मदर इन लॉ की चुदाई

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम राज है मैं पंजाब का रहने वाला हूँ मेरी एज 37 साल है हाइट 5’ 11” है और लॅंड का साइज़ 8 इंच है मोटा 2.5 इंच है मैं डीके साइट का पिछले कई साल से रीडर हूँ यह बिल्कुल ट्रू स्टोरी है मेरी मदर इन के बारे मे है जिनका नाम पम्मी है उनकी हाइट 5’10” और फिगर 38,32,36 है एज 45 साल की बहुत ही सेक्सी धिकती है! कोई भी उनको देख के उनकी चुत मारना चाहेंगा!, ये बात कुछ टाइम पहले की हैं मैने कभी भी उनके बारे मे ग़लत नही सोचा था बट उनको काफ़ी पसंद करता था मेरे फादर इन लॉ की एज उनसे कोई 16 साल ज़्यादा है, एक बार मैं जून के हॉलिडेज़ पे ससुराल गया हुआ था तब रात को अचानक लाइट चली गयी तो मैं उठा की चलो जा के जनॅरेटर चला आउ तब मैने उनके कमरे मे कुछ आवाज़े सुनाई दी, फादर “चलो यार एक बार फिर ट्राइ कर लो” पम्मी “क्या करू कितनी देर तो हो गयी ये तुम्हारा लॅंड तो खड़ा ही नही होता” फादर “चल एक बार फिर ट्राइ कर लो” पम्मी “अगर खड़ा हो भी गया तो ये पहले ही झड़ जाएगा मुझे नही करना”.

फादर “यार मैं क्या करू मेरा दिल भी करता हैं की मैं तुम्हे अछी तरह चोदु पर क्या करू” पम्मी “बस रहने दो मेरे घर वालो ने कुछ नही देखा मेरी तो आग ही नही भुजाति तुमसे मैं हमेशा ही जलती रहती हूँ कुछ कर भी नही सकती बस चुत मे उंगली ले लेती हूँ पिछले कई साल से मुझे जलता हुआ छोड़ रखा है” इतने मे लाइट आ गयी तो मैने देखा की सासू मा क्या गजब लग रही थी पूरा गोरा चिटा बदन और बूब्स तो बिल्कुल ही टाइट लग रहे थे मेरा तो उनको देखते ही लॅंड खड़ा हो गया उधर ससुर जी का लॅंड पर बिल्कुल बच्चो जैसा था कोई 3 इंच के आस पास वो भी उसे हिला रहे थे मैं वापिस अपने रूम की तरफ चला गया और पूरी रात पम्मी के बारे सोचता रहा” फिर मैने सुबह सासू मा के पास गया और इधर उधर की बातें करने लगा और मैं कभी कभी उनसे नॉन वेज भी बात कर लिया करता था तो मैने देखा पम्मी कुछ उखड़ी उखड़ी सी लग रही थी तब मैने उनको वैसे ही पूछ लिया की क्या बात है आप कुछ ठीक नही लग रहे.

यह कहानी भी पड़े  क्या नजारा था !

तो उन्होने कह दिया कोई बात नही मैने भी कह दिया मुझे पता है की क्या बात है वो बोली क्या तो मैने कहा की कल रात को जब लाइट गयी थी तब मैने आपकी सारी बातें सुनी तो वो एकदम हैरान हो गयी वो बोली और तो मैने कहा मैने आपको न्यूड देखा हा इतना कहते ही मेरा लॅंड खड़ा हो गया और उन्होने देख भी लिया वो बोली राज अब तू ही बता मैं क्या करू ये मुझे जलता हुआ छोड़ देते हैं , मैं तड़पति रह जाती हूँ इतना कह कर वो रोने लगी मैं उनके पास गया उनको चुप करवाने लगा इतने मे मेरे अंदर बहुत ही तेज खून चलने लगा तो मैं उन्हे चुप करवाते हुए उनके लिप्स पे किस करने लगा उन्होने एक दम झटक दिया मैने कहा क्यू वो बोली ये सही नही है, मैने कहा की मैं आप को ताड़पता हुआ नही देख सकता आप सोच लो आप औरत है मैं मर्द हूँ फिर ये कौनसा किसी को पता चलेगा पम्मी बोली ठीक है सोचने दो मैने कहा ठीक है, फिर मैं शाम को उनके आगे पीछे घूमता रहा कभी उनकी गॅंड मे उंगली देता तो कभी बूब्स टच करता.

अगले दिन ससुर जी को कही काम से जाना पढ़ गया तो मेरी बीवी भी उनके साथ चली गई मैं और पम्मी हम दोनो घर पे बिल्कुल अकेले थे मैने उनके जाते ही सासू मा को पकड़ लिया और जोरसे लीप किस करने लगा तब सासू मा ने कहा की पहले गेट तो लॉक करदो मैं तो उछल पड़ा की सिग्नल मिल गया है तब मैने गाते लॉक किया और बेल भी ऑफ करदी की हमे कोई डिस्टर्ब ना करे फिर मैने उनको वही सोफे पे बिठा लिया और उन्हे किस करने लगा पम्मी बोली क्यू जल्दी करते है वो शाम तक आएँगे और हान तू मुझे जैसे अपनी बीवी को प्यार करता है वैसे ही मुझे कर मैं कब से प्यासी हूँ आज मेरी प्यास भुजा दे मेरे राज मेरी बेटी को तो चोदता है मुझे भी चोद मैं जानती हूँ मुझे उसने बताया है की तू मेरी बेटी को कैसे चोदता है मैने कहा ठीक है, फिर मैने उनको किस करना शुरू किया तो पम्मी ने भी किस करना शुरू कर दिया वो बड़े आराम से इसका मज़ा ले रही थी कभी मैं पम्मी की जीभ चूस्ता तो कभी पम्मी मेरी जीभ चुस्ती फिर मैने उनके कपड़े उतार दिए क्या बूब्स थे.

यह कहानी भी पड़े  बरसात की रात

Pages: 1 2

error: Content is protected !!