बहन की चुत की सील तोड़ कर दोस्त से भी बहन चुदाई

बहन की चुत की सील तोड़ कर दोस्त से भी बहन चुदाई

(Behan Ki Chut Ki Seal Tod Kar Dost Se Bahan Chudai)

Behan Ki Chut Ki Seal Tod Kar Dost Se Bahan Chudaiमेरा नाम सिद्धार्थ है, अभी मेरी उम्र 18 साल की है, मेरा रंग एकदम गोरा है।
मेरे घर मैं पापा मम्मी के अलावा हम दो भाई-बहन हैं। मेरी बड़ी बहन काजल की उम्र 24 साल है.. वो बहुत सेक्सी है। उसकी चूचियों की साइज़ 34 इंच है.. गांड भी 32 इंच की एकदम उठी हुई है। उसका रंग भी एकदम गोरा है।

अब तो खैर.. वो पक्की चुदक्कड़ बन गई है और चुदने में बहुत माहिर हो गई है लेकिन यह घटना मेरी बहन की पहली चुदाई की है।

एक दिन घर में कोई नहीं था, मैं और काजल दीदी ही थे, बाकी सब लोग शादी में गए हुए थे और सभी लोग 4 दिन बाद वापस आने वाले थे।

उस दिन दीदी ब्लैक कलर की नाइटी पहने हुए थीं, उस नाइटी में दीदी बहुत सेक्सी लग रही थीं। उनकी यह नाइटी एकदम पारदर्शी थी.. जिसमें से उनकी पिंक ब्रा और वाइट पेंटी बाहर से ही साफ़ दिख रही थी। इन कपड़ों में दीदी बहुत सेक्सी और खूबसूरत माल लग रही थीं।

मेरा मन कर रहा था कि दीदी को पकड़ कर बिस्तर पर पटक दूँ और उनकी चुत को चूम लूँ पर मुझे बहुत डर लग रहा था।
तभी दीदी मेरे रूम में झाड़ू लगाने आई, मैं बिस्तर पर बैठा हुआ था, वो नीचे झुक कर झाड़ू लगा रही थीं।

मैंने देखा कि दीदी के दूध उनकी नाईटी के बड़े गले से साफ-साफ़ हिलते हुए दिख रहे थे। मैं बहुत गौर से दीदी के थिरकते मम्मों को देख रहा था।
दीदी ने मुझे देख लिया कि मैं उनके दूध देख रहा हूँ।

यह कहानी भी पड़े  गाँव की दोनों चचेरी बहनो को चोदा

वो तुरन्त सीधी खड़ी हो गईं और शर्मा गईं।
मैंने दीदी से पूछा- क्या हुआ?
वो बोलीं- तू क्या देख रहा था?
मैंने कहा- दीदी कुछ भी तो नहीं..
वो बोलीं- कुछ तो..
मैंने कहा- सच्ची दीदी.. कुछ नहीं..

अब वो बोलीं- ठीक है कोई बात नहीं। चल जल्दी से नहा कर आजा.. खाना खाने के बाद उधर बैठ कर टीवी देखेंगे।
मैंने बोला- ठीक है दीदी!

मैं नहाने चला गया, दीदी दूसरे बाथरूम में नहाने चली गईं।

हम दोनों नहा कर आए, खाना खाया.. और फिर रूम में आ गए।

हम दोनों भाई-बहन आपस में काफी हद तक ओपन थे। हर तरह की बात मतलब.. ब्वॉयफ्रेंड, गर्लफ्रेंड की भी बात कर लेते थे।
मैंने पूछा- दीदी आपका कोई ब्वॉयफ्रेंड है?
तो वो बोलीं- था पहले..
मैंने बोला- दीदी उसने आपकी किस ली?
तो वो बोलीं- नहीं.. मैंने नहीं दी।
मैंने कहा- ओके..
फिर दीदी ने पूछा- तेरी गर्लफ्रेंड है?
मैंने कहा- हाँ है।
‘तूने उसे किस की?’
मैंने कहा- हाँ की।

‘और क्या-क्या किया तूने उसके साथ?’
‘दीदी मैंने उसके साथ सब कुछ किया..’
‘क्या बात कर रहे हो मेरे भाई.. सब कुछ.. क्या वो बहुत सुन्दर है?’
मैंने कहा- हाँ दीदी.. और आप भी बहुत सुंदर हो।
वो आँख मारते हुए बोलीं- ऐसा क्या..!

दीदी उस वक्त टी-शर्ट और कैपरी पहने हुई थीं।
मैंने कहा- दीदी आई लव यू!
वो अपनी चुत खुजाते हुए बोलीं- आई लव यू टू।
मैंने कहा- दीदी, मुझे आपसे सेक्स करना है!
वो मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए बोलीं- तो रोका किसने है.. आज ही चोद डाल अपनी बहन को!

मैंने दीदी को अपनी बांहों में जकड़ लिया और उनकी बहुत चुम्मियां ले लीं, दीदी की ‘उम्माह.. उमाह..’ आवाज निकलने लगी।
अब मैंने दीदी से बोला- ये टी-शर्ट निकाल दो।
दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाल दी।

यह कहानी भी पड़े  चुदक्कड़ दीदी को टॉप की रांड बनाया

सच में दीदी बहुत मस्त थीं.. क्या शानदार जाली वाली ब्लैक ब्रा पहनी हुई थी। उस ब्रा में दीदी के 34 साइज़ के दूध बड़े टाइट दिख रहे थे।
मैंने जैसे ही उन्हें पकड़ा.. वो सिहर गईं, मैंने कहा- क्या हुआ?
वो बोलीं- पहली बार किसी लड़के ने छुए हैं।

मैंने दीदी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनके मम्मों को बेरहमी से दबाने लगा। दीदी सिसकारियां लेने लगीं- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह.. भाई अब रहा नहीं जाता!

मैंने कहा- पहले मैं अपने कपड़े निकाल लूँ!
मैंने शर्ट निकाला बस, अब मैंने दीदी के मम्मों को चूसना स्टार्ट कर दिया। मुझे उनके मम्मों को चूसने में बहुत मजा आ रहा था। इसके बाद मैंने दीदी की स्कर्ट निकाल दी, वो ब्लैक पेंटी पहने हुई थीं।
मैंने कहा- दीदी पेंटी निकालो।
उन्होंने कहा- तू ही निकाल दे।

मैंने दीदी की पेंटी भी निकाल दी, मैंने देखा कि दीदी की फूली हुई चुत पर एक भी बाल नहीं था।

मैंने दीदी की चुत को चूसना चालू कर दिया। उन्होंने अपनी चुत पर कोई चॉकलेट जैसी खुशबू लगाई हुई थी। चुत में क्या मस्त खुशबू आ रही थी।
मैंने देर तक चुत चूसी। जब दीदी झड़ गईं तो मैंने उनकी चुत के रस को अपने मुँह से पी लिया।

फिर मैंने अपने बाकी कपड़े उतारे और अपनी बहन को लंड चुसाया और मैं भी दीदी के मुँह में ही झड़ गया।
उसके कुछ देर बाद हम दोनों यूं ही लिपटे हुए पड़े रहे।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!