भाभी की बहन को चोदा

हैलो दोस्तों मेरा नाम सचिन उपाध्याय और मैं जबलपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 21 साल है और मैं अभी कॉलेज में हूँ | मेरी हाइट 5 फुट 9 इंच है और रंग गोरा है और दिखने में भी अच्छा हूँ | मैं बहुत ही सीधा साधा और भोला भाला इंसान हूँ और मैं लड़कियों की बहुत इज्ज़त भी करता हूँ | इस बात का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते हैं कि बचपन से लेकर कुछ दिन पहले तक मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी | लेकिन ऊपर वाले के घर में देर है अंधेर नहीं उसने मुझे एक लड़की दी भाभी की बहन के रूप में जिसने मेरी ज़िन्दगी को हरा भरा कर दिया | तो आईये पूरी कहानी पर ज़रा गौर करते है |

ये बात है कुछ दिनों पहले की जब मेरी भईया की शादी पक्की हुई और दो महीने बाद शादी का शुभ महूरत निकला | मुझे तो पता भी नहीं था कि मेरी होने वाली भाभी की कोई बहन भी है लेकिन जसी दिन रिंग सेरेमनी थी उस दिन मुझे ज्ञात हुआ कि उनकी एक बहन भी है जो गज़ब की आइटम है | आइटम मैंने इज्ज़त से बोला है और आपको तो पता है मैंने लड़कियों की कितनी इज्ज़त करता हूँ | तो उस दिन वो मेरे सामने प्रकट हुई | मैं एक जगह बैठा हुआ था और वो ठंडा सर्व कर रही थी | वो मेरी पास आई और मुझे देने के लिए नीचे झुकी.. ठंडा ठंडा | मैंने एक हाँथ से एक पकड़ा गिलास और दूसरी ओर से अपनी नज़र उसके दूध के बीच में लगाई | थोडा गर्मी का माहौल था इसलिए उसके दूध के बीच में पसीना सा था | वाह क्या नज़ारा था इतना मस्त द्रश्य देखकर तो खड़ा ही हो गया मतलब मैं खड़ा हो गया |

फिर मैं उसके पास गया और उससे पूछा आप उर्मी भाभी की बहन होना ? तो उसने कहा हाँ और आप | तो मैंने कहा आपके जीजा जी का भाई | उसकी बाटी जलने में कुछ वक़्त लगा लेकिन वो समझ गई | फिर मैंने उससे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम कृतिका बताया | वो इतनी मस्त पटाका लग रही थी कि मेरा मन हो रहा था अभी उसकी ले लूँ .. फोटो | आपको तो पता ही है मैं लड़कियों की कितनी इज्ज़त करता हूँ | फिर उसने कहा अभी मुझे थोडा काम है मैं आपसे थोड़ी में मिलती हूँ और वो जाने लगी | जब वो जा रही थी तो मैं उसको पीछे से देख रहा था क्या चीज़ थी बहनचोद और क्या हिल रहे थे | मेरा मतलब है उसकी बाल और उसकी चोटी हिल रही थी लम्बी थी ना | मैं लड़कियों के बारे में ऐसा वैसा सोचता भी नहीं हूँ क्योंकि मैं उनकी बहुत इज्ज़त करता हूँ | फिर हम दोनों के बीच बहुत बातें हुई फिर शादी हुई भईया भाभी की और फिर जिसका मुझे था इंतज़ार भाभी हमारे घर आ गई और उनको नए घर में कंपनी देने उसकी बहन भी आई | ओह यस… |

यह कहानी भी पड़े  होली में जम कर चुदाई करवाई

वैसे मेरा भाई बहुत तेज़ है इसलिए सारा दिन भाभी भईया के साथ ही लगी रहती थी और बिचारी कृतिका अकेली पड़ जाती थी | बस फिर क्या था मुझे उस पर दया आ गई और मैं दिन भर उससे चिपका रहने लगा | वैसे घर में बहुतों ने नोटिस कर लिया था मुझे लेकिन मेरे घर वालों को इससे कोई आपत्ती नहीं थी क्योंकि मेरे घर तो चाह ही रहे थे कि मेरी शादी उससे हो जाए लेकिन मैं भी होशियार था | मैं पहले इस्तेमाल करता हूँ फिर विश्वास करता हूँ आप समझ गए होंगे | मैं दिल की बात कर रहा था कि लड़की का दिल कितना साफ है आपने क्या सोचा ? आपको तो पता है ना मैं लड़कियों की कितनी इज्ज़त करता हूँ फिर भी | वैसे मैंने आपको एक बात नहीं बताई मैं बहुत अच्छा डांसर भी हूँ और मेरे डांस के चर्चे बहुत दूर दूर तक हैं लगभग 2 किलो मीटर की दुरी तक | उस दिन की बात है जब मेरे और कृतिका के बीच कुछ कुछ हुआ था जो आपको आगे पता चल जाएगा |

तो सीन कुछ ऐसा है मेरा कमरा ऊपर वाले फ्लोर पर है और खाना नीचे बनता है और खाते भी वहीँ है | मम्मी भाभी और कृतिका नीचे खाना बना रहे है और मैं ऊपर गाने बजा के नाच रहा हूँ | तभी मम्मी ने कृतिका से कहा होगा जाओ बेटा और जाके हमारे उपाध्याय सल्तनत के राजकुमार श्री श्री सचिन को बुलावा देकर आओ की खाना बन गया है आ जाओ | वो क्या है ना कि मम्मी को मेरी आदत पता है अगर मम्मी मुझे अभी बुलायेगी तो मैं आधे घंटे बाद पहुंचता हूँ इसलिए मुझे आधे धनते पहले बुलावा भेजा जाता है | तो कृतिका ऊपर आई और मैं माइकल के गाने पे नाच रहा था | वो आई और दरवाज़े पर खड़े होकर मुझे देखने लगी | मैं भी मस्ती में था और नाचे जा रहा था तभी मैं घुमा और मेरी नज़र उसपर पड़ी और मैं रुक गया | तो उसने कहा अरे नाचो ना अच्छा लग रहा था | तो मैंने मना कर दिया तो वो मेरे पास आई और मेरी कमर में हाँथ डाला और मेरा हाँथ पकड़ के नाचने लगी |

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी पड़ोसन की चुदाई

Pages: 1 2

error: Content is protected !!