कॉलेज की लड़की के लिए उत्तेजना भरे आकर्षण की कहानी

ही दोस्तों, जैसा के आप सब जानते हो. मेरा नामे मरियम है, और मैं एक बाइसेक्षुयल लड़की हू. मेरा फिगर है 34द-30-34.

ये मेरी दूसरी स्टोरी है. आप सब ने पहली स्टोरी को बहुत प्यार दिया, उसके लिए आप सब का शुक्रिया. आए अब चलते है मेरी दूसरी स्टोरी पर.

ये तब की बात है, जब मुझे कॉलेज स्टार्ट किए कुछ ही दिन हुए थे. तो एक दिन मैं जब कॉलेज गयी, तो गाते से एंटर होते ही मुझे एक आवाज़ आई.

आवाज़: एक्सक्यूस मे, क्या आप मुझे बता सकते हो की प्री-मेडिकल की क्लासस कहा हो रही है?

मैने देखा के वाहा पर एक फेर स्किन की लड़की (जिसका फिगर अंदाज़े से 32-28-30 के करीब का होगा) खड़ी थी. वो काफ़ी खूबसूरत थी. तो मैं उसके पास गयी और उसको कहा.

मे: ही, आप मेरे साथ आओ. मैं उधर ही जेया रही हू.

शी: ओके, चलिए चलते है.

रास्ते में उसने बताया की उसका नामे माहिरा था, और उसके दोस्त उसको माही कह के बुलाते थे, और ये भी बताया के वो कहा पर रहती थी. जब मैने उसका अड्रेस सुना तो मैने खुशी से कहा-

मैं: मैं भी इसी एरिया में रहती हू.

मैने अपना नामे भी बताया, की मेरा नामे मरियम है, और मैं भी अभी 1स्ट्रीट एअर में हू प्री-मेडिकल के. फिर हम लोग प्री-मेडिकल की बिल्डिंग की साइड गये, और उसको नोटीस बोर्ड की तरफ इशारा करके कहा की वो अपनी क्लास का रूम नो और सेक्षन देख के आए. और मैं अपनी क्लास की तरफ चली गयी, जो उसी बिल्डिंग में थी.

मैं अपनी क्लास तक पहुँची ही थी, की पीछे से माहिरा भी आ गयी और आते ही बोली-

माहिरा: वाउ! मरियम तुम भी इसी सेक्षन में हो?

मैं ने कहा: वाउ यार, ये अछा है. हम दोनो मिल के स्टडी कार सकते है.

इस पर उसने कहा-

माहिरा: यॅ.

इतने में क्लास के स्टार्ट होने का टाइम हो गया, और मैं और माहिरा दोनो ही एक ही लाइन में बैठे. बाकी का वक़्त इसी तरह स्टडीस मैं गुज़रा. जब ब्रेक का वक़्त हुआ तो हम दोनो एक साथ कॅफेटीरिया गये. वाहा से दो कोक की बॉटल ली, और एक कॉर्नर पर आके सामने की ही टेबल पर बैठ गये. फिर हम अपनी कोल्ड ड्रिंक्स पीने लगे.

लेकिन थोड़ी सी पीने के बाद माहिरा को अचानक से कॉफिंग स्टार्ट हुई. तो उसके मूह से थोड़ी से कोक मेरी यूनिफॉर्म के रौंद गले पर आके गिरी. इससे मेरा यूनिफॉर्म भी खराब हो गया, तो ये देख के माहिरा सॉरी करने लगी. इस पर मैने कहा-

मैं: यार कुछ नही होता. ये कों सा तुमने जान के किया है. ये सिर्फ़ एक अंजाने में हुई ग़लती है.

लेकिन वो अपनी जगह से उठी, और आके मेरी यूनिफॉर्म पर गिरी हुई कोक को उसके पास मौजूद टिश्यूस से सॉफ करने लगी. इस तरह सॉफ करते-करते उसका हाथ बार-बार मेरे बूब्स पर टच हो रहा था.

इससे मुझे भी मज़ा आने लगा. मैं थोड़ी-थोड़ी गरम होनी शुरू हो गयी. मगर इतने में वो सॉफ करके वापस बाकी की ड्रिंक ख़तम करने लगी. इसके बाद हम दोनो वापस क्लासरूम चले गये. मगर मेरे ज़हन में उसके हाथ का बार-बार मेरे बूब्स पर टच होना आ रहा था.

मैं अपनी फीलिंग को काबू करने की कोशिश करने लगी. मगर नही हो सकी. तो मैने माहिरा से कहा की मुझे वॉशरूम जाना था. ये कह के मैं जल्दी-जल्दी वॉशरूम गयी, और वाहा जाते ही वॉशरूम को लॉक किया.

फिर कमोड के शटर को नीचे करके, उस पर बैठ के, अपने पाजामे को नीचे किया. उसके बाद माइंड में माहिरा के हॅंड को अपने बूब्स को टच करते सोच के फिंगरिंग करने लगी.

इसी तरह मैने दो फिंगर छूट में डाल दी, और तेज़ी से अंदर-बाहर करने लगी. इस तरह से 10 मिनिट्स बाद मैं जब डिसचार्ज होने लगी, तो कमोड से उठ के शटर को ओपन करके अपना सारा पानी कमोड में निकाल दिया, और फिर अपनी छूट को सॉफ किया.

उसके बाद मैं बाहर आ गयी, और क्लास की तरफ चली गयी. इसी तरह बाकी की क्लासस भी ख़तम हुई. फिर कॉलेज के गाते की तरफ जाते हुए उसने मुझसे पूछा की अगर मैं उसकी मिस हुई क्लासस के टॉपिक उसको समझा डू, और उनके नोट्स भी उसके साथ शेर कर लू, तो उसकी हेल्प हो जाएगी.

इस पर मैने कहा: शुवर, तुम ऐसा करो, की लंच के बाद मेरे घर आ जाना. हम दोनो कंबाइन स्टडीस कर लेंगे.

इस पर माहिरा ने कहा: ये सही रहेगा.

फिर हम दोनो ने अपना कॉंटॅक्ट नंबर भी एक-दूसरे को दिया. इसी तरह बातें करते हुए हम दोनो बाहर आ गये, और कॅब से अपने घर की साइड चले गये.

घर आके मैने माहिरा को व्हातसपप पर अपनी लोकेशन भेज दी, और वॉशरूम जाके एक बार फिरसे फिंगरिंग की.

उसके बाद यूनिफॉर्म चेंज करके मैने एक थोड़ी से लो कट वाली ब्लू कलर की शर्ट पहन ली, जिससे मेरी क्लीवेज का स्टार्ट का पार्ट और पेट का तोड़ा सा हिस्सा नज़र आए. साथ ही ब्लॅक कलर की टाइट जीन्स भी पहनी, आंड अंदर मॅचिंग ब्लू कलर की ब्रा और पनटी पहन लिए.

फिर लंच के बाद मैं माहिरा का इंतेज़ार करने लगी, और साथ में टीवी पर नेत्फलिक्ष ओं करके एक सीज़न देखने लगी. फिर थोड़ी देर बाद ही मेरे घर की बेल रिंग हुई.

तो घर में मौजूद वॉचमन ने इंटरकम से मुझे माहिरा के आने का बताया. फिर मैने बाहर की साइड आके, उसका वेलकम करा, और उसको अपने रूम में ले गयी.

फिलहाल के लिए इतना काफ़ी है. जो लोग यहा पर कुछ लेज़्बीयन मज़ा पढ़ने आए थे, उन्हे अगले पार्ट का इंतेज़ार करना पड़ेगा. क्यूंकी अगले पार्ट में बतौँगी की कैसे मैने उसको सिड्यूस किया, और हम दोनो ने स्टडीस की जगह पर क्या कुछ किया.

ये सब जानने के लिए मेरी स्टोरी का अगला पार्ट पढ़िएगा. आप लोग मुझे मैल पर अपनी फीडबॅक दे सकते हो. मेरा मैल अड्रेस है “मारियमली828@गमाल.कॉम”

आप सब की फीडबॅक का इंतेज़ार रहेगा. तब तक के लिए बाइ-बाइ. आप सब अपना ख़याल रखिएगा, और अपनी फीडबॅक ज़रूर दीजिएगा. आपकी फीडबॅक पर डिपेंड करेगा, की अगला पार्ट कितनी जल्दी आएगा. पढ़ने के लिए शुक्रिया.

यह कहानी भी पड़े  मस्त फ़ीगर वाली पड़ोसन भाभी की मस्त चुत चुदाई


error: Content is protected !!