बेटे के दोस्त से अंधेरे में ठुकाई की स्टोरी

नीता का बेटा अभी मेरे घर पर आ गया था. मैने उसको बोला की वो आंटी 10 बजे मेरे घर ही आ जाएगी.

अभी: यार मेरा भी बहुत मॅन है की आंटी को छोड़ू. तूने कैसे पत्ता ली, मुझे बताया भी नही.

रोहित: यार मार्केट में मिली थी. उसका हब्बी बिज़्नेसमॅन है, तो उसको टाइम नही दे पाता.

अभी: दिखने में कैसी है आंटी? बूब्स और साइज़ कैसे है?

रोहित: मस्त माल है, एक-दूं गोरी है, और बूब्स भी मस्त है. उसको नंगी को पकड़ेगा तो लंड अपने आप खड़ा हो जाएगा. सब कुछ मस्त है. बस जहा से मर्ज़ी चूसो, सब और से मज़ा देती है. दिखने में नीता आंटी जैसी है.

अभी: ऑश फिर तो बहुत मस्त माल होगी. यार कब तक आएगी. मुझे भी मौका चाहिए यार.

रोहित: एक काम करना तुम बोलना मत ज़्यादा. उसको अंधेरे में रूम में लौंगा. फिर तुम उसको पकड़ कर छोड़ना. मैं पास खड़ा रहूँगा. उसको पता नही लगना चाहिए की रोहित छोड़ रहा है या अभी.

अभी: ऑश यार एक बार छूट दिलवा दे भाई. एक ज़ोरदार पार्टी करूँगा. क्या आगे है उसकी?

रोहित: बस यार नीता आंटी जैसी ही है, उतनी ही आगे है. दिखने में गोरी है और सारी में बहुत मस्त लगती है. मेरी मों जैसा ही फिगर है उसका. बाल लंबे है. नंगी होती है तब तो और भी मस्त लगती है. चलती है तो बूब्स हिलते है.

अभी: ओह यार, ऐसी आंटी फ्रेंड बन जाए तो फिर छोड़ने के लिए सारी टेन्षन डोर हो जाए. ऑश भाई, थॅंक्स यार, तेरी दोस्ती की वजह से मस्त माल को छोड़ने का मौका मिल रहा है.

रोहित: यार पहले इस आंटी को इसका बेटा छोड़ता था. अब वो कॅनडा चला गया.

अभी: ऑश बेटे से कैसे करती थी ये?

रोहित: यार रात को दोनो अकेले होते थे. इसकी मों रात को निघट्य पहनती थी. उसके बूब्स देख-देख कर बेटे का मूड बदल गया. आंटी भी इसके लंड को देखती थी.

अभी: ऑश बेटे ने अपनी मों को ही छोड़ दिया?

रोहित: ह्म, पापा बाहर रहते थे, तो बेटे ने मों को छोड़ना शुरू कर दिया. दोनो रात होते ही चुदाई शुरू कर देते थे.

अभी: ऑश यार घर में उनको रोकने वाला भी कोई नही था. आंटी को शरम नही आई क्या?

रोहित: औरत को लंड चाहिए. हब्बी नही छोड़ेगा तो बाहर चुडवाएगी. बाहर दर्र भी रहता है. आंटी बोली की बेटे से चुड कर बहुत मज़ा आने लगा. तभी तो मेरे से सेट हो गयी यार. हाउसवाइफ मों को जवान बाय्स बहुत आचे लगते है.

अभी: ह्म यार, इतनी मस्त मों है तो बेटे से कंट्रोल नही हुआ होगा. वैसे मैने सुना है की 40 आगे में हाउसवाइफ बहुत मज़ा देती है.

रोहित: तुमको काई और भी राज़ बतौँगा, बुत एक बार ये मों चुड जाए. उसके आने का टाइम हो गया है. तुम रूम की लाइट ऑफ रखना और बोलना मत. बस सेक्स को एंजाय करना.

अभी: थॅंक्स भाई, तुम जैसे बोलॉगे वैसे ही करेंगे. आज तो मेरा मूड बहुत बना हुआ है.

मैं साथ वाले रूम में सब सुन रही थी. नीता की कॉल भी आ गयी. उसको बोल दिया-

मिताली: अभी बहुत एग्ज़ाइटेड है, और कल तू भी तेरे बेटे से आराम से छुड़वा लेगी. रोहित ने उसको मों की चुदाई के बारे में काफ़ी बताया है, तो हो सकता है वो तुमको छोड़ने का भी मूड बना ले.

नीता काफ़ी खुश हो रही थी. थोड़ी देर में रोहित मेरे रूम में आ गया. उसने मुझे धीरे से बोला-

रोहित: सब सेट कर दिया है. तुम बस आज अभी से चूड़ने के लिए तैयार हो जाओ.

हम दोनो रूम में चले गये. जाते ही रोहित ने मुझे अभिषेक के हवाले कर दिया. उसने मुझे पीछे से पकड़ लिया था. वो एक-दूं नंगा था. उसका लंड मेरी गांद पर टीका हुआ था.

उसका हाथ मेरे दोनो बूब्स पर था. उसने धीरे से बूब्स दबाए तो मेरी आ निकल गयी. अभी भी रोहित जैसी ही बॉडी वाला है. उसने मुझे अपने आयेज पकड़ रखा था. मैं भी काफ़ी एग्ज़ाइटेड हो गयी थी.

उसका एक हाथ मेरे ब्लाउस में चला गया. वो बूब्स को पकड़ने की कोशिश कर रहा था.

मैने आवाज़ को तोड़ा बदल दिया और धीरे-धीरे बोलना शुरू कर दिया, ताकि वो मेरी आवाज़ पहचान ना सके.

मिताली: ब्लाउस खोल कर करो यार.

अभी: हा ह्म.

ये सुन कर अभी काफ़ी हॅपी हो गया था. उसने मेरा ब्ल्ौसे खोल दिया, और ब्रा के उपर से बूब्स दबाने लगा. मुझे भी मज़ा आ रहा था. थोड़ी ही देर में उसने मेरी ब्रा के हुक भी खोल दिए.

मैं उपर से पूरी नंगी हो गयी थी. वो पहले से ही नंगा था. उसने मुझे झट से अपने सीने से लगा लिया. मेरे बूब्स उसके सीने से लग रहे थे. मुझे मज़ा आने लगा था.

बूब्स जवान बॉय के सीने से लगते है तो मज़ा बहुत आता है. अभी मेरी पीठ पर अपने हाथ फेरने लगा. उसको भी मज़ा आ रहा था. पहली बार उसको 39 आगे वाली हाउसवाइफ की नंगी पीठ मिली थी. मैने अभी के सिर को पकड़ा और उसके लिप्स पर लिप्स रख दिए. उसने झट से मेरे लिप्स चूसने शुरू कर दिए.

मिताली: ह आँह आअहह ऊहह यार.

अभी: ओह यार.

अभी मेरे लिप्स चूसने लगा. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. वो मेरी पीठ पर हाथ घुमा रहा था. मेरे बूब्स बार-बार उसके सीने से लग रहे थे. मेरी निपल अब ज़्यादा ही टाइट होने लगे थे.

अभी मुझे फ्रेंच किस कर रहा था. मेरे निचले होंठ को खूब मज़े ले ले कर चूस रहा था. रूम में आहह आहह की आवाज़ आ रही थी. रोहित मेरी गांद को सहला रहा था.

अभी: ऑश आअहह यार बहुत मज़ा दे रही हो यार.

मिताली: ऑश बेटा, तेरा बाप नही छोड़ता. तू ही मेरा हब्बी है. ऑश बेटा आअहह अपनी मों को खुश कर दे आज.

अभी: ऑश मम्मी ऑश आज तेरी छूट चाटूंगा और जी भर के अपनी मों को छोड़ूँगा.

अभी भी अब खूब मूड में था. मैने सोच लिया था की मों का बोल कर इसको नीता के लिए तैयार कर दूँगी. अभी मेरे लिप्स और गाल चूस रहा था. उसका हाथ मेरे बूब्स पर आ गये. उसने बूब्स को दबाया तो मुझे मज़ा आया.

अभी अब मेरे बूब्स को चूसने लगा. मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था.

मिताली: ऑश आराम से चूस बेटा. मों के बूब्स चूस. मज़ा आ रहा है.

अभी: ऑश मों ऑश आप बहुत मस्त माल हो. ऑश बूब्स देख कर मूह में पानी आ गया. ऑश मों बहुत मज़े दे रही हो.

मिताली: तेरे पापा को मत बताना. तू जितना चाहे उतना छोड़. पापा को बिज़्नेस करने दे, और तू मेरी सर्विस किया कर.

अभी: ह्म मैं क्यूँ बतौँगा? आहह आप बस मुझे मज़ा देती रहो. ऑश क्या बूब्स है तेरे मेरी मों. ऑश ऊओ निपल चूस लेने दे यार.

अभी एक हाथ से मेरी बची हुई सारी उतारने लगा. थोड़ी ही देर में मैं बिल्कुल नंगी हो गयी. वो मेरी गांद दबा रहा था. अभी ने मुझे पीछे से पकड़ लिया, और लंड गांद पर रगड़ने लगा.

मेरे दोनो बूब्स उसके हाथ में थे. मैने उसके लंड को पकड़ा तो लंड खूब टाइट था. रोहित के लंड जैसा ही तन्ना हुआ था.

मिताली: मों को बेड पर ले चलो बेटा. बस आज सोच ले की तू तेरी रियल मों को छोड़ रहा है. रियल मों को इमॅजिन करके मुझे छोड़.

अभी: ऑश जैसा आप बोलॉगी. बस मज़ा आना चाहिए.

मिताली: तेरी मों भी मस्त होगी. उसके बूब्स देख कर लंड खड़ा होता है क्या?

अभी: हा, मों के बूब्स बड़े है. काई बार मों झुकती है तो खूब दिखते है. मों को छोड़ने का कभी सोचा नही यार.

मिताली: तेरे पापा कम ही छोड़ते होंगे. मों पर ट्राइ कर. आराम से छुड़वा लेगी. बड़े बूब्स वाली मज़े भी बहुत देती है. रोज़ छोड़ने के लिए मों मिल जाएगी. रात को अपने रूम में बुला कर छोड़ लिया कर. बहुत मज़े देगी मों.

अभी: ऑश ये तो कभी सोचा भी नही. ये सुन कर मज़ा आ रहा है. मों सच में चुड गयी तो मज़ा आ जाए.

मैने अभी का लंड पकड़ा और बेड पर ले गयी. मैं लेट गयी तो अभी लेट कर मेरे बूब्स चूसने लगा.

मिताली: तेरी मों को लंड चाहिए. तू ट्राइ कर मों की छूट मिल जाएगी. तू मुझे अपनी मों समझ कर छोड़.

अभी: ऑश मों अब छूट में लंड ले ले मेरा. तेरे बूब्स बहुत चूस लिए.

मिताली: श तेरे पापा का माल आज से तेरा है. ऑश कितना मस्त लंड है तेरा. ऑश अपनी मों के लिए बेटे ने लंड को खूब खड़ा कर रखा है.

अभी ने लंड को छूट पर रखा और धीरे-धीरे शॉट मारने लगा. थोड़ी देर में लंड छूट की गहराई में चला गया. मुझे मज़ा आ रहा था. अभी मेरे उपर लेट कर मुझे छोड़ रहा था.

अभी: ऑश मों आहह कितनी मस्त है तेरी छूट ओह चुदाई का मज़ा आ रहा है.

मिताली: ऑश बेटा ऑश तेरा लंड तो छूट की गहराई में चला गया. ऑश अपनी मों की छूट लेकर मज़ा आ रहा है बेटे को.

अभी: ऑश मों आप की छूट आज मैं ही छोड़ूँगा. ऑश कितनी मस्त माल है तू आज पता चला. आज से मैं तेरा बेटा नही हब्बी हू. ऑश कितनी मस्त माल हो तुम यार. ऐसी हाउसवाइफ को छोड़ कर दिल खुश हो जाता है.

मिताली: ओह आअहह बेटे आ बेटे का लोड्‍ा लेकर मुझे भी अछा लग रहा है.

अभी का पूरा लंड छूट में जाने लगा. मैं अभी के नीचे लेती हुई थी. अभी मुझे खूब मज़े लेकेर पेलने लगा. अभी मेरे बूब्स से भी खेल रहा था. बीच-बीच में मेरे लिप्स चूस रहा था.

अभी: ऑश आअहह बड़ा मज़ा आ रहा है तुझे छोड़ने में. क्या रसीली छूट है. ऑश तुझे तो अब रोज़ छोड़ूँगा. ऑश इतना मज़ा आता है मों को छोड़ने में आअहह.

मिताली: अँह आहह, बस मों की छूट बेटे के लिए ही बनी है. ऑश तेरा बाप तो छोड़ता नही.

अभी: अब तू मेरी मों कम और पर्सनल वाइफ ज़्यादा है. ऑश तेरे बूब्स बड़े मस्त है यार. कितना मस्त लगती हो. तुझे तो खड़ा करके छोड़ूँगा. चल यार खड़ी हो जेया.

अभी खड़ा हुआ और मुझे पकड़ कर खड़ी कर ली. उसने पीछे से गांद पर लंड रगड़ा और मुझे बेड पर झुका लिया. लंड छूट पर रखा और छोड़ने लगा. मेरी कमर पकड़ी, और चुदाई शुरू हो गयी.

मिताली: ऑश बेटा आअहह ऑश मों को कुतिया बना लिया तूने.

अभी: आहह मज़ा बहुत दे रही हो यार. ऐसे ही चुडवाएगी तू आज. ऑश तेरे बूब्स बहुत हिल रहे है. ऑश क्या बूब्स है तेरे. कितने मस्त चूची है यार. ऑश मों ई लोवे योउ, ई फक योउ डेली यार.

मेरी चुदाई ज़ोर-ज़ोर से होने लगी. अभी ने मेरी कमर पकड़ कर तोड़ा ठीक कर लिया ताकि वो खड़ा-खड़ा आराम से छोड़ सके. मैं झुकी हुई थी. वो घोड़ी की सवारी करने लगा. लंड बार-बार अंदर-बाहर होने लगा. उसने मेरे दोनो कंधे पकड़ लिए और ज़ोर-ज़ोर से छूट मारने लगा.

अभी: ऑश बेहन की छूट, बहुत मस्त घोड़ी है तू. ऑश मों तेरी छूट अब मेरे लिए ही है. आआहह, मों की छूट छोड़ने में कितना मज़ा आता है आज पता चला.

मिताली: ऑश आअहह बेटा तेरा लोड्‍ा मेरी छूट के लिए ही बना है. आहह, चुदाई मस्त कर रहे हो बेटे.

मुझे अभी की घोड़ी बन कर बहुत ही मज़ा आ रहा था.

मिताली: तेरा बाप नही छोड़ता मुझे. अब तू ही छोड़ अपनी मों को.

अभी: ओह मम्मी तेरी छूट तो यम्मी है. थॅंक्स मों छूट देने के लिए. मुझे तेरी जैसी गांद वाली छोड़ने के लिए चाहिए. ऑश बेबी ऊऊहह यार.

मिताली: ऑश चुड रही हू, ऑश मेरी छूट गीली हो रही है. आअहह मज़ा आ रहा है बहुत. श मेरी छूट चुड गयी यार.

अभी: ऑश मज़ा आ गया यार. अब अपनी रियल मों को भी छोड़ने का मॅन हो रहा है. ऊहह तेरी छूट यार आअहह साली कुटिया ऊहह, मेरी रखैल बहुत मज़ा आ रहा है. मेरी रंडी बनौँगा तुझे.

मिताली: ओह मेरी छूट तेरे लंड से रीचार्ज हो गयी है. चुड गयी यार तेरा लोड्‍ा ऊहह, लोड ने छोड़ दी मेरी छूट. ऑश अब तो तेरे से ही मार्व्ौनगी छूट मेरे राजा बेटा.

अभी ज़ोर-ज़ोर से छोड़ रहा था. मुझे अभी से छूट छुड़वा कर बहुत मज़ा आया. उसने मुझे काफ़ी देर तक घोड़ी बना कर पेला. फिर मेरी छूट नें पिचकारी मारी तो बहुत मज़ा आया. उसने मुझे छोड़ कर मुझे किस किया.

वो काफ़ी हाँफ रहा था. उसने काफ़ी देर तक मेरी छूट छोड़ी. मेरा बेटा हमारी चुदाई अंधेरे में ही देख रहा था. मैं छूट छुड़वा कर चुप-छाप रूम से बाहर आ गयी. मुझे बहुत मज़ा आया.

बहुत सारी मों अपने बेटे से छुड़वाने लगी है. घर में अब कोई भी प्यासी नही है. सब मों अपने बिटो को बूब्स दिखा कर सिड्यूस करती है, और फिर छूट देकर मज़े दे रही है. किसी को भी कोई प्राब्लम हो तो बताना.

यह कहानी भी पड़े  बूढ़े पड़ोसी ने ली मेरी मम्मी की चूत


error: Content is protected !!