तलाकशुदा भाभी की प्यास बुझानी शुरू की कॉल बॉय ने

हैलो, मेरा नाम रोहित है। मैं एक कॉल बॉय हूं। मेरी उम्र महज 27 साल है। लंड का साइज 7 इंच है। मैं राजस्थान से हूं। मैंने अब तक बहुत सी लड़कियों, भाभी, तलाकशुदा भाभी, आंटी को चोदा है। आज मैं आपके सामने अपनी एक और रियल स्टोरी लेकर आया हूं।

आपको बता दूं, मैं एक रियल कॉल बॉय हूं। और मेरी सभी कहानियां भी असली हैं। मैं अपने कस्टमर से पूंछ कर ही उनकी सेक्स स्टोरी यहां बताता हूं। मैंने जिनके साथ सेक्स किया है। आज तक सब कुछ सुरक्षित रहा है। किसी को कानों-कान पता नहीं चला है।

इसी तरह आज भी एक और असली कहानी लेके आया हूं। ये मेरे कस्टमर के साथ हुए सेक्स का अनुभव है।

उनका नाम फातिमा (बदला हुआ नाम) है। उसकी उम्र 36 साल थी। और वो भोपाल से थी। उसने मुझसे कहा कि, उसका 7 साल पहले तलाक हो चुका है। वो भोपाल में अकेली अपने 1 बेटे के साथ रहती थी।

फातिमा ने कहा: मुझे आपसे सेक्स चाहिए। हमारा सेक्स पूरी तरह से सुरक्षित होना चाहिए।

मैं: इसकी टेंशन आप मत लो। बस ये बताओ आप मिलने आओगे या मुझे आना पड़ेगा?

फातिमा: आप ही आ जाओ भोपाल। मैं सब खर्चा दे दूंगी। आप यहां 2 दिन के लिए आ जाओ। और मुझे अच्छे से प्यार करो।

मैं: कब आना है?

फातिमा: आप मुझे अपना व्हाट्सएप नंबर देदो। मैं लोकेशन भेज दूंगी।

फातिमा ने मुझे व्हाट्सएप पर सब बता दिया। हमने अगले हफ्ते रविवार को मिलने का प्लान बनाया। मैं रविवार को सुबह में भोपाल पहुंच गया। मैंने फातिमा को कॉल करके बता दिया। उसने मुझे एक होटल में बुलाया था।

मैं उसके बताये होटल में पहुंच गया।फातिमा होटल के रूम में थी। उस समय 11 बज रहे थे। मैं उसके रूम में गया। उसने दरवाजा खोल कर मुझे अंदर बुलाया। मैंने उसे देखा, वो मुस्कुराकर मुझसे खुश होने लगी।

मैं आपको उसके बदन के बारे में बता दूं। फातिमा ने लाल रंग का सूट पहना था। होंठो पर हल्की लाल लिपस्टिक थी। और उसके बाल खुले हुए थे। आंखों में काजल था। फातिमा के स्तन 34″ के थे। चेहरे पर उसने हल्का खूबसूरत मेकअप किया हुआ था। बहुत गजब का कामुक भरा हुआ बदन था।

फातिमा का बदन गोरा था। जिसे देख लौड़ा तन गया था। उसने मुझे बैठने को बोला और नाश्ता ऑर्डर किया। हम नाश्ता करने लगे। और बात भी कर रहे थे। वो मुझसे बोली-

फातिमा: देखो रोहित, तुम मुझे अच्छे से प्यार करना। मुझे बहुत प्यार की ज़रूरत है। मेरा बदन तुम्हारे लंड को देख कर मचल गया था।

मैंने उसे अपनी गोद में बिठाया, और गाल पर चूमते हुए बोला-

मैं: मेरी जान, आपको फुल मस्ती वाला प्यार देने के लिए ही आया हूं। तुम्हारी सारी प्यास मीठा दूंगा। अच्छा ये बताओ, आखिरी बार कब चुदी थी?

फातिमा: आज से 2 साल पहले अपने बॉयफ्रेंड से। लेकिन बॉयफ्रेंड से सेक्स करना अब मुझे ठीक नहीं लगता। मेरी बहुत प्रतिष्ठा है। और मेरा बेटा भी है। मुझे ये सब अब प्राइवेटली करना है।

30 मिनट तक हम नाश्ता करते हुए बात कर रहे थे। इस दौरान मैंने उसे कई बार किस किया। उसे अच्छा लग रहा था। वो मुझे चूमते हुए और मुस्कान देते हुए बोली-

फातिमा: मुझे तुम जैसे ही लड़के की तलाश थी। जो पूरा रोमांटिक और सेक्सी हो। तुम अच्छे से ट्रीट करते हो। मुझे तुम पसंद आये। तुम्हारा लंड मेरी गांड में चुभ रहा है।

मैं: हां वो आप जैसी खूबसूरत लेडी के लिए हमेशा ऐसे ही तैयार रहता हैं।

फातिमा ने मुझे लिप किस किया, और अपना मुंह मेरे गले में छुपा लिया। मैंने प्यार से उसका चेहरा पकड़ा और अपने सामने किया। वो मेरी आंखों में देखने लगी। मैंने धीरे से अपने होंठ उसके होंठों से चिपकाए। फातिमा ने अपनी आंखें बंद कर ली। उसकी गरम सांस नाक से निकल कर मुझे गरम कर रही थी।

मैं अब उसके कोमल होठों को किस करने लगा। फातिमा ने भी अपने होठों को मेरे होठों के लिए खोल दिया। वो भी मुझे मेरी गर्दन से पकड़ कर चूमने लगी। मेरा एक हाथ धीरे से उसके स्तनों को दबाने लगा जिससे फातिमा की सिसकियां निकल गयी।

फातिमा: उहह उम्म्म।

फातिमा भी अब गरम होके मेरे होंठों को चूसने लगी। मैं भी एक हाथ उसके बालों में घुमाते हुए उसके होठों को बिना रुके चूसने लगा। एक हाथ से उसके सूट के ऊपर से गरम और मुलायम स्तन दबाने लगा।

10 मिनट तक हम दोनों किस करते हुए एक-दूसरे में खो गए। उसकी आंखों मे कामुकता और सेक्स का नशा दिख रहा था। फातिमा मुझे ऐसे चूम रही थी, जैसे उसे बहुत सालों से ऐसे प्यार और स्मूच की जरूरत थी। मैंने उससे कहा-

मैं: उम्म्म्म उफ्फ्फ, बेबी लगता है तुम कुछ ज़्यादा ही प्यासी हो।

फातिमा: हा रोहित, मुझे एक तुम्हारे जैसा ही रोमांटिक लड़का चाहिए था। जिसे मैं और वो मुझे ऐसे ही चूमे। मेरे बदन के हर एक कोने को प्यार करे।

मैं: मेरी जान, मैं हूं ना। आज तुम्हारे बदन को अच्छे से प्यार दूंगा। जिस प्यार और रोमांस को तुम ढूंढ रही थी।

फातिमा: हां रोहित, करो ना मुझे और प्यार। मेरे हर आग बुझा दो आज। मेरे बदन के हर एक अंग पर अपनी छाप छोड़ दो मेरे राजा।

फातिमा मेरे होंठ, गाल, आंखों को चूमने लगी। मैं भी चूमने में उसका साथ दे रहा था। अब मैंने उसे अपनी गोद मे उठाया और बेड पर ले गया। बिस्तर पर उसके ऊपर आ कर उसके गले को बड़े प्यार से चूमने लगा। जिससे उसकी सिस्की निकलने लगी।

फातिमा: उह्ह्ह ओह्ह्ह हां बेबी।

वो भी मेरे सर में हाथ फेरने लगी। अब मैं सूट के ऊपर से उसके खुले सीने को चूमने लगा। फातिमा बस आंख बंद करके गरम सिसकियां ले रही थी। मैं एक हाथ से उसकी 36″ की गांड को दबा रहा था। फातिमा की गांड मुलायम गद्दे जैसी थी।

10 मिनट उसके ऊपर से चूमने के बाद, मैंने अब फातिमा का लाल सूट निकाल दिया। उसने सूट निकालने में मेरी मदद की। साथ ही उसने भी मेरे शर्ट निकाल दी। अब फातिमा मेरे सामने लाल ब्रा थी। जिसके मोटे स्तन टाइट थे। उसकी गरम सांसों के साथ बॉब्स भी ऊपर नीचे हो रहे थे।

मैं अब उसके कान को मुंह में लेके चूसने लगा। कान को चाटने और चूमने से वो बिस्तर पर मचल रही थी। जोर-जोर से गरम सिसकियां लेते हुए वो बोली-

फातिमा: उम्म्म उहह रोहित। क्या करते हो यार तुम। इतना मजा आ रहा है, बता नहीं सकती। मेरे बदन में बिजली दौड़ रही है।

अब मैं ब्रा के ऊपर से उसके स्तनों को चूमने लगा। 5 मिनट चूमने के बाद मैंने ब्रा निकल दी। उसके काले निप्पल वाले स्तन मेरे मुंह के सामने थे, जिसे मैं दबा-दबा के चूसने लगा। एक स्तन को पूरा मुंह में लेने लगा, और जोर-जोर से चूसने लगा।

फातिमा मेरा सर अपने बूब्स में दबाने लगी। मैं दूसरे स्तन को जोर से दबाने लगा। जिससे उसकी गरम कामुक सिसकियां निकल गई।

फातिमा: उह्ह्ह आह्ह्ह ओह्ह्ह हां हां। और चूसो प्लीज। खा जाओ, जोर से दबाओ ना बेबी। चूस लो इन्हें और निकाल दो सारा दूध। पी जाओ राजा। आह उफ्फ्फ हां। बहुत परेशान किया है इन्होंने।

मैं उसके दोनों स्तनों को बारी-बारी से चूसने लगा। फातिमा बिस्तर पर बस आंखें बंद करके अपने हाथ पीछे करके तकिये को पकड़ रही थी। मैं स्तन के साथ उसकी अंडर आर्म्स को भी चाटने लगा। मेरे चाटने से उसके बदन में सिहरन सी उठी। और उसके मुंह से सिस्की निकल गई।

फातिमा: श्श्श उह्ह्ह उम्म्म्म।

फातिमा के अंडर आर्म्स को बड़े प्यार से चाटा और चूमा। मेरे इस प्यार से उसके बदन में आग लगने लगी। मैंने उसके दोनों स्तन खूब टाइम तक चूसा। निप्पल को मुंह में लेके दांतो से ऊपर तक खींचता और चूसता। जिससे मुंह से उहह आह निकल जाता था।

मैंने उसके स्तन 25 मिनट तक खूब अच्छे से दब- दबा के चूसे। इससे उसके स्तन गीले हो गए। और अब मैंने अपना मुंह उसकी नाभि में घुसा दिया। फातिमा की गोरी और चिकनी नाभि को चाटने लगा। जिससे फातिमा मेरे सर को सिसकते हुए दबा रही थी।

फातिमा: उह्ह्ह आह्ह्ह ओह्ह्ह उफ्फ्फ हां बेबी।

फातिमा: मेरे राजा, ऐसे ही मुझे चाटो, चूमों, मेरे बदन की आग और बढ गई हैं।

फातिमा की नाभि चाटते हुए मैं उसकी सलवार को उतारने लगा, और उसकी गोरी मोटी जांघो को सहलाने लगा। उसके मुंह से गरम सिसकियां आने लगी। मैं अब पेट को चाट कर उसकी पेंटी के ऊपर से चूत को चाट रहा था। फातिमा का बदन मचलने लगा बिस्तर पर।

अब मैंने 5 मिनट बाद‌ उसकी पेंटी भी उतार दी। मेरे सामने फातिमा की क्लीन चूत थी। चूत टाइट थी, और फूली हुई थी। जो अब तक बहुत गिली हो चुकी थी। मैंने उसकी टांगे दूर की और अपना मुंह चूत के छेद पर रख दिया, और जुबान से चूत के दाने को चाटने लगा। मेरी जुबान के चाटने से फातिमा की जोरदार गरम सिस्की निकलने लगी।

फातिमा: उह्ह्ह श्श्श श्श्श हां ओह्ह्ह उफ्फ्फ। मजा आ रहा है। क्या करते हो तुम यार। मेरी चूत भड़क रही है। और करो, खा जाओ मेरी चूत।

मैं अपना मुंह चूत में दबा के पलकों को मुंह में लेके चूसने लगा, और दाने को दांत से काटने लगा। तो फातिमा की सिस्की निकल उठी।

फातिमा: अहह उहह उम्म्म।

तो दोस्तों अब अगले भाग में और मजा मिलेगा। मैंने फातिमा की जबरदस्त चुदाई की है।

यहां बहुत सी भाभी, हाउसवाइफ, आंटी है, जिन्हें कोई अच्छा प्यार और चुदाई करने वाला चाहिए। आप मुझे बिना डरे, मैसेज करे। आपको सारी खुशियां मिलेगी। आपकी बोरिंग लाइफ को मजेदार बना दूंगा। अपनी जवानी का मजा लीजिये बिना डरे। आपकी सेफ्टी और जानकारी गुप्त रहेगी।

फातिमा ने मुझे मैसेज किया, ऐसे आप भी करें और मुझसे बात करें। मुझे आप [email protected] पर मेल करें।

धन्यवाद।

यह कहानी भी पड़े  माँ के रंडीपन की कहानी कैसे दिलीप चाचा ने माँ को चोदा


error: Content is protected !!