बीवी को किसी अंजान आदमी ने चोदा-2

बीवी को किसी अंजान आदमी ने चोदा-1 मैने डोर बेल बजाई तो देखा वाइफ निघट्य में है और हाहूत खुश थी. डोर क्लोज़ करते ही मैं बोला क्या हुआ तो वाइफ ने मुझे किस करते हुए मुझे बेड पर पटक दी मेरी पंत और छड़ी उतार जर मेरे लंड को अपने छूट में घुसा कर बोली “ई लोवे योउ जानू”, आज तो मज़ा आ गया. आप ने मेरा दिल जीत लिया, थॅंक योउ.

मैं बोला अरे हुआ क्या? चुदाई हुआ या नही? वाइफ बोली बस का गर्मी होटेल में निकल गया. मैं खुश हो गया. बोला डार्लिंग तब तो आज थ्रीसम होगा ना. तब वाइफ ने कहा अभी थ्रीसम के लिए नही बोली. मेरी हिम्मत नही हुई बोलने के लिए. अब आप ही उनसे दोस्ती कर लीजिए. वो भी आपसे दोस्ती करना चाहते है.

फिर मैं वाइफ से कहा क्या तुम सब बता दी हो उसको की मुझे यह सब बातें पता है. तो वाइफ ने कहा नही, मैने उनको कुछ नही बताई. बस इतना कहा की हज़्बेंड को पता चल जाएगी तो बहुत बुरा होगा. फिर हम दोनो हज़्बेंड वाइफ ब्रेकफास्ट कर के सो गये.

जब सो कर उठा तो 1:15 पीयेम बाज रहा था. मैने वाइफ को उठाया और कहा चुदाई करोगी फिर से उस स्ट्रेंजर से. वाइफ बोली तक गयी हू. शाम को उसको बुला लूँगी. मैं बोला चलो फोन उठाओ और उस आदमी को कॉल करो और पूछो क्या जर रहा है

वाइफ ने उस स्ट्रेंजर को कॉल लगाई और पूछने लगी ही क्या कर रहे है. तो उसने कहा डार्लिंग बाहर आया हू होटेल के बगल में बियर पीने. वाइफ बोली शाम को मिलेंगे? उसने कहा जब हज़्बेंड नही होगा तो कॉल कर देना. वाइफ बोली ठीक है और कॉल कट करदी.

मैं वाइफ से कहा कुछ मंगवा डू खाने के लिए तो वाइफ ने कहा अभी नही. फिर मैं बोला तोड़ा बाहर से घूम का आता हू. और होटेल से बाहर चला गया.

मैं वो बियर की शॉप ढूंड रहा था और जस्ट होटेल के बगल में था तो मिल ही गया. मैने बियर वेल से कहा बेत्ने का कोई जगह है क्या. वो बोला हा बगल वाला शॉप हमारा ही है वाहा खा पी सकते है. और मैं बगल वेल शॉप में चला गया. शॉप के अंदर बहुत लोग थे.

मैने वेटर को पैसे देकर एक बियर मंगवा लिया और पीने लगा. फिर दूसरा मँगवाया ही था की वो स्ट्रेंजर बस वाला मेरे पास आ गया और बोलने लगा क्या मैं यहा बेत सकता हू. मैने कहा अरे आप. आप तो हमारे साथ बस में थे ना वो बोला हा.

यह कहानी भी पड़े  भाई के दोस्त से चुदी पूरी रात

फिर हम साथ बियर पीने लगे और बात करने लगे. मैने कहा आप लुक्कणोव के कई तो उसने कहा नही गोरखपुर का हू. देल्ही जा रहा था पर कुक्कणोव 2-3 दिन का काम है इश् लिए रुक गया. उसने मुझसे पूछा आप लुक्कणोव के है, तो मैने कहा नही हम अल्लहाबाद के है और वाइफ को लुक्कणोव घूमना था इश् लिए लुक्कणोव रुक गये.

2-2 बियर पीने के बाद उसने पूछा आप कहा रुके है, रिलेटिव के यहा. मैने कहा हमारा यहा कोई रिलेटिव नही हम बगल में एक होटेल में रुके है. उसने कहा मैं भी बगल वेल होटेल में रुका हू.

फिर मैने कहा बियर तो हो गया एक-एक बियर लेकर होटेल चलते है और आपको अपनी ब्यूटिफुल वाइफ वी मिलता हू. वो बोला ठीक है और हम होटेल चल दिए.

होटेल पहुच कर डोर बेल बजाया तो सामने हुंदोनो को देख कर वाइफ बोली आए यह कौन है. मैं बोला अरे पहचानी नही यह बस वेल भाई साहब है जो तुम्हारे बगल में बैठे थे. तब वाइफ बोली पता नही मैने फेस नही देखा था. सॉरी पहचान नही पाई.

हम रूम के अंदर आ कर डोर लॉक कर दिए. और फिर बियर निकल कर पीने लगे. मैने वाइफ से कहा बियर पियोगी तो उसने माना कर दिया और बिस्तेर पर चेहरा उधर कर के लेट गयी( गंद हमारे तरफ)

थोड़ी देर बाद बियर पीने के बाद मैं बातरूम चला गया और जब वापस आया तो देखा वो आदमी मेरी वाइफ के बगल में लेता हुआ था. मैने कहा क्या हुआ तो उसने कहा बहुत नशा हो गया है और चक्कर और नींद आ रहा है. मैने कहा ठीक है रेस्ट कर कीजिए.

फिर मैं आ.सी को 16° डिग्री पर लगा कर लाइट ऑफ कर दिया और वाइफ के बगल में लेट गया. अब मेरी वाइफ हुंदोनो के सेंटर में सोई थी.

10 मिनिट्स बाद जब आ.सी के कारण ठंड लगने लगी तो हम तीनो ने एक ही कंबल में सो गये.

30 मिनिट बाद मुझे कंबल में कुछ हरकत महसूष हुआ. मैने धीरे से चेक किया तो मेरी वाइफ पूरा नंगी थी और वो आदमी भी पूरा नंगा था. वो मेरी वाइफ के बॉडी के साथ खेल रहा था. फिर मैने अपने वाइफ को शीधा लिटा दिया.

यह कहानी भी पड़े  एक बिल्डर से चुदाई कहानी

उस आदमी ने मेरी वाइफ के एक चुचि को चूस रहा था तो मैने भी वाइफ की दूसरी चुचि को चूसने लगा. मेरी वाइफ मोन करने लगी. 10 मिनिट बाद उस आदमी ने मेरी वाइफ की छूट को चूसने लगा और मैं उसकी चुचि को चूस्ता रहा.

वाइफ बहुत गरम हो गयी थी और कस कस के मोन करने लगी और मुझे बोलने लगी प्लीज़ मुझे छोड़ो मेरे राजा.

मैं ंल्नीचे लेता हुआ था और वाइफ को अनपे उप्पर बिता दिया और अपना लंड उसकी छूट में दल जर धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा. तभी उस आदमी ने अपना लंड मेरी वाइफ के मूह में दल दिया और मेरी वाइफ उसकी लंड चूसने लगी.

फिर थोड़ी देर बाद उस आदमी ने मेरी वाइफ के पेचए आ कर उसके गंद में और अपने लंड में तेल लगाया और मेरी वाइफ के गंद में लंड डालने लगा. लंड तोड़ा अंदर गया ही था की मेरी वाइफ ने मुझे कस कर जाकड़ लिया और मैने भी उसको कस कर अपने बाहों में दबा लिया.

उस आदमी ने धीरे धीरे अपना स्पीड बढ़ा दिया और अपना पूरा का पूरा लंड वाइफ की गंद में घुसा दिया. और मैं भी नीचे से उसकी छूट में पूरा लॅंड घुसा कर उसको छोड़ने लगा.

करीब 15 मिनिट्स चुदाई के बाद मैं झाड़ गया और फिर मेरी वाइफ सीधे लेट गयी. फिर उस आदमी ने मेरी वाइफ के उपर आ कर उसको छोड़ने लगा. 10 मिनिट्स बाद वो भी झाड़ गया. और 10 मिनिट बाद अपने रूम में चला गया.

थोड़ी देर बाद मैने वाइफ से कहा थॅंक योउ डियर मेरी थ्रीसम की फॅंटेसी पूरी करने के लिए. अब मैं तुमको कभी नही कहूँगा थ्रीसम जे लिए. अब तुम अकेले ही जिसके साथ छुड़वाना हो छुड़वा लेना.

वाइफ बोली थॅंक योउ आपको बोलना चाहती हू. थ्रीसम क्या होता है आज पता चला, मुझे बहुत मज़ा आया. अब से मैं किसी अजनबी से अकेले नही चड़वौनगी. हमेशा थ्रीसम ही करना चाहूँगी बहुत मज़ा आता है, दर्द भी माजा भी.

मैं बोला ठीक है.

हम लुक्कणोव 2 दिन और 2 रात रुके थे और इन 2 दीनो में 4 बार उस आदमी के साथ थ्रीसम चुदाई का मज़ा लिया.

अगर कहानी पसंद आई या कोई सुझाव है तो हुमको [email protected] पर फीडबॅक (हणगौत्स) कर सकते है.


error: Content is protected !!