बेहन की चुदाई की कोचैंग

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज है, और मैं 21 साल का हू. मैं ग्वेलियार में फॅमिली के साथ रहता हू, जिसमे मेरे पापा और मम्मी है आंड एक छ्होटा भाई है. मेरी एक बड़ी बेहन भी है.

पापा एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करते है, और मम्मी हाउसवाइफ है, आंड छ्होटा भाई 12 साल का है और 8त क्लास में है. मेरी दीदी 25 साल की है, जिनका नाम रीया है. दीदी की प्ग कंप्लीट हो गयी है, और इस एअर मेरी ग्रॅजुयेशन भी हो गयी थी.

दीदी और मैने डिसाइड किया था, की हम देल्ही कोचैंग के लिए चलते है, और फिर हमने पापा से बात की. पापा भी मान गये, तो हमने नेक्स्ट वीक देल्ही जाने की तैयारी की. हम पहले कही बाहर नही गये थे, तो ऑड भी लग रहा था, वो भी देल्ही रहने में.

और फिर नेक्स्ट वीक मैं और रीया दीदी पापा के साथ देल्ही गये. वाहा पहले हमने एक रूम देखा रेंट पर. फिर हम कोचैंग की बात करने गये, और पापा सब कुछ फाइनल करवा कर ग्वेलियार के लिए निकल गये. अगले दिन से हम कोचैंग जाने लगे, और फिर 15-20 दिन बाद हमारे रूम के पास के ही बाय्स से मेरी दोस्ती हो गयी.

लेकिन वो आगे में बड़े थे मुझसे, पर मुझे अछा लगने लगा. क्यूंकी अकेले बोर होता था मैं. फिर में उनके साथ घूमने भी जाने लगा. उनमे एक का नाम आमिर था, और एक का राजू. उनकी आगे 27 साल होगी, और वो भी कोचैंग करते थे. पर उन्होने पूरा घर रेंट पे ले रखा था.

उनके साथ मैने स्मोकिंग भी शुरू कर दी थी, और पढ़ाई से ध्यान हटने लगा था. फिर एक दिन राजू बोला-

राजू: राज तेरी बेहन बहुत सुंदर है. उसके ब्फ के तो मज़े है.

मैं: नही, उसका कोई ब्फ नही है.

राजू: इतनी सुंदर लड़की का कोई ब्फ नही है. ये तो बहुत सही है यार. तू मेरी बात करवा दे.

मैं: राजू, बेहन है वो मेरी. और तू ऐसा सोचता है? मुझे अब रहना ही नही है तुम्हारे साथ.

राजू मुझे रोकता है, और बेहन की चुदाई की स्टोरी पढ़वता है, और फिर मेरे मॅन में भी दीदी के लिए गंदी सोच आने लगी. पर मैं वाहा से निकल जाता हू, और जब रात को दीदी को देखता हू, तो उनका बदन आग लगा रहा था.

फिर अगले दिन राजू के फोन आया तो वो सॉरी बोलने लगा. तो मैं उनके पास चला गया.

फिर वो बोला: मैं तो तेरा दोस्त हू, इसलिए कहा था. क्यूंकी कोई और बॉय फ़ायदा उठा सकता है देल्ही में. और तू भी तो छोड़ सकता था मेरे साथ. इससे फिर मेरे माइंड में रीया दीदी को छोड़ने का ख़याल बैठ गया.

मैं: बुत दीदी मानेंगी नही.

राजू: तू हा कर बस.

मैं: ठीक है, पर मैं भी छोड़ूँगा.

राजू: हा यार बिल्कुल. आज हम तेरे रूम पर आएँगे और पटना स्टार्ट करते है.

फिर शाम को राजू और आमिर आते है, और मैं उन्हे दीदी से मिलवाता हू. दीदी भी ही-हेलो करती है, और फिर सब पढ़ाई की बातें करने लगते है. दीदी भी बातों में इंटेरेस्ट लेती है. फिर राजू कहता है-

राजू: तुम्हे कभी भी किसी बुक की ज़रूरत हो, तो हमारे घर आ जाना. और वो बड़ा भी है, तो वाहा साथ में स्टडी कर लेंगे.

रीया: हा, ये ठीक रहेगा. हम कल से आ जाएँगे.

और फिर हम डेली राजू के घर पढ़ाई करने लगे. 10-15 दिन में अची दोस्ती भी कर ली राजू ने दीदी से. फिर सनडे को प्लान बनाया राजू ने रीया दीदी को छोड़ने का. राजू ने हमे (इंक्लूडिंग दीदी) कहा-

राजू: कल मेरा बर्तडे है, और पुर सनडे हम सेलेब्रेट करेंगे.

दीदी भी इसके लिए मान गयी. नेक्स्ट दिन सनडे को हम राजू के घर गये, और उसने सब को स्नॅक्स खिलाए. फिर बातें करते-करते शाम हो गयी, और दीदी बोली-

दीदी: अब हम घर जाते है.

तो राजू बोला: आज यही रुक जाओ, अभी केक कट करेंगे, और ग़मे भी खेलेंगे.

बुत दीदी माना करने लगी.

राजू: अछा तो तुम्हे दर्र है की तुम हार जाओगी.

रीया: मैं आज तक नही हारी हू किसी ग़मे में.

राजू: ये ग़मे खेला ही नही होगा तुमने आज तक.

रीया: अछा, ऐसा कों सा ग़मे है?

राजू: अछा ग़मे है, बुत तुम हार जाओगी, और रूल्स भी बहुत है इस ग़मे के.

रीया: ठीक है, तो आज ये ग़मे भी खेलते है.

राजू: ठीक है, तो रूल्स बता देता हू.

रीया: रूल्स जो भी हो, बस कोई चीटिंग नही करेगा.

राजू: रूल्स तो सुन लो.

रीया: वो तुम बता देना ग़मे खेलते वक़्त.

राजू: ठीक है, तो सब अपनी मम्मी कसम खाओ, की कोई भी ग़मे बीच में नही छ्चोढेगा. आंड सब रूल्स फॉलो करेंगे.

फिर सब ने कसम खाई, और यहा दीदी फ़ासस गयी. फिर हमने केक कट करके खाना खाया, और उसके बाद हॉल में बैठ गये एक सर्कल में. तभी राजू एक बॉटल ले आया, और बोला-

राजू: जिसकी तरफ बॉटल रुकेगी, उसको एक-एक करके अपने कपड़े उतारने होंगे. और जो सबसे पहले नंगा होगा, वो हार जाएगा. फिर उसको वही करना होगा, जो जीतने वाला कहेगा.

रीया: ची! ये गंदा ग़मे है. मैं एक गर्ल हूँ

राजू: तुमने कसम खाई है, और शायद तुम्हे दर्र है की हार जाओगी.

रीया: बस कसम की वजह से खेलना पड़ेगा. बुत रूल चेंज कर लो, कपड़े नही.

राजू: कसम रूल मानने की भी खाई थी.

रीया: ठीक है.

राजू इस ग़मे में पर्फेक्ट था. उसको पता था, की कैसे घुमाने पर बॉटल किस तरफ रुकेगी. और फिर उसने बॉटल घुमाई. बॉटल मेरी तरफ रुकी, तो मैने त-शर्ट निकाल दी. हम तीनो ने अंदर बनियान भी नही पहनी थी.

प्लान के अकॉरडिंग फिर बॉटल आमिर की तरफ रुकी, और फिर राजू की तरफ. अब हम तीनो उपर से नंगे थे, और दीदी खुश हो रही थी की वो जीत रही थी. फिर राजू ने बॉटल घुमाई, और मेरी तरफ रुकी. तो मैने अपनी पंत निकाल दी.

फिर बॉटल आमिर की तरफ रुकी, तो उसने भी पंत निकाल दी. और अब हम दोनो बस अंडरवेर में थे. अब खेल हमारा शुरू हुआ, और अब बॉटल ऐसे घुमाई, की वो दीदी की तरफ रुकी. दीदी ने अपनी टॉप निकाल दी.

उसके बाद फिरसे बॉटल उनकी तरफ रुकी, तो उन्होने अपनी जीन्स भी निकाल दी. अब दीदी बस रेड ब्रा-पनटी में थी. राजू ने बॉटल फिर दीदी की तरफ रोकी. इस बार दीदी को अपनी ब्रा उतारनी पड़ी, और उनके बूब्स देख कर हमारे लंड तंन गये. फिर राजू ने बॉटल अपनी तरफ रोकी, और उसने अपनी जीन्स निकाल दी.

अब बॉटल घूमी, और वो दीदी की तरफ रुकी, और दीदी ने अपनी पनटी निकाल दी. अब दीदी बिल्कुल नंगी थी, और हार भी चुकी थी. सो अब हम 3 ही बचे थे. फिर पहले बॉटल आमिर की तरफ रुकी, और वो भी नंगा हो गया. दीदी उसका खड़ा लंड देख कर ऑड फील करने लगी.

बुत इतने में बॉटल मेरी तरफ रुकी, और मैं भी नंगा हो गया. इस तरह ग़मे ख़तम हुआ. ग़मे का विन्नर राजू था, और अब वो हम तीनो से जो कहेगा हमे करना पड़ना था. दीदी सबसे पहले हारी थी, तो जो हम तीनो कहेंगे वो दीदी को करना पड़ना था. फिर राजू बोला-

राजू: रीया, अब तुम्हे जो आमिर कहेगा वो करना पड़ेगा. और फिर राज कहेगा, वो करना पड़ेगा. उसके बाद जो मैं कहूँगा वो करना पड़ेगा. फिर जो मैं आमिर और राज से कहूँगा, वो इन्हे करना पड़ेगा.

रीया: बताओ आमिर, क्या करना है मुझे?

आमिर: तुम्हे मेरा लंड चूसना है.

रीया: ये क्या बदतमीज़ी है?

राजू: कसम खाई है, सो तुम्हे करना होगा.

रीया: पर ये तो ग़लत है. तुम ग़मे में ऐसा नही कारवओ.

राजू: तुम हारी हो, तो करना तो होगा ही. और मम्मी इंपॉर्टेंट है तुम्हारे लिए या ये शरम?

रीया: ठीक है.

और फिर दीदी आमिर का कड़क लंड अपने मूह में लेकर चूस्टी है. वो 1 मिनिट में हट जाती है

आमिर: तब चूसो जब तक वेट ना हो जौ.

रीया: बस एक काम करवा सकते हो, और तुमने बस चूसने को बोला था.

राजू: हा रीया, ठीक कह रही है. और ये तुझे पहले बोलना चाहिए था. और अब राज तू करवा.

मैं: चलो आप मेरा लंड वेट होने तक चूसो.

रीया: तू तो मेरा भाई है.

राजू: यहा कोई भाई नही है.

और फिर दीदी मेरा लंड चूस्टी है, और करीब 5 मिनिट में मैं झाड़ जाता हू.

रीया: चलो अब तुम बताओ क्या कारवाओगे?

राजू: मैं सबसे कार्ओौनगा, तो सब को एक साथ बताता हू. राज तुम रीया के बूब्स चूसोगे, और आमिर तू रीया की गांद में लंड डाल कर छोड़ेगा. और रीया तुम जब भी मैं कहूँगा और जिससे कहूँगा उससे चुड़वावगी लाइफ टाइम.

रीया: नही, मैं ये नही करूँगी. ये फ़ायदा मत उठाओ.

राजू: कसम तोड़ दो, और मार डालो अपनी मम्मी को.

रीया: तुम आज जितना चाहो सेक्स कार्लो ,पर लाइफ्टाइम नही.

राजू: मैने बता दिया.

रीया: ठीक है.

और फिर मैं दीदी के बूब्स चूसने लगा, और आमिर दीदी को कुटिया बना कर उनकी गांद छोड़ने लगा. फिर 8 मिनिट के बाद उसने दीदी की गांद में ही माल छ्चोढ़ दिया, और फिर रीया दीदी कपड़े पहनने लगी.

राजू: नहा कर स्कर्ट-टॉप पहन कर आ जाओ अभी.

रीया: अभी क्यू?

राजू: आज रात से चुदाई स्टार्ट.

और फिर दीदी नहाने चली जाती है.

मैं: यार, ये तू क्या करना चाह रहा है?

राजू: तेरी बेहन से कमाई होगी.

मैं: यार ऐसा नही कर.

राजू: बहनचोड़ चुप बैठ, वरना निकल यहा से.

और में चुप हो गया. फिर उसने कुछ बाय्स को फोन किया, जो थोड़ी देर बाद आ गये. वो 4 लोग थे, जो 30 साल के होंगे आंड राजू उनसे कहता है-

राजू: एक-दूं फ्रेश माल है, और 5000 रुपय एक के लगेंगे.

फिर वो सब उसको 5000 रुपय दे देते है, और सब बैठ जाते है. रात 11 बजे दीदी आती है, और वो उन्हे देख कर दर्र जाती है.

राजू: चल रानी, इन सब से चुदाई करवानी है.

रीया: प्लीज़ ऐसा नही करो.

राजू: चल सब की सिगरेट्स जला.

दीदी सिगरेट्स जलाती है, और उनमे से एक दीदी की स्कर्ट में हाथ डाल कर उनकी पनटी खींच कर निकाल देता है. तभी एक उनकी टॉप निकाल देता है, और फिर दीदी की ब्रा भी उतार देता है. वो दीदी की स्कर्ट उठा कर उनकी छूट में अपना लंड डाल देता है, और छोड़ने लगता है.

राजू: तुम सब भी छोड़ो साली को.

और फिर उनमे से एक दीदी की गांद में लंड डाल कर छोड़ता है, और एक छूट में ही थूक लगा कर अपना लंड डाल देता है, और एक लंड चुस्वता है. फिर वो 2-2 रौंद दीदी को छोड़ते है, और चले जाते है. दीदी ने चूड़ते हुए एक बार भी माना नही किया, उल्टा उनके चेहरे पर मज़ा दिख रहा था.

राजू: चल नहा कर आ.

और दीदी नहा कर फिर आती है.

राजू: चल अब पूरी रात मुझसे चूड़ना है

रीया: ऐसा नही करो, अब तो छ्चोढ़ दो.

राजू: देख तू अब मेरी रखैल है, और अब से रोज़ तुझे छोड़ने वाले आएँगे.

आयेज की कहानी अगले पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  अंजन लोगो से हॉट चुदाई की

error: Content is protected !!