भाभी की जंगल मस्त चुदाई

हेलो दोस्तो. मैं हू राहुल खत्री और मैं लेकर आया हू एक नई कहानी. पहले भी मैं 3 कहानिया लिख चुका हू और मुझे आप लोगो का बहोत अच्छा रेस्पोसे मिला. इस लिए मेरी हिम्मत बड़ी और मैं एक और इंडियन भाभी सेक्स कहानी लेकर आया हू अगर आपको ये स्टोरी पसंद आए तो मुझे ज़रोर कॉमेंट कीजिए.

अब मैं कहानी पर आता हू ये कहानी जून की है. मोम के कज़िन के बेटे की शादी थी और हम लोगो को वाहा जाना था. उस टाइम सॅटर्डे था और हम लोग रात के ट्रेन से जाने वेल थे. हम लोगो ने दिन मैं पैकिंग की और फिर मैं फार्मेसी पर गया और कुछ टॅब्लेट्स लेली.

और घर वापस आ गया जब मैं घर पहोचा और मोम को देखा तो मोम ने रेड कलर का ड्रेस पहना था और वो ग़ज़ब्ब की लग रही थी. मोम मुझे देख कर बोली की मैं कैसी लग रही हू तो मैने मोम से कहा की मा कसम जो तुम्हे देखे गा उसका लॅंड खड़ा हो जाएगा तो मोम बोली की तुम्हारा लॅंड खड़ा हुआ तो मैने बोला की खुद देख लो फिर मोम बोली की रहेने दो और निकलने की तैयारी करो. और मोम वाहा से चली गये. और मैने भी अपना ड्रेस बदल दिया.

करीब 1 घंटे बाद हम घर से निकले और सीधा स्टेशन पहोच गये. वाहा मैने जनरल की टिकेट्स लेली क्यूकी हमें सिर्फ़ 5 किलोमीटर का सफ़र करना था. 15 मिंट बाद ट्रेन आ गई तो हम लोग बोगी मे चढ़ गये. वाहा सीट खाली नही थी तो हम खड़े रहे.

मोम बल्कुल मेरा सामने खड़ी थी. इसी बीच मोम बोली की इस औरत को देख लो कितनी सेक्सी है जब मैने उसकी तरफ़ देखा तो उसके आधे बूब्स दिख रहे थे. मैं उसके पीछे चला गया और चिपक गया. मेरा लॅंड बल्कुल उसकी गंद की दरार मई जा रा था.

यह कहानी भी पड़े  ट्रेन यात्रा मे चुदाई की कहानी

मजे बहोट माज़ा अरहा था इसी बेच मों बोली की क्या हुआ तो मैने मों से बोला की मेरा लंड उसकी गांड की दरार मे है फिर मोम बोली की यार मेरा हाल बुरा हो रहा है मैने बोला क्यू तो मोम बोली की इस वक्त जो लड़का मेरे पीछे है इसका हाथ मेरी पेंटी मे है और ये मेरी चूत मे उंगली कर रहा है.

इतनी ही देर मे जो आंटी मेरे सामने खड़ी थी वो लंड पर धक्का मार रही थी. और फिर उस आंटी ने उस लड़के के कान मे कुछ कहा जिस का हाथ मेरी मोम की पेंटी मे था.

मैं समझ गया ये दोनो साथ मे थे पर मैने उस आंटी से कहा क्या ये लड़का तुम्हारे साथ है तो वो बोली कौन लड़का मैं बोला यह. वो बोली क्यू मेरी समझ मे कुछ नही आया की मैं क्या बोलू तो मैने बोल दिया की ये मेरी मोम के साथ चिपक गया है.

उसने मुस्कुराते हुए जवाब दिया की क्यू तुम इसकी मा की चूत को गीली कर सकते हो और ये तुम्हारी मोम के साथ चिपक भी नही सकता. ये कह कर उसने अपना मूह मेरी तरफ़ किया उसका सीना मेरे सीने के साथ चिपक गया.

इसी बीच हम लोगो का स्टेशन आ गया और मोम और मैं ट्रेन से उतर गये. उतरने के बाद मोम बोली की इस के बेटे ने मेरी पेंटी फाड़ दी है और वो कोशिश कर रहा था की अपना लंड मेरे चूत मे डाल दे मगर उसे मौका ना आया.

अचानक मोम बोली की वो दोनो भी उतर चुके है लकिन वो ट्रैक के उस पार थे. फिर मोम बोली चलो बहोत देर हो गई है अब हम चलते है और हम दोनो वाहा से निकल पड़े. और करीब 1 घंटे बाद हम रिश्तेदार के यहा पहोच गये.

यह कहानी भी पड़े  ट्रक ड्राईवर और क्लीनर ने माँ को चोदा

रात बहोत हो गई थी इसलिए पूछते ही बुआ ने कहा की तुम लोग सो जाओ आप थक गये होंगे. बुआ हम दोनो को गेस्ट हाउस मे लेकर चली गये लेकिन वाहा पर पहेले ही बहोत सारे गेस्ट सो रहे थे. बुआ ने कहा जगह बहोत कम है इसलिए तुम लोग भी यही सो जाओ. हम दोनो ने काफ़ी जगा तलाश की लकिन जगा नही मिली तो हम फिर गेस्ट्स के बीच मे लेट गये.

थोड़ी देर बाद मोम बोली अरे उनको देख रहे हो मैने जब देखा तो वो वही दोनो थे जो हम लोगो को ट्रेन मे मिले थे.

उन लोगो ने भी हम लोगो को देखा तो वो खुश हो गये और सीधे हमारे पास चले आए. हम ने उनको जगह दे दी और आंटी मोम के पास लेट गये और लड़का मेरे पास.

फिर आंटी ने मेरी तरफ़ देखा और स्माइल दे दी. आधे घंटे बाद मोम और आंटी सो गये तो मैने उस लड़के से नाम पूछा तो उसका नाम इरफ़ान था. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

हम दोनो बातें करने लगे फिर मैने इरफ़ान से कहा चलो बाहर चलते है तो वो ओके बोला और हम दोनो टेरेस पर चले गये. इरफ़ान ने मुझसे पहेला सवाल पूछा की ये आंटी तुम्हारे साथ कौन है तो मैने बोला ये मेरी मोम है फिर मैने पूछा तो वो आंटी उसकी मोम है.

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!