लोन्ली चाची को चुदाई की खुशी मिली

हे गाइस, मेरा नाम अरशद है. मेरी आगे 24 यियर्ज़ है, और मेरी फिज़ीक मसकुलर है. मेरी चाची जिनका नाम जन्नत है, वो 34 यियर्ज़ की है. उनका फिगर है 34-30-34, पर वो सूट में बहुत ही सेक्सी लगती है. जो उनको देखे, तो उनको छोड़ना चाहेगा.

वो 2 बच्चो की मा है. 1 बच्चा 13 यियर्ज़ का है, और दूसरा 8 यियर्ज़ का, और चाचा को उनमे कोई इंटेरेस्ट नही है. वो काम के चक्कर में बाहर ही रहते है.

तो ये स्टोरी 1 साल पहले की है, जब मेरे मामा के बेटे की शादी थी, और हमारा पूरा परिवार शादी में गया था. पर मेरे को ऑफीस का इंपॉर्टेंट काम था, इसलिए मेरे को उसी रात वापस आना पड़ा.

तो मेरी चाची ने कहा की वो भी मेरे साथ घर चलेंगी, ताकि वो भी कल मेरे साथ मीटिंग में जेया सके (हमारा बिज़्नेस है, और वो भी मेरे बिज़्नेस में काम करती है ).

तो हम दोनो घर आ गये. फिर हमने डिन्नर करने के लिए ऑर्डर करा, और फ्रेश हो कर हम दोनो नीचे ड्रॉयिंग रूम में आए. चाची ने उस टाइम पे शॉट्स और क्रॉप त-शर्ट फेणी थी, और बाल खुले थे. मैं तो उनको देख के पागल ही हो गया था.

मेरा लंड मेरी शॉट्स में खड़ा हो गया, और सॉफ दिखाई दे रहा था. तो मैने सोफा पे रखे पिल्लो से च्छुपाने की ट्राइ करी. बुत चाची ने देख लिया, और स्माइल करके बियर ले आई, और मेरे साथ में बैठ गयी, और मोविए लगा दी.

मेरा तो मॅन कर रहा था की उनको अभी ही छोड़ डालु. बुत ऐसा कर नही सकता था. फिर हमने बियर पी, और देखते-देखते 2 बियर पी ली. तब तक डिन्नर भी आ गया था, और हमने डिन्नर करा. फिर हमने 3-3 बियर और पी.

अब हम दोनो को चढ़ गयी थी, और मौसम भी बहुत सेक्सी था. ठंडी हवा चल रही थी, और देहरादून का मौसम तो हमेशा अछा रहता है. ऑक्टोबर का महीने में यहा हल्की ठंड हनिमून के लिए बेस्ट क्लाइमेट होता है. अब हम दोनो हाइ थे, और एक-दूसरे से बातें कर रहे थे, और मोविए देख रहे थे.

जैसे ही मोविए में रोमॅंटिक सीन आया, उन्होने मेरे थाइ पे हाथ रख दिया, और मोविए देख रही थी. मेरी भी हालत खराब हो रही थी, तो मैं वॉशरूम में गया, ये बोल कर की मैं फ्रेश हो कर आ रहा हू.

फिर वाहा जाके उनके नाम की मूठ मारी, और वापस आने लगा. तो मैने देखा चाची मेरे ही पीछे खड़ी थी, और बहुत गुस्से में थी. मैने उनसे पूछा-

मैं: आप ये क्या कर रही हो?

तो उन्होने कहा: तुम्हारा फोन रिंग कर रहा था, वही देने आई थी. और देखा की रूम और वॉशरूम खुला है, तो मैं अंदर आई और देखा तुम मेरे नाम लेके ये सब कर रहे थे. तुमसे ये उमीद नही थी.

और वो मूड के जाने लगी, तो मैने उनको पकड़ा और हग कर लिया. वो शॉक हो गयी, और मेरे को पुश करके बोली-

चाची: ये क्या कर रहे हो?

तो मैने कहा: ई लोवे योउ.

और चीक पे किस करके उनको हग कर लिया. पहले उन्होने मेरे को पुश करा. वो नशे में थी, तो उन्होने भी मेरे को हग करके कहा-

चाची: ये सब ग़लत है.

मैने कहा: चाचा तो यहा रहते नही है. तो आपको भी चाहिए होगा कोई तो. क्यूँ ना मैं ही आपको प्यार करू. और आपको खुश कर दूँगा.

अब चाची भी खुश हो गयी. बुत उन्होने फेस पे शो नही करा और कहा-

चाची: अछा, पर तू कैसे करेगा प्यार मेरे को?

तो मैने उनको किस करना स्टार्ट कर दिया और साथ ही उनके बूब्स दबा रहा था. वो भी एंजाय करने लगी और मेरे को सपोर्ट कर रही थी. अब हम दोनो बेड पे थे. मैने उनके कपड़े उतार के फेंक दिए, और उन्होने मेरे.

अब मैं और वो पागलों की तरह चूम रहे थे और हाथ मूव कर रहे थे. फिर मैने उनकी छूट चाटनी स्टार्ट करी, और वो बहुत मोन कर रही थी और बोल रही थी-

चाची: आ अरशद, और तेज़, और तेज़. बहुत मज़ा आ रहा है. तेरा चाचा तो चूतिया है. काश मैं तेरे साथ पहले ही कर लेती ये सब.

और मैं उनकी चाट-ता जेया रहा था. अब में उपर आया, और चाची ने मेरा लंड मूह में लिया और चूसने लगी. कसम से ऐसे चूस रही थी जैसे पोर्नस्तर हो. मेरे को बहुत मज़ा आ रहा था. फिर 20 मिनिट बाद मैने उनके मूह में ही झाड़ दिया.

वो सब माल पी गयी और लेट गयी. अब मैं उपर आया और लंड उनकी छूट पे रखा और धक्का मारा. तो वो चीख उठी, और अपने नाख़ून मेरी पीठ पे घुसा दिए और स्क्रॅच करने लगी. मेरे को हल्का दर्द हुआ और मैने और तेज़-तेज़ छोड़ना स्टार्ट करा, और वो मोन करने लगी.

चाची: आहह आहः आआआः ओह आआअहह और तेज़ आअहह.

और फिर उछाल-उछाल के चूड़ने लगी. मेरे को भी मज़ा आ रहा था. वो अब तक 2 बार झाड़ गयी, और मैं अभी भी तेज़-तेज़ छोड़ रहा था. हम बार-बार पोज़िशन चेंज कर रहे थे. कभी वो उपर कभी मैं. मेरे को बहुत मज़ा आ रहा था, और अब मैं भी झड़ने वाला था. तो चाची बोली-

चाची: अंदर ही झाड़ दो. मैं तुम्हारे बच्चे की मा बनना चाहती हू.

फिर मैने ऐसा ही करा और अब तक सुबा के 4 बाज गये थे. फिर भी हमने 2 बार और करा, और अब हम सोए. सुबा फिर उठ के मीटिंग के लिए गये, और तब तक बाकी घर के लोग भी आ गये थे.

तो अब हम बिज़्नेस के बहाने बाहर जाते और एंजाय करते. वो मेरी फुल टाइम रंडी हो गयी है. अब हम कभी मेरे ऑफीस में, कभी बातरूम में, कभी टेरेस पे, कभी कार में, और कभी मेरे फार्महाउस पे करते है.

उन्होने अपनी भाभी की चुदाई की भी बात करी, क्यूंकी उनके भाई की डेत हो गयी थी पहले ही, और वो अब चाहती थी मैं उनकी भाभी की भी चुदाई करू. मैं चाची और उनकी भाभी को छोड़ा हू, और हमने थ्रीसम भी करा है. अब मेरा मॅन उनकी भाभी की बेटी को छोड़ने का है.

वो माल हो गयी है, और अभी वो 19 साल की है. पर उसके बूब्स ऐसे जैसे 26 की हो, और वो मोटी है. गांद लेके उछाल-उछाल के चलती है. वो स्टोरी नेक्स्ट टाइम शेर करूँगा.

फील फ्री तो कॉंटॅक्ट मे ओं मी मैल आड़2317291@गमाल.कॉम. और किसी भाभी, आंटी, लड़की को छुड़वाना हो, और या सेक्स छत करनी हो, तो मेरे को मैल करे, और अपने व्यू शेर करे स्टोरी के रिगार्डिंग.

थॅंक योउ.

यह कहानी भी पड़े  Chachi Ki Majburi Me Chudai


error: Content is protected !!