चचेरी बहन की सील तोड़ी रात को छत पे

हेलो दोस्त, Kamukta आज मैं हिम्मत कर पाया हू की आज मैं अपनी एक कहानी जो की चचेरी बहन की है वो मेरे पड़ोस मे ही रहेती है ओर उसका नाम कल्याणी है हम दोनो साथ मे ही बड़े हुए है ओर साथ मे ही खेलते थे वो मेरा बहुत अच्छी तरह से ख्याल रखती थी ओर छोटे भाई की तरह ही रखती थी.

वो मेरे से दो साल बड़ी है तो मे उसे दीदी कह कर ही बुलाता था ये बात तब की है जब मे फर्स्ट सेमेस्टर के छुटियों पे घर आया था दोस्तो मे आपको बता दू की हम दोनो का घर का छत एक ही है सो हम दोनो छत पर ही रात को खेलते थे जब मे घर आया तो वो बहुत ही खुस हुई मुझे देखके ही फिर हम थोड़े दिन साथ मे ही खेले ओर अचानक वो दो दिन से दिख नहीं रही थी तो मुझे लगा की वो कही बाहर गयी हुए है तो उसी रात को मे लॅपटॉप लेके उपेर चला गया वाहा पे कोई भी नहीं आता था तो मुझे लगा अब तो वो नहीं है तो कोई भी नहीं आएगा तो मे लॅपटॉप लेके एडल्ट मूवीस देखने लगा तो वो अचानक ही कब आ गयी मुझे पता ही न्ही चला यारो ओर वो भी थोड़ी देर देखने लगी फिर अचानक ही मेरी नज़र उसपे पड़ी तो मेरा दिमाग ख़राब हो गया, सच पूछो तो मेरी तो फट गयी ओर मेने तुरंत ही लॅपटॉप का स्लाइड बन्ढ़ कर दिया ओर कुछ नहीं बोला तो वो बोली की ए बुरी बात है देखना ओर वो वहा से चली गयी ओर मुझे लगा क वो पापा को बोल देगी पर थैंक गॉड उसने ऐसा नहीं किया.

फिर मे थोड़े दिन उपर ही नहीं गया ओर अचानक ही कुछ दिन बाद मे उपर जाके बैठा था तो वो आ गयी ओर इधर उधर की बाते करने लगी उतने मे पापा ने आवाज़ लगाई तो मे वहा पर गया जब वापस आया तो वो मेरे बेड पे आके सो गयी तो मेरी ब हिम्मत बढ़ गयी ओर मे जाके उसके पास ही सो गया क्या बताऊँ दोस्तों वो उसकी वो गजब की सुन्दर लग रही थी, वो अंदर बारे नहीं पहनी थी उसकी दोनों चुचिओं का निप्पल साफ़ साफ़ दिख रहा था नाइटी पे, ओर मे आउट ऑफ कंट्रोल हो गया लिंग फिर भी मेने कंट्रोल किया, वो तो पहेले से ही सेक्सी थी ही क्या उसका गोल गोल बूब्स ओर क्या उसकी आस यारो मे तो पागल ही हो रहा था लेकिन करता भी क्या यारो वैसे ही पड़ा रहा ओर उसका फिगर तो 34 28 36 का ओर भी अच्छा लग रहा था.

यह कहानी भी पड़े  दोनों साली की सील तोड़ी एक ही रात में

थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद मेने मेरा एक हाथ उसके हाथ पर रख दिया तो उसने कुछ ब नहीं बोला फिर थोड़ी देर बाद उसके हाथ को रब कर ने लगा उसे ओर भी मज़ा आने लगा फिर धीरे रहके मेने उसके गाल पे किस कर दिया तो ब उसने कुछ ब नहीं कहा क्यूकी शायद वो भी वही चाहती थी. क्यू ना चाहती दोस्तो आख़िर वो ब मेरी तरह वर्जिन ही जो थी फिर क्या था मेरा तो ग्रीन सिग्नल मिल गया बात फिर भी मे कोई रिस्क लेने नहीं चाहता था तो मेने मेर हाथ वहा से ले लिया तो थोड़ी देर बाद उसने मेरा हाथ पकड़ के रब करने लगी ओर मुझे किस कर दिया फिर क्या था यारो मेरा तो वैसे ही लण्ड खड़ा था अब और भी आउट ऑफ कंट्रोल हो गया ओर मेरा होठ उसके होठ पे जा टिका वो भी पहले से तैया थी इसके लिए तो उसने ब रेस्पॉन्स देना स्टार्ट कर दिया ओर मे तो गले पे लिप्प पे गर्दन पे यारो हर जगह किस कर ने लगा ओर वो बस आँखे बंद करके सिर्फ़ मज़ा ले रही थी उतने मे मेने एक हाथ उसके बूब्स पर रखे तो वो तो चिहकउठी ओर मोन करने लगी ओर जब दूसरा हाथ जब मेने पेंटी मे डालके टच किया तो वो तो उछल पड़ि क्या नज़ारा था यारो वो क्या बताऊँ आपको उतने मे उसका हाथ मेरे लंड पर पेंट के उपेर से ही सहलाने लगी थी ओर मुझे भी अब मज़ा आने लगा था.

यह कहानी भी पड़े  कच्ची उम्र की कामुकता Part 1

फिर मेने उसकी नाइटी उतार दी ओर ब्रा क उपर से ही उनके बूब्स चूसने लगा ओर वो तो पागल ही हो रही थी फिर मेने ब्रा ओर पनटी भी उतार दी उतने मे उसने मेरा ट्राउज़र निकल के मेरे लंड से खेलने लगी थी ओर मे भी अब फुल एग्ज़ाइट हो गया था फिर मे धीरे धीरे धीरे किस करते करते उसकी चूत पर आ गया ओर जेसे ही मे ने उसकी चूत मेरी टंग रखी वो तो आअह आअह आअह उह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ आआह करने लग गयी ओर मेने जेसे ही पूरी टंग उसके चूत मे डाली तो वो तो चिलालने लगी आअहह उुहुहुहह उूुउउइईईई ओर तेज ओर तेज जेसी आवाजे निकालने लगी ओर दोनो हाथ से मेरा सिर पकड़ के उसकी चूत मे दबा दिया मैं तो सांस भी नहीं ले पा रहा था पूरी तरह से

Pages: 1 2

error: Content is protected !!