ब्फ का क़र्ज़ चुकाने के लिए एक लड़की के चूड़ने की हॉट कहानी

ही गाइस, इट’स इरम. वेलकम तो पार्ट 3. इरफ़ान खुश हो गया, और मेरे पास आ गया और बोला-

इरफ़ान: बाहर आ जाओ कार से. खुले में छोड़ूँगा तुम्हे.

इरम: ओक, बुत कोई गली में ना आ जाए.

शहज़ाद: तुम लोग करो, मैं गली के स्टार्ट में जेया कर खड़ा होता हू. और नज़र रखता हू.

इरम: ओक.

गली में आने का एक ही रास्ता था. दूसरी साइड से रास्ता बंद था. तो मैं बाहर निकल आई नंगी ही. मैं कार की फ्रंट साइड पर जेया कर हाथ बॉनेट पर रख के बेंड हो गयी, और अपनी गांद को आचे से उठा के बेंड हो गयी. कार का फ्रंट बंद गली वाली साइड पर था. वाहा से किसी ने नही आना था.

इरम (बेंड पोज़िशन में): इरफ़ान स्लोली लंड डालना. स्टार्ट स्लोली करना, बाद में रफ होना. तुम्हारा लंड बड़ा है शहज़ाद से.

इरफ़ान: ओक मेरी रंडी.

मुझे ये सुन के बुरा नही लगा, बल्कि अछा लगा. मैने इरफ़ान की तरफ देख के स्माइल की. इरफ़ान मेरे पीछे आया, और उसने अपने लंड पर थूक लगाई, और मेरी गांद के होल पर भी थोड़ी सी थूक लगाई. मुझे फील हो गयी थी थूक लगी.

इरम: और थूक लगाओ इरफ़ान मेरी गांद पर.

इरफ़ान ने और थूक लगाई इस बार ज़्यादा लगा दी थी. फिर उसने होल के उपर लंड रखा, और स्लोली अंदर घुसने लग गया. जब तक पूरा अंदर नही गया, तब तक वो पुश करता रहा.

इरम: आहह ऊऊ मा आअहह लगता है चला गया सारा अंदर. इतना बड़ा है, ऐसे लग रहा है जैसे पेट तक आ गया हो. क्या खाते हो तुम?

इरफ़ान: टेन्षन ना लो. मूह से बाहर निकालूँगा.

इरम: बोलो मत, बस छोड़ो अब.

इरफ़ान ने लंड अंदर-बाहर करना स्टार्ट कर दिया. पहले 5-6 दफ़ा वो स्लोली लंड निकालता, और फिर सारा अंदर, और साथ में ही मेरे बूब्स दबा रहा था.

इरम: आहह… कितना मज़ा आ रहा है यार. करते जाओ बस.

इरफ़ान ने मेरी गांद पे थप्पड़ मारे, और स्पीड तेज़ कर दी. वो ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगा.

इरम: आहह आहह आअहह मेरी गांद, आहह ऊओ मा बहुत मज़ा आ रहा है. और ज़ोर से छोड़ कुत्ते, ज़ोर लगा. आअहह आहह खोल दे मेरी गांद आहह रंडी को छोड़ आअहह आहह.

मैं ज़ोर-ज़ोर से बोल रही थी. मेरी आवाज़ थोड़ी उँची थी. मैने इरफ़ान के लंड के मज़े में सारे होश खो दिए थे.

इरफ़ान: बहनचोड़! कितनी गरम है तू. आज तेरी मैं फाड़ दूँगा, और ज़ोर से चिल्ला.

इरफ़ान बहुत ज़ोर-ज़ोर से छोड़ रहा था. ठप ठप की आवाज़ भी बहुत ज़्यादा थी. तभी मेरे मोबाइल की रिंग होने लगी. मेरा मोबाइल कार में था

इरम: रूको, कॉल आ रही है. रूको मोबाइल ले अओ, 2 मिनिट लंड निकालो.

इरफ़ान ने लंड बाहर निकाला.

इरफ़ान: जल्दी कर रंडी, मोबाइल ले आ अपना.

मैं खड़ी हुई, और कार के अंदर से मोबाइल लेने के लिए आयेज बढ़ी, तो मेरे से चला ना जाए. उस कुत्ते ने 10 मिनिट के अंदर बुरा हाल कर दिया था मेरा. पर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

जब मैने मोबाइल देखा, तो शहज़ाद डोर खड़ा कॉल कर रहा था. मैं मोबाइल उठा के वापस अपनी जगह पर आ कर बेंड हो गयी, और कॉल पिक की.

शहज़ाद: जान लगता है तुम्हे मज़ा आ रहा है बहुत ज़्यादा.

इरफ़ान ने पीछे से लंड एक-दूं से घुसा दिया.

इरम: आहह हा बेबी, बहुत अछा लग रहा मुझे.

इरफ़ान छोड़ रहा था ज़ोर-ज़ोर से और मैं कॉल पर थी. फोन इयर्स पर लगा हुआ था.

शहज़ाद: यहा तक तुम्हारी आवाज़े आ रही है, और थापा-ठप की भी.

इरम: आहह आहह आहह ऊओ आ और ज़ोर से आहह. हा बेबी बहुत मज़ा आ रहा है. अब तुम कॉल बंद करो.

और मैं कॉल बंद करके मोबाइल नीचे फेंक के गांद मरवाने लगी.

इरम: आहह तुम्हे मज़ा आ रहा है इरफ़ान? आचे से करो प्लीज़.

इरफ़ान: हा रंडी, बहुत मज़ेदार हो तुम.

इरम: आअहह एक बार स्पर्म निकालूंगी तो 5000 दोगे शहज़ाद को?

इरफ़ान: हा 5000.

इरम: फिर करते जाओ. अट लीस्ट 3 बार डिसचार्ज कार्ओौनगी तुम्हे.

इरफ़ान: आअहह बहनचोड़ होने वाला है. मुझे तेरे मूह के अंदर करना है डिसचार्ज.

इरम: ओक.

इरफ़ान ने लंड बाहर निकाला, और मैं जल्दी से बैठ गयी. और लंड को मूह में डाल लिया, जो मेरी गांद में पिछले 15 मिनिट से था, और ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी. कुछ सेकेंड्स चाटने के बाद एक-दूं मेरे मूह के अंदर अपना माल छ्चोढ़ दिया.

मैने सारा स्पर्म अपने मूह में रखा. जब उसका सारा निकल गया तो लंड बाहर निकाल लिया. उसका सारा मेरे मूह में था, जो बहुत ज़्यादा था.

इरफ़ान: रूको, ऐसे रहो, पिक बना लू.

उसने मेरी पिक्स बनाई जिसमे मेरा मूह उसके स्पर्म से भरा हुआ था. और कुछ सेल्फ़िएस ली, जिसमे हम नंगे थे. फिर मैं वो सारा स्पर्म अपने अंदर ले गयी. फिर उसने पंत उपर की, और मुझे टिश्यूस दिए. मैने उससे अपनी गांद सॉफ की.

इरम: बस एक बार इरफ़ान और कर लो. मेरी गांद दूसरे रौंद के लिए रेडी है.

इरफ़ान: मुझे पता है तू रेडी है. पर मुझे अब जल्दी है. और सुन, शहज़ाद को पैसों की बहुत ज़रूरत है. उसने सिर्फ़ मेरे से पैसे ले कर नही डुबए, और भी लोग है, और इस तरह 5000 कर-कर के कितने इकट्ठे करके डोगी?

इरम: तो अब मैं क्या करू तुम्ही कुछ बताओ प्लीज़. मैं उसको परेशन नही देख सकती.

इरफ़ान: मुझे अपनी सील तोड़ने दो. मुझे पता है तुमने अभी तक फुददी नही मरवाई. मैं तुम्हे ज़्यादा पैसे दूँगा.

इरम: इरफ़ान तुमने अपने लंड का साइज़ देखा है? मैं कैसे करूँगी?

इरफ़ान: तुम ये टेन्षन ना लो. मैं तरीके के साथ करूँगा स्लोली, टेन्षन ना लो.

इरम: कितने पैसे दोगे?

इरफ़ान: 50000.

इरम: अछा हम कुछ ज़्यादा कर लेते है. आप मुझे पुर एक लाख दे देना.

इरफ़ान: एक लाख, इतने ज़्यादा!

इरम: मैं तुम्हारे पैसे पुर कार्ओौनगी. तुम इस तरह करो, तुम अपने साथ एक और लड़का तैयार कर लो अपने जैसा. मैं एक रात आप लोगों के साथ रहूंगी. सारी रात जैसे मर्ज़ी, जो मर्ज़ी, जितना मर्ज़ी करना. मैं तुम दोनो को खुश करूँगी पक्का.

इरफ़ान: हा, ये आइडिया ठीक है. ओक.

इरम: थॅंक्स. हा शहज़ाद को मॅट बताना, मैं उसको हमारी वीडियो सेंड करूँगी. और पैसे दे कर सर्प्राइज़ दूँगी. वो खुश होगा. उसको अछा लगता है जब कोई और मुझे छोड़े.

इरफ़ान: हा ओक.

इरम: तुम मेरा नंबर लेलो. रात को मुझे टेक्स्ट करके बता देना, कब फाइनल करना है.

फिर हमने नंबर एक्सचेंज किए, और मैने कार में जेया कर अपने कपड़े पहने, और फेस सॉफ किया. तब तक इरफ़ान ने शहज़ाद को आवाज़ दे के बुला लिया. जब शहज़ाद आए, तब तक मैं भी कार से बाहर आ गयी.

शहज़ाद: हा, तो कैसा रहा? मज़ा आया? कितनी बार किया?

इरम: हा, मज़ा तो आया. पर इसने किया एक ही बार है. मैने बोला और करो, पर कहता नही जल्दी है.

इरफ़ान: यार बस जल्दी है, पर तेरी बंदी मस्त है. टेन्षन ना ले, अब ये होता रहेगा.

फिर हम तीनो हासणे लगे और इरफ़ान ने अपनी पॉकेट से 10000 निकाल के शहज़ाद को दिए.

शहज़ाद: 10000 क्यूँ?

इरफ़ान: 5000 ब्लोवजोब का. क्या चूस्टी है यार, सारा निचोढ़ लिया. ये देख मोबाइल.

इरफ़ान ने अपने मोबाइल से पिक्स निकाल के दिखाई तो शहज़ाद देख के हैरान हो गये. पर ज़्यादा खुश हुए मेरे इस हुनर से.

शहज़ाद: अछा चलो चले.

फिर हम गये, पहले इरफ़ान को ड्रॉप किया, और फिर मुझे स्टॉप पर उतरा, और उतारते वक़्त शहज़ाद ने बोला-

शहज़ाद: थॅंक्स जान. मैं बहुत खुश हू. तुम्हे चूड़ते देख कर भी मज़ा आया, और मेरा उधार इसके साथ ख़तम होने पर भी.

इरम: बेबी टेन्षन ना लो. बाकी सब भी ख़तम हो जाएगा, ओक. जल्दी सब उधार ख़तम कर दूँगी, ओक. ई लोवे योउ बेबी.

शहज़ाद: लोवे योउ टू जान, बाइ.

इरम: बाइ.

फिर मैं घर आई और आ कर शवर लिया. मैं अंदर ही अंदर से बहुत खुश थी की इरफ़ान ने मेरी चुदाई की. मुझे अजीब सी गर्मी चढ़ि हुई थी, और मैं अब फिर चूड़ने के लिए तैयार थी. बल्कि दो-दो लंड ट्राइ करने के लिए एग्ज़ाइटेड थी.

सो गाइस, कैसा लगा मेरी स्टोरी का तीसरा पार्ट? अगर आप लोग चाहते है मैं अगला पार्ट लिखू, तो मुझे एमाइल करे. और ये मेरी रियल स्टोरी है फेक नेम्स के साथ, पर रियल है. थॅंक्स आ लॉट.

यह कहानी भी पड़े  मेरी सेक्सी गर्लफ्रेंड काजल


error: Content is protected !!