बीवी की गैर मर्दों से हम-बिस्तर होने की कहानी

हेलो दोस्तों, अगर आपने मेरी कहानी का पहला पार्ट नही पढ़ा है, तो पहले वो पढ़ लीजिए. तभी आपको ये आचे से समझ आएगी, और आप सब उत्तेजित हो कर अपने खड़े लंड को मूठ मार कर शांत कर पाएँगे. तो हम सब अब जहा पहला पार्ट ख़तम हुआ था, वही से आयेज बढ़ते है.

विजय: वेरी गुड.

फिर वो सब कपड़े पहन कर आते है. आंड आज का पॅक-उप होता है. फिर सब निकलते है और विजय फिर नेहा से कहता है-

विजय: कल तुम्हे एक-दूं न्यूड सीन देना है. तो अगर नीचे शेव नही की हो तो कल शेव करके आना.

नेहा: बुत सिर वो दिखता कहा है.

विजय: तुमने देखा होगा की क्लियर्ली नही दिखाते है, बुत कुछ दिखाते है उपर का.

नेहा: एस सिर.

विजय: हा तो हम उपर का कुछ ज़्यादा दिखाएँगे क्यूंकी मैने बताया था की हमे दूसरी सीरीस से ज़्यादा सेक्सी बनाना है, तो इसलिए पूरा न्यूड होना होगा. और सेक्स सीन है कल, तो आक्टर झटके लगते हुए भी दिखना है. अब अगर वो पनटी या अंडरवेर में दिखाएँगे तो पब्लिक को कैसे लगेगा की रियल सेक्स सीन है. और उन्हे तो ये लगेगा हम चूतिया बना रहे है

नेहा: जी सिर, आपकी बात ठीक है.

विजय: हा, और बूब्स तो पुर क्लियर्ली शो होते ही है. शेविंग की हुई है नीचे या नही?

नेहा: नही सिर.

दानिश: अर्रे डाइरेक्टर साहब अगर हल्के छ्होटे-छ्होटे बाल दिखाएँगे तो ज़्यादा सेक्सी बन जाएगा.

विजय: हा सिर आप ठीक कह रहे हो. तो नेहा कितने बड़े बाल है?

नेहा: सिर थोड़े बड़े है.

विजय: अर्रे एक काम करो, दिखाओ कितने है.

नेहा: वॉट सिर?

विजय: अर्रे कल पूरा न्यूड होना ही है, आंड डाइरेक्टर मैं ही हू. और मैं वैसे भी देखूँगा सब, तो अभी चेक कर सकते है ना, की शेविंग की ज़रूरत है या नही. वैसे भी कों सा पूरा न्यूड होना है. अभी तुम बस हल्का नीचे करके उपर के दिखा दो.

फिर नेहा प्लाज़ो और पनटी नीचे करके अपने बाल दिखती है.

विजय: दानिश सिर देखना इतने ठीक है क्या?

फिर दानिश भी देखता है और कहता है: नही ये तो बड़े है.

विजय: तो तुम शेव आज रात ही कर लेना.

नेहा: ओके सिर.

फिर नेहा और असीम निकल रहे होते है

विजय: अर्रे असीम, तू रुक जेया. एक-एक ड्रिंक हो जाएगी. और कुछ प्रॉजेक्ट का डिसकस करना है.

असीम: नेहा तुमने रास्ता तो देख लिया है, तो चली जाओगी?

नेहा: हा मैं चली जौंगी.

फिर वाहा बैठक लगती है, और विजय, दानिश, और असीम बैठे होते है. मैं सोचता हू सुनता हू उनकी बातें, क्यूंकी मेरे ऑफीस से तो मैं शाम में ही जाता हू. इसलिए उनकी बातें सुन कर फिर आराम से ही जौंगा घर.

वो तीनो ड्रिंक करना स्टार्ट करते है, और एक बॉटल ख़तम कर देते है. फिर सिगरेट लगते है और बातें स्टार्ट करते है.

दानिश: यार असीम, इस बार तू मस्त माल लाया है. एक-दूं कड़क पीस है ये नेहा.

असीम: अर्रे बहुत मेहनत लगी है, आंड महीनो का नतीजा है ये.

विजय: बहनचोड़ इसे छोड़ने में आएगा असली मज़ा.

दानिश: हा यार, अब तक जितनी को छोड़ा है. सब साली ढीली और मोटी भद्दी थी.

विजय: हा यार, ये तो आइटम है एक-दूं. लगता है इसका हज़्बेंड कमज़ोर है, या उसका लंड छ्होटा होगा.

मुझे ये सुन कर बहुत बुरा लगता है.

दानिश: पर यार ये इतनी आसानी से चूड़ेगी नही.

विजय: अर्रे तो लंबा जाल डालेंगे, फिर इसको छोड़ेंगे ज़रूर. और इस बार पहले ये असीम इसे छोड़ेगा.

असीम: मैं कैसे पहले?

विजय: कल देवर वाला रोल कहेंगे आक्टर आया नही, तो असीम करेगा, और उसे तो बता ही दिया की नंगा होना है. तो तू ऐसे गरम कर देना की वो माना नही कर पाए.

असीम: अर्रे इतनी आसानी से नही देगी वो छूट.

विजय: देख उसकी छूट और फिगर देख कर इतना तो है, की उसके हज़्बेंड के लंड में दूं नही. और तुझसे लंबा मोटा लंड यहा किसी का नही सिवाय एक के (और वो दानिश की तरफ देख कर हेस्ट है). वो बहकेगी ज़रूर, और बाकी काम डाइरेक्टर कर देगा.

असीम: अर्रे अगर कल नेहा को छोड़ने को मिल जाए तो मज़ा आ जाए.

विजय: हा फिर उसके बाद हम दोनो उसे छोड़ेंगे और रंडी बना लेंगे अपनी.

मैं ये सब सुन कर बहुत गुस्से में था, और मॅन कर रहा था उन्हे गोली मार डू. फिर मैने सोचा की मैं अपनी बीवी को भी देखु की वो खुश थी मेरे लंड से या बहक जाएगी. और फिर मैं कल का इंतेज़ार करता हू. फिर वो बैठक ख़तम करते है, और मैं भी घर आ जाता हू. फिर रात को असीम आता है घर पर.

असीम: अब तो तुम खुश होगी नेहा?

नेहा: हा बिल्कुल, और राज सुनो अगर इसमे मेरा काम अछा हुआ, तो वो और दो मूवीस में मुझे लेंगे.

मे: अर्रे वाह, बहुत अची बात है ये तो.

नेहा: तुम्हे तो कोई प्राब्लम नही है, क्यूंकी इसमे कुछ रोमॅंटिक सीन्स भी है?

मे: अर्रे आज कल की मूवीस में तो ये ज़रूर होता है. आंड अगर तुम कंफर्टबल हो तो जो चाहो करो.

नेहा: थॅंक्स राज मुझे सपोर्ट करने के लिए, आंड असीम कल साथ चलोगे या कही जाना है?

असीम: नही कल चलूँगा, क्यूंकी वही मुझे दूसरे प्रॉजेक्ट की डीटेल्स लेनी है उनसे.

फिर चलता हू कल सुबा जल्दी निकलना है.

और फिर वो चला जाता है, और हम भी सोने जाते है. मुझे पता था नेहा ने आ कर सबसे पहले शेव ही की होगी. तो मैं चेक करने को उसकी पनटी में हाथ डाल देता हू, और वो एक-दूं सॉफ्ट थी. नेहा मेरा हाथ पकड़ लेती है.

नेहा: आज नही वरना मैं तक जौंगी. और कल सुबा जल्दी जाना है.

मे: ओके जान, कोई बात नही.

फिर हम सो जाते है. नेक्स्ट सुबा वो जल्दी उठ कर रेडी होती है, और असीम को कॉल करती है. फिर वो निकल जाते है, आंड उसके बाद मैं भी जल्दी से उनके पीछे निकल जाता हू. अब लगभग वही एक घंटे ट्रॅवेल करके हम शूटिंग की जघा पर पहुँचते है. उनके अंदर जाते ही मैं जल्दी से पीछे जेया कर अपनी जगह ले लेता हू, और अब आयेज अंदर देखता हू क्या होता है.

अंदर कल की तरह सब लोग थे. पर बस मोहन नही था. और आज बस 5 ही लोग थे जिनमे डाइरेक्टर, प्रोड्यूसर, कॅमरमन, और दो लोग ड्रेस वग़ैरा आंड सेट उप करने के लिए.

विजय: नेहा रेडी हो?

नेहा: एस सिर.

विजय: शेव करके आई हो ना?

नेहा (कुछ शरमाते हुए): जी सिर.

विजय: ठीक है, फिर शूट करते है. बुत एक प्राब्लम आ गयी है. जो दूसरा आक्टर था जो देवर का रोल करने वाला था, वो अवेलबल नही है.

नेहा: तो सिर?

विजय: दानिश सिर क्या हम शूट डेले कर सकते है?

दानिश: वो कब तक आएगा?

विजय: उसने तो कहा है की 15 दिन लग जाएँगे.

दानिश: भाई इतना वक़्त बर्बाद नही कर सकते. क्यूंकी हमे और 2 मूवीस का भी काम करना है, आंड ये तो बस शॉर्ट फिल्म है. तो एक दो दिन का शूट है.

विजय: तो एक काम कर सकते है. शॉर्ट फिल्म है, और असीम आया हुआ है. इसने पहले भी कुछ फिल्म्स में रोल किए है. तो यही कर लेगा वो रोल.

दानिश: हा, ये बिल्कुल ठीक रहेगा.

विजय: असीम कर लोगे ना?

असीम: हा ठीक है सिर.

विजय: लो नेहा, तुम्हारे लिए और ईज़ी हो गया.

नेहा: कैसे सिर?

विजय: अर्रे असीम तुम्हारा दोस्त है, और किसी अंजान के साथ सेक्स सीन देने से अछा है दोस्त के साथ कंफर्टबल रहोगी.

नेहा: जी सिर.

विजय: तो अब स्टार्ट करते है. सो नेहा तुम एक ढीला सा टॉप डालगी लूस वाला, आंड उसमे ब्रा नही पहनोगी अंदर, और स्कर्ट फनॉगी. दादा वो ड्रेस दो नेहा को.

फिर नेहा बिना ब्रा के एक लूस टॉप पहन कर स्कर्ट के साथ बाहर आती है ड्रेसिंग रूम से.

विजय: अब तुम एक प्यासी लड़की हो, जिसे सुहग्रात पर ही उसके हज़्बेंड की कमज़ोरी का पता चलता है. आंड तुम्हे सेक्स चाहिए, तो तुम असीम को झुकते हुए छाई देती हो, जिससे तुम्हारे बूब्स देख कर वो सिड्यूस हो जाए. फिर उसके सामने सोफे पर बैठना है पैरों को हिलाते हुए, जिससे पनटी दिखे.

नेहा: ओक सिर.

सीन स्टार्ट होता है. अब असीम एक जगह बैठा होता है, और एक कप छाई लेकर नेहा आती है. फिर उसके सामने झुकते हुए वो छाई देती है. इससे उसके बूब्स असीम को दिखते है, और फिर वो सामने सोफे पर बैठ जाती है. फिर अपनी टाँगो को खोलती है हल्का, जिससे उसकी ब्लू पनटी पर असीम की नज़र जाती है.

विजय: पर्फेक्ट शॉट. अब असीम तुम समझ जाते हो भाभी का इशारा. तो तुम बात करोगे की कैसी रही सुहग्रात, और फिर नेहा तुम बताती हो की तुम्हारे भैया तो ज़ीरो पर आउट हो गये.

सीन स्टार्ट होता है. फिर असीम जाता है सोफे पर और कहता है-

असलम: भाभी कैसी रही सुहग्रात कल?

नेहा: अर्रे तुम्हारे भैया तो ज़ीरो पर आउट हो गये, और पिच ऐसे ही रह गयी.

फिर नेहा चली जाती है.

विजय: बढ़िया, बहुत आचे. अब रात का सीन है. नेहा तुम सारी पहन के आ जाओ, और जब नेहा आएगी, असीम तुम कॉल पर बात कर रहे होगे की मोहन को मम्मी पापा को लेकर 2 दिन के लिए गाओं जाना है.

विजय: फिर नेहा तुम फिसल कर गिर कर असीम के उपर गिर जाना. और फिर वाहा से असीम तुम भाभी को कहोगे “अर्रे मैं आपको रूम में ले चलता हू”. और गोद में उठा लोगे. फिर रूम का सेटप होगा, और उसको बेड तक ले जाओगे आंड असीम इस फिल्म में तुम्हारा नाम निखिल है.

फिर सीन स्टार्ट होता है. नेहा सारी पहन कर आती है, और निखिल यानी असीम कॉल पर बात कर रहा होता है.

निखिल: क्या भैया, आप मम्मी पापा के साथ गाओं निकल गये, और बताया भी नही.

और ठीक है कह कर कॉल रखता है.

नेहा: क्या हुआ निखिल?

निखिल: वो भैया और मम्मी-पापा 2 दिन के लिए गाओं निकल गये.

नेहा: अर्रे बताया भी नही.

फिर नेहा आयेज बढ़ती है, और गिरने की आक्टिंग करती है, और निखिल उसे पकड़ लेता है.

निखिल: अर्रे आराम से भाभी, देखो चोट लग गयी होगी. मैं आपको रूम में ले चलता हू.

और वो गोद में उठा लेता है. फिर जब तक पीछे रूम का सेट-उप हो जाता है, बेड पर निखिल उसको ले आता है.

विजय: एक्सलेंट शॉट. बस अब असीम जब तुम नेहा को बेड पर लिटाओगे, तो तुम गिरने की आक्टिंग करके नेहा के उपर गिर जाना, और फिर एक-दूं से किस करने लग जाना. और नेहा तुम भी असीम का साथ देना.

नेहा: ओक सिर.

विजय: अब सुनो ये सीन आज का लास्ट है. तो एक टके में पूरा करना.

असीम: बिल्कुल सिर.

विजय: फिर किस के बाद तुम नेहा की सारी निकलोगे, और नेहा तुम इसकी त-शर्ट निकाल देना. फिर असीम तुम खड़े हो कर पंत निकाल कर अंडरवेर में आ जाना, और फिर ब्लाउस निकाल कर बूब्स को दबाना. फिर नीचे आ कर पेटिकोट अलग कर देना.

सीन स्टार्ट होता है. अब नेहा को लेकर जब निखिल बेड पर लिटता, है, तो वो भी नेहा के उपर गिर जाता है, और फिर एक-दूसरे को देखते है. अब निखिल किस करने लग जाता है. नेहा भी उसका साथ देती है, और दोनो किस करते है.

फिर निखिल उठ कर नेहा की सारी खोल कर फेंक देता है, और नेहा भी उसकी त-शर्ट निकाल देती है. अब वो दोबारा से किस करने लग जाते है. इसके बाद वो ब्लाउस के हुक्स खोल कर उसे भी फेंक देता है, और फिर खड़े हो कर अपनी पंत निकाल देता है, और अंडरवेर में आ जाता है. फिर ब्रा के उपर से नेहा के बूब्स दबाने लगता है.

विजय: वेरी गुड शॉट. आंड नेहा तुम्हे घर जल्दी तो नही जाना है?

नेहा: नही सिर.

विजय: तो ठीक है. फिर देवर भाभी का सेक्स सीन भी आज ही शूट करते है, आंड असीम तुम्हे तो नही जाना?

असीम: नही सिर.

विजय: ओके, तो अब ध्यान से सुनो दोनो. ये सीन पर ही हमारी ये फिल्म की सक्सेस डिपेंड करेगी. और नेहा तुम्हे आयेज की दोनो फिल्म्स में भी रोल इसी सीन की पर्फेक्षन से मिलेगा. तो ये सीन हमे एक-दूं हॉट और बहुत ही ज़्यादा सेक्सी बनाना है, जिससे सब ऑट सीरीस पीछे रह जाए.

फिर वो दोनो ओके कहते है.

अब विजय जो डाइरेक्टर था, उसने प्लान के अकॉरडिंग सब सेट कर दिया था. अब बस नेक्स्ट सीन में मेरी बीवी नेहा की चुदाई होने वाली थी, जिसका मज़ा वाहा बाकी लोग देख कर भी लेंगे. और मैं देखना चाहता हू की क्या मेरी बीवी वाकाई मेरे लंड और सेक्स से खुश नही थी. और वो उनसे छुड़वा लेगी. या फिर माना कर देगी. जिससे मेरी इज़्ज़त बढ़ जाएगी. तो आप सब नेक्स्ट पार्ट के लिए रेडी रहना दोस्तों.

यह कहानी भी पड़े  किचन में मा-बेटे की चुदाई की कहानी


error: Content is protected !!