहा पहुचे तो भैया की हालत खराब हो चुकी थी. वो जिम वाली बॉडी से अब सुख चुके थे. भाभी किसी की वजह से अलग रहने लगी थी. तो वो ऑफीस आके खाना भी नही खाते थे जिम भी नही जाते थे. सब कुछ बहुत चेंज हो चुका था.

उससी शाम मेरे दोस्त की ट्रेन थी वो लौटकर कानपुर जेया रहा था घर पे उसकी ज़रूरत थी. तो मैने बोला तू जेया मई देख लूँगा यहाँ. मैने फिर पूरा रूम सॉफ किया. मई 4 बियर लाया, भैया बोले चलो मई भी एक पी लूँगा.

मैने कहाँ आपके लिए 2 लाया हूँ मई. वो बोले 2 नही पीऊंगा तो मैने कहा ठीक है. हम लोगों ने बियर खोली और पीने लगे. भैया ने एक पी और तोड़ा सुरूर हो गया.

वो बोले जब तक तू मेरे साथ था सब ठीक था. गर्मी की वजह से उन्होने त-शर्ट उतार दी. फिर एक पी फिर पंत उतार दिया. उन्हे तोड़ा और नशा हो गया.

मैने कहाँ कोई नही मई फिर से आ गया हूँ सब ठीक हो जाएगा. हम लोगो ने बियर ख़तम की. खाने मे सब्जी भैया ने पहले ही ब्ना दी थी. मुझे रोटी बनानी थी तो मई आता लेके खड़ा गुंड रहा था. इतने मे भैया ने पीछे से मुझे दबोच लिया और बोले आज इतने दीनो बाद हम मिले है अब जाना मत.

वो मुझे नेक पे किस कर रहे थे. उनका लॉडा मुझे अपने पीछे खड़ा हुआ महसूस हो रहा था. तभी उन्होने मुझे घुमाया और मेरा चेहरा अपनी तरफ कर लिया.

अब वो मेरे बूब्स नेज़ल रहे थे और लिप्स चूस रहे थे. उन्होने मुझे उठाया और किचन की रॅक पर बिता दिया. अब उनका लंड मेरे बीच मे हलचल कर रहा था और वो मेरे लिप्स चूस रहे थे. और हंतो से मेरे बूब्स दबा रहे थे.

फिर अचानक से उन्होने नीचे खेंच के बिता दिया. अब उनका लंड मेरे मूह के पास था और मैने उनका अंडरवेर उतार दिया. जैसे उतरा वैसे ही उनका लंड खड़ा हुआ बाहर निकल पड़ा.

मैने धीरे धीरे उनका लंड अपने मूह मे रखा और अंदर बाहर करने लगा. उन्होने मेरे सर पकड़ा और बहुत तेज़्ज़ तेज़्ज़ अपने लंड को अंदर बाहर करने लगे. उनका लंड मेरे अंदर ग़मे तक जेया रहा था और मुझे साँस लेने मे तकलीफ़ हो रही थी. आँखो से अंशु भी आ गये बुत हे वाज़ रिलेंटलेस.

फिर उसके बाद उन्होने मुझे उपर उठाया फिर रॅक पर बिता दिया. मेरा अंडरवेर खोला और रॅक पर लिटा दिया. मई आराम से लेता हुआ था और वो अपना लंड मेरे बुट्तोल पर रग़ाद रहे थे.

मुझे दर्र भी लग रहा था की आज ये मेरे क्या हालत करेंगे पता नही. फिर एकदंम से उन्होने अपना लंड मेरे अंदर घुसा दिया. बहुत दीनो से मैने भी नही किया था सेक्स तो मुझे बहुत दर्द हुआ और मेरे मूह से आ निकल गयी.

मैने बोला आराम यार मार डालोगे क्या! वो बोले, मारूँगा नही मेरे जान बस छोड़ूँगा तू मार जाएगा फिर मेरा क्या होगा सोणिये.

मई ये सुन कर हास पड़ा, मैने बोला ई लोवे योउ. वो बोले ई फक योउ. फिर वो धीरे धीरे सूखा ही मेरे अंदर बाहर कर रहे थे. मुझे बहुत दर्द हो रहा था. मैने सरसो का आयिल दिया साइड मे रखा था, मैने बोला ये ल्गा लो.

उन्होने लगाया और फिर मेरे होल मे भर दिया. अब उन्होने जैसे ही अंदर डाला वैसे ही मेरे मूह से फिरसे आ निकल गयी. उन्होने पूछा, अब ज़्यादा दर्द नही हो रहा?

मैने बोला अब ठीक है. वो मुझे धीरे धीरे छोड़ रहे थे और मुझे चूम रहे थे. फिर उन्होने मेरे लेग्स अपनी चेस्ट से लगाए और तेज़्ज़ छोड़ने लगे. मैने बोला निकालने वेल हो क्या? वो बोले नही यार बस तू मज़ा लेता रह मज़ा आ रहा है ना? मई बोला हन आ रहा बस तुम छोड़ो.

फिर उन्होने मुझे पलटा और मेरे पीठ अपनी तरफ कर ली. अब मई किचन की रॅक पर पेट के बाल पड़ा हुआ था और मेरे लॉडा उनके हंत मे और उनके लिप्स मेरे बॅक पीठ लीक कर रहे. और मेरा नेक चूस रहे थे.

थोड़ी देर ऐसे छोड़ते रहे फिर उन्होने मुझे पकड़ा और अपनी तरफ चेहरा करके गोद मे उठा लिया. अब उनका लंड मेरे सबसे अंदर टच कर रहा था जो बहुत मज़ा दे रहा था.

मैने बोला ये वाली पोज़िशन पहले क्यू नही की… वो बोले ये वाली मैने वाइफ के साथ की थी बहुत मज़ा आया था उसे. मैने बोला हन मज़ा तो मुझे भी आ रहा है.

उनकी बॉडी की स्मेल मुझे बहुत प्यारी लगती है. मई उनकी चेस्ट लीक कर रहा था और उनके नेक को भी. मैं नेक पे हिक्की दे डेडी क्योंकि उन्होने मेरा पूरा नेक लाल कर दिया था.

इतनी हिक्क्ीएस थी मेरे गले पे. वो बोले मुझे ऑफीस जाना है क्या बतौँगा. सबको मैने बोला कैसी बात कर अब आप शादी शुदा हो बहाने की ज़रूरत नही पड़ेगी. और मई चेस्ट लीक करने ल्गा.

फिर वो बहुत तेज़्ज़ तेज़्ज़ मेरे गांद मार रहे थे. मेरे आँखो के अंगे आंड्रा छा रहा था और मेरा लंड से मेरा माल बाहर निकल गया उनकी गोद मे ही.

वो बोले आज हो रहा ग़ज़ब का मज़ा. मैने बोला आज पहली बार ऑर्गॅज़म दिया है अपने मुझे. और कहा रुकना नही स्टार्ट रखो करते रहो. फिर वो तक गये और मुझे बेड पर लिटा दिया.

मैने बोला क्या हुआ? बोले की तक गया इतनी देर नही तुझे तंग कर सकता ना मेरे जान. अब वो फिर से मेरे लेग्स उपर उठाके मेरे सर के पास ल्गा दिया. तीस इस थे मोस्ट सॅटिस्फाइयिंग पोज़िशन फॉर मे आंड फिर हिं ऑल्सो.

उनका लंड मेरे अंदर गड़बड़ी मचा दी. अब मेरी गांद एकदम चौड़ी हो चुकी थी वो ऐसे मार रहे थे. मई आ आ उहह के सिवा कुछ नही बोल पा रहा. मेरे आँखो से अंशु आ रहे थे और वो मेरे आँखो मे देख रहे थे और मई उनकी आँखो मे.

थोड़ी देर बाद वो बेड पर लेट गये और मई उनके लंड पर बैठ गया. अब जो मज़ा आया अब मेरे एक्सर्साइज़ होना स्टार्ट हुआ. मई स्क्वाट्स की तरफ उनके लंड ओर जंप करने लगा. उनका लंड मेरे अंदर जैसे जाता वैसे घुप की आवाज़ आती और बाहर आता तो रगड़ने की.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मई ज़ोर ज़ोर से जंप करने लगा फिर उसके बाद उन्होने मेरे कमर पकड़ी और तेज़ तेज़ से उपर उपर नीचे होने लगे. उनके झटके बढ़ते बढ़ते बढ़ते गये और वो एकदम पसीने से भीग चुके थे और मई भी.

उनके झटके पड़ते गये और मेरे आ आ आहह आहह निकलती गयी. फिर उन्होने सारा मार मेरे अंदर ही चोर दिया दिया और मेरे गांद भर दी. और फिरसे अंदर बाहर करने लगे.

मैने कहा अब तो चोर दो बहुत फाड़ दी अपनी मेरी गांद. वो बोले अभी तो ट्रेलर था, मोविए अभी बाकी है. बहुत दीनो से सेक्स नही किया था आज तेरे साथ पूरी प्यास भुझानूंगा अपनी.

मई बोला अभी और करना है? वो बोले हन. थोड़ी देर अंदर बाहर करने के बाद उनका लंड बैठ गया. फिर हम लोग थोड़ी देर लेते रहे. मई भैया के उपर उनके चेस्ट के बालों के बीच पसीने से आ रही खुसबो ले रहा था और उनकी आर्म्पाइट को चाट रहा था. वो नमकीन पसीना और उनके आर्म्पाइट की खुसबु ई लोवे इट!

फिर उन्होने मुझे जाकड़ के पकड़ लिया और थोड़ी देर लेते रहे. वो बोले ई लोवे योउ और मैने बोला ई लोवे टू. फिर मई उठा और हम दोनो वॉशरूम मे फ्रेश होने गये.

उसके बाद मैने खाना, रोटी बनाई और तब तक भैया कुछ लॅपटॉप पर काम किया. मैने रोटी बनके रखी और तालिया रखा और खाना खाया. फिर लेटने के चल दिए.

भैया ने कुछ पॉलितेन मे मुझे दिया आके. वो वही ब्रा और पनटी थी जो सुहग्रात की रात लाए थे. वो बोले चलो ये पहन के सो. मैने बोला अब ये सब रहने देते है क्या पहें के सो.

मई बातरूम मे गया पहनने, पीछे से भैया ने दबोच लिया. मैने कहा रूको पहने दो क्या कर रहे हो. बोले कोई ना तुझे आची नही लग रही तो रहने दे मत पहन.

मैने कहा ओक बुत अब चलो तो रूम मे. बोले शवर ले साथ मे. मैने बोला अभी नाहया था. तो बोले तो क्या गर्मी बहुत है और मेरे अंदर भी बहुत गर्मी है चल ना लेते है शवर साथ मे. मैने कहा ओक.

भैया ने शवर ओं कर दिया और हम दोनो भींग रहे थे. मैने अपना हाथ उनके लंड पर रखा वो खड़ा हुआ था. फिर मैने उनकी अंडरवेर उतार दी और बैठ के उनका लंड चूसने लगा.

भैया ने बातरूम की दीवार से मुझे लगा दिया और दे घपा घाप मेरे मूह को छोड़ने लगे. और धीरे धीरे उनकी स्पीड बढ़ गयी और उन्होने अपना माल मेरे मूह मे ही निकल दिया. मेरा मूह उनके माल से भर गया और मई थूकने ही वाला था की वो बोले पी ले, बॉडी के लिए अछा होता है 😂.

मैने पी लिया और फिर उसके बाद हम दोनो बेड पर जाके लेट गये. मई अपना हेड उनके चेस्ट पर ही रख के सोता था पहले. मेरी आदात बदल चुकी थी. मैने बोला आप मेरे आदात फिर से बिगाड़ दोगे.

वो बोले अब तुझे मेरे साथ ही रहना है, अब कहीं नही जाना है तेरे को. मैने कहा देखते है.. और मई उनके चेस्ट की भीनी भीनी सी खुसबु लेने के साथ सो गया और वो भी सो गये.

फिर हम लोग कुछ दिन साथ रहे.

सो दोस्तो कैसी लगी आज की स्टोरी कॉमेंट मे ज़रूर बताए आंड थॅंक योउ पढ़ने के लिए.

यह कहानी भी पड़े  भाई ने बाय्फ्रेंड से सेक्स करने मई मदद की

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!