कज़िन बहन और उसकी दोस्त के साथ ग्रूप सेक्स

हेलो दोस्तों! मैं आपका दोस्त अजय फिर से वापस आ गया हू अपनी स्टोरी के नेक्स्ट पार्ट के साथ. उमीद है ये पार्ट भी आपको पसंद आएगी.

लास्ट पार्ट मे आपने पढ़ा की कैसे गोल्डी ने पूजा को मेरे सामने छोड़ा.

उस दिन के बाद पूजा और गोल्डी काफ़ी फ्रॅंक हो गये थे. मम्मी पापा के ना होने पर वो कहीं भी चुदाई करते थे. हर रात को पूजा मेरे रूम मे गोल्डी से चुड्ती थी.

एक दिन मैं गोल्डी को अपने साथ अपने ऑफीस ले गया. वो वहाँ कॅंटीन मे बैठा था. दोस्तों मैं उस टाइम कॉल सेंटर मे जॉब करता था. वहाँ मेरी एक मूह बोली बेहन थी जिसका नाम हीना था. हम दोनो एक दूसरे को स्कूल टाइम से जानते हैं. वो मेरी क्लासमेट थी. हम दोनो का रीलेशन काफ़ी अच्छा था. और वो मुझे हर साल रखी बाँधती थी.

हीना (आगे 22) मुस्लिम थी, उसकी हाइट 4’10” थी पर उसका फिगर बहुत ही मस्त था. उसके चुचे 28 के थे कमर 30 की और गांद थोड़ी मोटी थी. मैने हीना को कभी ग़लत नज़र से नही देखा था. उसका एक बाय्फ्रेंड था, जिसका नाम अमित था.

हीना के साथ कॉल सेंटर मे एक लड़की जॉब करती थी. जिसका नाम साहीन (आगे 21) था. वो हीना के पड़ोस मे रहती थी, और वो भी मुस्लिम ही थी. मैं साहीन को बहुत ही पसंद करता था. वो दिखने मे बहुत खूबसूरत थी. उसका दूध जैसा गोरा रंग, काले बाल जो उसके चुचो तक ही थे. उसका फिगर 34सी 30 32 था. उसकी हाइट 5’2″ थी. उसको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

मैने साहीन को कभी अपने दिल की बात तो नही बताई, पर हम तीनो हमेशा साथ रहते थे. साथ मे लंच करना, वीकेंड पर मूवीस देखना.

मैं और गोल्डी मेरे ऑफीस के कॅंटीन मे बैठे थे. तभी हीना और साहीन आए. हीना ने उस वक़्त हल्के ग्रीन कलर की सलवार कमीज़ पहनी थी, और साहीन ने ब्लॅक लेगैंग्स और रेड टॉप पहनी थी. दोनो कमाल के लग रहे थे. वो आकर हुमारे पास ही बैठे.

मैने उन दोनो का इंट्रोडक्षन करवाया गोल्डी से. वो लोग जल्द ही आपस मे घुल मिल गये. गोल्डी का सेन्स ऑफ ह्यूमर काफ़ी अच्छा है इसलिए लड़कियाँ उसे पसंद करती है. हम लोगो ने साथ मे लंच किया. फिर गोल्डी ने दोनो से नंबर एक्सचेंज किए.

गोल्डी हीना के काफ़ी क्लोज़ आने की कोशिश कर रहा था. मैने भी सोचा की इसने मेरी बेहन को तो छोड़ ही दिया है, शायद मेरी मूह बोली बेहन को भी छोड़ लेगा.

फिर शाम को जुब मैं और गोल्डी वापस आ रहे थे, तो उसने रास्ते मे मुझसे बात की.

गोल्डी: साहीन को छोड़े हो कभी.

अजय: नही यार कहाँ.

गोल्डी: छोड़ने का मान तो होगा ही.

अजय: हन, पर आसान थोड़ी है.

गोल्डी: अरे सब आसान है, हर लड़की चूड़ना चाहती है. बस सही तरीके से फसाना आना चाहिए. हम तो हीना को छोड़ेंगे.

अजय: उसका बाय्फ्रेंड है.

गोल्डी: तो क्या हुआ, नंबर लिए हैं ना. देखो जल्द ही पटते हैं. कहो तो तुम्हारी भी हेल्प करे साहीन को छोड़ने मे.

अजय: ठीक है.

मैं खुश हो गया क्योंकि मैं उस लड़की को छोड़ने वाला था, जिसके बारे मे सोच कर मैं हिलाया करता था. गोल्डी ने Wहत्साप्प पर एक ग्रूप बनाया हम चारो का.

गोल्डी: ही!

हीना: हेलो.

अजय: ही हीना, क्या कर रही है?

हीना: कुछ नही बस टाइम पास.

साहीन: ही गाइस.

हीना: ही.

गोल्डी: अच्छा तुम मे से डॉग्स किसको किसको पसंद है?

हीना: मुझे पसंद है.

साहीन: मुझे भी, तुम्हे भी डॉग्स पसंद हैं?

गोल्डी: नही, मुझे उनका स्टाइल पसंद है.

हीना: डॉगी स्टाइल.

गोल्डी: हन.

ऐसे हमारी चाटिंग बगैरा होने लगी. गोल्डी काई डबल मीनिंग जोक्स भी ग्रूप मे डालता रहता. जिस पर साहीन और हीना हेस्ट थे. हम काई बार ऑफीस मे मिलते साथ मे लंच करते.

ऐसे ही दो हफ्ते बीट गये. हम च्चरो ने साथ मे मोविए देखने का प्लान बनाया. हम माल मे गये. मैने गोल्डी के कहने पर टॉप रो के कॉर्नर की 4 सीट्स बुक की थी. हम सब थियेटर मे जाकर अपनी सीट्स पर बैठे. सीट्स कुछ इस तरह थी, कॉर्नर मे हीना, फिर गोल्डी, फिर साहीन और उसके बाद मैं. थोड़ी देर मे मोविए स्टार्ट हुई.

कुछ देर बाद गोल्डी ने मुझे इशारा किया तो मैने देखा उसका हाथ हीना की झांग पर था और वो उसे सहला रहा था. साहीन ने ये सब देखा. गोल्डी ने सहीं को किस करना स्टार्ट कर दिया. और एक हाथ से हीना की झांग सहला रहा था.

मैने भी हिम्मत रख के अपना हाथ साहीन की छूट पर रख दिया. उसने अपना हाथ मेरे हाथ पर रखा और ग्रिप टाइट कर दिया. फिर वो गोल्डी को छ्चोड़ कर मेरी ओर मूडी हुँने एक दूसरे को किस करना स्टार्ट किया.

हुँने 10 मिनिट्स तक एक दूसरे को किस किया. मैं उसकी छूट सहला रहा था. उसके बाद मैने अपना हाथ उसकी टॉप के अंडर डाला और उसके बूब्स प्रेस करने लगा. उसकी चुचियाँ बहुत गरम लग रही थी, जिस से मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

मैने दूसरी ओर देखा तो गोल्डी ने अपना लंड बाहर निकल रखा था, और हीना उसे झुक कर चूस रही थी. मैने भी साहीन को इशारा किया. वो मेरी सीट के आयेज घुटनो पर बैठ गयी. उसने मेरे पंत की ज़िप ओपन की और मेरा लंड अपने हाथ से पकड़ के बाहर निकाला.

उसने पहले मेरे लंड के टिप पर किस किया, फिर उसे चूसने लगी. दूसरी तरफ गोल्डी ने अपना पूरा लंड हीना के मूह मे डाल दिया था, और उसे अंडर बाहर कर रहा था. ऐसे ही वो दोनो सहेलियों ने हम दोनो भाइयों का लंड लगभग 10 मिनिट्स तक चूसा. फिर गोल्डी ने खा प्लेस स्वाप करते हैं.

हीना को तोड़ा अजीब लगा क्योंकि मैं उसका मूह बोला भाई था, पर उसे टा नही था की इस भाई ने अपनी बेहन को अपने मौसेरे भाई से चुडवाया है. गोल्डी के कहने पर वो मान गयी. हीना और साहीन ने अपने सीट एक्सचेंज कर लिए.

हीना मेरे पास आई और मुझसे खा, “भाई, मैने अब तक अमित का लंड भी नही चूसा था, और आज तुम दोनो का चूस रही हू.”
मैने उसके फेस को पकड़ा और उसे किस कर ए लगा. उसने मेरे लंड को हाथ मे पकड़ कर सहलाने लगी. मैं किस करते हुए उसके बूब्स को मसल रहा था.

फिर लाइट्स जल गयी तो हम सब अलग हुए. मोविए का इंटर्वल हो गया था. हम मे से कोई भी मोविए नही देख रहा था. हम एक दूसरे को देख कर हासे.

गोल्डी ने खा, “मोविए तो वैसे भी नही ., क्यों ना किसी होटेल मे चले? एक ही रूम मे सारे ग्रूप चुदाई करेंगे.”

हीना: नही यार होटेल नही, सेफ नही होगा.

.: मेरे घर चलते ., वहाँ पर अभी कोई नही होगा.

हम सब मान गये और मोविए छ्चोड़ कर साहीन के घर के लिए निकल गये. साहीन का घर माल से 2 केयेम की . पर ही था. तो हम . करके जाने लगे. . मे हीना ने फिर से वही बातें स्टार्ट की.

हीना: . मैं अभी तक वर्जिन हू, मेरे ब्फ ने भी मुझे नही छोड़ा है.

गोल्डी: कोई बात नही मेरी जान, आज हम दोनो तुझे छोड़ेंगे.

साहीन: गोल्डी, तेरा लंड सच मे बहुत मस्त है.

ऐसे ही बात करते करते हम साहीन के घर पहुँच गये. साहीन के घर पर कोई नही था, उसके मों-दाद जॉब करते थे. और उसका भाई भी अभी स्कूल गया हुआ था. साहीन ने मैं डोर बंद किया और हम चारो हॉल मे आए जहाँ पर एक सोफा और उसके सामने एक टेबल रखा हुआ था. सामने दीवार पर टीवी था.

मैं तुरंत ही हीना पर टूट पड़ा और उसे किस करने लगा. गोल्डी भी साहीन को किस कर रहा था. मैने अपनी शर्ट निकली और ज़मीन पर फेक दी. उसके बाद अपनी जीन्स भी निकल दी. हीना ने भी अपनी सलवार कमीज़ निकल दी.

अब वो सिर्फ़ ग्रे कलर की ब्रा और पॅंटीस मे थी. दूसरी तरफ गोल्डी और साहीन एक दूसरे को किस कर रहे थे. गोल्डी ने एक एक करके साहीन के सारे कपड़े उतार दिए, और उसे पूरा नंगा कर दिया.

मैं साहीन को पहली बार ऐसे देख रहा था, मेरी उस पर से नज़र ही नही हट रही थी. ये देख कर हीना ने भी अपनी ब्रा और पॅंटीस उतार दी. गोल्डी और मैं भी पूरे नंगे हो गये.

अब रूम मे हम सब बिना कपड़ो के थे, और रूम का टेंपरेचर बढ़ गया था या फिर ये बस चुदाई की धुन थी जो हुमारे दिमाग़ पर सॉवॅर थी.

मैं सोफे पर बैठ गया और हीना को अपने उपर आने का इशारा किया. गोल्डी ने साहीन के दोनो हाथों को टेबल पर रख कर उसे झुका दिया. उसने अपने हाथ को गीला किया और उसकी छूट पर मसला. गोल्डी ने अपना लंड साहीन की छूट पर सेट किया और धीरे से अंडर पुश किया.

दूसरी तरफ हीना मेरे पास आई उसने मेरे लंड को मूह मे लेकर गीला किया. फिर वो अपने पैरो को मेरे दोनो तरफ रख दिया और अपनी छूट को मेरे लंड पर सेट किया. फिर उसने धीरे से अपनी छूट को मेरे लंड पर पुश किया. मेरा लंड उसकी छूट मे घुसा जिस से वो दर्द से कराह उठी.

मैं हीना को धीरे धीरे छोड़ने लगा. उसे बहुत दर्द हो रहा था. दूसरी तरफ साहीन को गोल्डी छोड़ रहा था, पर वो ज़्यादा ज़ोर से नही छिला रही थी. ये देख कर हीना ने पूछा.

हीना: आअहह, यार साहीन तुझे ज़्यादा दर्द नही हो रहा क्या. मेरी तो जान निकल जाएगी, ऐसा लग रहा है.

गोल्डी: ये पहले भी चुड चुकी है, शायद काई बार.

हीना: क्या, किस से?

साहीन: यार हीना, मैं तुझे बताने ही वाली थी.

अजय: किस के साथ.

साहीन: अमित के साथ, 3-4 बार.

हम सब शॉक थे पर हीना को बुरा नही लगा. अब वो ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड पर उच्छलने लगी. गोल्डी भी साहीन को तबर्तोड छोड़ रहा था.

साहीन और हीना अब मस्त होकर छुड़वा रहे थे. दोनो ज़ोर ज़ोर की आँहे भर रहे थे. पूरा घर इन दोनो की मदमस्त आवाज़ से गूँज उठा था. मैने और गोल्डी ने सेम पोज़िशन मे दोनो को 10 मिनिट्स तक छोड़ा.

उसके बाद हम खड़े हुए मैने साहीन को अपने पास खीचा और गोल्डी ने हीना को. हम दोनो ने इन दोनो को सोफे पर लिटाया. मैने गोल्डी को देखा, उसने मुझे इशारा किया. मैने साहीन की टांगे फैलाई और अपना लंड उसकी छूट पर सेट किया. गोल्डी ने हीना की छूट पर लंड लगाया, और धीरे से उसे अंडर पुश किया. हीना फिर से चीख पड़ी. पर गोल्डी उसे दनादन छोड़ने लगा.

मैने भी अपना लंड साहीन की छूट मे घुसा दिया और उसे छोड़ने लगा. सोफे पर ऐसे लेते हुए उन दोनो के बूब्स कमाल के लग रहे थे. हर धक्के के बाद उनके बूब्स हिलते थे. घर मे फ़च फ़च की आवाज़ गूँज रही थी. चूड़ते चूड़ते ही हीना बोली.

हीना: साली रंडी, पहले मेरे बाय्फ्रेंड से चूड़ी अब मेरे भाई से चुड रही है.

साहीन: साली तू भी रंडी है अब, अपने भाई से तो चुड हो रही है ना.

गोल्डी: यार अजय चल दोनो मिल के इन दोनो को बारी बारी छोड़ते हैं.

अजय: ठीक है.

हम सब रुक गये. गोल्डी ने मुझे ज़मीन पर लेटने को खा. मैं ज़मीन पर लेट गया, साहीन मेरे उपर आई और अपनी छूट को मेरे लंड पर सेट करके धीरे धीरे पुश करने लगी.

थोड़ी देर बाद गोल्डी ने साहीन की गांद के च्छेद पर ठुका और उसे फैला दिया. फिर उसने अपना लंड साहीन की गांद पर सेट किया. और हल्का सा धक्का दिया. साहीन दर्द से चिल्ला उठी. पर गोल्डी रुका नही और अंडर पुश किया. मैने भी नीचे से धक्के देना स्टार्ट कर दिया.

हम दोनो साहीन को दोनो तरफ से छोड़ने लगे उसे काफ़ी दर्द हुआ, पर धीरे धीरे उसकी चीखे आनहो मे बदल गयी. साहीन को ऐसे चूड्ता देख कर हीना अपनी छूट मे उंगली करने लगी. हम दोनो ने ऐसे ही 10 मिनिट्स तक साहीन को छोड़ा फिर हुँने अपना लंड उसकी छूट और गांद से निकाला.

अब मेरा ध्यान हीना पर गया. गोल्डी ने हीना को गोद मे उठाया और अपना लंड. उसकी छूट पर सेट किया. गोल्डी का लंड हीना की छूट मे अंडर बाहर करने लगा. वो उसे लेकर सोफे पर बैठ गया, और उसे ऐसे ही छोड़ने लगा. मैने अपना लंड उसकी गांद पर सेट किया पर वो अंडर नही जा रहा था.

साहीन किचन से सरसों का तेल लेकर आई. मैने तेल उसकी गांद की छेड़ पर लगाया. फिर अपना लंड उसकी गांद मे डाला. उसे बहुत दर्द हो रहा था. उसकी आँखों में आँसू भर गये थे. मैं अपना लंड निकालने वाला था. पर हीना ने खा, ” मत निकल भाई, आज अपनी बेहन की गांद फाड़ दे.”

ये सुनकर मुझमे जोश आ गया और मैं उसे ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा. हम दोनो रयतें मे उसकी गांद और छूट छोड़ रहे थे . 10-15 मिनिट्स ऐसे ही छोड़ने के बाद, मैने अपना लंड हीना की गांद से निकल लिया. और सोफे पर बैठ कर साहीन को बुलाया.

साहीन मेरे लंड पर बैठ कर उच्छलने लगी. मैने और गोल्डी ने एक साथ दोनो को गोड मे उठाया और टेबल पर लिटा दिया. और उनको दनादन छोड़ने लगे. 5 मिनिट्स के बाद मैं साहीन की छूट मे ही झाड़ गया. थोड़ी देर बाद गोल्डी भी हीना की छूट मे झार गया.

हम चारो तक कर सोफे पर लेट गये बिना कपड़ो के.

साहीन: यार आज बहुत मज़ा आया, कसम से तुम दोनो ने बहुत अच्छे से छोड़ा.

हीना: हन भाई, सच मे. भाई अब तो तू मेरा यार हो गया ना.

अजय: हन, मैं तो सोच भी नही सकता था की मैं तुम दोनो को छोड़ूँगा. थॅंक्स गोल्डी.

गोल्डी: कोई बात नही. यार हम सब को सेक्स चाहिए. हम चाहे तो किसी को भी छोड़ सकते हैं, बस सही तरीका आना चाहिए. देख 2 ही हफ़्तो मे मैने 4 चूत को चोदा.

अजय: चौथा कों?

गोल्डी: मौसी जी को.

मैं हैरान हो गया.

अजय: मम्मी को, चल कुछ भी मत बोल.

गोल्डी ने मुझे एक वीडियो दिखाया, जिसमे मेरी मा नंगी लेती थी. उसने अपनी टांगे फैलाई थी और अपनी छूट को सहला रही थी. वो किसी रंडी की तरह गोल्डी को बुला रही थी. फिर उस वीडियो मे गोल्डी मा को छोड़ रहा था और वो मस्त आवाज़े निकल रही थी.

हम तीनो ये वीडियो देख कर शॉक थे.

गोल्डी: 2 दिन बाद भैया (सौरव) आ रहे हैं. हम दोनो मिल कर तेरी मा को छोड़ेंगे. तू चाहे तो देख सकता है.

मेरी आँखों मे चमक आ गयी थी. मैं अपनी मा को दोनो से चूड़ते देखना चाहता था.

थोरी देर बाद डोर बेल बजा. हम लोगो ने जल्दी जल्दी कपड़े पहने. जब साहीन ने गाते खोला तो देखा बाहर हीना का बाय्फ्रेंड अमित था.

अभी के लिए इतना ही, अगर ये स्टोरी आपको पसंद आई तो मुझे मैल करें. मेरी मैल ईद है

यह कहानी भी पड़े  रेशमा के थप्पड़ का बदला उसकी चूत से लिया

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *


error: Content is protected !!