मेरी चाची एक नंबर वन रंडी

chachi ek number one randi मेरा नाम फहद है और मैं कराची का रहने वाला हूँ आज मैं आपको अपनी एक स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ ये 2 साल पहले की बात है जब मेरी उमर 17 साल थी मैं अपने मा बाप का एक्लोता बेटा हूँ. मेरा बाप एक हाइवे इंजिनियर है. हमारे साथ हमारे घर मे मेरे अदनान चाचा और उनकी सेक्सी बीवी यानी मेरी मूमल चाची भी रहती हैं, वो बोहोत सेक्सी हैं उनके बारे बड़े बूब्स और मदमस्त गंद देख कर मेरा लंड हमेशा खड़ा हो जाता था उनकी कोई औलाद ना थी इसलिए चाची मूमल मुझे बोहोत प्यार करती थी लेकिन मैं उनको हमेशा सेक्स की निगाह से देखता था.

मैने कई बार अपनी चाची के नाम पर मूठ मारी जब भी वो कोई काम करती तो मैं हमेशा उनको घूर कर देखता था खास कर उसके बूब्स को. उनकी फिगर यही कोई 33 24 36 होगी जब कोई काम करते वक़्त जब उनका दुपट्टा नीचे सरक जाता तो मुझे उनकी चूची देखने का मोक़ा मिल जाता था उन्हे शायद पता था कि मैं उनको सेक्स की नज़र से देखता हूँ लेकिन कभी उसने मुझे कुछ कहा नही.

एक दिन मैं अपने कमरे मे अपने कंप्यूटर पर ब्लू फिल्म देख रहा था तो अचानक दरवाज़ा खुला और चाची अंदर आई मैं घबरा गया मेरे समझ मे कुछ नही आ रहा था कि मैं क्या करूँ और मैने जल्दी मैने कंप्यूटर का मैन स्विच ऑफ कर दिया. चाची ने जब मुझे इस तरह चोन्क्ते हो देखा तो बोली क्या बात है फ़हद तुम मुझे देख कर चोंक कियूं गये तो मैने कहा कुछ नही ऐसे ही.

तो चाची बोली अच्छा तुम अपना समान पॅक करो मेरे गाऊँ मे मेरी एक सहेली की दो दिनों बाद शादी है और तुम्हे मेरे साथ चलना है हम एक हफ्ते तक वहाँ रहेंगे तो मैने पूछा के आप चाचा को साथ कियूं नही ले जा रही है तो उन्होने कहा के उन्हे कोई ज़रूरी काम है जिस की वजह से वो नही चल सकते तो मैने कहा के अगर मैं चलूं गा तो मेरी पढ़ाई डिस्ट्रब हो जाए गी. चाची बोली प्ल्ज़ सिर्फ़ एक हफ्ते की तो बात है क्या तुम मेरे लिए इतना भी नही कर सकते? चाची के इतना इसरार करने पर मैं मान गया और अपनी सेक्सी चाची मूमल को कहा ठीक है तो वो खुश हो गयी और मुझ गले लगा कर प्यार से मुझे गाल पे एक किस दे दी और चली गयी.

यह कहानी भी पड़े  अजनबी भाभी के साथ ट्रेन मई सेक्स

जब उन्होने मुझे गले लगाया तो उनके बड़े बड़े बूब्स मेरे सीने से चिपक गये और मुझे इतना मज़ा आया कि मैं बिल्कुल हॉट हो गया और सीधा बाथरूम मैने जाकर अपने आप को ठंडा किया और अपने समान की पॅकिंग कर बाहर दोस्तों मे चला गया.दोसरे दिन सुबह सवेरे मुझे चाची ने जगाया और कहा के जल्दी फ्रेश हो कर नीचे आओ और नाश्ता वागरह कर्लो ताकि जल्दी हम रेलवे स्टेशन पहुचें कही ट्रेन मिस ना हो जाए और ये कह कर वो जल्दी चली गयी और मैं फ्रेश हो कर नीचे चला गया और नाश्ता वगेरा किया.

जब हम स्टेशन जाने के लिए घर से निकले तो माँ मुझे कहा बेटा फ़हद अपनी चाची का ख़याल रखना और शफकत से मेरे सर पर हाथ फेरा फिर हम घर से निकल गये. चाचा हमे ट्रेन तक छोड़ने आए और हमे ट्रेन मे बिठा के मुझे ट्रेन के टिकेट्स दिए और कुछ पैसे दिया और कहा बेटा ये रखलो काम आएँगे और ये कह कर वो चले गये.

और थोरी देर बाद ट्रेन चलने लगी और चाची और मैं गप शप करने लगे और गप शप करते हुए चाची ने मुझसे पूछा फ़हद तेरी कोई गर्ल फ्रेंड है मैने कहा नही तो चाची ने जवाब दिया कियूं नही है? कोई बनी नही या बनाई नही मैने कहा बनाई नही तो चाची बोली तेरी उमर के लड़को की तीन तीन चार चार (3,3,4,4) गर्लफ्रेंड होती हैं और तुम्हारी एक भी नही तो मैने चाची से कहा जब आप कुँवारी थी तब आप का कोई बाय्फ्रेंड था तो चाची शर्मा गयी और कुछ नही बोली तो मैने कहा चाची प्ल्ज़ बताओ ना तो चाची ने धीमी सी आवाज़ मे कहा हां.

यह कहानी भी पड़े  सालों बाद भाभी को सेक्स का असली चुदाई का मज़्ज़ा

हालाँकि ट्रेन के जिस ब्लॉक मे हम बैठे थे उस ब्लॉक मे मेरे और चाची के सिवा और कोई नही था इसलिए हम एक दोसरे से खुल कर बातें कर रहे थे. तो फिर चाची ने कहा अपने चाचा को बताना नही मैने कहा कियूं तो वो बोली के वो नाराज़ हो जाएँगे मैने कहा आप मेरी जान हो मैं भला चाचा को कियूं बताउन्गा तो चाची फिर से सर्मा गयी फिर चाची ने मुझ से पूछा के तेरी सब से फॅवुरेट हेरोइन कॉन सी है तो मैने कहा के 2 पर सेलिना जातेली 3 पर मल्लिका शेरावत 4 पर हॉलीवुड की कारमेन एलेक्ट्रा और 5 पेर पेमेला आंडर्सन.

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!